Coronavirus Cure  

(Search results - 173)
  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleNov 22, 2020, 12:58 PM IST

    शोधकर्ताओं का दावा एंटी-कोविड स्प्रे 48 घंटे तक कोरोना से बचाएगा, वीडियो में देखें इसको यूज करने का तरीका


    वीडियो डेस्क। दुनियाभर में कोरोना संकट बरकरार है. हर दिन रिकॉर्ड स्तर पर कोरोना संक्रमण के मामले आ रहे हैं और संक्रमितों की जान जा रही है। दुनिया के 218 देशों में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 6 लाख 59 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. वहीं 11,085 लोगों की मौत भी हुई है। ऐसे में ब्रिटेन में जल्द ही एंटी-कोविड नेजल स्प्रे बाजार में उपलब्ध कराया जा सकता है। इस स्प्रे की मदद से नाक तक दवा पहुंचाई जाएगी जो 48 घंटे तक इंसान को कोरोना से बचाएगी। स्प्रे में ऐसा केमिकल का प्रयोग किया गया है जो कोरोना को इंसानी कोशिकाओं से जुड़ने की क्षमता को कमजोर करता है।इस प्रोजेक्ट पर काम करने वाली ब्रिटेन की बर्मिंघम यूनिवर्सिटी का कहना है, स्प्रे का इस्तेमाल हाई रिस्क जोन में मौजूद लोगों पर किया जा सकता है, जैसे हेल्थकेयर वर्कर, फ्लाइट्स या क्लासरूम।


    कैसे काम करेगा एंटी-कोविड स्प्रे
    स्प्रे में कैरेगीनेन और गैलेन जैसे रसायनाें का प्रयोग किया गया है जो स्प्रे को गाढ़ा बनाते हैं। दावा है कि ये केमिकल इंसानों के लिए सुरक्षित हैं और इनका प्रयोग करने के लिए अप्रूवल मिल चुका है।इस रिसर्च से जुड़े डॉ. रिसचर्ड मोएक्स कहते हैं, स्प्रे में ऐसे रसायन हैं जिनका इस्तेमाल आमतौर पर फूड और मेडिसिन में किया जाता है। गैलेन रसायन नाक के अंदर पहुंचते ही एक लेयर बना देता है।लेयर बनने के बाद अगर कोरोनावायरस नाक में पहुंचता है तो यह लेयर वायरस पर चढ़ जाती है और छींक या किसी झटके से नाक के बाहर फेंक दिया जाता है। या फिर इंसान निगल जाता है लेकिन शरीर को कोई नुकसान नहीं होता।

  • <p><strong>इंटरनेशनल डेस्क।</strong> कोरोनावायरस महामारी का कहर कम होने का नाम नहीं ले रह है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने कहा है कि यह अभी और भी ज्यादा बढ़ सकता है। पूरी दुनिया में 3 करोड़ से भी ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, वहीं इससे मरने वालों की तादाद 10 लाख के करीब हो चुकी है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने &nbsp;यह आशंका जाहिर की है आने वाले दिनों में कोरोनावायरस से 20 लाख लोगों की मौत हो सकती है। इस बीच अमेरिका के फ्लोरिडा से एक रहत देने वाल खबर आई है। वहां के डॉक्टरों ने यह दावा किया है कि उन्होंने कोरोनावायरस महामारी का इलाज ढूंढ लिया है और यह करीब 100 फीसदी कारगर है।</p>

    Coronavirus WorldSep 27, 2020, 1:48 PM IST

    अमेरिकी डॉक्टरों ने कोरोना का इलाज ढूंढने का किया दावा, कहा - करीब 100 फीसदी मरीजों की बचेगी जान

