Cremation  

(Search results - 48)
  • undefined

    NationalMay 15, 2021, 5:11 PM IST

    76 साल की कोरोना संक्रमित महिला के अंतिम संस्कार की हो रही थी तैयारी; तभी हुआ कुछ ऐसा, परिजन रह गए हैरान

    कोरोना के कहर के बीच महाराष्ट्र के बारामती से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां 76 साल की एक महिला को मरा मानकर उसके अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थीं। लेकिन तभी कुछ ऐसा हुआ कि महिला के परिजन, रिश्तेदार से लेकर गांव वालों तक सभी हैरान रह गए। आईए जानते हैं कि क्या मामला है?

  • undefined

    NationalMay 8, 2021, 4:47 PM IST

    श्मशान में ड्यूटी कर रहा यह पुलिस अफसर 1100 लोगों को दे चुका कंधा, फर्ज की खातिर टाली बेटी की शादी

    पूरा देश कोरोना की चपेट में है। ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो कोरोना के खिलाफ दूसरों की मदद में जी जान से जुटे हैं। ऐसे ही एक कोरोना वॉरियर्स हैं दिल्ली पुलिस के ASI राकेश कुमार। जो अपनी जान खतरे में डालकर श्मशान में लोगों को कंधा दे रहे हैं। यहां तक कि उन्होंने अपनी इस ड्यूटी के चलते अपनी बेटी की शादी भी टाल दी। 

  • undefined

    Madhya PradeshMay 2, 2021, 1:05 PM IST

    कोरोना रिश्तों को निगल रहा: चीखती रही पत्नी..कोई नहीं आया पति का शव उठाने, फिर पुलिस ने दिखाई इंसानियत

    डीआईजी इरशाद वली ने मानवता कि मिसाल पेश करने वाले चारों पुलिसकर्मियों की जमकर तारीफ की। साथ ही सभी को इनाम देने की घोषणा भी की है। अफसर ने कहा कि चारों इस काम के लिए अधिकृत नहीं थे, ना ही बड़े अधिकारी का आदेश था, फिर भी उन्होंने ऐसा काम किया है, जो पुलिस विभाग के लिए गर्व करने वाली बात है।

  • undefined

    NationalApr 28, 2021, 10:25 PM IST

    उन्माद और पैनिक वाली कवरेज से बचे मीडिया....मेंटल हेल्थ एक्सपर्ट ने की श्मशान संबंधी रिपोर्टिंग की आलोचना

    मेंटल हेल्थ से जुड़े देश के टॉप डॉक्टर्स ने श्मशान संबंधी ग्राउंड रिपोर्टिंग करने की आलोचना की है। इसी के साथ डॉक्टर्स ने पत्रकारों और मीडिया संस्थान को उन्माद और पैनिक वाली कवरेज से बचने की सलाह दी है। 

  • undefined

    Madhya PradeshApr 28, 2021, 7:46 PM IST

    महामारी में 2 योद्धाओं को सलाम: रोजा रखकर ये मुस्लिम हिंदुओं का कर रहे अंतिम संस्कार, अपनों ने छोड़ा साथ


    भोपाल (मध्य प्रदेश), कोरोना की इस दूसरी लहर ने देश में हाहाकार मचाकर रखा है। जिंदा में अस्पतालों में खाली बेड नहीं मिल रहे तो मरने के बाद श्मशानों में कतार लगी हुई है। लेकिन इन सबके बाद भी लोग कोरोना संक्रमण से लड़ाई में हर कोई अपने स्तर से शासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहा है। कुछ ऐसी भी तस्वीरें सामने आई हैं जहां लोग अपना धर्म और जात-पात भूलकर मदद करने के लिए आगे आए हैं। जो कि सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल बनी हुई हैं। वहीं मध्य प्रदेश में मुश्लिम युवक पिछले एक साल से अपने दोस्त के साथ मिलकर महामारी में मारे गए अनजान हिंदू भाई-बहनों के शवों का अंतिम संस्कार करने में जुटे हुए हैं। खासकर ऐसे लोगों के लिए वह मदद करते हैं जिनके अपनों ने मुंह मोड़ लिया है।

