Ias  

(Search results - 1068)
  • undefined

    CareersJun 15, 2021, 6:06 PM IST

    UPSC: इंटरव्यू में पूछे जाते हैं दिमाग में उथल-पुथल कर देने वाले सवाल, ऐसे जवाब देकर मिलती है IAS की जॉब

    करियर डेस्क. आईएएस (IAs) बनने के लिए यूपीएससी (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा होती है। (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा देश के सबसे टफ एग्जाम में से एक है। रिटेन निकालने के बाद कैंडिडेट्स को इंटरव्यू देना पड़ता है। इंटरव्यू बहुत टफ होता है क्योंकि कभी-कभी इंटरव्यू में कुछ ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जो मुश्किलें खड़ी कर देते हैं। सवाल टफ इसलिए भी होते हैं कि ये सवाल किसी सिलेब्स के नहीं होते हैं। यूपीएससी के इंटरव्यू में अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल इतने अजीब होते हैं कि परीक्षार्थी का दिमाग चकरा जाता है। कई बार इंटरव्यूवर कैंडिडेट्स की हाजिर जवाबी और आईक्यू को चेक करने के लिए ट्रिकी सवाल पूछते हैं। तो आइये जानते है आईएएस के इंटरव्यू से जुड़े कुछ सवाल और उनके जवाब-

  • undefined

    CareersJun 12, 2021, 3:50 PM IST

    अब UPSC की तैयारी के लिए नहीं देनी होगी हजारों रुपये फीस, IAS और IFS ने बताएं घर में तैयारी करने के 6 टिप्स

    करियर डेस्क: कोरोना वायरस के कारण स्कूल-कॉलेज बंद हैं। बार्ड परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई हैं। कम्पटीशन एग्जाम की तैयारी कर रहे छात्रों को भी मुश्किलों का सामना करनाा पड़ रहा है। जो छात्र ऑनलाइन क्लासेस के जरिए भी पढ़ाई कर रहे है, उन्हें हजारों रुपये फीस देनी पड़ रही हैं। ऐसे में आप घर पर रहकर बिना पैसे खर्च किए भी UPSC की तैयारी कर सकते हैं। इस बारे में IAS अफसर काजल जावला और IFS (Indian Forest Service) अफसर अंकित कुमार ने कुछ टिप्स दिए हैं। कैसे आप घर पर पढ़ाई पर फोकस कर सकते हैं, किन विषयों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। आइए जानते हैं यूपीएसी पास करने की Winning Strategy क्या हो सकती है?

  • undefined

    Uttar PradeshJun 5, 2021, 2:43 PM IST

    एक्शन में CM योगी: यूपी सरकार ने 8 IAS का किया तबादला, फजीहत के बाद प्रयागराज DM भी हटाए गए

     यूपी की  ब्यूरोक्रेसी में शुक्रवार रात बड़े फेरबदल किए हैं। भानु चंद्र गोस्वामी को डीएम प्रयागराज के पद से हटाकर ग्राम विकास अभिकरण में सीईओ बनाया गया है। वहीं भानु चंद्र की जगह 2010 बैच के आईएएस संजय कुमार खत्री को प्रयागराज भेजा गया है।

  • undefined

    CareersJun 1, 2021, 2:04 PM IST

    कौन हैं बंगाल के नए चीफ सेक्रेटरी एचके द्विवेदी, पहले IFS में हुआ था चयन फिर बने IAS

    करियर डेस्क. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बंगाल दौरे के बाद सियासत एक बार फिर गर्म है। राज्य को पूर्व चीफ सेक्रेटरी अलपन बंदोपाध्याय के रिटायरमेंट के बाद अब गृह सचिव एचके द्विवेदी(हरिकृष्ण द्विवेदी) को नया चीफ सेक्रेटरी बनाया गया है। पूर्व चीफ सेक्रेटरी अलपन बंदोपाध्याय से एक साल जूनियर हैं। एचके द्विवेदी (harikrishna dwivedi) मूलत उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के शाहबाद तहसील के कुंवर वसीठ गांव के रहने वाले हैं। आइए जानते हैं कौन हैं हरिकृष्ण द्विवेदी है। 

