Disease  

(Search results - 329)
  • <p>cold agglutinin disease symptoms, cold agglutinin disease cases, cold agglutinin disease, what is cold agglutinin disease</p>

    Health CapsuleJul 25, 2021, 2:10 PM IST

    कोरोना के बीच ये कौन सी बीमारी सामने आई, जीभ का रंग हो गया पीला, 12 साल का बच्चा तेजी से होने लगा कमजोर

    द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में पब्लिस एक रिपोर्ट के मुताबिक, जीभ का रंग पीला होने वाले लड़के को कोल्ड एग्लूटीनिन रोग है। ये एक दुर्लभ बीमारी है, जिसमें शरीर का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर होने लगता है। 

  • undefined

    WorldJul 15, 2021, 9:04 AM IST

    जब प्राइवेट जेट से एंटीगुआ लैंड करते ही मेहुल चोकसी की हुई बेइज्जती, लोगों ने कहा- यहां से निकल जाओ

    एंटीगुआ. 12 जुलाई को कैरेबियन आइसलैंड देश डोमिनिका हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद मेहुल चौकसी 14 जुलाई को एंटीगुआ पहुंच गया है। वो निजी विमान से जॉली हार्बर एयरपोर्ट पर उतरा। मेहुल यहां भी व्हीलचेयर पर दिखा। मेहुल चोकसी को अवैध तरीके से कैरेबियन आइसलैंड देश डोमिनिका में प्रवेश करने के मामले में वहां की पुलिस ने पकड़ा था। हालांकि डोमिनिका की हाईकोर्ट ने 12 जुलाई को मेडिकल आधार पर इलाज के लिए एंटीगुआ जाने के लिए जमानत दे दी थी। मेहुल ने एंटीगुआ की नागरिकता ले रखी है। चोकसी जब एंटीगुआ पहुंचा, तो यहां के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने उससे बात की। चोकसी के वकीलों ने डोमिनिका हाईकोर्ट में तर्क दिया है कि वो सेरेब्रोवास्कुलर रोग (cerebrovascular disease), कोरोनरी आर्टरी डिजीज (coronary artery disease), कंजेस्टिव हार्ट फेल्योर (congestive heart failure) और ब्लड डिस्क्रेसिया (blood dyscrasias) सहित कई बीमारियों से पीड़ित हैं। यानी दिल, ब्लड और मस्तिष्क संबंधी कई बीमारियां हैं। डोमिनकन डॉक्टरों ने चिंता जताई है कि मेहुल की हालत गंभीर है। उसे न्यूरोलॉजिस्ट और न्यूरोर्जिकल कंसल्टेंट की देखरेख में इलाज की जरूरत है।
     

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleJul 12, 2021, 8:00 AM IST

    क्या है जीका वायरस, डॉक्टर से जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके

    वीडियो डेस्क। जीका वायरस तेजी से फैल रहा है। जीका वायरस संक्रमण एक मच्छर जनित वायरल संक्रमण है।  यह मच्छरों की एडीज प्रजाति द्वारा फैलता है, आमतौर पर एडीज एजिप्टी और एडीज एल्बोपिक्टस इसके लिए जिम्मेदार होते हैं।  एडीज मच्छर डेंगू और चिकनगुनिया के वायरस भी फैलाते हैं। जीका वायरस से संक्रमित व्यक्ति के खून को खाने से मच्छर संक्रमित हो जाता है।  मध्य प्रदेश की सिटी हॉस्पिटल की डॉक्टर अंजु गुप्ता ने बताया कि जीका वायरस गर्भवती होने पर संक्रमित महिलाओं से पैदा हुए बच्चों में माइक्रोसेफली पैदा कर सकता है।  माइक्रोसेफली एक दुर्लभ जन्म दोष है जिसमें बच्चे का सिर अपेक्षा से छोटा होता है, जो मस्तिष्क के विकास की समस्याओं से संबंधित हो सकता है. अन्य संभावित नकारात्मक गर्भावस्था परिणामों में नवजात शिशु में सुनने की समस्याएं और बिगड़ा हुआ विकास शामिल हैं। जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके। 

