Corona Warrior  

(Search results - 249)
  • undefined

    NationalJul 8, 2021, 10:33 PM IST

    पीएम मोदी ने कैबिनेट मीटिंग में कोरोना के प्रति लापरवाहियों पर जताई चिंता, बोले-COVID-19 का खतरा टला नहीं

    कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेहद चिंतित हैं. मंत्रिपरिषद की बैठक में उन्होंने लोगों के कोरोना के प्रति लापरवाह होने पर चिंता जताई. पीएम ने कहा कि हमारे काेरोना योद्धा लगातार लड़ाई लड़ भारत को उबारने में लगे हैं लेकिन कुछ लोग की लापरवाहियां भारी कीमत चुकाने को मजबूर कर देंगी.

  • undefined

    NationalJul 5, 2021, 7:59 AM IST

    संक्रमण के पीक में पूरा घर बीमार था, यूं लगने लगा था कि सबकुछ खत्म; लेकिन इच्छा शक्ति ने कोरोना को भगा दिया

    कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के पीक में जो संक्रमित हुआ; उसे किन हालात का सामना करना पड़ा, यह वही समझ सकता है। अस्पतालों में बेड नहीं थे, दवाओं की कालाबाजारी चरम पर थी। लेकिन जिन्होंने हौसला रखा; वे कोरोना से जीत गए।

  • <p>corona positive story, corona, corona winner, corona warriors story, corona in india, corona stories</p>

    NationalJun 30, 2021, 7:07 AM IST

    मेरा 6 महीने का बच्चा है, डर रही थी संक्रमित हुई तो क्या होगा? जानें 7 दिन में कैसे कोरोना को दी मात

    कोरोना की दूसरी लहर बीत चुकी है। तीसरी लहर के आने का अंदाजा लगाया जा रहा है। ऐसे में Asianet News के विकास कुमार यादव ने पूजा से बात की। पूजा मई महीने में संक्रमित हुई थीं, लेकिन एक हफ्ते में ठीक हो गईं। उन्होंने बताया कि सर्दी-खांसी की शुरू हुई दिक्कत कहां तक पहुंची? 

  • undefined

    NationalJun 29, 2021, 2:48 PM IST

    वैक्सीन बनाने वालों का विबंलडन में अनोखे अंदाज में सम्मान, BJP एमपी ने वीडियो शेयर कर विपक्ष को लताड़ा

    सेंटर कोर्ट में सम्मानित होने वालों में ऑक्सफोर्ड/ एस्ट्राजेनेका कोविड -19 वैक्सीन बनाने वाले ब्रिटिश वैज्ञानिकों में से एक सारा गिल्बर्ट और कैप्टन सर टॉम मूर थे। इनके कोविड -19 क्राउड फंडिंग वॉक ने एनएचएस के लिए 33 मिलियन पाउंड जुटाए।

  • undefined

    BollywoodJun 29, 2021, 6:00 AM IST

    मम्मी ICU में थीं, डॉ. बोले- फौरन रेमडेसिविर लेकर आओ..कहीं नहीं मिली तो रातोंरात भागना पड़ा इंदौर

    कोरोना की दूसरी लहर की बात करें तो इसने लोगों के मन में ऐसा खौफ भर दिया है कि लोग अब तीसरी लहर के बारे में सोचकर ही सहमे हुए हैं। हालांकि, दूसरी लहर में भी कई लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी इच्छाशक्ति के बलबूते कोरोना जैसे वायरस को मात दी और सुरक्षित घर लौटे।  

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 27, 2021, 3:42 PM IST

    मन की बात बोले PM MODI, वैक्सीन लगवाएं, अफवाहों पर ध्यान न दें, ये वायरस बहरूपिया है

    वीडियो डेस्क।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर मन की बात प्रोग्राम के जरिए देश को संबोधित किया। यह कार्यक्रम मोदी सरकार 2.0 का 25वां और ओवरऑल 78वां एपिसोड था। PM ने मध्यप्रदेश के बैतूल के एक गांव के लोगों से बात की। लोगों ने उन्हें बताया कि हमारे यहां कोरोना वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि इससे मौत हो रही है।बैतूल के गांव में रहने वाले किशोरी लाल से PM मोदी ने पूछा कि आपने भी वैक्सीन पर फैलाए जा रहे भ्रम के बारे में सुना है क्या? किशोरी लाल ने जवाब दिया कि रिश्तेदार बताते हैं कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों की मौत हो जाती है। इस पर मोदी ने कहा कि इन अफवाहों पर ध्यान नहीं देना। हमें जिंदगी बचानी है, लोगों को बचाना है, देश को बचाना है। यह बीमारी बहरूपिए की तरह है। यह रंग रूप बदलकर हमला करती है।उन्होंने आगे कहा कि वैक्सीन हमारा हथियार है। हमारे वैज्ञानिकों ने बड़ी मेहनत करके वैक्सीन बनाई है। इस अभियान में माताओं-बहनों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में जोड़ना चहिए।

