��������������� ������������ 2020 21  

(Search results - 118)
  • undefined

    BusinessJun 12, 2021, 11:08 AM IST

    खुशखबरी : मोदी सरकार का कर्मचारियों को तोहफा ! जुलाई में आपके PF अकाउंट में आ सकते हैं पैसे

    मोदी सरकार ईपीएफओ की तरफ से कर्मचारियों को फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के लिए 8.5 फीसदी ब्याज को जुलाई अंत तक देने की घोषणा कर सकती है। इस मामले में पहले ही श्रम मंत्रालय से ईपीएफओ को मंजूरी मिल चुकी है।

  • खाते में पैसा आया या नहीं, इसकी जानकारी पीएफ खाताधारक यूएएन पोर्टल पर मिस्ड कॉल देकर  जान सकते हैं। इसके लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल देना होगा। (फाइल फोटो)

    TrendingJun 1, 2021, 7:14 PM IST

    ईपीएफओ में इस महीने तक जमा हो सकते हैं 2020-21 के 8.5 फीसदी ब्याज के पैसे

    इससे पहले ईपीएफओ के केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए भविष्य निधि (पीएफ) पर ब्याज दर को बरकरार रखा था। 

  • undefined

    NationalJun 1, 2021, 2:10 PM IST

    अर्थव्यवस्था पर बोले पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम- 4 दशकों में 20-21 सबसे काला वर्ष

    भारत की अर्थव्यवस्था में हुई गिरावट पर पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि 4 दशकों में 2020-21 अर्थ व्यवस्था का सबसे काला वर्ष रहा है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते वित्त वर्ष 2020-21 के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। केंद्र सरकार की ओर से पेश आंकड़ों के मुताबिक, जीडीपी ग्रोथ रेट -7.3% फीसदी रही। हालांकि, चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में जीडीपी ग्रोथ रेट 1.6 फीसदी दर्ज की गई। 

  • undefined

    NationalMay 31, 2021, 6:54 PM IST

    कोरोना से भारत को लगा झटका, वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी ग्रोथ -7.3% रही, यह 40 साल में सबसे बड़ी गिरावट

    कोरोना महामारी के चलते वित्त वर्ष 2020-21 के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। केंद्र सरकार की ओर से पेश आंकड़ों के मुताबिक, जीडीपी ग्रोथ रेट -7.3% फीसदी रही। हालांकि, चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में जीडीपी ग्रोथ रेट 1.6 फीसदी दर्ज की गई। 

  • undefined

    BusinessMay 25, 2021, 1:03 PM IST

    कोरोना संकट के बीच भारत में रिकॉर्ड 81.72 अरब डॉलर पहुंचा FDI, पिछले साल की तुलना में 10% ज्यादा

    भारत कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। लेकिन इसके बावजूद भारत ने 2020-21 में 81.72 अरब डॉलर का एफडीआई प्रवाह आकर्षित किया है। यह अब तक का सबसे अधिक है और पिछले साल की तुलना में 10% अधिक है। 

  • undefined

    NationalApr 6, 2021, 9:58 PM IST

    भारतीय अर्थव्यवस्था में दुनिया का बढ़ा विश्वास, FY 2020-21 में 2,74,034 करोड़ रुपये का विदेशी निवेश

    कोरोना महामारी में जब पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था बेहद खराब स्थिति से उबरने से जद्दोजहद कर रही है तो उस वक्त भारतीय अर्थव्यवस्था की साख विदेशी निवेशकों की नजर में बढ़ी है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में भारतीय इक्विटी बाजारों में भारी विदेशी निवेश इस बात की गवाही दे रहा है। 

  • undefined

    BusinessApr 6, 2021, 10:59 AM IST

    इनकम टैक्स विभाग ने टैक्सपेयर्स को दी बड़ी सुविधा, ITR फॉर्म-1, 2 ऑफलाइन भी कर सकते हैं फाइल

    इनकम टैक्स विभाग ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आईटीआर फॉर्म-1 और फॉर्म-4 की फाइलिंग के लिए ऑफलाइन सुविधा की भी शुरुआत की है।

