Emotional Accident  

(Search results - 14)
  • Horrific accident in Jodhpur, traumatic death of 5-year-old child in front of mother kpa

    RajasthanSep 7, 2020, 9:05 AM IST

    बेटे को आंखों के सामने छटपटाकर दम तोड़ते देखकर फट पड़ा मां का कलेजा

    जोधपुर, राजस्थान. मां के लिए उसके बच्चे जिगर का टुकड़ा होते हैं। अगर वो टुकड़ा मां की आंखों के सामने सड़क पर तड़प-तड़पकर दम तोड़ रहा हो, तो उसके दिल पर क्या बीतती होगी? यह दिल दहलाने वाला मंजर जोधपुर के कुड़ी थाना इलाके के सांगरिया बाइपास पर रविवार रात देखने को मिला। बाइक से जा रहे 5 लोगों को तेज रफ्तार ट्रक ने इतनी जोर से टक्कर मारी कि 5 साल के बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, बाकी लोग घायल हो गए। अपना दर्द भूलकर मां बेटे की लाश के पास बैठी रही और परिजनों को रो-रोकर फोन पर हादसे की जानकारी देती रही। एसआई विश्राम मीणा ने बताया कि यह परिवार रविवार दोपहर अपने रिश्तेदार के यहां कुड़ी आया था। ये लोग भाखरी के रहने वाले थे। लौटते समय रात को यह हादसा हुआ। घायलों को एम्स में भर्ती कराया गया है। बच्चे का नाम भरत था। उसके पिता सालगराम के सिर में गंभीर चोट आई है। मां के हाथ में फ्रैक्चर है, जबकि मनोहर सिंह और एक अन्य बच्चा मामूली घायल हुआ। पढ़ें इसी हादसे की कहानी...

  • Death of an innocent in Pathankot and emotional accident related his father kpa

    PunjabApr 29, 2020, 10:47 AM IST

    6 साल के बेटे को गोद में उठाकर अस्पतालों में दौड़ता रहा पिता, मुंह से सांस देता रहा, पर 'भगवान' नहीं पसीजे

    स्वास्थ्य सेवाओं की चौंकाने वाली यह हकीकत पंजाब के पठानकोट की है। 6 साल के बच्चे की तबीयत बिगड़ने पर बेबस पिता एक हॉस्पिटल से दूसरे और दूसरे से तीसरे तक भागता रहा, लेकिन कहीं डॉक्टर नहीं था, तो किसी ने चेक तक नहीं किया। पिता का दर्द है कि अगर समय पर बेटे को ऑक्सीजन मिल जाती, तो उसे बचाया जा सकता था। इस मामले की शिकायत पीएमओ में ट्वीट के जरिये की गई है।

  • Shocking accident, 5-year-old child fell on the road to breaking of the floor of the bus, painful death kpa

    HaryanaMar 20, 2020, 11:32 AM IST

    स्पीड ब्रेकर पर जैसे ही उछली बस..मां ने पलटकर देखा..सीट पर उसका मासूम बच्चा नहीं था

    पानीपत, हरियाणा. यह दिल दहलाने वाली घटना 19 मार्च, 2019 को हुई थी। स्पीड ब्रेकर पर उछाल मारते ही बस की सीट के नीचे का फर्श टूटने से यह 5 साल का बच्चा सीधे सड़क पर जा गिरा था। इसके बाद बच्चे के ऊपर से बस का पहिया निकल गया था। किसी मां के लिए इससे बड़ा सदमा और क्या हो सकता है कि उसकी आंखों के सामने बच्चे की दर्दनाक मौत हो जाए। इस 5 साल के बच्चे कार्तिक की मौत के लिए प्रशासन जिम्मेदार है। इस घटना को सालभर हो गए हैं। लेकिन सिवाय इस बच्चे की मां और परिजनों के अलावा जैसे सब घटना को भूल चुके हैं। परिजन अब भी न्याय की उम्मीद में कोर्ट के चक्कर काट रहे हैं। यह बस बाबा जोध सचियार पब्लिक स्कूल की थी। शर्मनाक बात यह है कि घटना के 9 महीने पहले ही बस को वीडियो देखकर फिटनेस सर्टिफिकेट दे दिया गया था। मां अब भी रो-रोकर यही सवाल उठा रही है कि अगर बस फिट थी, तो 9 महीने में बस का फर्श कैसे गल गया था? मासूम नर्सरी क्लास का स्टूडेंट था। कार्तिक अपनी मां, दो साल बड़े भाई और चाचा के साथ जोध सचियार गुरुद्धारे में चल रहे समागम से लौट रहा था। यह घटना याद कराने का मकसद यही है कि आप सचेत रहें..अनफिट बसों के खिलाफ आवाज उठाएं...

