India China Army  

(Search results - 24)
  • <p><br />
India China Border, India China Army, Indian Army, China Army</p>

    NationalAug 14, 2020, 6:31 PM IST

    एलओसी पर टकराव के बीच भारत-चीन की सेनाएं करेंगी युद्धाभ्यास, 15 से 26 सितंबर तक रूस में होगी एक्सरसाइज

    भारत-चीन-पाकिस्तान टकराव के बीच खबर है कि भारतीय सेना सितंबर के महीने में रूस में होने वाली मल्टीनेशनल एक्सरसाइज कवकाज 2020 में हिस्सा लेने जा रही है। इस युद्धाभ्यास में रूस ने चीन और पाकिस्तान को भी बुलाया गया है। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 24, 2020, 7:24 PM IST

    मोदी सरकार ने बदल दिए नियम, अब पानी मांगता फिरेगा चीन

    लद्दाख में सैनिकों पर हमले के बाद भारत चीन के खिलाफ एक के बाद एक कड़े फैसले ले रहा है। ताजा फैसले के तहत केंद्र सरकार ने सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियों की एंट्री बैन कर दी है। मतलब, केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से किसी भी तरह की सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियां बोली में शामिल नहीं हो सकती हैं। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जनरल फाइनैंशल रूल्स 2017 में संशोधन किया है जो उन देशों के बोलीदाताओं पर लागू होता है जिनकी सीमा भारत से सटती है। इसका सीधा असर चीन, पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल जैसे देशों पर होगा। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 15, 2020, 2:18 PM IST

    कमांडर स्तर की बैठक में भारत की इन बातों को मानने के लिए राजी हुआ चीन

    पैंगोंग सो और देपसांग समेत पूर्वी लद्दाख में गतिरोध वाले सभी स्थानों से समयबद्ध तरीके से सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया की रूपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए भारतीय और चीनी सेना के कमांडरों के बीच मंगलवार को करीब 14 घंटे तक मैराथन बातचीत हुई। अधिकारियों ने बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की चौथे चरण की वार्ता में पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास पीछे के सैन्य प्रतिष्ठानों से बड़ी संख्या में सैनिकों और हथियारों को हटाने के कदमों पर ध्यान केन्द्रित किया गया। पैंगोंग सो और देपसांग समेत पूर्वी लद्दाख में गतिरोध वाले सभी स्थानों से समयबद्ध तरीके से सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया की रूपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए भारतीय और चीनी सेना के कमांडरों के बीच मंगलवार को करीब 14 घंटे तक मैराथन बातचीत हुई। अधिकारियों ने बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की चौथे चरण की वार्ता में पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास पीछे के सैन्य प्रतिष्ठानों से बड़ी संख्या में सैनिकों और हथियारों को हटाने के कदमों पर ध्यान केन्द्रित किया गया। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 12, 2020, 12:18 PM IST

    EXCLUSIVE: चीनी हैकर्स ने भारतीय साइबर स्पेस को गलवान हिंसा के बाद बनाया निशाना

    एक विशेष साक्षात्कार में, साइबर वॉरफेयर के पूर्व ब्रिटिश इंटेलिजेंस हेड और सायफर्मा के संस्थापक और सीईओ, कुमार रितेश ने गलवान घाटी की हिंसा के बाद से चीनी हैकर्स की तरफ से बढ़ी आक्रामकता का खुलासा किया है.
    सायफर्मा ने हमारे साथ जो डेटा साझा किया है उसमें साफ है कि किस तरह से चीनी हैकर्स भारत में कई बिजनेस घरानों, सरकारी एजेंसियों को निशाना बना रहे हैं जिससे उनकी छवि खराब की जा सके.