  • <p>UPSC देने वाले कैंडिडेट्स अक्सर परीक्षा की पहली स्टेज यानी सिविल सेवा प्री परीक्षा को कठिन मानते हैं। अधिकतर लोग पहली स्टेज ही पार नहीं कर पाते हैं। ऐसे ही अमित काले ने करीब चार बार प्री परीक्षा क्लियर की थी। उन्होंने परीक्षा के चार अटेम्प्ट्स दिए और चारों में प्री तो पास कर लिया लेकिन बाकी स्टेज पर अटक गए।</p>

    CareersApr 3, 2021, 2:44 PM IST

    UPSC EPFO Exam: ईपीएफओ EO/AO परीक्षा को लेकर गाइडलाइंस जारी, यहां चेक करें कैंडिडेट्स

    इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग की भी व्यवस्था की गई है जिसके तहत प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काटा जाएगा। अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर परीक्षा शुरू होने से 01 घंटे पहले पहुंचना होगा। 

  • बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020-21 अब खत्म होने जा रहा है। ऐसे में, टैक्स सेविंग के लिए इन्वेस्ट करने वालों के पास वक्त काफी कम रहा गया है। जिन टैक्सपेयर्स ने अभी तक टैक्स सेविंग के जरूरी निवेश नहीं किया है, वे कई  ऑप्शन्स को देख रहे हैं, ताकि टैक्स डिडक्शन का ज्यादा से ज्यादा फायदा लिया जा सके। वैसे तो टैक्स सेविंग पूरे साल जारी रहने वाली प्रॉसेस है, लेकिन अंतिम समय में लोग इसमें जल्दीबाजी करने लगते हैं। ऐसे में, कुछ गलतियां होने की संभावना रहती है, जिससे नुकसान हो सकता है। वहीं, कुछ लोग साल भर इन्वेस्टमेंट के लिए समय नहीं निकाल पाते हैं या इस तरफ ध्यान नहीं देते हैं। ऐसे लोग ही अंतिम समय में टैक्स सेविंग के लिए इन्वेस्टमेंट में जल्दबाजी करते हैं। इसमें गलतियां होने की संभावना हमेशा बनी रहती है। जानें गलतियां और उनसे बचाव के बारे में। (फाइल फोटो)

    BusinessMar 21, 2021, 5:02 PM IST

    टैक्स बचाने के लिए Investment में नहीं करें जल्दबाजी, इन 6 गलतियों से हर हाल में बचें

    बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020-21 अब खत्म होने जा रहा है। ऐसे में, टैक्स सेविंग के लिए इन्वेस्ट करने वालों के पास वक्त काफी कम रहा गया है। जिन टैक्सपेयर्स ने अभी तक टैक्स सेविंग के जरूरी निवेश नहीं किया है, वे कई  ऑप्शन्स को देख रहे हैं, ताकि टैक्स डिडक्शन का ज्यादा से ज्यादा फायदा लिया जा सके। वैसे तो टैक्स सेविंग पूरे साल जारी रहने वाली प्रॉसेस है, लेकिन अंतिम समय में लोग इसमें जल्दीबाजी करने लगते हैं। ऐसे में, कुछ गलतियां होने की संभावना रहती है, जिससे नुकसान हो सकता है। वहीं, कुछ लोग साल भर इन्वेस्टमेंट के लिए समय नहीं निकाल पाते हैं या इस तरफ ध्यान नहीं देते हैं। ऐसे लोग ही अंतिम समय में टैक्स सेविंग के लिए इन्वेस्टमेंट में जल्दबाजी करते हैं। इसमें गलतियां होने की संभावना हमेशा बनी रहती है। जानें गलतियां और उनसे बचाव के बारे में।
    (फाइल फोटो)
     

  • बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2021 है। इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हुए अपनी आमदनी की सही जानकारी देना जरूरी है। किसी व्यक्ति की आमदनी के कई स्रोत होते हैं। आईटीआर में सबको दर्ज किया जाना जरूरी है। ऐसा नहीं करने पर इनकम छुपाने का मामला बनता है। बता दें कि इनकम टैक्स गिफ्ट पर भी लगता है। अगर किसी को जन्मदिन, त्योहार या दूसरे किसी मौके पर कीमती उपहार मिलते हैं, तो इसकी जानकारी भी इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय देनी होती है। ऐसा नहीं करने पर इनकम टैक्स विभाग की ओर से नोटिस मिल सकता है। जानें कितनी कीमत तक के गिफ्ट पर देना पड़ता है टैक्स। (फाइल फोटो)

