Bharat Band  

(Search results - 57)
  • <p>delhi</p>

    NationalMar 26, 2021, 7:43 AM IST

    भारत बंद: पंजाब हरियाणा में रेल सेवाएं ठप, 10 एक्सप्रेस और 50 से ज्यादा मालगाड़ी प्रभावित

    संयुक्त किसान मोर्चा और किसान संघों की अगुआई में शुक्रवार को 'भारत बंद' किया गया है। तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन के चार महीने पूरे हो गए। 26 मार्च 2021 को भारत बंद शाम 6 बजे तक रहेगा। इस दौरान देश भर में सभी सड़क और रेल पटरियों, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे।

  • undefined

    NationalFeb 26, 2021, 11:10 AM IST

    आज सुबह 6 से रात 8 बजे तक भारत बंद: जानिए GST पर क्या है विवाद, क्या है दुकानदारों और ट्रांसपोर्टर्स की मांग

    द कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) शुक्रवार को ई वे बिल, पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतें और जीएसटी (GST) को लेकर भारत बंद बुलाया है। वहीं, ट्रांसपोर्टर्स के संगठन ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने भी बंद और चक्का जाम की अपील की है। बता दें कि कैट (CAIT) देश के करीब 8 करोड़ छोटे दुकानदारों का संगठन है। 

  • undefined

    BusinessFeb 23, 2021, 4:11 PM IST

    8 करोड़ से भी ज्यादा व्यापारी 26 फरवरी को करेंगे भारत बंद, ट्रांसपोर्टरों ने किया चक्का जाम का ऐलान

    देश के करीब 8 करोड़ से ज्यादा छोटे व्यापारी 26 फरवरी को हड़ताल कर रहे हैं। वे 26 फरवरी को बुलाए गए भारत बंद में शामिल होंगे। छोटे व्यापारियों के संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने जीएसटी (GST) की समीक्षा की मांग को लेकर यह बंद बुलाया है। इसी दिन ट्रांसपोर्टर्स के संगठन ने भी चक्का जाम हड़ताल का ऐलान किया है।

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 20, 2020, 5:53 PM IST

    किसान आंदोलन का 25वां दिन, अब किसानों ने दी प्रशासन को ये चेतावनी


    वीडियो डेस्क।  दिल्ली से सटे हरियाणा और UP बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन का आज 25वां दिन है। सरकार और किसान दोनों की ओर से कोई पहल न होने की वजह से यहां वक्त थमा हुआ है। फिलहाल कोई बड़ी हलचल नहीं है। तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन रोज की तरह चल रहा है। उधर, यूपी की गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसान नेताओं ने गाजियाबाद एडिमिनिस्ट्रेशन को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि प्रदेश के जिलों से आ रहे किसानों की ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को जब्त किया जा रहा है। अगर यह समस्या 24 घंटे में दूर नहीं की गई तो वे हाइवे की दूसरी लेन भी बंद कर देंगे। किसान नेता वीएम सिंह ने अफसरों से कहा कि जो किसान हाथों में टोपी, बैज और झंडे लेकर चल रहे हैं, उन्हें रोका जा रहा है। जो लोग घर लौट रहे हैं, उनकी ट्रैक्टर-ट्रॉलियां जब्त की जा रही हैं। उन्हें हिरासत में भी लिया जा रहा है। उधर, कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आज शहीदी दिवस मनाएंगे। इस दौरान धरना स्थल और पूरे पंजाब में शहीद किसानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी। कई कार्यक्रम विशेष होंगे। भारतीय किसान यूनियन के चीफ सेक्रेटरी मांगे राम त्यागी ने यह जानकारी दी।पंजाब से आए वॉलंटियर्स के एक ग्रुप ने सिंघु बॉर्डर पर पगड़ी लंगर शुरू किया है। यहां किसानों को फ्री में पगड़ी बांधी जा रही है। वॉलंटियर्स पग भी अपने साथ लाए हैं। यह भी मुफ्त दी जा रही है। उनका कहना है कि हम लोगों को बता रहे हैं कि पग कैसे बांधी जाती है। 