  • Shocking and emotional accident in Ludhiana,  bride become widowed on her wedding day kpa

    PunjabMar 13, 2020, 2:44 PM IST

    लाल चूड़े में दूल्हे को आखिरी बार देख दहाड़े मार रो पड़ी दुल्हन, सुहागरात के चंद घंटे पहले हो गई विधवा

    लुधियाना, पंजाब. किसी दुल्हन के लिए इससे बड़ा सदमा और क्या होगा कि शादी के दिन ही वो विधवा हो जाए। इस दुल्हन के साथ ऐसा ही दु:खद घटनाक्रम हुआ। दोपहर में शादी के बाद दुल्हन अपनी ससुराल पहुंची। रात को सुहारागत की सेज तैयार थी। इसी बीच उसे खबर मिली कि उसके दूल्हे की हादसे में मौत हो गई है। यह सुनकर दुल्हन को इतना गहरा सदमा लगा कि वो बेहोश होकर गिर पड़ी। फिर अपने पति की लाश पर फूट-फूटकर रो पड़ी। यह घटना देखकर पत्थर दिल भी रो पड़े। यह दु:खद हादसा लुधियाना में बुधवार देर रात हुआ। इस हादसे में दूल्हे और उसके जीजा की मौत हो गई थी। गुरुवार को जब घर से अर्थियां उठीं, तो अपने पति की लाश पर दुल्हन फूट-फूटकर रो पड़ी। हादसा बुधवार देर रात जस्सियां चौक के पास हुआ था, जब इन लोगों की गाड़ी आगे जा रहे टैंकर में जा घुसी। दूल्हा और उसके रिश्तेदार शादी के बाद मौजमस्ती करने लुधियाना चले गए थे। वहां से ये लोग वापस भट्टियां गांव लौट रहे थे। 

  • Shocking and emotional accident in Gumla, Jharkhand kpa

    JharkhandMar 11, 2020, 5:32 PM IST

    मां खुश थी कि अगले महीने उसके आंगन में बहू आ जाएगी, लेकिन उससे पहले ही सज गई बेटे की अर्थी

    यह दर्दनाक हादसा झारखंड के गुमला में हुआ। मृतक की अप्रैल में शादी होने वाली थी। बेटे की खबर सुनकर मां तो जैसे अपनी सुधबुध खो बैठी

  • Emotional story related to bus accident in Bundi, Rajasthan .. 24 people died in accident kpa

    RajasthanFeb 29, 2020, 11:53 AM IST

    बच्चे को फूट-फूटकर रोता देखकर CM ने सीने से लगाया और खुद भी रोने लगे, एक हादसे ने सूने कर दिए कई घर

    बूंदी, राजस्थान. जिंदगी की खुशियां कब मातम में बदल जाएं..कोई नहीं जानता। यह हादसा इसी का दिल दहलाने वाला उदाहरण है। एक हादसे ने सिर्फ 24 लोगों की जिंदगियां नहीं छीनीं, बल्कि उनसे जुड़े कई लोगों को जिंदगीभर का सदमा दे दिया है। बता दें कि 26 फरवरी को एक बस हादसे में इन लोगों की मौत हो गई थी। मामा पक्ष के ये लोग अपनी भांजी प्रीति की शादी का भात लेकर कोट से सवाई माधोपुर जा रहे थे। इसी बीच सुबह करीब 10 बजे बूंदी की मेज नदी में उनकी बस गिर गई थी। बस में 30 लोग सवार थे। मरने वालों में 10 एक ही परिवार के थे। इस हादसे के बाद स्थिति यह है कि कई घरों में चूल्हा नहीं जला। शुक्रवार को जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पीड़ित परिवारों से मिलने पहुंचे, तो वहां का मंजर देखकर खुद भी अपने आंसू नहीं रोक पाए। एक बच्चा उनसे लिपटकर रो पड़ा।
     

  • Husband and wife including two children of same family died in horrific accident in Moga, Punjab kpa

    PunjabFeb 11, 2020, 2:59 PM IST

    गोवा की खूबसूरत यादें लेकर लौट रही थी फैमिली, घर से कुछ दूर पहले हुई सबकी दर्दनाक मौत

    मोगा, पंजाब. जरा-सी लापरवाही ने एक पूरी फैमिली को खत्म कर दिया। सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकराई कार में सवार पति-पत्नी और उसके दोनों बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। हादसा इतना खतरनाक था कि बच्चे कार की बॉडी में बुरी तरह फंसकर तड़प-तड़पकर मर गए। लाशों को निकालने के लिए बड़ी मशक्कत करनी पड़ी। कार के चारों पहियों की हवा निकालने के बाद ही लाशों को बाहर निकाला जा सका। घटना देखकर लोगों के दिल दहल गए। कार का अगला हिस्सा बुरी तरह चकनाचूर हो गया था। हादसा मंगलवार सुबह करीब 7.30 बजे मोगा-लुधियाना हाईवे पर हुआ। दुखद बात यह रही कि फैमिली अपने घर से महज 10 किमी दूर इस दुनिया से रुखसत हो गई। हादसे में चारों ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया था। 

  • An emotional story related to road accident, special on road safety week kpa

    PunjabJan 18, 2020, 12:11 PM IST

    बगैर हेलमेट के कभी बाइक नहीं चलाता था अमन, लेकिन उस रोज मामा हेलमेट लेकर चले गए थे