  • <p>corona patients</p>
    Video Icon

    NationalApr 20, 2021, 6:39 PM IST

    कोरोना: मुर्दों के लिए जगह नहीं और जिंदा को पहुंचाया जा रहा श्मशान, हैरान कर देगी BMC की ये लापरवाही

    देश में महाराष्ट्र कोरोना से सबसे संक्रमित राज्य है। उद्धव सरकार इस स्थिति से निपटने में पूरी तरह नाकाम नजर आ रही है। ऐसे में यहां प्रशासन की लापरवाही के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल लापरवाही का ये वीडियो आपको झकझौर देगा। जहां जिंदा व्यक्ति को ही श्मशान घाट पहुंचा दिया गया।

  • <p>lucknow</p>
    Video Icon

    Uttar PradeshApr 16, 2021, 2:03 PM IST

    लखनऊ: श्मशान हुए फुल तो पार्क में जल रही हैं इतनी लाशें कि गिनने वाला भी हांफ गया, देखें Video

    वीडियो डेस्क। अभी भी आपको लग रहा है कि कोरोना कुछ भी नहीं है तो ये वीडियो देखिए। ये जलाए गए शवों की राख के ढेर हैं। जब श्मशान भर गए उनमें जगह नहीं बची तो यहां लखनऊ के गुलाला घाट में पार्क में शवों को जलाया गया। एक दो नहीं बल्कि जहां तक आपकी नजर जाएगी सिर्फ चिताओं की राख ही दिखाई देगी।

  • undefined
    Video Icon

    Uttar PradeshApr 16, 2021, 11:40 AM IST

    चिताओं का वीडियो वायरल होने के बाद चारों ओर से ढका गया श्मशान, कांग्रेस- AAP ने शेयर किया VIDEO


    वीडियो डेस्क। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना के कारण कोहराम मचा हुआ है। अस्पतालों में बेड्स की कमी है, तो श्मशान के बाहर अंतिम संस्कार के लिए कतार लगी है। लखनऊ के बैकुंठ धाम श्मशान घाट का बीते दिन एक वीडियो वायरल हुआ था, जहां दर्जनों चिताएं एक साथ जल रही थीं। अब इस श्मशान घाट के चारों ओर अस्थाई टीन लगा दिए गए हैं, ताकि बाहर से कुछ दिखाई ना दे। ये बैरिकेडिंग लखनऊ नगर निगम द्वारा लगाई गई है। इस मसले पर राजनीतिक बयानबाजी का दौर भी चल पड़ा है। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने इस वीडियो को शेयर कर निशाना साधा है।

  • undefined

    ChhattisgarhApr 15, 2021, 11:41 AM IST

    कोरोना की शर्मनाक तस्वीर: कचरा गाड़ी-माल ढोने वाले ट्रक में ढो रहे लाशें, शवों में पड़े कीड़े!

    राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते कहर में ऑक्सीजन की कमी से मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। भयावह मंजर की स्थिति बनते जा रही है। छत्तसीगढ़ के राजनांदगांव जिले में ऑक्सीजन की कमी के चलते कोविड सेंटर में दो सगी बहनों सहित चार लोगों की मौत हो गई। आलम यह था कि इनकी मौत के बाद भी सरकारी सिस्टम शवों को ले जाने के लिए शव वाहन की व्यवस्था तक नहीं पाया। आखिर में चारों लाशों को अंतिम संस्कार के लिए नगर पंचायत के कचरा कलेक्शन करने वाली गाड़ी में रखकर श्मशान तक ले जाया गया। देखिए कुछ ऐसी ही तस्वीरें जो मानवता को शर्मसार करती हैं...

