Anand Mohan  

(Search results - 26)
  • undefined

    Bihar ElectionNov 10, 2020, 11:57 PM IST

    नीरज सिंह बबलू पांचवीं बार बने विधायक, एक्टर सुशांत के हैं चचेरे भाई

    नीरज कुमार बबलू 1988 में राजनीति में आए।सामाजिक आंदोलन में जेल गए। वो चार बार विधायक बन चुके हैं। पिछली बार छातापुर में जीत की हैट्रिक भी बनाए थे। वो साल 2005 से लगातार जीतते आ रहे हैं।

  • undefined

    Bihar ElectionNov 10, 2020, 11:26 PM IST

    चकनाचूर हुआ बाहुबली मुन्ना शुक्ला का सपना, दूसरी बार भी मिली करारी हार, कभी ऐसी थी हनक

    3 जून 1998 को इंदिरा गांधी आयुर्वेदिक संस्थान में पूर्व मंत्री बृज बिहारी भर्ती थे। इसी रात आठ बजे वह पार्क में टहल रहे थे कि 6-7 बदमाशों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। मामले की सीबीआई जांच हुई। जिसमें सूरभान के साथ मुन्ना शुक्ला का भी नाम आया। मुन्ना ने गुनाहों की सजा से बचने के राजनीति का सहारा लिए, और तीन बार विधायक बने।

  • undefined

    Bihar ElectionNov 10, 2020, 11:04 PM IST

    BSNL की रिटायर्ड कर्मचारी वीणा सिंह जीती, तीन बार इसी सीट से विधायक बने थे उनके बाहुबली पति रामा सिंह

    उमेश सिंह कुशवाहा दसवीं पास हैं। वे 1990 में राजनीति में आए। उनके पास इस समय 1.95 करोड़ रुपए की संपत्ति है। साल 2015 में बीजेपी प्रत्याशी डॉक्टर अच्युतानंद को 26,455 वोट से हराकर पहली बार विधायक बने थे।

     

  • undefined

    Bihar ElectionNov 10, 2020, 10:42 PM IST

    जेल में बंद बाहुबली आनंद मोहन का बेटा चेतन बना विधायक, पिछली बार 461 वोट से हार गई थी मां

    बताते चले कि यह सीट पंडित रघुनाथ झा को लेकर चर्चित रही है। पार्टी और झंडा कोई भी हो, लेकिन, वो इस सीट से लगातार 27 साल विधायक रहे। इतना ही नहीं इस सीट से बाहुबली आनंद मोहन भी मैदान में उतरे, लेकिन रघुनाथ झा के आगे नहीं  टिक सके। 

  • undefined

    Bihar ElectionNov 10, 2020, 8:24 PM IST

    जेल में बंद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद हारी, 7वीं बार लड़ रही थी चुनाव

    बीजेपी प्रत्याशी आलोक रंजन झा की बात करें तो उनके ऊपर एक क्रिमिनल केस हैं। वे पीएचडी तक पढ़ाई किए हैं और उनके पास इस समय 4.15 करोड़ रुपए हैं।
     

  • undefined

    Bihar ElectionNov 6, 2020, 2:00 PM IST

    ये हैं बिहार के 10 चर्चित आईपीएस, ऐसे लेते थे एक्शन, जिनके नाम से कांपते हैं अपराधी

    पटना (Bihar) । बिहार विधानसभा चुनाव हो रहा है। इस वजह से हर किसी की नजर इस ओर लगी हुई है। क्योंकि यहां धनबल के साथ-साथ बाहुबलियों का वर्चस्व होता है। अपराध की दुनिया में पैर जमाने के बाद कानून से बचने के लिए बाहुबली राजनीति का सहारा लेते हैं। ऐसे में यहां कानून का राज स्थापित करना चुनौती से कम नहीं है। हालांकि ऐसे भी कई आईपीएस अधिकारी हैं, जिनसे ये अपराधी भी खौफ खाते हैं। इनमें से दस चर्चित आईपीएस के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