    इंटरनेशनल डेस्क। कोरोनावायरस महामारी का कहर कम होने का नाम नहीं ले रह है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने कहा है कि यह अभी और भी ज्यादा बढ़ सकता है। पूरी दुनिया में 3 करोड़ से भी ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, वहीं इससे मरने वालों की तादाद 10 लाख के करीब हो चुकी है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने  यह आशंका जाहिर की है आने वाले दिनों में कोरोनावायरस से 20 लाख लोगों की मौत हो सकती है। इस बीच अमेरिका के फ्लोरिडा से एक रहत देने वाल खबर आई है। वहां के डॉक्टरों ने यह दावा किया है कि उन्होंने कोरोनावायरस महामारी का इलाज ढूंढ लिया है और यह करीब 100 फीसदी कारगर है।

  • undefined

    Fake CheckerJul 13, 2020, 4:39 PM IST

    FACT CHECK: गर्म पानी में सिरका डालकर पीने से ठीक होगा कोरोना, जानें क्या है इस नुस्खे का सच?

    फैक्ट चेक डेस्क.  Warm Water With Vinegar Cure Coronavirus Fact Check: पूरी दुनिया में कोरोना महामारी ने सैकड़ों लोगों की जान ले ली है। इस वायरस से भारत में लगभग 8 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो गए हैं। कोरोना की कोई वैक्सीन अभी तक नहीं बनी है लेकिन इसके इलाज को लेकर कई तरह के दावे लगातार सामने आ रहे हैं। बहरहाल सोशल मीडिया पर अब सिरके (vinegar ) और गर्म पानी को मिला पीने से कोरोना के इलाज में कारगर बताया जा रहा है। 

     

    फैक्ट चेक (Fact Check news In Hindi) में आइए जानते हैं कि आखिर इस देसी नुस्खे का सच क्या है? 

  • undefined
    Video Icon

    CoronavirusJul 10, 2020, 8:07 PM IST

    कोरोना से डरोना: बरसात के मौसम में फ्लू से कैसे बचें? जाने आयुष मंत्रालय के ये घरेलू उपाय

    कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देख आयुष मंत्रालय ने वायरल, फ्लू और वायरस से बचने के लिए कई घरेलु उपायों के बारे में जानकारी दी है। आयुष मंत्रालय ने मॉनसून की बीमारियों के शुरुआती लक्षणों के बारे में भी बताया है कि इसमें छींक-खांसी, जुकाम और गले में खराश रहती है। इन उपायों में हल्दी का दूध पीना, भांप लेना,लौंग का तेल लगाना जैसे कई आसान देसी उपाय बताए गए है, जिसका पालन कर आप बच सकते है सीजनल फ्लू से।

  • undefined

    Fake CheckerJul 3, 2020, 12:49 PM IST

    Fact Check: लॉकडाउन में सरकार हर नागरिक को घर बैठे दे रही है 2000 रु? फार्म हुआ वायरल, जानें सच

    फैक्ट चेक डेस्क. Government Giving 2000 Rupee Each Citizen Fact Check: इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म वॉट्सऐप (WhatsApp) पर एक मैसेज वायरल हो रहा है कि हर नागरिक के पास 2000 रुपये आने वाले हैं। यह रिलीफ फंड सरकार की ओर से फ्री में भेजा जा रहा है। एक फॉर्म इसके साथ काफी शेयर किया जा रहा है और लिंक क्लिक करके भरवाने की बात कही जा रही है। लोग मैसेज को धड़ाधड़ फॉरवर्ड कर रहे हैं। इसके साथ लोग फॉर्म भरने और दो हजार मुफ्त पाने को काफी एक्साइटेड दिख रहे हैं।

     

    फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि आखिर सच क्या है? 

  • undefined

    Fake CheckerJul 2, 2020, 3:32 PM IST

    FACT CHECK: कुरुक्षेत्र की खुदाई में निकला 80 फीट का कंकाल, लोगो ने कहा भीम, जानें वायरल फोटो का सच

    सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें एक बड़ा-सा कंकाल देखा जा सकता है। तस्वीर में कंकाल के साथ कुछ लोगों को उसकी पड़ताल करते देखा जा सकता है। पोस्ट में दावा किया गया है कि यह कंकाल हरियाणा के कुरुक्षेत्र में हुई खुदाई में निकला है। फेसबुक पर ये पोस्ट काफी वायरल हो रही है।