    BusinessMar 16, 2021, 6:44 PM IST

    Income Tax : गिफ्ट पर भी लगता है टैक्स, ITR फाइल करते वक्त इसकी जानकारी देना है जरूरी

    बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2021 है। इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हुए अपनी आमदनी की सही जानकारी देना जरूरी है। किसी व्यक्ति की आमदनी के कई स्रोत होते हैं। आईटीआर में सबको दर्ज किया जाना जरूरी है। ऐसा नहीं करने पर इनकम छुपाने का मामला बनता है। बता दें कि इनकम टैक्स गिफ्ट पर भी लगता है। अगर किसी को जन्मदिन, त्योहार या दूसरे किसी मौके पर कीमती उपहार मिलते हैं, तो इसकी जानकारी भी इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय देनी होती है। ऐसा नहीं करने पर इनकम टैक्स विभाग की ओर से नोटिस मिल सकता है। जानें कितनी कीमत तक के गिफ्ट पर देना पड़ता है टैक्स।
    (फाइल फोटो)

  • undefined

    BusinessMar 15, 2021, 12:36 PM IST

    एडवांस टैक्स जमा करने की 15 मार्च को है आखिरी तारीख, आज नहीं दिया टैक्स तो लगेगी पेनल्टी

    वित्त वर्ष 2020-21 के लिए एडवांस टैक्स (Advance Tax Instalments) जमा करने की 15 मार्च को आखिरी तारीख है। इसके बाद टैक्स के भुगतान पर 1 फीसदी ब्याज के साथ किस्त भरनी पड़ेगी।
     

  • बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने की आखिरी तारीख 31 मार्च है। अगर किसी व्यक्ति की आमदनी टैक्स छूट की सीमा के अंदर आती है, तो उसके लिए आईटीआर फाइल करना जरूरी नहीं है। वहीं, अगर ऐसा व्यक्ति भी इनकम टैक्स रिटर्न पाइल करता है, तो उसे कई तरह के फायदे होते हैं। इनकम टैक्स रिटर्न कोई भी फाइल कर सकता है। यह किसी भी व्यक्ति की आमदनी का प्रूफ होता है। इनकम टैक्स रिटर्न भरने से बैंक से लोन लेने में आसानी होती है। इससे अपना बिजनेस शुरू करने में मदद मिल सकती है। (फाइल फोटो)

    BusinessMar 14, 2021, 7:10 PM IST

    टैक्स के दायरे में नहीं आते फिर भी ITR भरने से होता है फायदा, ले सकते हैं आसानी से लोन

    बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने की आखिरी तारीख 31 मार्च है। अगर किसी व्यक्ति की आमदनी टैक्स छूट की सीमा के अंदर आती है, तो उसके लिए आईटीआर फाइल करना जरूरी नहीं है। वहीं, अगर ऐसा व्यक्ति भी इनकम टैक्स रिटर्न पाइल करता है, तो उसे कई तरह के फायदे होते हैं। इनकम टैक्स रिटर्न कोई भी फाइल कर सकता है। यह किसी भी व्यक्ति की आमदनी का प्रूफ होता है। इनकम टैक्स रिटर्न भरने से बैंक से लोन लेने में आसानी होती है। इससे अपना बिजनेस शुरू करने में मदद मिल सकती है।
    (फाइल फोटो)
     

  • बिजनेस डेस्क। वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स (Income Tax) पर छूट हासिल करने के लिए निवेश के बारे में जानकारी देने की अंतिम तारीख 31 मार्च तक है। इसके लिए निवेश का प्रमाण देना होता है, तब इनकम टैक्स में छूट मिलती है। लोग इनकम टैक्स में छूट हासिल करने के लिए कई तरह के निवेश करते हैं। वहीं, अगर आपने होम लोन (Home Loan) ले रखा है, तो इस पर भी इनकम टैक्स में छूट मिल सकती है। होम लोन पर इनकम टैक्स के सेक्शन 80C और 24(b) के तहत टैक्स में छूट का लाभ लिया जा सकता है। जानें टैक्स बचाने के और टिप्स। (फाइल फोटो)