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 9, 2020, 3:27 PM IST

    अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया आए साथ, चीन की जालसाज़ी का पर्दाफाश

    चीन अब बेनकाब हो गया है। अपने तमाम पड़ोसी देशों के लिए किसी न किसी वजह से परेशानी पैदा कर रहे चीन को लेकर विश्व बिरादरी का सब्र जवाब देने लगा है। बुधवार को अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्रालयों की तरफ से जारी एक संयुक्त बयान में हिंद महासागर क्षेत्र में पैदा हो रहे खतरों को देखते हुए साझा रणनीति बनाने का संकेत दिया गया है। एक दिन पहले भारत और अमेरिका के विदेश मंत्रालयों की तरफ से जारी बयान में भी चीन को लेकर परोक्ष तौर पर रणनीतिक संकेत दिया गया था। बयान में हिंद-प्रशांत क्षेत्र को लेकर रणनीति का संकेत भी था।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 7, 2020, 12:41 PM IST

    भारत के हक में अमेरिका ने कही ऐसी बात कि छूट जाएंगे चीन के पसीने

    भारत और चीन के बीच संघर्ष की नौबत आने पर अमेरिका भारत के साथ खड़ा होगा। यह बात व्हाइट हाउस के चीफ आफ स्टाफ मार्क मीडोज ने दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी उपस्थिति को मजबूत करने के लिए दो एयरक्राफ्ट कैरियर की तैनाती के बाद कही। उन्होंने कहा कहा अमेरिकी सेना अपने रिश्तों को निभाने के लिए मजबूती से डटी हुई है। यह चाहे भारत-चीन का मामला हो या दुनिया में कहीं और किसी संघर्ष का मामला हो। उन्होंने कहा कि हमारा संदेश साफ है।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 6, 2020, 4:06 PM IST

    एलएसी पर वायुसेना देगी चीन को मुंहतोड़ जवाब, अमेरिका से आ रहे हैं ये खास ड्रोन

    पूर्वी लद्दाख में चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ लंबे समय से जारी गतिरोध के बीत भारत ने कम ऊंचाई पर अधिक देर तक उड़ान भरने वाले अमेरिकी सशस्त्र प्रीडेटर-बी ड्रोन खरीदने में रुचि दिखाई है। यह ड्रोन ना सिर्फ खुफिया जानकारी इक्ट्ठा करता है, बल्कि लक्ष्य का पता लगाकर उसे मिसाइल और लेजर गाइडेड बम से नष्ट कर देता है। फिलहाल भारत पूर्वी लद्दाख में इज़राइली हेरोन ड्रोन का इस्तेमामल करता है, जो कि निहत्था है।

  • undefined
    Video Icon

    VideoJul 3, 2020, 12:08 PM IST

    गलवान झड़प के 18 दिन बाद पीएम मोदी ने जवानों को दिया सरप्राइज, 11 हजार फीट की ऊंचाई पर बढ़ाया हौंसला

    लद्दाख में सीमा पर चीन से तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह-लद्दाख पहुंचे। पीएम नरेंद्र मोदी के साथ लद्दाख यात्रा में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ एमएम नरवाना भी हैं। पीएम नरेंद्र मोदी लद्दाख में जवानों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया। साथ ही पीएम मोदी ने सुरक्षाबलों, वायुसेना के अफसरों से भी बातचीत की।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJul 1, 2020, 6:41 PM IST

    59 चीनी ऐप्स के बाद अब भारत चीन को देगा एक और बड़ा झटका

    चीन सहित अन्‍य देशों से आने वाले सस्‍ते उत्‍पादों से घरेलू उद्योगों को बचाने के लिए सरकार प्रस्‍तावित सीमा समायोजन कर (बीएटी) को लागू करने पर विचार कर रही है। केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने खुद वित्त मंत्रालय से प्रस्तावित सीमा समायोजन कर (बीएटी) को लगाने का आग्रह किया है। धर्मेंद्र प्रधान ने मंगलवार को बताया कि इस कर के लागू होने से स्थानीय विनिर्माताओं को समान अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। प्रस्तावित बीएटी आयातित उत्पादों पर सीमा शुल्क के अतिरिक्त लगाया जाएगा। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 29, 2020, 4:00 PM IST

