Borewell  

(Search results - 21)
  • <p>up news</p>
    Video Icon

    Uttar PradeshJun 14, 2021, 7:07 PM IST

    UP: जब बोरवेल से बाहर आया 4 साल का मासूम, तब थमीं मां की चीखें, देखने लायक थी खुशी

    वीडियो डेस्क।  उत्तर प्रदेश के आगरा जिले  फतेहाबाद में धरियाई गांव से बड़ी खबर सामने आई है, जहां सोमवार सुबह एक चार साल का बच्चा 100 फीट गहरे बोरवेल में गिर गया। मामले की जानकारी मिलते ही परजिन और ग्रामीण दौड़े रस्सी और के सहारे बच्चे को निकलने में जुट गए। अंदर से मासूम के रोने की आवाज आ रही है।

  • undefined

    Uttar PradeshJun 14, 2021, 1:17 PM IST

    UP में 100 फीट गहरे बोरवेल में गिरा 4 साल का बच्चा, अंदर रो रहा मासूम..बाहर बिलख रहे माता-पिता


    आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा जिले बड़ी खबर सामने आई है, जहां सोमवार सुबह एक चार साल का बच्चा 100 फीट गहरे बोरवेल में गिर गया। मामले की जानकारी मिलते ही परजिन और ग्रामीण दौड़े रस्सी और के सहारे बच्चे को निकलने में जुट गए। अंदर से मासूम के रोने की आवाज आ रही है। बिलखते बेटे को सुन माता-पिता का भी रो-रोकर बुरा है। वहीं सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड और एसडीआरएफ टीम मौके पर पहुंच चुकी हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन को शुरू कर दिया गया है।

  • <p><strong>जालोर (&nbsp;Rajasthan) &nbsp;।</strong> नए खोदे गए 90 फीट के बोरवेल में गुरुवार को गिरे 4 वर्ष का बच्चे को करीब 18 घंटे में किसी तरह सुरक्षित निकाल लिया गया। बता दें कि खोदे गए बोरवेल के ऊपर से लोहे की तगारी से ढका हुआ था। जिसे बच्चा खेल-खेल में इसे हटाकर अंदर देख रहा था। तभी, पैर फिसलने से वह अंदर जा गिरा था। जिसे बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीम जुटी हुई थी। यह घटना लाछड़ी गांव में नगाराम देवासी के खेत की है।<br />
&nbsp;</p>

    RajasthanMay 7, 2021, 11:32 AM IST

    90 फीट बोरवेल में गिरे 4 साल के बच्चे को 18 घंटे बाद निकाला गया बाहर,ऐसे चलाया गया रेस्क्यू ऑपरेशन

    जालोर ( Rajasthan)  । नए खोदे गए 90 फीट के बोरवेल में गुरुवार को गिरे 4 वर्ष का बच्चे को करीब 18 घंटे में किसी तरह सुरक्षित निकाल लिया गया। बता दें कि खोदे गए बोरवेल के ऊपर से लोहे की तगारी से ढका हुआ था। जिसे बच्चा खेल-खेल में इसे हटाकर अंदर देख रहा था। तभी, पैर फिसलने से वह अंदर जा गिरा था। जिसे बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीम जुटी हुई थी। यह घटना लाछड़ी गांव में नगाराम देवासी के खेत की है।
     

  • <p><strong>जालोर (&nbsp;Rajasthan) &nbsp;। </strong>नए खोदे गए 90 फीट के बोरवेल में गुुरुुवार को 4 वर्ष का बच्चा गिर गया। बताते हैं कि खोदे गए बोरवेल के ऊपर से लोहे की तगारी से ढका हुआ था। जिसेे बच्चा खेल-खेल में इसे हटाकर अंदर देख रहा था। तभी, पैर फिसलने से वह अंदर जा गिरा। जिसे बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। जबकि गुजरात से एनडीआरएफ की टीम को बुलाया गया है। घटना लाछड़ी गांव में नगाराम देवासी के खेत की है।</p>

    RajasthanMay 6, 2021, 1:53 PM IST

    90 फीट गहरे बोरवेल में गिरा 4 साल का बच्चा, बचाने के लिए अंदर डाला गया आक्सीजन और कैमरा