  • undefined

    Bihar ElectionNov 5, 2020, 10:44 AM IST

    वो अंधेरी खौफनाक रात जब पप्पू यादव पर चली 10 हजार राउंड गोलियां, फोर्स नहीं पहुंचती तो हो जाती मौत

    मधेपुरा/पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार भी कई बाहुबली और उनके रिश्तेदार चुनावी अखाड़े में भाग्य आजमा रहे हैं। बिहार ऐसा राज्य है जहां की राजनीति में बाहुबलियों का दखल हमेशा से चर्चा का विषय रहा है। आनंद मोहन और पप्पू यादव दोनों राजनीति में खूब चमके और कहा जाता है कि इनका बैकग्राउंड बाहुबल ही था। दोनों के बीच शुरुआती वर्चस्व की कहानियां भी तमाम दावों के साथ सुनाई जाती हैं। मगर पहली बार जन अधिकार पार्टी के चीफ और पूर्व दिग्गज सांसद पप्पू यादव ने खुलासा किया है कि कभी भी आनंद मोहन के साथ उनकी अदावत नहीं रही। पप्पू यादव ने कहा- "वो स्कूल-कॉलेज के दिन थे जिसमें बाहुबल से कहीं ज्यादा हीरोपंती स्थानीय जाति की राजनीति थी।" 
     

  • undefined

    Bihar ElectionOct 30, 2020, 4:28 PM IST

    शिवहर सीट से चुनाव लड़ रहे बाहुबली आनंद मोहन के बेटे चेतन,461 वोट से मां को हराने वाले शरफुद्दीन से है मुकाबला

    राजनीति के जानकार बताते हैं कि इस सीट पर सर्वाधिक वोटर वैश्य समुदाय के है। इसके बाद राजपूत, मुस्लिम, ब्राह्मण और भूमिहार का ज्यादा प्रभाव है। वहीं, एनडीए और महागठबंधन के प्रत्याशी को लोजपा के विजय कुमार पांडेय न केवल कड़ी टक्कर देते नजर रहे हैं, बल्कि लड़ाई को त्रिकोणात्मक भी बना रहे हैं। 

  • undefined

    Bihar ElectionOct 30, 2020, 1:19 PM IST

    सहरसा से लड़ रही हैं बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली, बीजेपी के बागी नेता ने रोचक बना दिया चुनाव

    लवली आनंद ग्रेजुएट हैं। उनके ऊपर इस समय दो क्रिमिनल केस हैं, जबकि 1.23 करोड़ रुपए संपत्ति की मालिक हैं। वो अपने पति आनंद मोहन की तरह जल्दी-जल्दी पार्टियां बदलती रही हैं। अब तक 6 बार चुनाव लड़ चुकी हैं। लेकिन, एक ही बार जीत पाई हैं। वो 1994 में उपचुनाव जीतकर सांसद बनी। इसके बाद बिहार पीपुल्स पार्टी ,कांग्रेस, सपा हम (सेक्युलर) और नीतीश कुमार के भी साथ रहकर चुनाव लड़ चुकी हैं। हालांकि इस बार राजद में शामिल हो गई हैं। कांग्रेस का भी उन्हें समर्थन हैं। 

  • undefined

    Bihar ElectionOct 29, 2020, 10:55 AM IST

    लालू-राबड़ी के राज में अपराध पर सुशील मोदी ने कहा- जंगलराज के सरदार जेल में, युवराज बेल पर

    डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि बिहार के लोगों के जेहन में लालू राबड़ी के 15 वर्षों का जंगलराज इस कदर समाया है कि वे लोग दोबारा उस दौर को याद भी नहीं करना चाहते हैं। बिहार के लोग सत्ता और अपराध के गठजोड़ के चलते 15 वर्षों तक पिसते रहे हैं। लालू प्रसाद के राज को जंगलराज घोटालों की वजह से तो कहा ही जाता है, उससे भी ज्यादा राजनीति में अपराध, जातीय नरसंहार, ध्वस्त क़ानून व्यवस्था के लिए जाना जाता है।