    BusinessMar 14, 2021, 6:02 PM IST

    अगर आपने ले रखा है होम लोन, तो इस तरह इनकम टैक्स में ले सकते हैं लाखों रुपए की छूट

    बिजनेस डेस्क। वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स (Income Tax) पर छूट हासिल करने के लिए निवेश के बारे में जानकारी देने की अंतिम तारीख 31 मार्च तक है। इसके लिए निवेश का प्रमाण देना होता है, तब इनकम टैक्स में छूट मिलती है। लोग इनकम टैक्स में छूट हासिल करने के लिए कई तरह के निवेश करते हैं। वहीं, अगर आपने होम लोन (Home Loan) ले रखा है, तो इस पर भी इनकम टैक्स में छूट मिल सकती है। होम लोन पर इनकम टैक्स के सेक्शन 80C और 24(b) के तहत टैक्स में छूट का लाभ लिया जा सकता है। जानें टैक्स बचाने के और टिप्स।
    (फाइल फोटो)
     

  • <p><strong>5. लिमिटेड शब्दों और समय में आंसर लिखने की प्रैक्टिस करें</strong></p>

<p>&nbsp;</p>

<p>बचे समय में रिवीजन के साथ आंसर राइटिंग प्रैक्टिस करें। रोजाना प्रश्नों के उत्तर को लिखकर प्रैक्टिस करने की आदत डालें। इससे आप मेन एग्जाम के लिए खुद को अच्छे से तैयार कर पाएंगे। खूबसूरत राइटिंग के साथ-साथ हाइलाइट बॉक्स भी बनाएं। समय और शब्दों की सीमा का ध्यान रखें।</p>

<p>&nbsp;</p>

    CareersMar 12, 2021, 10:59 AM IST

    इस राज्य में क्लास 1 से 9वीं के स्टूडेंट्स किया गया पास, 10वीं के छात्रों को भी नहीं देंगे बोर्ड एग्जाम

    पूरे देश में बोर्ड परीक्षाओँ को लेकर तैयारी चल रही हैं। सीबीएसई से लेकर यूपी में अप्रैल-मई से परीक्षाएं हैं। इस बीच दिल्ली ने अपना अलग बोर्ड बनाने की भी घोषणा की है।

  • बिजनेस डेस्क। मार्च का महीना किसी भी वित्त वर्ष का आखिरी महीना होता है। इस महीने में टैक्स का आकलन करना जरूरी होता है, ताकि टैक्स बचाया जा सके। फिलहाल, वित्त वर्ष 2020-21 का आखिरी महीना चल रहा है। टैक्स बचाने के लिए निवेश करने की जरूरत पड़ती है। काफी लोग टैक्स बचाने के लिए नया निवेश करते हैं। इससे उन्हें वित्तीय मजबूती भी मिलती है और नया निवेश भविष्य में अच्छा-खासा रिटर्न दिलाने वाला भी साबित हो सकता है। वहीं, कई ऐसे खर्चे (Tax Saving Expenditure) जिन पर टैक्स में छूट मिलती है। ऐसे कई तरीके हैं, जिनके जरिए बिना कोई नया निवेश किए टैक्स बचाया जा सकता है। जानें इनके बारे में। (फाइल फोटो)

    BusinessMar 6, 2021, 7:11 PM IST

    Tax Saving Tips: जानें कोई नया निवेश किए बिना कैसे बचा सकते हैं टैक्स

    बिजनेस डेस्क। मार्च का महीना किसी भी वित्त वर्ष का आखिरी महीना होता है। इस महीने में टैक्स का आकलन करना जरूरी होता है, ताकि टैक्स बचाया जा सके। फिलहाल, वित्त वर्ष 2020-21 का आखिरी महीना चल रहा है। टैक्स बचाने के लिए निवेश करने की जरूरत पड़ती है। काफी लोग टैक्स बचाने के लिए नया निवेश करते हैं। इससे उन्हें वित्तीय मजबूती भी मिलती है और नया निवेश भविष्य में अच्छा-खासा रिटर्न दिलाने वाला भी साबित हो सकता है। वहीं, कई ऐसे खर्चे (Tax Saving Expenditure) जिन पर टैक्स में छूट मिलती है। ऐसे कई तरीके हैं, जिनके जरिए बिना कोई नया निवेश किए टैक्स बचाया जा सकता है। जानें इनके बारे में।
    (फाइल फोटो)