    जालंधर, पंजाब. यह हादसा एक सबक है। सर्वोदय हास्पिटल में 10 सितंबर, 2018 से भर्ती अमन अवस्थी की बाइक एक कार से जा टकराई थी। उनके सिर में गहरी चोट पहुंची। अमन को अब होश आ चुका है, लेकिन उनकी स्थिति अब भी घर जाने की नहीं है। उनका परिवार इसी उम्मीद में है कि अमन जल्द घर लौटेगा। यह तो हॉस्पिटल प्रबंधन की दरियादिली है कि उसे पिछले एक साल से इलाज का पैसा तक लेना बंद कर दिया है। अमन अब यही कहता है कि पुलिस के डर से हेलमेट नहीं, अपने लिए और अपने परिवार के लिए हेलमेट पहनें। अमन की एक छोटी बहन भी है। उसके पिता संदीप अवस्थी बिजली निगम में कैशियर हैं। अमन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के डिप्लोमा में फर्स्ट ईयर का स्टूडेंट था। लेकिन सारा सपना टूट गया। पिता उसे विदेश पढ़ने भेजना चाहते थे।
     

  • Two innocent children died in an electric room fire in Rajkot kpa

    Other StatesDec 28, 2019, 3:57 PM IST

    6 साल बाद 2 प्यारे बच्चों के संग वतन लौटने वाली थी नेपाली फैमिली, अब सूनी गोद लेकर जाएंगे

    राजकोट में शुक्रवार दोपहर शॉर्ट सर्किट से इलेक्ट्रिक रूम में लगी आग में दो मासूम जलकर मर गए। हादसे के वक्त उनके मम्मी-पापा काम पर गए थे। घर से आग की लपटें उठते देख लोगों ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी। लेकिन जब तक आग बुझाई जाती, तब तक मासूम पूरी तरह जल चुके थे।

  • The story of an emotional relationship between a train accident and an injured son and mother kpa

    PunjabDec 27, 2019, 11:02 AM IST

    घायल होने पर भी बेटे को थी फिक्र, 'मां को मत बताना कि मेरा पैर कट गया है, नहीं तो वो मर जाएगी'

    मां और बेटे की अटूट रिश्ते की भावुक करने वाली यह घटना जालंधर की है। ट्रेन हादसे में अपना पैर गंवाने के बावजूद एक शख्स को दर्द के बीच भी अपनी बूढ़ी मां की चिंता थी। वो नहीं चाहता था कि उसकी मां को घटना का पता चले।

  • Accident's shocking CCTV footage goes viral of Accident kpa
    Video Icon

    PunjabDec 25, 2019, 1:33 PM IST

    शॉकिंग CCTV: 'सरकार' ने छीना रोजगार और खंभे ने बर्थ-डे पर जिंदगी, मासूम बेटा भी नहीं बच सका

    यह शख्स पकौड़ी का ठेला लगाकर अपने परिवार को चला रहा था। एक दिन नगर निगम ने उसका ठेला हटा दिया। उसने कहीं दूर फिर से अपनी रोजी-रोटी का इंतजाम किया। लेकिन इस बार मौत ने उसकी और मासूम बेटे की जिंदगी छीन ली।
     

  • Dangerous road accident, mother and son died in Jind, Haryana

    HaryanaNov 12, 2019, 1:39 PM IST

    अब कभी भी किसी को देखने को नहीं मिलेगी मां और मासूम बेटे की यह प्यारी मुस्कान


    टैंकर के ड्राइवर की लापरवाही से एक फैमिली में दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। रविवार को हुए एक्सीडेंट में पति की आंखों के सामने पत्नी और इकलौते बेटे तड़पते रहे। बाद में उनकी मौत हो गई। परिवार एक शादी में शामिल होने जा रहा था।

  • 6-year-old child dies in a shocking accident

    PunjabOct 26, 2019, 1:24 PM IST

    चहकते हुए स्कूल से घर को निकला था, लेकिन मां की गोद तक नहीं पहुंचा पाया

    यह मासूम बच्चा अब कभी भी अपनी मां के पास नहीं लौटेगा। क्योंकि एक ड्राइवर की लापरवाही ने बच्चे की जिंदगी छीन ली। अपने बच्चो की लाश देखकर मां का कलेजा फट पड़ा।

  • Two innocent and one woman died in two shocking incident

    PunjabOct 15, 2019, 6:30 PM IST

    मां को देखते ही चहकते हुए दौड़ा मासूम, चंद सेकंड में फट पड़ा मां का कलेजा

    एक मां के लिए इससे बड़ी ह्रदयविदारक घटना और क्या हो सकती है कि उसकी आंखों के सामने जिगर के टुकड़े की मौत हो जाए। दिल दहलाने वाला यह मामला जीरकपुर का है। स्कूल बस ने एक डेढ़ साल के मासूम को कुचल दिया। बच्चा अपनी मां को देखकर लपका था, तभी बस ने कुचल दिया।