  • undefined

    Fake CheckerJun 30, 2020, 9:06 PM IST

    Fact Check: समुद्र में फेंके जा रहे कोरोना संक्रमित शव? 25 लाख बार देखा गया ये वायरल वीडियो, जानें सच

    फ़ेसबुक पर पोस्ट किए गए इस वीडियो को 25 लाख से ज़्यादा बाद देखा और 34 हजार से ज़्यादा बाद शेयर किया जा चुका है।

  • undefined

    Fake CheckerJun 30, 2020, 5:09 PM IST

    FACT CHECK: कशायम काढ़ा से हो सकता है कोरोना वायरस का इलाज रेसिपी वायरल? जानें क्या है सच?

    फैक चेक. kashayam kadha cure covid 19 Fact Check: देश में तेजी से बढ़ते कोरोना केसेज के साथ, हर रोज ऐसे दावे भी सामने आ रहे हैं कि घरेलू नुस्खों या आयुर्वेद के जरिये कोरोना का इलाज किया जा सकता है। भारत में 29 जून की शाम तक कोरोना के करीब 5 लाख 48 हजार केस दर्ज हुए हैं और 16 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। इसी बीच फेसबुक पर दावा किया जा रहा है कि कशायम नाम का काढ़ा पीने से कोविड-19 बीमारी का इलाज किया जा सकता है। इसकी पूरी एक रेसिपी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म फेसबुक, ट्विटर और इंस्टा पर वायरल हो रही है। 

     

    फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि आखिर सच क्या है? 

  • <p>यूपी के कन्नौज में मानवता को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है। यहां बुखार से पीड़ित एक चार वर्षीय मासूम का इलाज डॉक्टरों ने इस लिए नहीं किया क्योंकि उन्हें शक था कि उसे कोरोना है। इलाज के अभाव में मासूम की मौत हो गई जिसके बाद पिता का बेटे को लेकर रोते हुए भावुक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है। पिता ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था। इस वीडियो को सीएम योगी ने भी स्वतः संज्ञान लेते हुए सख्त तेवर अपनाए हैं।</p>

    Uttar PradeshJun 30, 2020, 11:22 AM IST

    4 साल के मासूम की मौत पर दर्द से क्यों तड़प उठे उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ

    यूपी के कन्नौज में मानवता को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है। यहां बुखार से पीड़ित एक चार वर्षीय मासूम का इलाज डॉक्टरों ने इस लिए नहीं किया क्योंकि उन्हें शक था कि उसे कोरोना है। इलाज के अभाव में मासूम की मौत हो गई जिसके बाद पिता का बेटे को लेकर रोते हुए भावुक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है। पिता ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था। इस वीडियो को सीएम योगी ने भी स्वतः संज्ञान लेते हुए सख्त तेवर अपनाए हैं।

  • undefined

    Fake CheckerJun 20, 2020, 1:32 PM IST

    Fact Check: मेदांता की डॉक्टर ने फेसबुक पर बताए कोरोना के देसी नुस्खे, अस्पताल ने कहा वो हमारी कर्मचारी नहीं

    नई दिल्ली.  एक तरफ जहां वैज्ञानिक कोरोना वायरस का इलाज ढूंढने में दिन-रात एक किए हुए हैं, वहीं सोशल मीडिया पर लोग अपनी-अपनी समझ के अनुसार इससे बचाव के तरीके सुझा रहे हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक महिला का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें महिला कुछ घरेलू नुस्खे जैसे गर्म पानी पीना, गरारे करना, नींबू, लौंग आदि खाने की सलाह दे रही है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि यह महिला मेदांता अस्पताल में सीनियर डॉक्टर है और वहां कोरोना के मरीजों का इलाज कर रही है। वहीं मेदांता अस्पताल ने फेसबुक दावों को खारिज कर दिया। वीडियो वायरल हुआ तो हमने इसकी फैक्ट चेकिंग की। 

     

