Dhanbad News  

(Search results - 12)
  • undefined

    JharkhandJun 14, 2021, 2:20 PM IST

    खौफनाक घटना: घर से बह रहा था खून ही खून, अंदर देखा तो उड़ गए होश..पड़ी थीं माता-पिता और 2 बेटों की लाशें

    धनबाद. झारखंड के धनबाद जिले से आई एक दिल दहला देने वाली घटना ने पूरे इलाके में सनसनी फैला दी है। जहां एक जवान बेटे ने अपनी मां और सौतले पिता के साथ भाई की गर्दन पर धारधार हथियार से वार कर हत्या कर डाली। इसके बाद आरोपी ने खुद का भी गला काटकर आत्महत्या कर ली। मामले का पता लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और चारों के शव एक साथ देख दंग रह गए। जानिए आखिर क्यों बेटे ने अपने परिवार को कर दिया खत्म...

  • undefined

    JharkhandOct 11, 2020, 3:04 PM IST

    झारखंड में JMM नेता और उनकी पत्नी की घर में दौड़ा-दौड़ाकर हत्या, मौत का भयानक मंजर देख कांप गए लोग

    धनबाद. झारखंड से एक बड़ी खबर सामने आ रही है, जहां धनबाद के JMM (झारखंड मुक्ति मोर्चा) के नेता शंकर रवानी और उनकी पत्नी  बालिका देवी की की गला रेत कर निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई है। अपराधियों ने घर के अंदर दोनों को दौड़ा-दौड़ा कर बेरहमी से मौत के घाट उतारा है। दंपति के शव आंगन में खून से लथपथ हालत में मिले। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल शुरुआत कर दी।
     

  • undefined

    JharkhandJul 16, 2020, 3:29 PM IST

    इस दबंग पुलिस अफसर को हजम नहीं हुआ छक्कन का देसी मुर्गा, जानें मियां ने कैसे छकाया

    रिश्वत लेकर काम करने वाले अफसरों को अलर्ट हो जाना चाहिए। जरूरी नहीं कि हर कोई दबंगई से डर जाए। कभी-कभार छक्कन जैसे लोग भी मिल जाते हैं, तो मुंह दिखाने लायक नहीं रहने देते। इस ASI ने छक्कन मियां से रिश्वत के तौर पर 1500 रुपए और एक देसी मुर्गा ले लिया था। लेकिन मुर्गे की हड्डी गले में फांस बन गई। गिरिडीह जिले के धनवार थान में पदस्थ एएसआई शंभू कुमार सिंह से जुड़ा है।

  • undefined

    JharkhandJul 12, 2020, 10:34 PM IST

    कोरोना का भयावह रूप...मां के बाद 2 बेटों की मौत, अब तीसरा बेटा भी गिन रहा जिंदगी की आखिरी सांसे

    कोरोना वायरस का कहर थम होने की बजाय लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इसी बीच झारखंड में कोरोना का भयावह रुप देखने को मिल है, जहां मां के बाद 24 घंटे के अंदर उसके दो बेटों की मौत हो गई।

  • undefined

    JharkhandJun 12, 2020, 6:09 PM IST

    बहू ने ससुराल में कदम रखते ही अर्थी पर लेटे ससुर के पांव छुए और उनके मुख में गंगाजल डाला, तब मिला सबको चैन

    कहते हैं कि मौतों के बावजूद जिंदगी रुकती नहीं है। भावुक करने वाली यह कहानी भी यही बताती है। आमतौर पर अगर घर में किसी की मौत हो जाए, तो सारे शुभ कार्य रोक दिए जाते हैं। लेकिन अगर मरने वाले की अंतिम इच्छा ही यही हो कि उसकी शुभ कार्य नहीं रुकने चाहिए..तब ऐसा होता है। यह मामला चासनाला का है। पिता की घर में अर्थी सजी रखी थी। बेटा पहले 7 फेरे करके बहू ब्याहकर लाया। इसके बाद पिता को मुखाग्नि दी।

  • undefined
    Video Icon

    JharkhandJun 2, 2020, 11:15 AM IST

    अगर फिल्मी गानों पर ठेठ गांव की स्टाइल में डांस करने से कमाई होती है, तो अच्छा है, देखिए भाई-बहन का डांस

     किस्मत कभी भी पलट सकती है, इसलिए कोशिशें जारी रखें, ये भाई-बहन यूं ही मौज-मस्ती के लिए डांस करते थे, फिर किसी ने उनकी तारीफ कर दी, तो इन्होंने अपना यूट्यूब चैनल बना लिया..आज इनके TIK TOK पर 1.3 मिलियन फॉलोअर्स हैं। ये फिल्मों गानों पर अपनी गांव की स्टाइल में डांस करते हैं। ये हैं धनबाद जिले के बलियापुर के निपनिया गांव के रहने वाले सनातन कुमार महतो और उनकी बहन सावित्री कुमारी। 

  • undefined

    JharkhandMay 29, 2020, 12:03 PM IST

    तुझसे नाराज नहीं जिंदगी हैरान हूं मैं, मासूमों के सवालों का क्या जवाब देती मां कि क्यों वे मारे-मारे फिर रहे