    जालोर ( Rajasthan)  । नए खोदे गए 90 फीट के बोरवेल में गुुरुुवार को 4 वर्ष का बच्चा गिर गया। बताते हैं कि खोदे गए बोरवेल के ऊपर से लोहे की तगारी से ढका हुआ था। जिसेे बच्चा खेल-खेल में इसे हटाकर अंदर देख रहा था। तभी, पैर फिसलने से वह अंदर जा गिरा। जिसे बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। जबकि गुजरात से एनडीआरएफ की टीम को बुलाया गया है। घटना लाछड़ी गांव में नगाराम देवासी के खेत की है।

  • <p><strong>महोबा (Uttar Pradesh) । </strong>बोरवेल में गिरे 6 साल के घनेंद्र की आखिरकार मौत हो गई। 22 घंटे तक चले &nbsp;रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद उसका शव बाहर निकाला जा सका। बताते हैं कि रात 2.20 बजे तक उम्मीद थी कि प्रशासन इस मासूम को बचा लेगा, लेकिन अचानक बच्चे की आवाज आने बंद हो जाने और पानी होने के कारण ऐसा संभव नहीं हो सका और आखिर में आज सुबह 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को किसी तरह बाहर निकाला गया। मगर, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। यह घटना कुलपहाड़ इलाके की है। जिसकी हम आपको तस्वीरें दिखा रहे हैं, साथ ही घटना स्थल पर इस दौरान क्या गतिविधियां रहीं के भी बारे में बता रहे हैं।</p>

    Uttar PradeshDec 3, 2020, 12:24 PM IST

    बच्चे के पास बोरवेल में रस्सी से दिया गया बिस्कुट-दूध, रात 2.20 तक थी उम्मीद लेकिन सुबह 8.44 पर वो भी टूट गई..

    महोबा (Uttar Pradesh) । बोरवेल में गिरे 6 साल के घनेंद्र की आखिरकार मौत हो गई। 22 घंटे तक चले  रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद उसका शव बाहर निकाला जा सका। बताते हैं कि रात 2.20 बजे तक उम्मीद थी कि प्रशासन इस मासूम को बचा लेगा, लेकिन अचानक बच्चे की आवाज आने बंद हो जाने और पानी होने के कारण ऐसा संभव नहीं हो सका और आखिर में आज सुबह 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को किसी तरह बाहर निकाला गया। मगर, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। यह घटना कुलपहाड़ इलाके की है। जिसकी हम आपको तस्वीरें दिखा रहे हैं, साथ ही घटना स्थल पर इस दौरान क्या गतिविधियां रहीं के भी बारे में बता रहे हैं।

  • <p><strong>महोबा (Uttar Pradesh) । </strong>बोरवेल में गिरे बच्चे घनेंद्र की आखिरकार मौत हो गई। 22 घंटे तक चले &nbsp;रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद उसका शव बाहर निकाला जा सका। बताते हैं यहां 6 जेसीबी मशीनें, एक एलएनटी मशीन, पांच एंबुलेंस, अग्निशमन दस्ता जुटा था। रात करीब 12 से लखनऊ एसडीआरएफ के कमांडेंट डा. सतीश कुमार की नेतृत्व में &nbsp;टीम आई थी और बचाव अभियान शुरू किया था, जो पूरी रात और सुबह तक चला। 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को बाहर निकाला गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।यह घटना कुलपहाड़ इलाके की है।</p>

    Uttar PradeshDec 3, 2020, 10:22 AM IST

    यूपी में 60 फीट गहरे बोरवेल में गिरा मासूम, 22 घंटे ऐसे चला रेस्क्यू, फिर भी नहीं बची जान

    महोबा (Uttar Pradesh) । बोरवेल में गिरे बच्चे घनेंद्र की आखिरकार मौत हो गई। 22 घंटे तक चले  रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद उसका शव बाहर निकाला जा सका। बताते हैं यहां 6 जेसीबी मशीनें, एक एलएनटी मशीन, पांच एंबुलेंस, अग्निशमन दस्ता जुटा था। रात करीब 12 से लखनऊ एसडीआरएफ के कमांडेंट डा. सतीश कुमार की नेतृत्व में  टीम आई थी और बचाव अभियान शुरू किया था, जो पूरी रात और सुबह तक चला। 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को बाहर निकाला गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।यह घटना कुलपहाड़ इलाके की है।

  • undefined

    Madhya PradeshNov 7, 2020, 10:48 AM IST

    बोरवेल से 100 घंटे बाद निकाला गया प्रहलाद, लेकिन हार गया जिंदगी की जंग; डॉक्टरों ने मृत घोषित किया