  • <p><strong>लखनऊ (Uttar Pradesh) । </strong>बीजेपी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है। इसके पहले योगी सरकार के दूसरे मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां शुरू हो गई हैं। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मध्यप्रदेश के सभी कार्यक्रम निरस्त करके अचानक लखनऊ पहुंच गईं हैं। माना जा रहा है कि 28 या 29 मई को योगी सरकार का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी के खास अफसरों में से एक&nbsp;और एमएलसी एसके शर्मा (अरविंद कुमार शर्मा) को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर पीएम नरेंद्र मोदी तक प्रशंसा करते हैं। ऐसे में हम आपको पूर्व आईएएस एसके शर्मा के बारे में बता रहे हैं, जिसे कम ही लोग ही जानते हैं।</p>

    Uttar PradeshMay 27, 2021, 7:34 PM IST

    कौन है ये पूर्व IAS एसके शर्मा जो बन सकते हैं UP के डिप्टी CM,पीएम मोदी भी हैं जिनके मुरीद

    लखनऊ (Uttar Pradesh) । बीजेपी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है। इसके पहले योगी सरकार के दूसरे मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां शुरू हो गई हैं। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मध्यप्रदेश के सभी कार्यक्रम निरस्त करके अचानक लखनऊ पहुंच गईं हैं। माना जा रहा है कि 28 या 29 मई को योगी सरकार का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी के खास अफसरों में से एक और एमएलसी एसके शर्मा (अरविंद कुमार शर्मा) को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर पीएम नरेंद्र मोदी तक प्रशंसा करते हैं। ऐसे में हम आपको पूर्व आईएएस एसके शर्मा के बारे में बता रहे हैं, जिसे कम ही लोग ही जानते हैं।

  • undefined

    Uttar PradeshMay 27, 2021, 2:50 PM IST

    योगी सरकार करने जा रही मंत्रिमंडल का विस्तार, इस पूर्व IAS को डिप्टी सीएम बनाने की चर्चा..जानिए वजह

    सीएम योगी आज शाम 7 बजे राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलने वाले हैं। जिसको लेकर मंत्रिमंडल के विस्तार की अटकलें तेज हो गई हैं। सियासी गलियारों में चर्चा होने लगी है कि राज्य सरकार 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर यह मंत्रिमंडल विस्तार करने जा रही है।

  • undefined

    ChhattisgarhMay 23, 2021, 12:47 PM IST

    छत्तीसगढ़ कलेक्टर की निकली हेकड़ी: सीएम ने तत्काल प्रभाव से हटाया, शर्मिंदा हुए तो मांगने लगे माफी


    सूरजपुर (छत्तसीगढ़). लॉकडाउन के दौरान बाहर निकले एक युवक की पिटाई करने वाले सूरजपुर कलेक्टर रणवीर शर्मा का वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। कैसे उन्होंने अपने पावर का गलत इस्तेमाल करते नजर आ रहे हैं। इस घटना के बाद से  IAS की चारों तरफ किरकिरी भी हो रही है। वहीं इस मामले पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कलेक्टर को पद से तत्काल हटाने का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

  • undefined
    Video Icon

    ChhattisgarhMay 23, 2021, 10:15 AM IST

    VIDEO : कलेक्टर ने दवाई लेने निकले युवक को जड़ा थप्पड़, मोबाइल तोड़ा और पुलिस से भी पिटवाया


    वीडियो डेस्क। कोरोना काल से पूरा देश संकट में है।  कई राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है। जो लोग बेवजह बाहर निकल रहे हैं पुलिस उनके साथ सख्ती से पेश आ रही है लेकिन छत्तीसगढ़  के सरगुजा संभाग के सूरजपुर जिले के कलेक्टर रणवीर शर्मा  का अमानवीय चेहरा दिखाता एक वीडियो सामने आया है। जिले में लॉकडाउन के बीच शनिवार की दोपहर को एक युवक दवाई का पर्चा लेकर दवाई लेने मेडिकल स्टोर जाने को निकला। इसी बीच जिला कलेक्टर खुद दलबल के साथ लॉकडाउन का मुआयना करने निकले।  इस दौरान  उनकी नज़र उस युवक पर पड़ी अपने  साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों से कहकर उन्होंने युवक को रुकवाया और उसे एक चांटा रसीद कर दिया। . इस दौरान युवक दवाई की पर्ची भी दिखाता रहा लेकिन कलेक्टर  ने उसकी एक न सुनी और युवक का मोबाइल छीनकर उसे सड़क पर पटक दिया। देखिए वीडियो  