  • undefined
    Video Icon

    BollywoodDec 19, 2020, 5:25 PM IST

    कंगना रनौत ने बताई किसानों के विरोध के पीछे की सच्चाई, प्रियंका चौपड़ा का भी लिया नाम, VIDEO

    वीडियो डेस्क। दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों का आंदोलन शनिवार को 24वें दिन जारी है।  किसान केंद्र सरकार द्वारा लागू तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।  इस बीच एक बार फिर बॉलीवुड एक्ट्रेस  कंगना रनौत ने दिलजीत दोसांझ और प्रियंका चोपड़ा की ओर निशाना साधने हुए किसान आंदोलन को लेकर अपनी बात रखी है।वीडियो में कंगना ने लोगों से सवाल किया है कि उन्हें अपनी देशभक्ति को हर वक्त क्यों जताना पड़ता है।  मैंने सभी को बताया है कि मैं किसान आंदोलन पर सच बोलूंगी जैसे कि शाहीन बाग आंदोलन के समय कहा था। इसके लिए मुझे लगातार भावनात्मक और मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया गया है। इसके अलावा मुझे दुष्कर्म की धमकियां दी गई हैं। इस देश में क्या सवाल पूछना मेरा अधिकार नहीं है?  यह साबित हो गया है कि यह पूरा आंदोलन राजनीति से प्रेरित है और इसमें आतंकवादी भी भाग ले रहे हैं।
     

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 17, 2020, 4:56 PM IST

    किसानों के आंदोलन का 22वां दिन, एक्सपर्ट ने बताई 3 वो वजह जिसके कारण नहीं बन रही बात

    नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का आज 22वां दिन है। टिकरी बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों ने कहा है कि वे सरकार से बातचीत करने को तैयार हैं, लेकिन कृषि कानूनों का विरोध नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार अपना अहंकार बचाने के लिए अब सुप्रीम कोर्ट का सहारा ले रही है। भारतीय किसान यूनियन  के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि किसानों की समस्या का हल नहीं निकला तो आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। सरकार किसान संगठनों के फूट डालने की कोशिश कर रही है। सरकार को सर्वदलीय बैठक बुलाकर समाधान निकालना चाहिए। किसानों के आंदोलन का लगातार चलने के पीछे आखिर क्या वजह है क्यों सरकार और किसानों में बात नहीं बन रही है हमने जाना वरिष्ठ पत्रकार शिवअनुराग पटेरिया से। देखें वीडियो  

     

  • undefined

    NationalDec 16, 2020, 8:03 AM IST

    किसान आंदोलन: SC ने केंद्र से कहा, सभी पक्षों को शामिल कर कमेटी बनानी चाहिए, यह राष्ट्रीय मुद्दा बनने वाला है

    केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ बुधवार को किसानों के प्रदर्शन का 21वां दिन है। किसानों को सड़कों से हटाने की अर्जी पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि इस मामले में सभी पक्षों को शामिल कर कमेटी बनानी चाहिए। यही राष्ट्रीय मुद्दा बनने वाला है। चीफ जस्टिस एस ए बोबडे की बेंच ने कहा, ऐसा लगता है कि यह मुद्दा सरकार के स्तर पर सुलझने वाला नहीं है।

  • undefined

    NationalDec 14, 2020, 7:59 AM IST

    किसान बोले- आज का आंदोलन सफल; जब तक समाधान नहीं होता, किसान वापस नहीं जाएंगे

    कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी है। केंद्र सरकार पर नए कृषि कानूनों को वापस लेने का दबाव बनाने के लिए किसानों में अब गांधीगिरी अपनाने का फैसला किया। देशभर में सभी किसान सोमवार को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक उपवास रखा। साथ ही कई जिला मुख्यालयों पर धरना भी दिया। राजधानी दिल्ली के आसपास के क्षेत्रों में प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओ ने रविवार को बैठक की।

