Chief Minister Yogi Adityanath  

(Search results - 32)
  • <p>modi</p>

    NationalMar 19, 2021, 11:35 AM IST

    यूपी में दंगे नहीं होते, डकैती, बलात्कार, भ्रष्टाचार में भारी कमी...आदित्यनाथ ने 4 साल के काम गिनाए

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश सरकार के सफलतापूर्वक 4 साल पूरा होने पर विकास यात्रा की एक फिल्म का विमोचन किया। उन्होंने कहा, प्रदेश में अब कोई दंगा नहीं होता है, जो सरकार की उपलब्धि है। 

  • undefined

    Uttar PradeshJan 25, 2021, 2:52 PM IST

    5 साल की बहन की जान बचाने के लिए सांड से भिड़ गया था 13 साल का भाई, स्कूली बैग को बनाया था हथियार

    लखनऊ ( Uttar Pradesh) । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार जीतने वाले देश के 32 बच्चों से बात की। इनमें टॉप थ्री बच्चों को बहादुर का पुरस्कार दिया, जिनमें यूपी के बारांबकी निवासी दिव्यांश सिंह भी शामिल हैं, जिन्होंने स्कूल बैग को हथियार बनाकर महज 13 साल की उम्र में साड़ से लड़कर अपनी बहन की जान बताई थी। जिससे प्रभावित होकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविद, पूर्व राज्यपाल रामनाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित किया था। जिनके बहदुरी की कहानी आज हम आपको बता रहे हैं।

  • undefined

    Uttar PradeshNov 17, 2020, 10:30 AM IST

    बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी की 6 साल की पोती पटाखों से झुलसी, इलाज के दौरान मौत, ऐसे हुआ हादसा

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रीता बहुगुणा जोशी के झुलसी पोती को एयर एम्बुलेंस से दिल्ली के एम्स अस्पताल ले जाया गया था। दिल्ली में इलाज के दौरान बच्ची की मौत हो गई। मौत की खबर मिलते ही प्रयागराज स्थित घर में हड़कंप मच गया। लोग सांसद के घर पहुंचने लगे। दिल्ली से बच्ची का शव भी उसके घर लाया जा रहा है
     

  • undefined
    Video Icon

    Uttar PradeshNov 13, 2020, 7:06 PM IST

    अयोध्या की दिवाली दीपों जगमगाई अयोध्या, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगाया दीया

    वीडियो डेस्क। राम की नगरी अयोध्या जगमगा रही है। 492 साल बाद त्रेतायुग जैसा नजारा देखने को अभी से ही मिल रहा है। कई दिनों से चल रहे इस दीपोत्सव को आज मनाया गया। इस भव्य आयोजन का पूरा विश्व साक्षी बना है। ऐसा नजारा पहले कभी किसी ने नहीं देखा होगा। देखिए कैसे मनाई जा रही अयोध्या में दिवाली। नदी किनारे बने 24 घाट भी दीये की रोशनी से जगमगा उठे हैं। अयोध्या में चारों ओर रोशनी और माहौल में उमंग दिख रही है।  अयोध्या आज दुल्हन की तरह सजी है। दीपोत्सव के मौके पर झांकियां निकाली गई। जिसमें रामायण की झलक देखने को मिली। बता दें कि राम मंदिर में पहली बार 11 हजार दीप जलेंगे। 492 साल बाद त्रेतायुग जैसा नजारा देखने को अभी से ही मिल रहा है। इस बार राम के दीदार में अयोध्या का 16 श्रृंगार हो रहा है। भगवान राम सीता और लक्ष्मण हेलीकॉप्टर से राम कथा पार्क पहुंचे। जहां सीएम योगी आदित्यनाथ ने भगवान स्वरूप की आगुवानी की। वहीं इससे पहले अयोध्या पुहंचे सीएम योगी ने राम लला के दर्शन किए और आरती उतारी।  सीएम ने की भगवान राम और सीता स्वरूप की आरती की और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने वर्चुअल दीपोत्सव वेब पोर्टल का शुभारंभ किया। आपको बता दें कि यूपी में योगी सरकार आने के बाद से ही हर साल दिवाली के मौके पर अयोध्या को इसी तरह सजाया जाता है. दिवाली के दिन लाखों दीये जलाकर अयोध्या को जगमगाया जाता है. इस बार अगस्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी थी, यही कारण है कि इस बार की दिवाली खास होने जा रही है। 