  • undefined

    Madhya PradeshMay 19, 2021, 2:28 PM IST

    इस बेटे को दिल से सैल्यूट: बीमार मां की सेवा के लिए ठुकरा दी कलेक्टर की नौकरी, सरकार ने बदला आदेश

    जबलपुर (मध्य प्रदेश). अक्सर आपने सुना होगा कि पैसा, पद और नौकरी की चाहत में कई बच्चे अपने बुजुर्ग मां-बाप को अकेला छोड़ देते हैं। या फिर वह उनको अनाथ आश्रम में छोड़ आते हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के जबलपुर से दिल को छू लेने वाली ऐसी खबर सामने आई है, जो हर किसी के लिए सीख देने वाली है। यहां एक अफसर ने अपनी बीमार मां की सेवा करने के लिए जिला कलेक्टर जैसा पद ठुकरा दिया। इस दौरान उन्होंने कहा-इस वक्त मां को मेरी ज्यादा जरूरत है, अगर मुझमें काबिलियत होगी तो कलेक्टर का पद फिर भी मिल जाएगा। 
     

  • undefined

    TrendingMay 15, 2021, 1:26 PM IST

    फ्री ऑक्सीजन डिलीवरी सर्विस से प्लाज्मा डोनर्स को जोड़ने तक ये है United By Blood का काम, जानें उद्देश्य

    देश में कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक साबित हो रही है। हर दिन 3 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए जा रहे हैं। हालांकि, कुछ एक्सपर्ट्स की माने तो अब धीरे-धीरे कोरोना के केस कम होंगे। इस बीच ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए कई सामाजिक कार्यकर्ता और अधिकारी व्यक्तिगत रूप से लगे हुए हैं। ऐसे ही हैं IAS अभिषेक सिंह। उन्होंने United By Blood नाम से ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है, जिसके जरिए वो लोगों को प्लाज्मा पहुंचाने का काम करते हैं। United By Blood की ओर से ऑक्सीटैक्सी की भी शुरुआत की गई। इससे घर-घर जरूरतमंद को फ्री में ऑक्सीजन पहुंचाया जाता है। आइए जानते हैं... United By Blood कैसे काम करता है? 

  • <p><strong>कानपुर (Uttar Pradesh) ।</strong> कोरोना की दूसरी लहर में एक आईपीएस और उनकी आईएएस&nbsp;बहन दोहरी जिम्मेदारी निभा रहे&nbsp;हैं। सिविल सेवा में आने से पहले डॉक्टर रह चुके भाई-बहन इस समय कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के लिए अपने पुराने पेशे में भी लौट आए हैं। जी हां, आईपीएस अनिल कुमार कानपुर में एडीसीपी ट्रैफिक हैं। उनकी बहन डॉ मंजू आईएएस हैं, जो राजस्थान के उदयपुर में डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट ऑफिसर हैं। दोनों भाई-बहन सिविल सेवा में आने से पहले एमबीबीएस की पढ़ाई कर डॉक्टर रह चुके हैं। जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं।&nbsp;</p>

    Uttar PradeshMay 9, 2021, 4:17 PM IST

    ऐसे अफसरों को दिल से सैल्यूट: IAS-IPS भाई-बहन बने डॉक्टर, दिन रात कोरोना मरीजों का कर रहे इलाज