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 13, 2020, 7:27 PM IST

    किसान आंदोलन में शामिल महिलाएं लगा रहीं पीएम मोदी पर विवादित नारे, सामने आया VIDEO

    वीडियो डेस्क. दिल्ली बॉर्डर पर किसान आंदोलन का आज 18वां दिन है। कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार तेज हो रहा है। किसान संगठनों ने दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर ट्रैफिक ठप करनी की चेतावनी दी है वहीं दूसरी तरफ हरियाणा में किसानों ने टोल प्लाजा को घेरने का आह्वान किया है। लिहाजा, गुरुग्राम और फरीदाबाद में पुलिस अलर्ट है और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। आंदोलन में उतरीं महिलओं ने मोदी सरकार के खिलाफ विवादित नारे लगाए। इस प्रदर्शन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 
     

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 13, 2020, 3:51 PM IST

    दिल्ली में किसानों के प्रदर्शन को दबाने के लिए सेना को बुलाया गया? VIDEO में जानें इसकी सच्चाई

    वीडियो डेस्क। देश की राजधानी दिल्ली से सटे बॉर्डर पर 18 दिनों से किसानों का आंदोलन हो रहा है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने आंदोलन कर रहे किसानों को प्रस्ताव भेजकर साफ कर दिया है कि सरकार कृषि कानून वापस नहीं लेने वाली है। सरकार ने कुछ एक संशोधन की बात कही। लेकिन, किसानों ने सरकार के इस प्रस्ताव को ठुकराते हुए आंदोलन को तेज करने की धमकी दी है।इस बीच सोशल मीडिया पर तरह-तरह के पोस्ट साझा किए जा रहे हैं। कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि किसानों के आंदोलन को दबाने के लिए सरकार ने दिल्ली में सेना को उतार दिया है। आइए जानते हैं कि इस वायरल वीडियो की सच्चाई क्या है?

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 12, 2020, 3:22 PM IST

    किसान आंदोलन का 17वां दिन, देशभर के टोल नाको पर प्रदर्शन

    वीडियो डेस्क। कृषि कानून रद्द करवाने की मांग पर अड़े किसानों ने आज आंदोलन तेज कर दिया है। ऐलान के मुताबिक किसानों ने टोल प्लाजा फ्री कर दिए हैं। पंजाब और हरियाणा में इसका सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है। किसान आज दिल्ली-जयपुर और दिल्ली-आगरा हाईवे भी जाम करेंगे। उनका ये भी कहना है कि सरकार से बातचीत के दरवाजे खुले हैं, न्योता आया तो जरूर बात करेंगे।किसानों के मुद्दे पर NDA से अलग हुए शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि केंद्र सरकार किसानों की सुनने की बजाय उनकी आवाज दबाने की कोशिश कर रही है। जिनके लिए कानून बनाए हैं, वे ही इन्हें नहीं चाहते तो केंद्र क्यों अत्याचार कर रहा है? मैं प्रधानमंत्री से अपील करता हूं कि वे किसानों की सुनें। 
     

  • undefined
    Video Icon

    BollywoodDec 11, 2020, 5:25 PM IST

    किसानों का आदोलन को पंजाबी सिंगर्स का सपोर्ट, किसान एंथम सॉन्ग किया हुआ रिलीज

    वीडियो डेस्क।  केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसानों का आंदोलन शुक्रवार को 16वें दिन में प्रवेश कर चुका है। 16 दिनों से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डटे किसानों ने केंद्र सरकार से किसी भी तरह का समझौता करने से इनकार कर दिया है। किसान आंदोलन को पंजाबी इंडस्ट्री के कलाकारों का भरपूर समर्थन मिल रहा है।  अब पंजाबी सिंगर्स ने किसान एंथम (Kisan Anthem) सॉन्ग रिलीज किया है, जो खूब वायरल हो रहा है. किसान एंथम (Kisan Anthem) सॉन्ग को सोशल मीडिया पर भी खूब समर्थन मिल रहा है. इस गाने को मनप्रीत औलाख, निशवान भुल्लर, जस बाजवा, जॉर्डन संधु, फैजिलपुरिया, दिलप्रीत, ढिल्लन, डीजे फ्लो,  श्री बर्रार, अफसाना खान और बॉबी संधु जैसे सिंगर ने मिलकर गाया है. गाने में फ्लेम ने अपना म्यूजिक दिया गया है, जबकि श्री बर्रार ने इसके बोल लिखे हैं. फतेह खान और श्री बर्रार किसान एंथम गाने के प्रोड्यूसर हैं. यूट्यूब पर यह गाना फिलहाल 8वें नंबर पर ट्रेंड कर रहा है। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 11, 2020, 1:57 PM IST

