उज्जैन.. मकर राशि में इन तीन ग्रहों की युति का संयोग 854 साल बाद बन रहा है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, शनि, मंगल और गुरु की ये युति मकर राशि में अद्भुत संयोग बना रही है। जानिए इसका राशियों पर क्या असर होगा-

1166 में बनी थी इन 3 ग्रहों की युति

  • मंगल मकर राशि में उच्च का है। गुरु नीच का और शनि स्वराशि है। 2020 से पहले मकर राशि में मंगल, गुरु और शनि की युति 15 अप्रैल 1166 को बनी थी। - 1166 में इन तीन ग्रहों का योग चैत्र नवरात्रि के एक माह बाद बना था। 2020 में 4 मई को मंगल के राशि परिवर्तन से इन तीनों ग्रहों का ये योग टूटेगा।
  • चैत्र नवरात्रि के बीच में गुरु का नीच राशि मकर में जाने का योग 178 साल पहले 1842 में बना था।
  • इन तीन ग्रहों का योग मेष, कन्या, वृश्चिक, धनु, मकर और मीन राशि के लिए शुभ रहेगा। इन लोगों को भाग्य का साथ मिलेगा और धन लाभ मिल सकता है।
  • मिथुन, सिंह, तुला और कुंभ राशि के लोगों के लिए ये समय संभलकर रहने का रहेगा। लापरवाही से बचें और धैर्य बनाए रखें।
  • वृषभ और कर्क राशि के लोगों पर इन ग्रहों का सामान्य असर रहेगा। इन्हें अपनी मेहनत के अनुसार फल मिलेगा।