Corona Help  

(Search results - 15)
  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 8, 2021, 7:15 PM IST

    सलाह लेनी हो या चाहिए कोई और मदद, हर व्यक्ति को पता होने चाहिए ये 5 हेल्पलाइन नंबर

    वीडियो डेस्क। कोरोना वायरस को बढ़ने से रोकने के लिए देश मे कई राज्यों में कोरोना कर्फ्यू लगा है। सरकार ऐसी तमाम कोशिशें कर रही है जिससे लोगों को कोरोना से जुड़ी जानकारी और सलाह आसानी से मिल सकें।  इसके लिए केंद्र और राज्यों ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। व्यक्ति इन हेल्पलाइन नंबर से मदद ले सकता है. आइए जानते हैं मदद के लिए 5 जरूरी हेल्पलाइन नंबर।

  • undefined

    NationalMay 18, 2021, 9:29 AM IST

    Oxygen का NEWS मीटर: ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का जमाखोर नवनीत कालरा 3 दिन की पुलिस हिरासत में

    देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर कमजोर पड़ती नजर आ रही है। इस बीच देश की स्वास्थ्य सेवाओं में भी लगातार सुधार हो रहा है। कोरोना के खिलाफ भारत की इस लड़ाई में देश और दुनियाभर से मदद मिल रही है। छोटे-बड़े कई मित्र देश लगातार भारत को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, सिलेंडर, वेंटिलेटर, दवाइयां और अन्य मेडिकल सहायता भेज रहे हैं। स्थानीयस्तर पर भी लगातार मदद मिल रही है। आइए जानते हैं विदेशों और स्थानीयस्तर पर मिल रही मदद से कैसे बदलती जा रहीं भारत की स्वास्थ्य सेवाएं...

  • undefined

    NationalMay 12, 2021, 8:51 AM IST

    Oxygen का News मीटर: जर्मन ऑक्सीजन प्लांट का हुआ उद्घाटन, रोज 4 लाख लीटर ऑक्सीजन का होगा प्रोडक्शन

    कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंचती जा रही है। कुछ दिन पहले तक देश की स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई थीं, लेकिन दुनियाभर की मदद के बाद स्थितियां काबू में आती जा रही हैं। स्वास्थ्य सेवाएं पहले से अधिक बेहतर होती जा रही हैं। कोरोना संकट में भारत के साथ मानों सारे मित्र देश कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हुए हैं। स्थानीयस्तर पर औद्योगिक घरानों के अलावा स्वयंसेवी संगठन, तो मदद कर ही रहे हैं, दूसरे देशों से भी ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और अन्य मेडिकल सामग्री की मदद मिल रही है। आइए जानते हैं देश और दुनिया की मदद से कैसे बदल रहीं भारत की स्वास्थ्य सेवाएं...

  • undefined

    NationalMay 5, 2021, 8:11 AM IST

    Oxygen का News मीटर: DRDO एम्स ट्रामा सेंटर में लगा रहा प्रति मिनट 1000 लीटर ऑक्सीजन जेनरेट करने वाला प्लांट

    देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश का हर विभाग कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा हो गया है। रेलवे और सेना भी अस्पतालों में ऑक्सीजन की सप्लाई से लेकर मेडिकल सामग्री और दवाएं पहुंचाने में लगातार जुटी हुई है। बिजनसेमैन और स्वयंसेवी संगठन अपने स्तर पर अस्पताल खोल रहे हैं या सुविधाएं मुहैया करा रहे हैं।स्थानीयस्तर के अलावा दुनियाभर से भी भारत को मदद पहुंच रही है। छोटे-बड़े हर देश मित्रता निभाते हुए संकट की घड़ी में ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटिलेटर, दवाइयां और अन्य मेडिकल सामग्री भेज रहे हैं। जानिए देश और दुनियाभर से क्या मदद मिल रही है...