  • undefined

    Other StatesApr 14, 2021, 12:26 PM IST

    गुजरात में कोरोना प्रकोप चरम पर: हर 20 मिनट में मौत, अस्पताल में हो रहे यज्ञ..ऐंबुलेंस में थम रहीं सांसे

    सूरत. गुजरात में कोरोना वायरस इतनी तेजी से पैर पसार रहा है कि हालात संभाले नहीं संभल रहे हैं। राज्य सरकार के सारे प्रयासों को कोई सफलाता नहीं मिल रही है। महामारी यहां पर चरम पर पहुंच चुकी है। रोज मौतों और संक्रमित मरीजों का नया रिकॉर्ड बना रहा है। अब तो आलम यह हो गया है कि हर 20 मिनट में एक की जान जा रही है, यानि एक घंटे में तीन लोगों की सांसे उखड़ रही हैं। वहीं हर एक मिनट में चार लोग महामारी की चपेट में आ रहे हैं। अस्पतालों में बेड फुल हो चुके हैं। ऐंबुलेंस में ही इलाज किया जाने लगा है। श्मशान घाटों में दिन-रात 24 घंटे अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इसके बाद भी लाशों का ढेर लगा हुआ है।

  • undefined

    Other StatesApr 13, 2021, 4:33 PM IST

    गुजरात में कोरोना का खतरनाक रूप: 24 घंटे जल रहीं चिताएं, एडवांस में खुद रहीं कब्र..कम पड़ने लगे कफन


    सूरत. गुजरात में कोरोना की भयावह स्थिति है। महामारी की दूसरी लहर ने खतरनाक रूप ले लिया है। अहमदाबाद से लेकर गांधीनगर और राजकोट से लेकर बड़ोदरा के सभी बड़े अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड फुल हो चुके हैं। वहीं सूरत में तो कोरोना इस कदर कहर बरपा रही है कि यहां रोजाना 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है। श्मशान घाटों में दिन-रात 24 घंटे अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इसके बाद भी कई लोगों को अंतिम संस्कार करने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। आलम यह हो गया है कि चिताओं की गर्मी से भट्‌ठियों की चिमनियां तक पिघलने लगी हैं। इतना ही नहीं जिस दिन शव ज्यादा आ जाते हैं तो आसपास के शहरों में शव भेज दिए जाते हैं। पुराने विश्रामघाटों को भी फिर से चालू कर दिया गया है।
     

  • <p><strong>गाजियाबाद (Uttar Pradesh) । &nbsp;</strong>मुरादनगर श्मशान में दो दिन हुए हादसे में अब मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। वहीं, जांच में दोषी पाए गए मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी ने बड़ा खुलासा किया है। उसने अधिकारियों पर 28% कमीशनखोरी का आरोप लगाया है। बताते चले कि ठेकेदार के इस बयान देने से पहले एक महिला ने उसके सिर पर जूता मारा, जो उछलकर पुलिसकर्मी को लगा और फर्श पर गिर गया।&nbsp;</p>

    Uttar PradeshJan 5, 2021, 7:57 PM IST

    गाजियाबाद श्मशान हादसे के आरोपी ठेकेदार ने किया चौंकाने वाला खुलासा, बताया 25 मौत के पीछे इनका भी था हाथ

    गाजियाबाद (Uttar Pradesh) ।  मुरादनगर श्मशान में दो दिन हुए हादसे में अब मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। वहीं, जांच में दोषी पाए गए मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी ने बड़ा खुलासा किया है। उसने अधिकारियों पर 28% कमीशनखोरी का आरोप लगाया है। बताते चले कि ठेकेदार के इस बयान देने से पहले एक महिला ने उसके सिर पर जूता मारा, जो उछलकर पुलिसकर्मी को लगा और फर्श पर गिर गया। 

