Dcgi  

(Search results - 15)
  • undefined

    NationalJul 6, 2021, 10:43 AM IST

    DCGI के 2 दो बार आग्रह के बाद भी फाइजर ने नहीं दिखाई लाइसेंस के आवेदन को लेकर दिलचस्पी

    अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर ने अपनी कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी अप्रूवल(लाइसेंस) के लिए अब तक भारतीय दवा नियामक(DCGI) को आवेदन नहीं किया है, जबकि उससे दो बार आग्रह किया जा चुका है।

  • undefined

    NationalJul 1, 2021, 8:55 AM IST

    DCGI ने नहीं दी सीरम को कोवोवैक्स टीके की 12-17 साल के बच्चों पर ट्रायल की परमिशन, पहले वयस्कों पर करना होगा

    सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया(SII) को केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण(DCGI) ने एक झटका दिया है। उसे बच्चों पर कोवोवैक्स टीके के ट्रायल की अनुमति नहीं दी है। तर्क दिया गया है कि अभी इस वैक्सीन को किसी भी देश ने मंजूरी नहीं दी है।

  • undefined

    NationalJun 29, 2021, 1:23 PM IST

    GOOD NEWS: भारत में माडर्ना के इमरजेंसी यूज की अनुमति, DCGI ने दी मंजूरी

    भारत को एक और कोरोना वैक्सीन मिलने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक DCGI ने मॉर्डना वैक्सीन को अप्रूवल देने की तैयारी कर ली है। अमेरिका की वैक्सीन निर्माता कंपनी मॉडर्ना का दावा रहा है कि उनका टीका 12-17 साल के बच्चों पर अत्यधिक प्रभावी है।

  • undefined

    NationalJun 3, 2021, 12:06 PM IST

    सीरम ने DCGI से मांगी स्पुतनिक-V के उत्पादन की अनुमति, अभी डॉ. रेड्डीज लैबोरेटीज इसे बना रही है

    देश में कोरोना वैक्सीन के उत्पादन को लेकर चल रही कोशिशों के बीच एक नई खबर आई है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI)से रूस की वैक्सीन स्पुतनिक-V के भारत में निर्माण की अनुमति मांगी है। अभी यह वैक्सीन हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज लिमिटेड बना रही है। इस वैक्सीन के लिए अपोलो अस्पताल से अनुबंध किया गया है। बता दें कि स्पुतनिक-V अब तक 66 देशों में रजिस्टर्ड है। इसे 12 अप्रैल को भारत से अप्रूवल मिला था।

  • undefined

    NationalMay 13, 2021, 11:32 AM IST

    DCGI ने 2-18 साल के बच्चों पर COVAXIN के दूसरे-तीसरे ट्रायल की मंजूरी दी, 525 बच्चों पर होगा परीक्षण

    देश में कोरोना की दूसरी लहर के कहर के बीच बच्चों को वैक्सीन का रास्ता साफ होता नजर आ रहा है। दरअसल, ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 2-18 आयु वर्ग में COVAXIN के दूसरे और तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी दे दिया है।

  • undefined

    NationalMay 8, 2021, 3:37 PM IST

    GOOD NEWS: कोरोना को हराने DRDO की दवा को इमरजेंसी अप्रूवल मिला, नहीं गिरने देती ऑक्सीजन लेवल

    कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहे भारत के लिए एक अच्छी खबर है। कोरोना संक्रमण में बेहद 'कारगर' साबित होने जा रही DRDO द्वारा ईजाद की गई दवा 2-DG को DCGI ने इमरजेंसी अप्रूवल दे दिया है।  DRDO ने दावा किया है इस दवा के सेवन से ऑक्सीजन लेवल नहीं गिर पाता। इसके अलावा बाकी रोगियों की तुलना में इस दवा को लेने वाले मरीज की रिपोर्ट भी जल्द निगेटिव आ जाती है। बता दें कि मई, 2020 में इस दवा के फेज-2 ट्रायल्स को मंजूरी मिली थी, जो सफल रहा। 

  • undefined

    NationalApr 23, 2021, 4:13 PM IST

    GOOD NEWS: जायडस की 'विराफिन' को अप्रूवल, दावा- यह ऑक्सीजन कम नहीं होने देती, रिकवरी शानदार

    कोरोना वायरस को भारत में 'कमजोर' करने अब वैक्सीनेशन ड्राइव को स्पीड दी जा रही है। इसी बीच एक और अच्छी खबर मिली है। शुक्रवार को भारत के ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया(DCGI) ने जायडस कैडिला की Virafin ड्रग्स को मंजूरी दे दी है। कंपनी का दावा है कि इस दवा से मरीजों को ऑक्सीजन देने की जरूरत नहीं पड़ती बता दें कि 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरू होगा। इस समय दुनियाभर में वैक्सीनेशन के 889,990,259 डोज हो चुके हैं। भारत की पोजिशन 14वें नंबर पर है।

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleMar 21, 2021, 5:53 PM IST

    कोरोना पर बहस: MP के 3 शहरों में टोटल लॉकडाउन, लाइव डिबेट में आपस में भिड़े बीजेपी-कांग्रेस के नेता