  • undefined

    TrendingMay 4, 2021, 4:24 PM IST

    7 स्टेप्स: घर बैठे पता करें आपके नजदीक कहां पर है वैक्सीनेशन सेंटर

    कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनारक साबित होती जा रही है। पिछले 24 घंटे में 3.57 लाख नए केस सामने आए थे। इसी बीच में देश में वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। कई राज्यों में 1 मई से 18-45 साल के लोगों का कोविड वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है।

  • undefined

    NationalMay 4, 2021, 7:49 AM IST

    Oxygen का News मीटर: जबलपुर में 5 रेलवे कोच में आइसोलेशन सेंटर तैयार, दिल्ली में बन रहा 500 बेड का अस्पताल

    भारत में कोरोन संक्रमण के खिलाफ जारी लड़ाई में सिर्फ स्थानीयस्तर पर मदद के लिए लोग आगे नहीं आए हैं, बल्कि दुनियाभर से मदद मिल रही है। छोटे-बड़े सभी देश भारत को ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटिलेटर, दवाइयां और अन्य मेडिकल सामग्री भेज रहे हैं। अमेरिका से लेकर अरब देश तक भारत को मदद पहुंचा रहे हैं। वहीं, भारत में लोग मदद को आगे आए हैं। उद्योगपति अपने स्तर पर हॉस्पिटल खोल रहे हैं और मेडिकल सामग्री उपलब्ध करा रहे हैं। जानिए देश और दुनियाभर से क्या मदद मिल रही है...
     

  • undefined

    NationalMay 2, 2021, 8:09 AM IST

    Oxygen का news मीटर: हरियाणा सरकार ने कहा-हमार ऑक्सीजन काेटा बढ़ने से संकट काफी हद तक दूर हुआ

    भारत में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ा है। इसके चलते स्वास्थ्य सेवाओं पर बुरा असर पड़ा। अस्पतालों में ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और अन्य आवश्यक मेडिकल उपकरणों की कमी से मरीजों को काफी तकलीफ उठानी पड़ रही है। हालांकि इस दिशा में किए जा रहे युद्धस्तर के प्रयासों से स्थिति सामान्य हो रही है। देश-विदेश से भारत को मेडिकल उपकरणों, ऑक्सीजन और दवाओं की मदद मिल रही है। वहीं, स्थानीयस्तर पर पुलिस रेमेडेसिविर जैसी दवाओं की कालाबाजारी करने वालों की गिरफ्तारी भी कर रही है। जानिए कहां से क्या मदद मिल रही है और सरकार के एक्शन प्लान...

  • undefined

    NationalApr 28, 2021, 3:45 PM IST

    कोरोना संकट में बिना रुके 24 घंटे मदद में जुटी एयरफोर्स, चीफ मार्शल ने PM से मुलाकात करके बताई अपनी प्लानिंग

    कोरोना संकट से निपटने की तैयारियों के सिलसिले में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वायु सेना के एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान वायु सेना प्रमुख ने प्रधानमंत्री को कोरोनाकाल में एयरफोर्स द्वारा की जा रही मदद के बारे में बताया। बता दें कि भारत इस समय कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है। इस संकट की घड़ी में भारतीय सेना भी पूरी मदद कर रही है। सेना ने जगह-जगह अस्पताल और कोविड केयर सेंटर भी खोले हैं। मेडिकल ऑक्सीजन से लेकर मेडिकल इक्विपमेंट्स, दवाएं और अन्य जरूरी चीजें भी एयरफोर्स एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचा रही है।

  • undefined

    NationalApr 28, 2021, 2:35 PM IST

    BJYM ने लॉन्च किया डॉक्टर हेल्पलाइन नंबर-08068173286, देश में कहीं से भी आप डॉक्टर से ले सकेंगे सलाह

    भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) ने कोरोना को लेकर बुधवार को एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इस 'डॉक्टर हेल्पलाइन 08068173286 का उद्घाटन किया। इस हेल्पलाइन के जरिये देश के किसी भी कौने से डॉक्टर से सलाह-मश्वरा किया जा सकता है। इससे 350 से अधिक डॉक्टर जुड़े हुए हैं।

  • <p>Oxygen anchor, oxygen help line number, help line number, corona help line number in Ghaziabad</p>

    TrendingApr 23, 2021, 4:07 PM IST

    कोरोना: मरीजों की जान बचाने यहां शुरू हुआ ऑक्सीजन लंगर, हेल्प लाइन नंबर जारी कर मदद का दावा

    देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग तेज होती जा रही है। इस बीच गाजियाबाद में गुरुद्वारा इंदिरापुरम ने ऑक्सीजन के लिए भटक रहे लोगों के लिए ऑक्सीजन लंगर की शुरुआत की है। 

  • undefined

    TrendingApr 22, 2021, 12:03 PM IST

    ऑक्सीजन सिलेंडर, रेमडेसिविर और प्लाज्मा जैसी मदद चाहिए, इन हेल्पलाइन नंबर्स और लिंक से मिलेगी पूरी जानकारी