  • <p><strong>गाजियाबाद (Uttar Pradesh) ।</strong> &nbsp;मुरादनगर श्मशान में दो दिन हुए हादसे में अब मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। वहीं, जांच में दोषी पाए गए मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताते चले कि ढाई महीने पहले 50 लाख से अधिक बजट से श्मशान घाट पर धूप, बारिश से बचाव के लिए 60 फीट लंबी गैलरी बनाई गई थी। गैलरी के गिरते ही इसे बनाने में इस्तेमाल हुई सामग्री चूरे में तब्दील हो गई। इसका भवन का अभी लोकार्पण भी नहीं हुआ था।</p>

    Uttar PradeshJan 5, 2021, 12:20 PM IST

    कौन है वो शख्स जिसकी वजह से श्मशान में 25 लोगों की मौत, जानिए उसकी पूरी कुंडली..जिसने कई घर उजाड़ दिए

    गाजियाबाद (Uttar Pradesh) ।  मुरादनगर श्मशान में दो दिन हुए हादसे में अब मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। वहीं, जांच में दोषी पाए गए मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताते चले कि ढाई महीने पहले 50 लाख से अधिक बजट से श्मशान घाट पर धूप, बारिश से बचाव के लिए 60 फीट लंबी गैलरी बनाई गई थी। गैलरी के गिरते ही इसे बनाने में इस्तेमाल हुई सामग्री चूरे में तब्दील हो गई। इसका भवन का अभी लोकार्पण भी नहीं हुआ था।

  • <p>मुरादनगर के श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान गैलरी की छत गिरने से 23 की मौत हो गई जबकि 24 घायल हैं। ये सभी बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे। जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उसके एक बेटे की भी मौत हुई है।</p>

    NationalJan 4, 2021, 8:57 AM IST

    श्मशान में छत गिरने से 25 की मौत, जिसका हो रहा था अंतिम संस्कार उसका बेटा भी मरा; PM मोदी ने जताया दुःख

    मुरादनगर के श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान गैलरी की छत गिरने से 25 की मौत हो गई जबकि 22 घायल हैं। ये सभी बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे। जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उसके एक बेटे की भी मौत हुई है। 

  • <p><strong>गाजियाबाद (&nbsp;Uttar Pradesh) । </strong>मुरादनगर के श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान हुए भीषण हादसे को याद कर लोग सहम जा रहे हैं। इस हादसे में 23 लोगों के मौत की बात सामने आ रही है,जबकि 20 से अधिक लोग घायल हैं। वहीं, मरने वालों में जिस शख्स का अंतिम संस्कार हो रहा था, उसका बेटा भी सामने है। बता दें कि इस दर्दनाक हादसे को देखने वाला हर शख्स विचलित हो उठा। चश्मदीदों के मुताबिक, हादसे के बाद का मंजर बेहद भयावह था। ऐसा लग रहा था, जो वहा खड़ा था वो वहीं दब गया, क्योंकि मलबे में दबे लोगों के शरीर के अंग कट गए थे।</p>

    Uttar PradeshJan 4, 2021, 12:18 AM IST

    श्मशान हादसा: चश्मदीद ने बताई दास्तां, मिट्टी में दबे पड़े थे कटे हाथ-पैर और सिर..जो जहां खड़ा वो वहीं दब गया

    गाजियाबाद ( Uttar Pradesh) । मुरादनगर के श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान हुए भीषण हादसे को याद कर लोग सहम जा रहे हैं। इस हादसे में 23 लोगों के मौत की बात सामने आ रही है,जबकि 20 से अधिक लोग घायल हैं। वहीं, मरने वालों में जिस शख्स का अंतिम संस्कार हो रहा था, उसका बेटा भी सामने है। बता दें कि इस दर्दनाक हादसे को देखने वाला हर शख्स विचलित हो उठा। चश्मदीदों के मुताबिक, हादसे के बाद का मंजर बेहद भयावह था। ऐसा लग रहा था, जो वहा खड़ा था वो वहीं दब गया, क्योंकि मलबे में दबे लोगों के शरीर के अंग कट गए थे।