    जिले की पृथ्वीपुर तहसील के सैतपुरा गांव में करीब 100 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद 4 साल के मासूम प्रहलाद को शनिवार देर रात बोरवेल से निकाला गया। हालांकि, बच्चे को जैसे ही अस्पताल ले जाया गया वहां, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे की मौत पहले ही हो चुकी है। 

  • undefined

    Madhya PradeshNov 6, 2020, 9:22 AM IST

    200 फीट गहरे बोरवेल में फंसे मासूम की सलामती का उठे हाथ, आर्मी ने संभाला मोर्चा, धारा 144 लगाई

    मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले में बुधवार को खेलते हुए 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरे बच्चे को तीन दिन बाद भी बाहर नहीं निकाला जा सका है। हालांकि रेस्क्यू अभियान में लगे आर्मी के जवानों ने उम्मीद नहीं छोड़ी है। बच्चे को सिलेंडर के जरिये ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भी ट्वीट करके बच्चे की जिंदगी के लिए दुआ की है। शुक्रवार सुबह तक बच्चे को सुरक्षित निकालने की कोशिश जारी थी।

  • undefined

    Madhya PradeshNov 4, 2020, 4:25 PM IST

    खेलते हुए 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरा 4 साल का बच्चा, अब तक रेस्क्यू जारी

    मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले में बुधवार सुबह 4 साल का एक मासूम खेलते समय 200 फीट गहरे बोरवेल में जा गिरा। बच्चे के रोने की आवाज सुनकर लोग भागे-भागे पहुंचे। तुरंत प्रशासन को खबर की गई। बबीना से आर्मी की रेस्क्यू टीम बच्चे की जान बचाने मौके पर पहुंच गई है। सीएम शिवराजसिंह चौहान ने बच्चे की सलामती के लिए प्रार्थना करते हुए एक ट्वीट किया है। गुरुवार सुबह तक बच्चे को नहीं निकाला जा सका था।

  • <p><meta charset="utf-8" /><b id="docs-internal-guid-ba7adefc-7fff-40dc-353b-b7bacec2c0c3">A 3-year-old child fell into a 120-fit deep dry borewell, pulled out after 10 hours of hard work, died due to lack of oxygen</b></p>

    NationalMay 28, 2020, 10:37 AM IST

    120 फिट गहरे सूखे बोरवेल में गिरा 3 साल का बच्चा, 10 घंटे की मशक्कत के बाद निकाला, ऑक्सीजन न मिलने से....

    हैदराबाद। तेलंगाना में बुधवार को सुबह 4 बजे एक तीन साल का बच्चा 120 फिट गहरे बोरवेल में गिर गया। रेस्क्यू टीम की 10 घंटे की मशक्कत के बाद जब उसे बाहर निकाला तो देखा कि बच्चे की सांस घुटने के कारण मौत हो चुकी है। यह घटना तेलंगाना के मेडाक जिले की है। यहां एक तीन साल का बच्चा अपने दादा और पिता के साथ खेत पर गया था। तेलंगाना पुलिस के मुताबिक बच्चा बोरवेल के पास खेल रहा था और वह फिसल कर उसमें गिर गया। जैसे ही उसके पिता को बच्चा नहीं दिखा तो उन्होंने उसे खोजना शुरू किया। थोड़ी देर बाद उन्हें पता चला कि बच्चा बोरवेल में गिर गया है। मौके पर नेशनल डिजास्टर रिस्पोन्स टीम भी पहुंच गई और लगातार 10 घंटे की मशक्कत के बाद बच्चे को बाहर निकाला गया। बाहर निकलने के बाद देखा तो बच्चे का दम घुट चुका था। पुलिस ने बताया कि बच्चा जैसे ही बोरवेल में गिरा उसके बाद उसके ऊपर मिट्टी गिर जाने के कारण उस तक पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच रही थी जिसकी वजह से उसका दम घुट गया। मेडाक जिले के एसपी चंदना दीप्ती ने बताया कि परिजनों की जानकारी के बाद नेशनल डिजास्टर रिस्पोंस की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी लेकिन बच्चे को बाहर निकालने से कुछ घंटे पहले ही उसकी मौत हुई है। बच्चे के परिजनों ने पानी की तलाश में खेत में 3 बोर कराए थे लेकिन तीनों सूखे थे। बच्चे के गिरने के बाद बोर से मिट्टी उस पर गिर गई जिससे बच्चे तक पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रही थी और उसका दम घुटने से मौत हो गई। बच्चे को परिजनों को सौंप दिया है। 