    वीडियो डेस्क। देश में एक बार फिर कोरोना डराने लगा है, उसने अपना कहर बरपना शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश में भी संक्रमित मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसे देखते हुए राज्य सरकार ने भोपाल, इंदौर और जबलपुर में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह छह बजे तक टोटल लॉकडाउन का आदेश जारी कर दिया है। रविवार को अस्पताल और मेडिकल छोड़कर सभी दुकानें बंद रहीं। सुबह सिर्फ दूध सप्लाई की छूट दी गई थी। पुलिस सड़कों पर तैनात रही। जगह-जगह बैरिकेड्स भी लगाए। सुबह 9 बजे तक लोगों की आवाजाही सड़कों पर नहीं रुकी तो पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी। पूछताछ के बाद जिन्हें छूट दी गई थी उन्हें जाने दिया गया। एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन जाने वालों को दो गुना किराया देना पड़ा। इंदौर के रीगल चौराहे पर बेवजह सड़क पर निकले लोगों पर पुलिस ने सख्ती दिखाई और उन्हें डंडों से पीटती नजर आई। जब हमने बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं से बात की क्या लॉकडाउन से ही कोरोना थमेगा तो वो आपस में लड़ते नजर आए। देखिए कोरोना पर बड़ी बहस। 

     

  • undefined
    Video Icon

    Madhya PradeshMar 20, 2021, 11:28 AM IST

    MP के 3 शहरों में फिर लॉकडाउन, ऐसा रहेगा बंद का स्वरूप, इन्हें मिलेगी छूट, देखें Video

    वीडियो डेस्क।  कोरोना के बढ़ते कहर को लेकर  मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 1140 नए संक्रमित मिलने के बाद सरकार अब सख्ती बरत रही है। राजधानी भोपाल, इंदौर और जबलपुर में अब हर रविवार को टोटल लॉकडाउन करने का फैसला लिया गया है। तीनों शहरों में अगले आदेश तक हर वीकैंड पर शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कुल 32 घंटे का टोटल लॉकडाउन रहेगा। वहीं, इन तीनों शहरों में 31 मार्च तक स्कूल-कॉलेज भी बंद रहेंगे। लॉकडाउन को लेकर गृह विभाग ने निर्देश जारी कर दिए हैं। इधर, मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग की परीक्षाएं 21 मार्च रविवार से ही शुरू होने जा रही हैं। लॉकडाउन के बावजूद अभ्यर्थी परीक्षा के लिए आ-जा सकेंगे। दूसरी परीक्षाओं के लिए भी यह छूट दी गई है।

  • <p><br />
Bharat Biotech, Kovaxin, Kovishield</p>

    NationalJan 4, 2021, 1:37 PM IST

    भारत बायोटेक की वैक्सीन को दूसरी बड़ी सफलता, अब 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों पर भी ट्रायल की मंजूरी मिली

    भारत बायोटेक की वैक्सीन 'कोवैक्सीन' को भारत के केंद्रीय ड्रग प्राधिकरण ने रविवार को आपातकालीन स्वीकृति दी। लेकिन अब ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 12 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों पर भी इसका परीक्षण करने की अनुमति दे दी है। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोरोनावायरस वैक्सीन 'कोविशील्ड' को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा निर्मित किया गया है, जिसे भारत बायोटेक वैक्सीन के साथ-साथ आपातकालीन स्वीकृति मिली है। लेकिन यह अनुमति 18 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए ही है। 

  • undefined

    NationalJan 3, 2021, 9:15 PM IST

    असर से कीमत तक, जानिए कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बारे में सब कुछ, जिन्हें मिली इस्तेमाल की मंजूरी

    भारत में कोरोना वायरस के अब तक 1 करोड़ से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। वहीं, 1.5 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। इसी बीच कोरोना से जंग में भारत को रविवार को बड़ी जीत मिली है। दरअसल, ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी DCGI ने सीरम इंस्टिट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। 

  • undefined

    NationalJan 3, 2021, 12:26 PM IST

    पीएम मोदी बोले- दो मेड इन इंडिया वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली, यह गर्व की बात

    नए साल की शुरुआत में भारत के लोगों को कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर मिली है। दरअसल, ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी DCGI ने सीरम इंस्टिट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डीजीसीआई से अनुमति मिलने पर ना केवल खुशी जताई बल्कि कोरोना से जंग में इसे निर्णायक क्षण भी बताया। 

  • <p>कोरोना वायरस की जंग लड़ रहे भारत में दो वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गई है। DGCI ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह ऐलान किया कि देश में सीरम इंस्टिट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को आपात स्थिति में इस्तेमाल की मंजूरी दे दी गई है।</p>

    NationalJan 3, 2021, 8:13 AM IST

    कोरोना वैक्सीन को लेकर सबसे बड़ी खबर, भारत में दो वैक्सीन को मिली इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

    कोरोना वायरस की जंग लड़ रहे भारत में दो वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गई है। DGCI ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह ऐलान किया कि देश में सीरम इंस्टिट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को आपात स्थिति में इस्तेमाल की मंजूरी दे दी गई है।

  • undefined

    NationalAug 3, 2020, 7:59 AM IST

    कोरोना से मिलेगा छुटकारा: इस वैक्सीन की भारत में हर मिनट बनेगी 500 डोज; देश में ट्रायल की मिली मंजूरी

    कुछ वैक्सीन निर्णायक चरण में भी पहुंच गई हैं। इनमें से एक है ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन। अब भारत के दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ने सीरम-ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल देश में कराने की अनुमति दे दी है। 

  • undefined

    Health CapsuleApr 26, 2020, 10:38 AM IST

    ...तो कोरोना के इलाज के लिए भारत को मिल गई ये दवा, इन 3 अस्पतालों में होगा ट्रायल

    कोरोना वायरस की महामारी पर काबू पाने के लिए वैक्सीन और दवा बनाने के लिए दुनिया भर के कई देशों में लगातार कोशिश जारी है। भारत भी इसमें पीछे नहीं है।