    देश में कोरोना के केस बढ़ते ही जा रहे हैं। पिछले 24 घंटों में 3.15 लाख नए केस सामने आए हैं और अब तक 2104 लोगों की मौत हो चुकी है। वायरस का नया स्ट्रेन काफी खतरनाक है, ऐसे में पॉजिटिव मरीजों को हर दिन ऑक्सीजन, हॉस्पिटल बेड, रेमडिसिविर इंजेक्शन और प्लाज्मा आदि की जरूरत पड़ रही है। ऐसे में सोशल मीडिया की कुछ पोस्ट वायरल हो रही है हैं, जिनके जरिए जरूरतमंदों को मदद पहुंचाई जा रही है। ऐसी ही कुछ हेल्पलाइन नंबर की जानकारी देते हैं। 

  • undefined

    HatkeAug 9, 2020, 10:06 AM IST

    यहां कोरोना पॉजिटिव होते ही खाते में आ जाएंगे 94 हजार रुपये, बस पूरी करनी होगी 3 शर्तें

    हटके डेस्क: दुनिया में कोरोना की वजह से लोगों की जिंदगी काफी प्रभावित हुई है। इस वायरस ने दुनिया को सालों पीछे धकेल दिया है। ऐसा लग रहा है कि लोगों की जिंदगी वापस 10 साल पहले चली गई है। दुनिया के लगभग हर देश की अर्थव्यवस्था पर इस वायरस की मार साफ़ देखी जा सकती है। कोरोना एक इंसान से दूसरे में फैल रहा है। ऐसे में लोगों से अपील की जा रही है कि वो बाहर ना निकलें और अपने घरों में ही रहें। संपन्न घरों के लोगों को तो इससे कोई तकलीफ नहीं है। लेकिन जो गरीब हैं, उनकीं जान अगर कोरोना से बच भी जाए, तो भूख से उनकी मौत हो जाएगी। इस तकलीफ को देखते हुए दुनिया के एक देश की सरकार ने अहम फैसला लिया है। इस देश में अब हर कोरोना पॉजिटिव शख्स के खाते में 94 हजार रूपये ट्रांसफर किये जाएंगे ताकि वो अपना ध्यान क्वारेंटाइन होकर रख सके। भारत में इस खबर के बाद लोग मोदी सरकार से भी ऐसी ही कुछ डिमांड कर रहे हैं... 
     

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleJul 23, 2020, 5:30 PM IST

    कोरोना के लक्षण होने पर किए जाते हैं ये 3 टेस्ट, इनके बारे में जानिए ये जरूरी बातें

    कोरोनावायरस के मामले हर गुजरते दिन के साथ बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में दुनियाभर की सरकारें इस पर रोक लगाने के लिए इसकी जांच की संख्या बढ़ाने में लगी हुई है। फिलहाल कोरोना वायरस की जांच के लिए इस समय पूरी दुनिया में 3 तरह के टेस्ट किए जा रहे हैं। इनमें ब्लड टेस्ट स्वाब टेस्ट और सलाइवा टेस्ट शामिल हैं। ऐंटिबॉडी और ऐंटिजन टेस्ट ब्लड टेस्ट का ही हिस्सा हैं। जबकि स्वाब टेस्ट को ही RT-PCR टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है। यहां जानें इनसे जुड़ी जरूरी बातें।

  • undefined

    JharkhandApr 11, 2020, 5:53 PM IST

    1991 में लोग उन्हें डायन कहकर टॉर्चर करते थे, आज 62 साल की यही महिला उनको भूखों नहीं मरने दे रही

    शादी के 12 साल बाद इस महिला को गांववालों ने डायन कहकर बहुत परेशान किया था। लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी और आज वो ऐसी ही कई महिलाओं का संबल बनी हुई है।

  • undefined

    Other StatesApr 1, 2020, 12:08 PM IST

    कोरोना से युद्ध: भूखे-प्यासे लाचार गरीबों की आंखों में आंसू देखकर भावुक हुआ बच्चा, खाली कर दी अपनी पिगी बैंक

    मिजोरम के आइजोल का रहने वाला यह 7 साल का बच्चा खुद एक गरीब फैमिली से बिलांग करता है। लेकिन इसने गरीबों की मदद के लिए अपनी सारी सेविंग दान कर दी। मुख्यमंत्री ने इस बच्चे को हीरो बताया है।