  • undefined

    Uttar PradeshFeb 25, 2020, 2:16 PM IST

    मिट्टी ढहने से 40 फीट गहरे बोरवेल के गड्ढे में फंसा युवक, 20 घंटे से चल रहा रेस्क्यू ऑपरेशन

    मामला सीतापुर के मछरेहटा क्षेत्र के भिठौरा मजरापट्टी गांव का है। यहां रहने वाला अनुज (26) बोरवेल में फंस गया है। जानकारी के मुताबिक, खेत में बनी बोरिंग खराब हो गई थी। अनुज सोमवार करीब तीन बजे पिता श्याम लाल के साथ बोरिंग की पाइप निकाल रहा था। बोरिंग का गढ्ढा करीब 35-40 फीट गहरा था। वह नीचे उतरकर पाइप खोल रहा था कि अचानक गढ्ढे की मिट्टी ढहने से अनुज उसी में दब गया।

  • undefined

    RajasthanDec 28, 2019, 5:32 PM IST

    बोरवेल से 18 साल की लड़की को बचाने 8 घंटे चला रेस्क्यू, लेकिन मैडम कहीं और मिलीं

    दौसा, राजस्थान. राजस्थान के दौसा में 18 साल की लड़की के बोरवेल में कूदकर सुसाइड करने के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। जब प्रशासन ने रेस्क्यू के दौरान पूरी जमीन खोद डाली, तब मालूम चला कि लड़की तो जयपुर में है। अपने प्रेमी के संग गुपचुप तरीके से भागने के चक्कर में 18 की एक लड़की ने ऐसा षड्यंत्र रचा कि पूरा गांव ही नहीं, जिला प्रशासन भी चकरघिन्नी बन गया। लड़की शुक्रवार सुबह अपने घर से निकली थी। वो अपने साथ अलग से कुछ कपड़े लेकर भी आई थी। उसने पहने हुए कपड़े गांव के एक बोरवेल के पास  रखे। वहीं पर उसने एक कथित सुसाइड नोट छोड़ा। उसमें लिखा-'अब मैं नहीं मिलूंगी…पापा व दादी से बहुत प्यार करती हूं… मैं बालाजी का फरिश्ता हूं।' जब किसी को इन चीजों पर नजर पड़ी, तो पूरे गांव में सन्नाटा खिंच गया। लोगों को लगा कि लड़की ने बोरवेल में कूदकर सुसाइड कर लिया है। लेकिन लड़की देर शाम जयपुर में अपने प्रेमी के संग मिली।

  • undefined
    Video Icon

    HaryanaNov 4, 2019, 2:23 PM IST

    एक और बोरवेलः कांपते हुए बेटी को पुकारती रही मां, अंधेरे में खौफजदा पड़ी थी वो-नहीं हुई सुबह

    खुले बोरवेल की वजह से एक और बच्ची की जान चली गई। यह मामला हरियाणा के करनाल का है। घटना रविवार दोपहर हुई, जब खेलते समय एक 5 साल की बच्ची 50 फीट गहरे बोरवेल में गिर गई थी। रेस्क्यू करके सोमवार बच्ची को निकाला, लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी।

  • undefined

    NationalNov 4, 2019, 1:56 PM IST

    बोरवेल में गिरी 5 साल की बच्ची की मौत, 18 घंटे तक लड़ती रही जिंदगी की जंग

    हरियाणा के करनाल जिले में 5 साल की एक बच्ची शिवानी 50-60 फिट गहरे बोलवेल में गिर गई थी। 18 घंटे चले रैस्क्यू ऑपरेशन के बाद भी शिवानी को बजाया नहीं जा सका। रविवार रात हुआ था हादसा।


     

  • undefined

    NationalNov 4, 2019, 10:19 AM IST

    बोरवेल में गिरी 5 साल की बच्ची, सिर नीचे; पैर में फंदा बांध निकालने की कोशिश जारी

    हरियाणा के करनाल जिले में 5 साल की एक बच्ची शिवानी 50-60 फिट गहरे बोलवेल में गिर गई है। बताया जा रहा है कि हादसा रविवार रात लगभग 9 बजे घरौंडा के गांव हरिसिंह पूरा में हुआ। पुलिस प्रशासन के साथ एनडीआरफ की टीम बच्ची को बचाने में जुटी।