  • undefined

    Uttar PradeshOct 5, 2020, 7:45 PM IST

    उत्तर प्रदेश में 3 साल की वो 5 बड़ी घटनाएं, जिनसे हिल गई योगी सरकार..विदेशी मीडिया में भी किरकिरी

    हाथरस. उत्तर प्रदेश की कमान संभाले हुए योगी आदित्यनाथ को तीन साल से ज्यादा का वक्त गुजर चुका है। जब मार्च 2017 में वह सूबे के मुख्यमंत्री बने थे उन्होंने राज्य की जनता को आश्वासन दिया था कि अब यूपी में कानून-व्यवस्था ठीक होगी। सत्ता संभालते ही पुलिस को अपराधियों के सफाए करने का फरमान जारी किया। सीएम ने कहा था कि अपराधी यूपी छोड़कर भाग जाएं नहीं तो उनकी खैर नहीं। इसके बाद एक महीने तक यूपी में  ताबड़तोड़ एनकाउंटर किए। सैंकड़ों अपराधी पकड़े गए। लेकिन समय बीतता गया और आपराधिक घटनाएं बढ़ती गईं। साढ़े तीन साल में उत्तर प्रदेश में ऐसी कई बड़ी घटनाएं हुई हैं जो पूरे देश में चर्चा का विषय बनीं और योगी सरकार पर सवाल खड़े होने लगे

  • <p>भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक और बड़ी कार्रवाई की है। सीएम योगी ने महोबा के पुलिस अधीक्षक मणि लाल पाटीदार को निलंबित कर दिया है</p>

    Uttar PradeshSep 9, 2020, 4:59 PM IST

    एक्शन में सीएम योगी, दो दिन में दूसरे IPS अफसरों को किया निलंबित; यूपी में अब जीरो टॉलरेंस नीति

    भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक और बड़ी कार्रवाई की है। सीएम योगी ने महोबा के पुलिस अधीक्षक मणि लाल पाटीदार को निलंबित कर दिया है। 

  • undefined
    Video Icon

    Uttar PradeshAug 5, 2020, 12:13 PM IST

    राम मंदिर निर्माण के लिए पीएम मोदी ने अयोध्या में ऐसे रखा पहला कदम, 29 साल बाद पहुंचे


     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंच गए हैं। वे रामलला के दर्शन और हनुमान गढ़ी जाने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं। दोपहर 12:30 बजे मोदी राम मंदिर की नींव रखेंगे। 1885 में पहली बार यह मामला अदालत में गया।

  • <p><strong>सोनभद्र (Uttar Pradesh) ।</strong> &nbsp;उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ ब्लाइंड (यूपीसीएबी) के उप कप्तान बनने तक का सफर तय करने वाले चंदन कुमार के घर की आर्थिक स्थिति लॉकडाउन के चलते बिगड़ गई। जिसके कारण वो अपने पिता के साथ लाई-चना भुनने के लिए मजबूर हैं। चंदन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व खेल मंत्री को पत्र भेजकर आर्थिक मदद की मांग की है। बता दें कि चंदन कुमार शक्तिनगर के रहने वाले है, जो 2 अक्टूबर 2018 में भारत-इंग्लैंड के बीच आयोजित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारत की तरफ से खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाई थी। &nbsp;&nbsp;</p>

    Uttar PradeshJun 29, 2020, 4:56 PM IST

    लॉकडाउन में बिगड़ गई घर की माली हालत, अब लाई-चना बेच रहा यह क्रिकेटर

    सोनभद्र (Uttar Pradesh) ।  उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ ब्लाइंड (यूपीसीएबी) के उप कप्तान बनने तक का सफर तय करने वाले चंदन कुमार के घर की आर्थिक स्थिति लॉकडाउन के चलते बिगड़ गई। जिसके कारण वो अपने पिता के साथ लाई-चना भुनने के लिए मजबूर हैं। चंदन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व खेल मंत्री को पत्र भेजकर आर्थिक मदद की मांग की है। बता दें कि चंदन कुमार शक्तिनगर के रहने वाले है, जो 2 अक्टूबर 2018 में भारत-इंग्लैंड के बीच आयोजित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारत की तरफ से खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाई थी।   