  • <p>बिहार के 6 बार सीएम बने नीतीश कुमार का जन्म 1 मार्च 1951 को पटना के बख्तियारपुर गांव में हुआ। उनके पिता कविराज राम लखन सिंह स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे और कांग्रेस से जुड़े थे। लेकिन, जब उन्हें चुनाव लड़ने का मौका नहीं मिला तो वह जनता पार्टी का हिस्सा बन गए थे।&nbsp;</p>

    Bihar ElectionOct 24, 2020, 12:57 PM IST

    CM नीतीश का RJD पर हमला- 'गरीबों का वोट लेते, उन्हीं के बच्चे स्कूल से बाहर थे, आज क्या तस्वीर है?'

    नीतीश ने कहा- बच्चे-बच्ची गरीबी की वजह से शिक्षा से वंचित और स्कूल से बाहर थे। उनकी आमदनी न के बराबर थी और उसमें भी कमाई का बड़ा हिस्सा इलाज पर खर्च करना पड़ता था।

  • undefined

    Bihar ElectionOct 24, 2020, 11:48 AM IST

    RJD प्रत्याशी ने नीतीश पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- पति आनंद मोहन को मारने की रची जा रही साजिश

    आनंद मोहन तीन दिन से आमरण अनशन पर हैं। अब उनकी पत्नी लवली ने बिहार सरकार पति के जान के पीछे पड़ने का आरोप लगाया है। 

  • <p><strong>पटना (Bihar) ।</strong> बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में बाहुबलियों का आज भी वर्चस्व है। प्रमुख दल भी इन्हें या इनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने में पीछे नहीं हैं। इनमें सबसे आगे आरजेडी (RJD)&nbsp;&nbsp;है, जिसके मुखिया लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) हैं, जो रांची जेल में बंद हैं। हालांकि उन्हें जमानत पर बाहर लाने की तैयारी चल रही हैं। जिनके बारे में एनडीए भी कहती है कि उनका धनबल और बाहुबलियों से गहरा नाता रहा है। यह अलग बात है कि वो भी इससे अछूते नहीं हैं। कहा तो यहां तक जाता है कि लालू प्रसाद यादव ने उन बाहुबलियों को भी अपना बना लिया, जो कभी उनके खिलाफ आवाज उठाने वालों में शामिल थे। हालांकि इस बार की बात करें तो उनके दल से 7&nbsp;ऐसे बाहुबली नेताओं और उनके बेटे या पत्नियों को टिकट मिलने की खबर है, जो पूरी ताकत से चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें तो कुछ ऐसे भी हैं, जो जेल में है और कुछ जमानत पर बाहर। आज हम इन्हीं बाहुबलियों के बारे में बता रहे हैं।</p>

    Bihar ElectionOct 20, 2020, 4:08 PM IST

    लालू के करीबी बने ये बाहुबली, इन 7 सीटों पर लड़ रहे चुनाव, बेटे और पत्नी को भी मिला है टिकट

    पटना (Bihar) । बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में बाहुबलियों का आज भी वर्चस्व है। प्रमुख दल भी इन्हें या इनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने में पीछे नहीं हैं। इनमें सबसे आगे आरजेडी (RJD)  है, जिसके मुखिया लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) हैं, जो रांची जेल में बंद हैं। हालांकि उन्हें जमानत पर बाहर लाने की तैयारी चल रही हैं। जिनके बारे में एनडीए भी कहती है कि उनका धनबल और बाहुबलियों से गहरा नाता रहा है। यह अलग बात है कि वो भी इससे अछूते नहीं हैं। कहा तो यहां तक जाता है कि लालू प्रसाद यादव ने उन बाहुबलियों को भी अपना बना लिया, जो कभी उनके खिलाफ आवाज उठाने वालों में शामिल थे। हालांकि इस बार की बात करें तो उनके दल से 7 ऐसे बाहुबली नेताओं और उनके बेटे या पत्नियों को टिकट मिलने की खबर है, जो पूरी ताकत से चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें तो कुछ ऐसे भी हैं, जो जेल में है और कुछ जमानत पर बाहर। आज हम इन्हीं बाहुबलियों के बारे में बता रहे हैं।