  • undefined

    NationalJun 25, 2021, 6:00 AM IST

    आक्सीजन लेवल कम हो रहा था, आक्सीजन वाला रेट बढ़ाते जा रहा था...पहले 20 हजार मांगा फिर 50 हजार की किया डिमांड

    बीमारी हो या जंग, इसमें जीत हमारे हौसलों पर निर्भर करती है। दोनों स्थितियों से विजेता बनकर निकलने के लिए आपको खुद को मजबूत करना होगा। लेकिन घबराहट और डर कई बार भारी पड़ने लगती है। हम आपके इसी डर से उबारने के लिए कोरोना विनर्स की कहानियों की श्रृंखला लाए हैं।

  • <p>Corona Winner, Corona Pandemic, Corona Medicine, Corona Stories, Corona Azamgarh Stories, Coivd 19, Corona, Corona Fighter, Corona Positive, Story Corona, Survivor Corona Warrior&nbsp;Corona Positive Story</p>

    NationalJun 23, 2021, 6:24 AM IST

    एक दिन देखा तो मेरी पूरी जीभ काली पड़ गई थी...जानें 60 साल के व्यक्ति ने कैसे एक महीने तक लड़ी कोरोना से जंग

    Asianet News Hindi के विकास कुमार यादव ने यूपी के आजमगढ़ जिले के शिवनारायण से बात की। उन्होंने बताया कि शुरू में एक डर की वजह से वे संक्रमित हुए। इतना ही नहीं, कोरोना से ठीक हुए तो उनकी पूरी जीभ काली हो गई थी। जानते हैं उन्होंने करीब एक महीने तक कैसे कोविड-19 से लड़ाई लड़ी?

  • undefined
    Video Icon

    TrendingJun 22, 2021, 7:48 PM IST

    अस्पताल में कोरोना वॉरियर्स का जबरदस्त डांस, मरीजों को सकारात्मक रखने के लिए लगाए ठुमके

    वीडियो डेस्क।  भारत में कोरोना को एक साल से ज्यादा हो गया है। देश में लंबे समय से दुख और नकारात्मक का माहौल है।  ऐसे में इससे प्रभावित हुए लोगों के लिए छोटी छोटी खुशियां भी बहुत मायने रखती है। इस बात को दिन रात मरीजों से घिरे रहने वाले अस्पताल के स्टाफ, डॉक्टर और नर्सों से ज्यादा कौन ही जान सकता है। ऐसे में वे अपने काम करते हुए मरीजों के लिए एक्ट्रा एक्टिविटी भी कर रहे हैं। इंस्टाग्राम पर ये वीडियो खूब सुर्खियां बटोर रहा है  इसमें  मरीजों के दो नर्स डांस कर रही है। नर्स मरीजों में  सकारात्मक माहौल रखने के लिए ऐसा कर रही है। 

  • undefined

    BollywoodJun 22, 2021, 6:00 AM IST

    मास्क की जगह रुमाल बांध पहुंच गया ऑफिस, 3 दिन रहा बुखार और मैं वायरल समझ अनजाने में बांटता रहा संक्रमण

    कोरोना (Corona) की दूसरी लहर अब कम जरूर हो गई है, लेकिन मौत के आंकड़े अब भी चिंताजनक हैं। देशभर में रोजाना 1500 के करीब लोगों की मौत हो रही हैं। इसके साथ ही महामारी की तीसरी लहर की आशंका से भी लोग डरे हुए हैं। दूसरी लहर ने देशभर में जो तांडव मचाया उससे कई लोग मौत के मुंह में समा गए। हालांकि कई लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने कोरोना जैसे जानलेवा वायरस से जंग लड़ी और कुछ ही दिनों में इससे पूरी तरह ठीक हो गए। 

  • undefined

    NationalJun 18, 2021, 4:37 PM IST

    केंद्र का राज्यों को पत्रः हेल्थकेयर वर्कर्स असुरक्षित महसूस कर रहें, तत्काल संशोधित एपिडेमिक एक्ट लागू करें

    भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने राज्यों को लिखे पत्र में कहा है कि कोरोना काल में डाॅक्टर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स या हेल्थ केयर प्रापर्टीज की सुरक्षा के लिए एपिडेमिक एक्ट में संशोधन किया गया। सितंबर 2020 में सरकार ने एपिडेमिक डिसीज एमेंडमेंट एक्ट, 2020 के रुप में इसे नोटिफाई कर दिया।

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleJun 15, 2021, 5:10 PM IST

    फर्जः लोगों की जिंदगी बचाने 4 महीने से घर नहीं गई यह नर्स, बोली- पहले ड्यूटी फिर मेरा परिवार

    वीडियो डेस्क।  देश में कोविड 19 (Covid-19)  को एक साल से ज्यादा का समय हो चुका है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को चपेट में ले रखा है। दुनिया भर में इस वायरस से संक्रमित होने वालों और जान गंवाने वालों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। भारत समेत तमाम देशों में लोग लॉकडाउन के दौरान घरों में सुरक्षित हैं। वहीं कोरोना के फ्रंट लाइन वारियर्स हर दिन अपनी जान हथेली पर रख इस वायरस से लड़ रहे हैं। कुछ ने तो अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए इस युद्ध में जान तक न्योछावर कर दी है। कोरोना संकट के दौरान हमारे फ्रंट लाइन वर्कर्स का बहुत अहम रोल है। रात दिन कोरोना से पीड़ितों के इलाज में वो लगे हुए हैं। डॉक्टर्स के साथ नर्सों का भी रोह सबसे ज्यादा है। कोविड 19 ड्यूटी के दौरान घर के लोगों से दूर रहकर काम करना किसी चुनौती से कम नहीं है। ऐसे ही कुछ कोरोना योद्धाओं की कहानी हम आपको बता रहे है इस कड़ी में हमने बात की मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के चिरायु हॉस्पिटल की नर्स रोशनी मोहनानी से जिन्होंने अपने काम के लिए घर परिवार सबको छोड़ दिया था और कठिन समय में लोगों की जान बचाने के लिए हॉस्पिटल में डटी रहीं।देखिए वीडियो  

  • undefined

    BollywoodJun 15, 2021, 6:00 AM IST

    ICU और वेंटिलेटर पर आए दिन हो रही मौतें देख कांप उठता था कलेजा, फिर पोतियों को देख मिलती थी नई ऊर्जा

    लॉकडाउन खुलने के बाद अब लोग तीसरी लहर को लेकर अभी से चिंतित हैं। दूसरी लहर ने पूरे देश में जो तबाही मचाई और जिस तरह की अफरातफरी का माहौल रहा, उससे लोग अभी भी डरे हुए हैं। यहां तक कि कई लोग तो कोरोना की दहशत के चलते इतने घबरा गए कि ठीक होते हुए भी गंभीर हो गए। इस दौरान कुछ लोग ऐसे भी रहे, जिन्होंने हिम्मत नहीं हारी और पूरी सकारात्मकता के साथ इस वायरस से जंग लड़कर मौत के मुंह से लौट आए। 

  • undefined

    NationalJun 13, 2021, 6:00 AM IST

    CORONA WINNER: पॉजिटिव-निगेटिव बीच जिंदगी ने दिया एक और टेस्ट का मौका, बहुत कुछ सिखाने वाली है इनकी कहानी

    देश में हर दिन कोरोना के लाखों केस आ रहे रहे हैं। हजारों लोग मर भी रहे हैं, जबकि ठीक होने वालों की तादाद लाखों में है। फिर भी, इंसान मरने वालों का आंकड़ा देखकर डर और खौफ में जी रहा है। सबको लग रहा है हर कोई इस वायरस की चपेट में आ जाएगा, जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। सावधानी, बचाव और पॉजिटिव सोच रखने वाले शख्स से यह बीमारी कोसों दूर भागती है।

  • undefined

    BollywoodJun 8, 2021, 6:00 AM IST

    Corona Winner:7 दिन में लगे 55 इंजेक्शन, बाथरुम जाने में हांफता था...41 साल के शख्स ने ऐसे दी वायरस को मात

    दूसरी लहर में कोरोना जैसी घातक बीमारी के बाद हुई मौत के आंकड़ों को देखकर तो यही लगता है कि अभी इससे डरना जरूरी भी है। कोरोना में जहां कई परिवार मौत के मुंह में समा गए, वहीं कई लोग ऐसे भी हैं, जिनकी पॉजिटिव सोच और जिंदगी को जीने के जज्बे ने उन्हें न सिर्फ इस वायरस से लड़ने में मदद की बल्कि वो पूरी तरह ठीक होकर घर भी लौट आए।