  • <p><strong>लखनऊ (Uttar Pradesh)। </strong>मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज विधि विधान के साथ दाह संस्कार किया गया। उनके ज्येष्ठ पुत्र मानेंद्र सिंह बिष्ट ने उन्हें मुखाग्नि दी। इस दौरान उनके पुत्र शैलेंद्र सिंह व कनिष्ठ पुत्र महेंद्र सिंह सहित परिवार व गांव के लोग भी मौजूद रहे। इसके पहले उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत सहित कई लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की थी। वहीं, सीएम ने अपने सरकारी आवास पर मीटिंग करने के पहले अपने पिता स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा। इसके बाद काम शुरू कर दिया। इस दौरान सीएम ने ट्वीट भी किया। &nbsp;<br />
&nbsp;</p>

    Uttar PradeshApr 21, 2020, 2:29 PM IST

    दो मिनट का मौन रख पिता को दी श्रद्धांजलि, फिर काम में जुटे CM योगी, ट्वीट पर लिखी ये बातें

    लखनऊ (Uttar Pradesh)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज विधि विधान के साथ दाह संस्कार किया गया। उनके ज्येष्ठ पुत्र मानेंद्र सिंह बिष्ट ने उन्हें मुखाग्नि दी। इस दौरान उनके पुत्र शैलेंद्र सिंह व कनिष्ठ पुत्र महेंद्र सिंह सहित परिवार व गांव के लोग भी मौजूद रहे। इसके पहले उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत सहित कई लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की थी। वहीं, सीएम ने अपने सरकारी आवास पर मीटिंग करने के पहले अपने पिता स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा। इसके बाद काम शुरू कर दिया। इस दौरान सीएम ने ट्वीट भी किया।  
     

  • <p><strong>सहारनपुर (Uttar Pradesh) । </strong>कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए देशभर में लॉकडाउन किया गया है। इससे लोगों को आने-जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का निधन हो गया है। उनका अंतिम संस्कार उत्तराखंड स्थित उनके पैतृक गांव से ही किया जाएगा। निधन की खबर सुनकर अपनी बहन को ढ़ाढस बढ़ाने और जीजा के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सहारनपुर से जा रही मुख्यमंत्री की मौसी सरोज देवी और उनके पुत्र सत्येंद्र सिंह बिष्ट को पुलिस ने रोक लिया। ये सभी भगवानपुर रोड पर काली नदी पुलिस चौकी उत्तराखंड बॉर्डर तक पहुंच गए थे, जबकि उन्हें एडीएम विनोद कुमार ने पौड़ी तक जाने के लिए पास जारी किया था।</p>

    Uttar PradeshApr 20, 2020, 6:10 PM IST

    जीजा के अंतिम संस्कार में शामिल होने जा रही थीं CM योगी की मौसी, उत्‍तराखंड बॉर्डर पर रोका

    सहारनपुर (Uttar Pradesh) । कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए देशभर में लॉकडाउन किया गया है। इससे लोगों को आने-जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का निधन हो गया है। उनका अंतिम संस्कार उत्तराखंड स्थित उनके पैतृक गांव से ही किया जाएगा। निधन की खबर सुनकर अपनी बहन को ढ़ाढस बढ़ाने और जीजा के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सहारनपुर से जा रही मुख्यमंत्री की मौसी सरोज देवी और उनके पुत्र सत्येंद्र सिंह बिष्ट को पुलिस ने रोक लिया। ये सभी भगवानपुर रोड पर काली नदी पुलिस चौकी उत्तराखंड बॉर्डर तक पहुंच गए थे, जबकि उन्हें एडीएम विनोद कुमार ने पौड़ी तक जाने के लिए पास जारी किया था।

  • <p><strong>लखनऊ (Uttar Pradesh) ।</strong> यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज निधन हो गया। उनका उपचार दिल्ली के एम्स में चल रहा था। आज हम आपको सीएम योगी आदित्यनाथ और उनके पिता के बारे में एक और खास कहानी बता रहे हैं, जिसका सपना सीएम के पिता ने देखा था, जो उनके जीते जी नहीं पूरा हो सका है। वहीं, योगी आदित्यनाथ की जीवन यात्रा पर लिखी गई किताब योद्धा योगी के मुताबिक उन्हें (सीएम योगी आदित्यनाथ) को जब उनके पिता ने पहली बार संयासी के रूप में देखा तो उन्हें अवाक रह गए थे। घर पहुंचने के बाद उन्होंने उनकी (सीएम योगी आदित्यनाथ) मां से सारी बातें बताई। मां को यकीन नहीं हुआ तो वह गोरखनाथ मंदिर गईं। जहां अपने बेटे को संन्यासी वेष में देखकर वह फूट-फूटकर रोने लगीं थीं।&nbsp;</p>