    अमृतसर से 700 ट्रॉलियों में किसान दिल्ली आ रहे, ये है किसानों का नया प्लान, देखें VIDEO

     नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का आज 16वां दिन है। सरकार से बात नहीं बनते देख किसानों ने आंदोलन तेज कर दिया है। वे अब देशभर में ट्रेनें रोकने का ऐलान कर चुके हैं। उधर, पंजाब के अलग-अलग इलाकों से 30 हजार और किसान दिल्ली आ रहे हैं।कानून रद्द करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ, इसलिए जल्द ट्रेनें रोकने की तारीख का ऐलान करेंगे। वहीं केंद्र ने किसानों को साफ संकेत दे दिए हैं कि कृषि कानूनों की वापसी मुश्किल है। अगर कोई चिंता है तो सरकार बातचीत और सुधार के लिए हमेशा तैयार है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हमने किसानों से कई दौर की बातचीत की। उनके हर सवाल का जवाब लिखित में भी दिया, लेकिन किसान अभी फैसला नहीं कर पा रहे हैं और ये चिंता की बात है। दोनों पक्षों को एक-दूसरे की पहल का इंतजार है। कृषि मंत्री ने कहा कि जब बातचीत हो रही है तो आंदोलन को बढ़ाने का ऐलान ठीक नहीं। उधर, किसानों का कहना है कि बातचीत का रास्ता बंद नहीं किया है, सरकार के दूसरे प्रपोजल पर विचार करेंगे।


     

  • undefined
    Video Icon

    NationalDec 10, 2020, 3:03 PM IST

    15वां दिन, एक्सपर्ट ने बताए वो 3 बड़े कारण जिनमें उलझा है ये किसान आंदोलन

    वीडियो डेस्क। नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के आंदोलन का आज 15वां दिन है। किसानों को मनाने के लिए 6 राउंड बातचीत के बाद सरकार की लिखित कोशिश भी बुधवार को नाकाम हो गई। सरकार ने कृषि कानूनों में बदलाव करने समेत 22 पेज का प्रपोजल किसानों को भेजा था, लेकिन बात बनने की बजाय ज्यादा बिगड़ गई। किसानों ने सरकारी कागज को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि अब आंदोलन तेज होगा। अब जयपुर-दिल्ली और आगरा-दिल्ली हाईवे समेत तमाम नेशनल हाईवे जाम किए जाएंगे। इस बीच सरकार के दूसरे प्रस्ताव का भी इंतजार रहेगा। आखिर इस आंदोलन के खत्म नहीं होने के क्या बड़े कारण है बता रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया 
     

  • undefined

    PunjabDec 9, 2020, 6:36 PM IST

    जब 7 फेरे के बाद नारेबाजी करने लगे दूल्हा-दुल्हन, बीच सड़क पर आकर करने लगे ये मांगे...

    फतेहगढ़ साहिब (पंजाब). नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। मंगलवार देशव्यापी हड़ताल करते हुए  किसानों ने भारत बंद का ऐलान किया था। जिसमें कई राजनीतिक दलों ने समर्थन भी किया। इस भारत में पंजाब से एक अनोखी तस्वीर सामने आई है। जहां शादी के सात फेरे लेने के बाद दूल्ह-दुल्हन आंदोलन का हिस्सा बनते ही धरना में शमिल हुए।