    फैक्ट चेक में महिला से जुड़ी सारी सच्चाई सामने आई- 

  • undefined

    Fake CheckerJun 18, 2020, 5:12 PM IST

    ‘O’ पॉजिटिव ब्लड ग्रुप वालों को नहीं होगा कोरोना वायरस, जानें इस वायरल दावे का सच

    सोशल मीडिया पर एक वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस ओ पॉजिटिव (O +) ब्लड ग्रुप वाले लोगों को प्रभावित नहीं करता है। फेसबुक पर सबसे ज्यादा लोग इसे शेयर कर रहे हैं। ओ ब्लड ग्रुप बहुत रेयर होता है। ऐसे में इसको लेकर कोरोना संक्रमित न होने का दावा लोगों को पैनिक करने वाला है।

  • undefined

    Fake CheckerJun 8, 2020, 2:01 PM IST

    स्टेशन पर दम तोड़ गई मां का पल्ला खींचने वाले बच्चे की किंग खान ने की मदद, क्या यही है वो बालक?

    मुंबई.  कुछ दिनों पहले बिहार के मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशन का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें प्लेटफॉर्म पर रखे मां के शव के साथ एक बच्चा खेलता नजर आ रहा था। बेहद मार्मिक इस वीडियो को देख कई लोगों ने दुख व्यक्त किया था। इसके कुछ दिनों बाद ही बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान (Shahrukh Khan) ने पीड़ित परिवार की मदद करने को कहा था। उन्होंने उस बच्चे की मदद को हाथ बढ़ाया जिसके बाद सोशल मीडिया पर काफी वाहवाही मिली। लोग सैल्यूट करने लगे। इस बीच किंग खान के साथ एक बच्चे (Shahrukh Khan Image Viral) की तस्वीर वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि यह वही बच्चा है जिसका वीडियो कुछ दिन पहले वायरल हुआ था। शाहरुख ने इस बच्चे की मदद की है।

     

    पर सवाल ये है कि क्या वाकई ये वहीं पीड़ित बच्चा है, तो किंग खान से कब मिला कैसे मिला ? फैक्ट चेकिंग में हम आपको शाहरुख खान के साथ बच्चे की वायरल फोटो (Fact Check Shahrukh Khan Image with A Boy Viral) का सच बताने जा रहे हैं- 

  • <p>sslc</p>

    Fake CheckerJun 7, 2020, 12:14 PM IST

    UP Board Result: स्टूडेंट के पास आया FAKE कॉल 5 हजार दो पास करवा दूंगा, मचा हड़कंप तो प्रसाशन ने खोली पोल

     एक छात्रा के अभिभावक के पास फोन आया कि आपकी बेटी एग्जाम में फेल हो गई। इस तरह की जानकारी मिलने के बाद अभिभावक काफी परेशान हो गए।

  • undefined

    Fake CheckerJun 5, 2020, 2:13 PM IST

    Fact Check: वायरस नहीं बैक्टीरिया है कोविड-19, ऐस्प्रिन से हो जाएगा तुरंत ठीक, जानें इस दावे का सच

    अफवाह से जुड़ा यह पोस्ट फेसबुक पर शेयर किया जा रहा है। ट्विटर पर भी लोग कोरोना वायरस को बैक्टिरिया बताकर  ऐस्प्रिन से इलाज का दावा कर रहे हैं। 

  • undefined

    Fake CheckerJun 4, 2020, 11:25 AM IST

    जल्दी चलो मंत्री जी गरीबों को बांट रहे हैं करारे नोट, FAKE NEWS पर भरोसा कर बंगले के बाहर लग गया हुजूम

    लॉकडाउन में काम धंधे ठप्प पड़े हैं। लोग भूखे मरने को मजबूर हैं ऐसे में जब पैसे बंटने की खबर मिली तो लोग मंत्री के बंगले की ओर दौड़ पड़े। देखते ही देखते भीड़ जमा हो गई। पुलिस के मुताबिक सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना भूल करीब 300 लोग बेलबाग थाना क्षेत्र में ब्यौहारबाग स्थित पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया के बंगले के बाहर पैसों के इंतजार में बैठे थे।