    Uttar PradeshApr 20, 2020, 3:58 PM IST

    जब CM योगी को देखकर फूटफूट रोने लगी थीं मां, जीते जी नहीं पूरा हो पाया पिता का ये सपना

    लखनऊ (Uttar Pradesh) । यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज निधन हो गया। उनका उपचार दिल्ली के एम्स में चल रहा था। आज हम आपको सीएम योगी आदित्यनाथ और उनके पिता के बारे में एक और खास कहानी बता रहे हैं, जिसका सपना सीएम के पिता ने देखा था, जो उनके जीते जी नहीं पूरा हो सका है। वहीं, योगी आदित्यनाथ की जीवन यात्रा पर लिखी गई किताब योद्धा योगी के मुताबिक उन्हें (सीएम योगी आदित्यनाथ) को जब उनके पिता ने पहली बार संयासी के रूप में देखा तो उन्हें अवाक रह गए थे। घर पहुंचने के बाद उन्होंने उनकी (सीएम योगी आदित्यनाथ) मां से सारी बातें बताई। मां को यकीन नहीं हुआ तो वह गोरखनाथ मंदिर गईं। जहां अपने बेटे को संन्यासी वेष में देखकर वह फूट-फूटकर रोने लगीं थीं। 

  • <p><strong>लखनऊ (Uttar Pradesh) । </strong>मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है। जहां उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है। बताया जा रहा है कि सीएम के पिता को किडनी और लिवर की समस्या है। जिनका गेस्ट्रो विभाग के डॉक्टर विनीत आहूजा की टीम इलाज कर रही है। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह उत्तराखंड के यमकेश्वर के पंचूर गांव में रहते हैं। वे उत्तराखंड में फॉरेस्ट रेंजर के पद से 1991 में रिटायर हो गए थे। उसके बाद से ही वे अपने गांव में रह रहे थे।<br />
&nbsp;</p>

    Uttar PradeshApr 20, 2020, 8:32 AM IST

    CM योगी के पिता एम्स में भर्ती, किडनी और लिवर में दिक्कत, हालत गंभीर

    लखनऊ (Uttar Pradesh) । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है। जहां उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है। बताया जा रहा है कि सीएम के पिता को किडनी और लिवर की समस्या है। जिनका गेस्ट्रो विभाग के डॉक्टर विनीत आहूजा की टीम इलाज कर रही है। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह उत्तराखंड के यमकेश्वर के पंचूर गांव में रहते हैं। वे उत्तराखंड में फॉरेस्ट रेंजर के पद से 1991 में रिटायर हो गए थे। उसके बाद से ही वे अपने गांव में रह रहे थे।
     

  • undefined

    Uttar PradeshApr 17, 2020, 11:36 PM IST

    कोटा में फंसे छात्रों के हनुमान बने CM योगी, सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ; पर निंदा में भी कमी नहीं

    कोटा/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस (कोविड 19) के खिलाफ जंग में अपने एक्शन की वजह से लगातार चर्चा में हैं। अब सीएम योगी ने राजस्थान के कोटा में फंसे मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले छात्रों को निकालने के लिए रोडवेज की बसों के जरिए ऑपरेशन चलाया। इसके तहत 300 बसों को (200  आगरा से और 100 बसें झांसी से) कोटा भेजा गया। 

  • undefined

    Uttar PradeshApr 7, 2020, 6:38 PM IST

    यूपी में पहली बार होगी वीडियो कांफ्रेंसिंग से कैबिनेट की मीटिंग, लिए जा सकते हैं कई बड़े फैसले

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट ने एक महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए सांसद निधि के फंड को 2 साल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। साथ ही कोरोना से निपटने के लिए राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और सांसदों के वेतन में 30 फीसदी कटौती का भी फैसला लिया है। यह फैसला 1 अप्रैल 2020 से लागू माना जाएगा

  • undefined

    Uttar PradeshMar 29, 2020, 4:22 PM IST

    सीएम योगी का बड़ा ऐलान, यूपी में जो आ गए, उन सभी की हिफाजत मेरी जिम्मेदारी


    सीएम ने अधिकारियों को कहा कि गरीब व मजदूर को खोजकर पैसे दीजिए। गरीबों से मकान मालिक किराया ना लें। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मकान मालिकों से किराया न लेने की अपील की है। अब बकाए के कारण किसी की भी बिजली नहीं कटेगी।