Group Captain  

(Search results - 3)
  • undefined

    Madhya PradeshMar 18, 2021, 6:59 PM IST

    शहीद कैप्टन को भाई और बेटे ने साथ दी मुखाग्नि तो कांप गया हर किसी का कलेजा, प्लेन उड़ते ही हुआ क्रैश


    ग्वालियर (मध्य प्रदेश). एक दिन पहले मिग-21 बाइसन क्रैश में शही हुए ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता का ग्वालियर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। एयरफोर्स के जवानों ने उन्हें अंतिम सलामी दी है। वहीं जब कैप्टन के बेटे और छोटे भाई ने एक साथ मुखाग्नि दी तो यह भावुक सीन देख हर किसी का कलेजा फट गया।

  • undefined

    NationalMar 17, 2021, 5:14 PM IST

    एयरफोर्स का फाइटर जेट MIG-21 क्रैश, कॉम्बैट ट्रेनिंग के लिए टेक ऑफ कर रहा था; ग्रुप कैप्टन शहीद

     मध्यप्रदेश के ग्वालियर में बुधवार को बड़ा हादसा हो गया है। यहां एयरफोर्स का MIG-21 बायसन एयरक्राफ्ट क्रैश हो गया। हादसा दोपहर 2 बजे हुआ। इसमें वायुसेना के ग्रुप कैप्टन शहीद हो गए। 
     

  • undefined

    PunjabFeb 29, 2020, 12:43 PM IST

    पति की पार्थिव देह से उतरे तिरंगे को गोद में लेकर एकटक निहारती रही वीरांगना, बेटा बोला, मैं भी फौजी बनूंगा

    गुरदासपुर, पंजाब. ये तस्वीरें देखकर हर कोई भावुक हो उठेगा। लेकिन ये देशभक्ति की मिसाल भी पेश करती हैं। देश की सेवा करते हुए अपनी जिंदगी न्यौछावर करने वाले वीर जवान हमेशा यादों में जिंदा रहते हैं। मिसालों में और प्रेरक कहानियों में जीवित रहते हैं। वायुसेना की नंबर-3 एयर स्क्वाड्रन NCC यूनिट-पटियाला के ग्रुप कैप्टन जीएस चीमा की शहादत भी यही कहती है। 24 फरवरी को NCC कैडेटों को जहाज उड़ाने की ट्रैनिंग देते हुए उनका एयरक्राफ्ट क्रैश हो गया था। इस हादसे में वे शहीद हो गए थे। उनकी पार्थिव देह मंगलवार देर शाम आलोवाल गांव लाई गई। बुधवार को सैन्य सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी गई। जब उनकी पार्थिव देह श्मशानघाट ले जाई जा रही थी, तब उनकी मां सर्वजीत कौर और पत्नी नवनीत की आंखों में आंसू और गर्व का मिलाजुला भाव था। अपने पति की पार्थिव देह से उतारा गया तिरंगा गोद में लेकर नवनीत कौर एकटक उसे निहारती रहीं। शहीद के बेटे भवगुरनीत सिंह ने रोते हुए कहा कि वो भी अपने पापा की तरह देश की सेवा करने फौज में जाएगा। बेटे ने बताया कि दो दिन पहले ही उसकी पापा से बात हुई थी। बेटे के एग्जाम चल रहे हैं। पापा ने कहा था कि एग्जाम अच्छे से देना। भवगुरनीत ने कहा कि उसके पापा हमेशा यही कहते थे कि जिंदगी में अगर उन्हें कुछ हो जाए.तो कभी रोना मत।