    कानपुर (Uttar Pradesh) । कोरोना की दूसरी लहर में एक आईपीएस और उनकी आईएएस बहन दोहरी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। सिविल सेवा में आने से पहले डॉक्टर रह चुके भाई-बहन इस समय कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के लिए अपने पुराने पेशे में भी लौट आए हैं। जी हां, आईपीएस अनिल कुमार कानपुर में एडीसीपी ट्रैफिक हैं। उनकी बहन डॉ मंजू आईएएस हैं, जो राजस्थान के उदयपुर में डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट ऑफिसर हैं। दोनों भाई-बहन सिविल सेवा में आने से पहले एमबीबीएस की पढ़ाई कर डॉक्टर रह चुके हैं। जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं। 

  • undefined

    CareersMay 9, 2021, 3:26 PM IST

    Mother's Day: किसी की मां ने मजदूरी की तो किसी ने बेची चूड़ियां, आज बेटे हैं IAS-IPS अधिकारी

    करियर डेस्क. मई महीने के सेकेंड संडे को मदर्स डे (Mother's Day) मनाया जाता है। हालात कितने भी कठिन क्यों न हों, इंसान कड़ी मेहनत से अपना भविष्य बेहतर बना ही लेता है।  मदर्स डे के मौके पर हम आपको देश के उन टॉप IAS और IPS के बारे में बता रहे हैं जो अक्सर अपने काम करने के अंदाज को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। तो कुछ अधिकारी ऐसे हैं जो इस कई चुनौतियों का सामना करके इस मुकाम तक पहुंचे हैं। 

  • <p><strong>लखनऊ (Uttar Pradesh) । </strong>बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए प्रशासनिक तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही है। इसके लिए एक के बाद एक फैसले लिए जा रहे हैं। लखनऊ में कोविड नियंत्रण से लेकर ऑक्सीजन सप्लाई और अस्पतालों में मरीजों की भर्ती तक की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए टीम नाइन का गठन किया है। इसमें सीडीओ, सीएमओ और एडीएम समेत अन्य अधिकारी शामिल हैं। ऐसे में हम आपको सभी टीमोंं के काम के बारे में&nbsp;ंबता रहे&nbsp; हैं।</p>

    Uttar PradeshMay 4, 2021, 1:35 PM IST

    यूपी में कोरोना से जंग जीतेगी टीम-9, ऑक्सीजन से लेकर अस्पतालों में भर्ती तक की कराएगी व्यवस्था

    लखनऊ (Uttar Pradesh) । बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए प्रशासनिक तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही है। इसके लिए एक के बाद एक फैसले लिए जा रहे हैं। लखनऊ में कोविड नियंत्रण से लेकर ऑक्सीजन सप्लाई और अस्पतालों में मरीजों की भर्ती तक की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए टीम नाइन का गठन किया है। इसमें सीडीओ, सीएमओ और एडीएम समेत अन्य अधिकारी शामिल हैं। ऐसे में हम आपको सभी टीमोंं के काम के बारे में ंबता रहे  हैं।

  • undefined

    Uttar PradeshApr 29, 2021, 10:20 AM IST

    यूपी राजस्व परिषद के अध्यक्ष का निधन ,4 दिन में 1 पूर्व मंत्री और 3 MLA की भी गई जान, ये IAS हैं संक्रमित

    एक दिन पहले ही पीलीभीत में पूर्व कैबिनेट मंत्री हाजी रियाज अहमद का निधन हो गया। पांच बार विधायक रहे हाजी रियाज अहमद को बरेली के बाद नोएडा के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

  • undefined

    Uttar PradeshApr 27, 2021, 11:16 AM IST

    कोरोना पर मीटिंग के दौरान ऐसा क्या हुआ, DM ने डॉक्टर को करा दिया गिरफ्तार

    कानपुर (Uttar Pradesh) । डीएम आलोक तिवारी अपनी कार्रवाई से चर्चा में आ गए हैं। रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) की गतिविधियों के बारे में पूरी जानकारी न दे पाने पर डॉक्टर नीरज सचान  पर भड़क गए। इतना ही नहीं, जिम्मेदारियों का ठीक से निर्वहन न कर पाने का आरोप लगाते हुए गिरफ्तार करवा दिया। वहीं, इसकी खबर होने पर कानपुर के सरकारी डॉक्टरों में आक्रोश फैल गया।