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleJul 7, 2021, 1:39 PM IST

    दिलीप कुमार को थी बाइलेटरल प्ल्यूरल इफ्यूजन नाम की बीमारी, डॉ. ने बताया कितना खतरनाक है ये


    वीडियो डेस्क।  बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का बुधवार सुबह करीब 7:30 बजे निधन हो गया। वे 98 साल के थे। उन्होंने मुंबई के हिंदुजा हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली।  दिलीप कुमार की तबीयत लंबे समय से ठीक नहीं थी। उन्हें कई बार हॉस्पिटल में भी भर्ती करना पड़ा था। दिलीप कुमार को पिछले एक महीने में दो बार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।   दिलीप कुमार के डॉक्टर जलील पारकर ने मीडिया से कहा, ‘दिलीप साहब उम्र से जुड़ी दिक्कतों का सामना कर रहे थे। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के डॉक्टर सव्यसाची गुप्ता ने बताया कि दिलीप कुमार बाइलेटरल प्ल्यूरल इफ्यूजन (फुफ्फुस बहाव)  बीमारी से पीड़ित थे ।  जब आपके फेफड़े और चेस्ट कैविटी के बीच की खाली जगह में अतिरिक्त फ्लूइड (तरल पदार्थ) इकट्ठा हो जाता है, तो उसे प्ल्यूरल इफ्यूजन कहा जाता है। हालांकि, इस खाली जगह में सांस लेने-छोड़ने के दौरान फेफड़ों के खुलने और बंद होने की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए हमेशा थोड़ा-बहुत तरल होता ही है। इस खाली जगह को प्ल्यूरा (Pleura) कहा जाता है। प्ल्यूरा एक पतली झिल्ली होती है, जो फेफड़ों के बाहरी और छाती की अंदरुनी परत के बीच होती है। जब प्ल्यूरल इफ्यूजन दोनों फेफड़े को प्रभावित करता है, तो उसे बाइलेटरल प्ल्यूरल इफ्यूजन कहा जाता है। वीडियो में डॉ से जाने कितनी खतरनाक बीमारी है ये। 

     

  • undefined

    RajasthanJul 7, 2021, 11:42 AM IST

    राजस्थान में दुनिया का सबसे दुर्लभ मामला: एक महिला के 2-2 प्राइवेट पाट्‌र्स, डॉक्टर भी हैरान..


    नागौर. राजस्थान से एक गर्भवती महिला में जांच के दौरान दुर्लभ मामला सामने आया है। जिसे देखकर डॉक्टर भी हैरान हैं और डॉक्टरों में हड़कंच मचा गया है। क्योंकि गभर्वती महिला के बॉडी में  2-2 प्राइवेट पार्ट्स मिले हैं। जब डॉक्टरों ने उसका मेडिकल चेकअप किया तो वह शॉक्ड थे कि आखिर ऐसे कैसे हो सकता है। डॉक्टरों की टीम ने एक नहीं कई बार महिला की जांच की, लेकिन परिणाम वही आया। इससे पहले अमेरिका में आया था ऐसा अनोखा मामला...

  • undefined

    UpayJul 6, 2021, 9:12 AM IST

    ग्रहों की अशुभ स्थिति के कारण होती हैं बीमारियां, इससे बचने के लिए कौन-सा रत्न पहनना चाहिए?

    उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जन्म कुंडली में छठा भाव बीमारी और अष्टम भाव मृत्यु और उसके कारणों पर प्रकाश डालता है। बीमारी पर विचार जन्म कुंडली के 12वें भाव से किया जाता है। इन भावों पर दृष्टि डालने वाले अनिष्ट ग्रहों के निवारण के लिए पूजा-पाठ, जाप, यंत्र धारण, दान एवं रत्न धारण आदि उपाय ज्योतिष में बताए गए हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कुंडली में कौन-सा ग्रह किस बीमारी का कारक होता है और उसके निवारण के लिए कौन-सा रत्न धारण करना चाहिए…

  • <p>एडवर्ड को बचाने के लिए उसके माता-पिता हर संभव कोशिश कर रहे हैं। उन्हें क्राउडफंडिंग साइट के माध्यम से कुछ सहायता राशि जरूर मिली है। लेकिन अभी भी उसे बचाने के लिए और पैसों की जरूरत है।</p>

    NationalJul 5, 2021, 7:48 PM IST

    धन्यवाद आपका...Asianet की एक अपील पर नन्हें बच्चे मोहम्मद के लिए जुटा दिए 18 करोड़ रुपये

    मासूम का परिवार इलाज के लिए आने वाले 18 करोड़ का खर्च सुनकर पूरी तरह से नाउम्मीद हो चुका था लेकिन एशियानेट की एक छोटी सी अपील और केरल के दिलदार लोगों का मदद को आगे आना, एक नाउम्मीद हो चुके गरीब परिवार के लिए नया सवेरा लेकर आया है। दो दिनों के भीतर 18 करोड़ रुपये जुटा लिए गए हैं और अब इलाज की तैयारी है। 

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleJul 1, 2021, 6:50 PM IST

    ALERT: इन 4 आदतों के कारण आपकी हड्डियां हो सकती हैं कमजोर

    वीडियो डेस्क।  आजकल के खानपान और खराब लाइफस्टाइल की वजह से युवाओं की भी हड्डियां कमजोर हो रही हैं। हड्डियों के कमजोर होने पर शरीर में दर्द, अकड़न महसूस होती है। शरीर को हेल्दी तभी होगा जब आप अंदर से मजबूत होंगे। शरीर को मजबूती देने में हड्डियां भी अहम भूमिका निभाती हैं। बढ़ती उम्र के साथ हड्डियों का कमजोर होना स्वाभाविक है।  लेकिन क्या आप  जानते हैं कि आपकी कुछ ऐसी आदतें होती हैं जो आपकी हड्डियों को अंदर से कमजोर बना रही हैं। वीडियो में  जानिए उन 4 आदतों के बारे में...
     

  • <p>health tips</p>
    Video Icon

    Health CapsuleJun 25, 2021, 12:51 PM IST

    आपको 7 बीमारियों से दूर रखेगी ये सबसे सरल और सामान्य एक्सरसाइज

    वीडियो डेस्क। स्वस्थ्य जीवन शैली के लिए जरूरी सही खान पान और नियमित रूप से एक्सरसाइज। कोरोना काल में जरूरी है कि वो व्यायाम जो आपको अंदर और बाहर दोनों तरह से फिट रखे। योग और प्राणायम के लिए अगर आपके पास समय नहीं है तो आप सबसे सामान्य एक्सरसाइज कर सकते हैं। और वो है रोजाना 10 हजार कदम चलना। अब आप सोच रहे होंगे कि 10 हजार कदम क्यों? तो आपको बता दें शोध में पाया गया है कि एक व्यक्ति 10 हजार कदम चलता है तो उसके शरीर को 7 बड़े फायदे होते हैं। 
     

  • undefined

    UpayJun 19, 2021, 9:21 AM IST

    त्वचा से संबंधित रोगों से परेशान हैं तो हर बुधवार को इस विधि से करें भगवान श्रीगणेश की पूजा

    हिंदू धर्म में सप्ताह का प्रत्येक दिन किसी ना किसी देवी-देवता को समर्पित है। इसी तरह बुधवार भगवान गणेश की पूजा के लिए उत्तम माना गया है। प्रत्येक शुभ कार्य से पहले भगवान गणेश का पूजन अनिवार्य होता है।

  • undefined

    NationalJun 18, 2021, 4:37 PM IST

    केंद्र का राज्यों को पत्रः हेल्थकेयर वर्कर्स असुरक्षित महसूस कर रहें, तत्काल संशोधित एपिडेमिक एक्ट लागू करें

    भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने राज्यों को लिखे पत्र में कहा है कि कोरोना काल में डाॅक्टर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स या हेल्थ केयर प्रापर्टीज की सुरक्षा के लिए एपिडेमिक एक्ट में संशोधन किया गया। सितंबर 2020 में सरकार ने एपिडेमिक डिसीज एमेंडमेंट एक्ट, 2020 के रुप में इसे नोटिफाई कर दिया।

  • undefined

    NationalJun 10, 2021, 12:27 PM IST

    18 साल से कम उम्र बच्चों में ब्लैक फंगस को रोकने DGHS ने जारी की गाइड लाइन

    कोरोना संक्रमित 18 साल से कम उम्र के बच्चों में ब्लैक फंगस की आशंका की आशंका के मद्दनेजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विस (DGHS) ने एक नई गाइडलाइन जारी की है। DGHS ने कहा है कि म्यूकोर्मिकोसिस या ब्लैक फंगस एक गंभीर बीमारी है, इसलिए लक्षण उभरने का इंतजार न करें।

  • undefined
    Video Icon

    Health CapsuleJun 6, 2021, 6:19 PM IST

    ज्यादा लहसुन खाने से हो सकता है नुकसान, उल्टी-दस्त के साथ ये हो सकती है Problem

    वीडियो डेस्क। लहसुन खाना सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।  दाल-सब्जी में तो आम तौर पर लहसुन का इस्तेमाल किया ही जाता है लेकिन कई लोग इसकी चटनी भी खाते हैं। लोगों का खानपान हर मौसम के अनुरूप बदलता रहता है। गर्मियों में शरीर का और बाहरी तापमान अधिक होता है, ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि इस मौसम में लोगों को ठंडी चीजें खाना चाहिए और उन फूड्स के सेवन से बचना चाहिए जिनकी तासीर गर्म होती है। वर्तमान समय में हर कोई अपनी स्वास्थ्य को लेकर सतर्कता बरतते हैं। कोरोना काल में हर कोई चाहता है कि उनकी इम्युनिटी मजबूत रह सके। इसलिए लोग लहसुन का अधिक सेवन करते हैं। हालांकि, गर्मियों में ज्यादा लहसुन खाने से कई स्वास्थ्य परेशानियां हो सकती हैं। इए जानते हैं लहसुन के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले नुकसान 
     

  • undefined

    BiharJun 6, 2021, 11:42 AM IST

    सावधान: कोरोना मरीजों को हो रहा नया रोग, जिस जगह होता उस अंग को काटकर करना पड़ रहा अलग

    पटना ( Bihar) । कोरोना से जंग जीतने वाले मरीजों को ब्लैक फंगस के बाद एक और बीमारी हो रही है, जो देखने में काफी भयानक लग रही है। चिकित्सकों के मुताबिक इस बीमारी का नाम गैंग्रीन बता है। बता दें कि बीमारी अमूमन पैर, हाथ, पैर के अंगुठे, पैर की अंगुलियों और बांह में होता है। इसमें शरीर के इन हिस्सों में चमड़े का रंग बदल जाता है। बताते हैं कि जिस स्थान ये रोग होता है उस अंक को ऑपरेशन करके काटना पड़ रहता है।

  • undefined

    UpayJun 4, 2021, 9:46 AM IST

    बीमारियों से भी जान सकते हैं आपके घर के किस हिस्से में है वास्तु दोष

    उज्जैन. भवन निर्माण के दौरान कई प्रकार के वास्तु दोष रह जाते हैं। इन्हें दूर करने के लिए भवन में ऊं, स्वास्तिक, फेंगशुई आदि शुभ-चिह्नों का उपयोग वास्तु-दोष में काफी हद तक राहत प्रदान करता है, लेकिन क्या आप जानते है कि आपके घर के किस कोने में वास्तु दोष का असर है और आप पर उसका क्या असर पड़ रहा है। रोग से जानिए मकान के किस स्थान में वास्तु-दोष है...