  • <p><strong>पटना (Bihar,) ।</strong> बिहार विधानसभा चुनाव में बाहुबलियों का आज भी वर्चस्व है। प्रमुख दल भी इन्हें या इनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने में पीछे नहीं हैं। अब तक 9 ऐसे बाहुबली नेताओं और उनके बेटे या पत्नियों को टिकट मिलने की जानकारी है, जो पूरी ताकत से चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें तो कुछ ऐसे भी हैं, जो जेल में है और कुछ जमानत पर बाहर।</p>

    Bihar ElectionOct 15, 2020, 3:19 PM IST

    इन सीटों से लड़ रहे बाहुबली, कोई जेल में है तो कोई जमानत पर बाहर, बेटा-पत्नी भी आजमा रहे किस्मत

    पटना (Bihar,) । बिहार विधानसभा चुनाव में बाहुबलियों का आज भी वर्चस्व है। प्रमुख दल भी इन्हें या इनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने में पीछे नहीं हैं। अब तक 9 ऐसे बाहुबली नेताओं और उनके बेटे या पत्नियों को टिकट मिलने की जानकारी है, जो पूरी ताकत से चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें तो कुछ ऐसे भी हैं, जो जेल में है और कुछ जमानत पर बाहर।

  • <p><strong>पटना (Bihar) । </strong>डीएम की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा पाने वाले पहले बाहुबली नेता आनंद मोहन (Anand Mohan) को बाहर लाने के लिए उनकी पत्नी और पूर्व सांसद लवली आनंद (&nbsp;Lovely Anand) परेशान हैं। वे इसके बार-बार पार्टियां बदल रही हैं। इस समय आरजेडी (RJD ) के साथ पॉलिटिक्स करना शुरू कर दी है। पार्टी ने उन्हें सहरसा से चुनाव मैदान में उतारने का फैसला किया है। खबर है कि लवली आनंद को RJD की ओर से टिकट दिया गया है। बताते चले कि सहरसा में तीसरे चरण में वोटिंग होगी, जिसके लिए 7 नवंबर को मत डाले जाएंगे, जबकि 10 नवंबर को मतगणना होगी। वहीं, कल यह भी खबर सामने आई थी कि आनंद मोहन (Anand Mohan) के बेटे चेतन आनंद (Chetan Anand) को शिवहर से राजद का सिम्बल मिल गया है।<br />
&nbsp;</p>

    Bihar ElectionOct 12, 2020, 8:46 AM IST

    ये है पहला बाहुबली नेता, जिसे मिली थी फांसी की सजा; अब पत्नी सहरसा से लड़ेगी चुनाव, बेटे को लेकर है यह चर्चा

    पटना (Bihar) । डीएम की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा पाने वाले पहले बाहुबली नेता आनंद मोहन (Anand Mohan) को बाहर लाने के लिए उनकी पत्नी और पूर्व सांसद लवली आनंद ( Lovely Anand) परेशान हैं। वे इसके बार-बार पार्टियां बदल रही हैं। इस समय आरजेडी (RJD ) के साथ पॉलिटिक्स करना शुरू कर दी है। पार्टी ने उन्हें सहरसा से चुनाव मैदान में उतारने का फैसला किया है। खबर है कि लवली आनंद को RJD की ओर से टिकट दिया गया है। बताते चले कि सहरसा में तीसरे चरण में वोटिंग होगी, जिसके लिए 7 नवंबर को मत डाले जाएंगे, जबकि 10 नवंबर को मतगणना होगी। वहीं, कल यह भी खबर सामने आई थी कि आनंद मोहन (Anand Mohan) के बेटे चेतन आनंद (Chetan Anand) को शिवहर से राजद का सिम्बल मिल गया है।