    धनबाद, झारखंड. कोरोना को हराने दुनिया के पास लॉकडाउन के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं है। लेकिन हमारे देश में लॉकडाउन ने गरीबों की कमर तोड़ दी। उन्हें मीलों पैदल चलकर घर जाने को मजबूर होना पड़ा। क्या जवान और क्या बूढ़े..लाचार, दिव्यांग और बच्चों को भी नंगे पांव पैदल जाते देखा गया। पैरों में छाले और आंखों में मायूसी..सबने पढ़ी, लेकिन उतनी मदद नहीं मिल सकी, जितनी उन्हें जरूरत थी। पहली तस्वीर एक दु:खी मां लता की है। ये तमिलनाडु से अपने मासूम बच्चों के साथ धनबाद पहुंची थीं। इन्हें सरायकेला जाना था। बेशक उन्हें यहां तक आने के लिए श्रमिक ट्रेन मिली, लेकिन इस दौरान कितनी तकलीफें उठाईं, यह बताते हुए वे फूट-फूटकर रो पड़ीं। सबकुछ बेचने के बाद सिर्फ थोड़ा-बहुत घर-गृहस्थी का सामान बचा था। उसे वे सिर पर उठाकर ला रही थीं। जबकि इस सामान की कीमत कुछ सौ रुपए ही होगी। लेकिन उनके लिए अब यह सबकुछ था। बता दें कि गुरुवार को तमिलनाडु और कर्नाटक से करीब 3500 श्रमिक झारखंड लौटे।

  • undefined

    JharkhandMay 26, 2020, 10:14 AM IST

    शॉकिंग एक्सीडेंट: ड्राइवर को आया नींद का झोंका और 40 फीट की ऊंचाई से नदी में जा गिरी कार, 5 की मौत

    धनबाद, झारखंड. झारखंड के धनबाद जिले के गोविंदपुर थाना क्षेत्र में  मंगलवार तड़के 5.30 बजे एक कार खुदिया नदी में जा गिरी। इस दर्दनाक हादसे में कार सवार 5 लोगों की मौत हो गई। कार पश्चिम बंगाल के नंबर की है। ये कोलकाता की ओर जा रही थी। आशंका जताई जा रही है कि नदी के ऊपर बने बरवापूर्व पुल पर चढ़ते ही ड्राइवर को नींद की झपकी आई होगी। इसके बाद कार 40 फीट नीचे नदी में जा गिरी। नदी में इस समय बमुश्किल 2 फीट पानी है। लिहाजा कार नीचे गिरते ही जोरदार धमाका हुआ और उसके परखच्चे उड़ गए। मरने वालों में तीन पुरुष, एक महिला और दो साल का एक बच्चा शामिल है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए पहुंचाया। 

  • undefined

    JharkhandMay 19, 2020, 12:02 PM IST

    मैं पॉजिटिव क्या हुआ, मेरा तो पूरा मोहल्ला ही निगेटिव हो गया..लोग मुंह फेर लेते हैं

    कोरोना संक्रमण ने लोगों के रिश्तों पर भी बुरा असर डाला है। यह कहानी धनबाद के रहने वाले एक ऐसे शख्स की है, जो कोरोना से ठीक होकर घर तो आ गया, लेकिन उससे अब पड़ोसी सीधे मुंह बात नहीं करते। दूधवाला दूध नहीं देता, किराना वाला सामान देने से मना कर देता है। ऐसी स्थितियां कई जगह सामने आई हैं। रेलकर्मी इस शख्स का कहना है कि उसके अकेले पॉजिटिव होने के बाद लोगों ने पूरे घर का जैसे सामाजिक वहिष्कार कर दिया है।

  • undefined

    JharkhandMay 17, 2020, 5:03 PM IST

    मां तुझे सलाम! कंधे पर बच्चों को बिठाकर जा रही गांव, बोली यहां रहूंगी तो मेरे बेटे भूखे ही मर जाएंगे


    धनबाद (झारखंड). दिहाड़ी करके दो वक्त की रोटी कमाने वाले इन मजदूरों की घर वापसी दर्द और पीड़ा से भरी हुई है। जब परिवार का पेट भरने के लिए जेब में एक रुपया नहीं बचा तो यह मजूबर होकर यह सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर अपने घर के लिए चल पड़े। ऐसी एक तस्वीर झारखंड से सामने आई  है, जहां एक महिला चिलचिलाती धूप में अपने कंधों पर दो बच्चों लेकर पैदल चली जा रही थी।

  • undefined

    JharkhandFeb 5, 2020, 12:28 PM IST

    मनसा देवी से 'मां' रोते हुए कर रही थी प्रार्थना, उसका लाल हॉस्पिटल में निढाल पड़ा था, एक दर्दनाक हादसा


    यह दर्दनाक हादसा धनबाद में हुआ। खेलते-खेलते नाले में औंधे मुंह जा गिरा था बच्चा। परिजनों ने समझा किसी ने उठा लिया है। इसलिए सोशल मीडिया पर उसकी फोटो डालकर मदद की गुहार लगाई गई।

  • undefined

    JharkhandSep 15, 2019, 5:20 PM IST

    जवानी में ही बूढ़े दिखने लगे हैं यहां 26 गांव के लोग, जमीन से निकल रहा ऐसा 'जहर'

     झारखंड के धनबाद जिले के कुछ गांव ऐसे हैं जहां जवान बूढ़ों की तरह दिखने लगे हैं। उसका कारण है वहां के पानी में अत्यधिक फ्लोराइड व आर्सेनिक की मात्रा मिलना।