    भारत की इस कमांडो टुकड़ी के सामने टिक नहीं पाएंगे चीनी सेना के मार्शल आर्ट एक्सपर्ट

    अब जबकि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच सीमा तनाव कम हो गया है, चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) अपने सैन्य अधिकारियों को प्रशिक्षित करने के लिए मार्शल आर्ट प्रशिक्षकों को नियुक्त कर रही है। चीनी मीडिया की रिपोर्टों के अनुसार, चीनी सैनिकों को प्रशिक्षित करने के लिए कम से कम 20 मार्शल आर्ट प्रशिक्षकों को तिब्बत भेजा गया है। मार्शल आर्ट प्रशिक्षित चीनी सेना का मुकाबला करने के लिए, भारतीय सेना ने अपने घातक कमांडो की टुकड़ी एलएसी पर तैनात की है। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 25, 2020, 5:39 PM IST

    अगर चीन से हुई अब कोई भूल तो मोदी सरकार के एक इशारे पर सेना चटा देगी धूल

    लद्दाख में चीन द्वारा शुरू किए गए सीमा विवाद के मद्देनजर भारत सीमा पर पूरी सतर्कता बरत रहा है। कुछ दिन पहले वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने लद्दाख का दौरा किया था और अब सेनाध्‍यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने भी यहां पहुंचकर तैनात जवानों का मनोबल बढ़ा दिया है।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 22, 2020, 7:31 PM IST

    अगर चीन को देनी है मात, तो हमें भी देना होगा सेना और सरकार का साथ

    गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर धोखे से वार करके चीन ने अपने दुश्मन होने का परिचय दे दिया है। विस्तारवादी निरंकुश नीतियों के बूते वह अपने खिलाफ पनप रहे वैश्विक और घरेलू असंतोष का ध्यान भले ही भटकाना चाह रहा हो, लेकिन इस बार उसका पाला ऐसे भारत से पड़ा है, जो मजबूत है, सक्षम है और निर्णायक है। 1962 की बात पुरानी हो चुकी है। धोखेबाज चीन के उत्पादों को नकारकर हम उसकी आर्थिक कमर तोड़ सकते हैं।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 22, 2020, 4:45 PM IST

    हमें 1962 का भारत समझने की गलती कर रहा है चीन, जल्द मिलेगा करारा जवाब

    1962 के चीन हमले में भारत को पराजय मिली। भारतीय सैनिकों ने जी जान लगा दिया पर उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा। इसी पराजय पर चीन इतिहास से सबक लेने का तंज कसता रहा है। फिर से युद्ध जैसे हालात बन रहे हैं। पर ये भारत अब 1962 वाला नहीं रहा। रणनीति हो या हथियार चीन की तुलना में भारत कहीं बराबरी तो कहीं आगे आ खड़ा हुआ है। अपनी सीमाओं की सुरक्षा को लेकर न केवल हम ज्यादा चौकन्ने हैैं, बल्कि हमारी पूर्व तैयारियां भी गर्व कराती हैं। देखें 1962 से अब का अंतर

  • undefined

    NationalJun 22, 2020, 8:31 AM IST

    बड़ा खुलासा: भारत ने सौंपे थे 16 चीनी सैनिकों के शव...जानिए 15 जून की रात को क्या क्या हुआ था?

     पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में 15 जून को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इस झड़प को लेकर कई तरह के खुलासे हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि दोनों सेनाओं के बीच 15 जून को 1 बार नहीं बल्कि तीन बार झड़प हुई थी।

  • undefined

    NationalJun 21, 2020, 8:10 PM IST

    भारतीय जवानों ने 3 बार किया था चीन का सामना, उखाड़ फेंके थे कैंप...ऐसे सिखाया दुश्मनों को सबक

    पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में 15 जून को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इस झड़प को लेकर कई तरह के खुलासे हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि दोनों सेनाओं के बीच 15 जून को 1 बार नहीं बल्कि तीन बार झड़प हुई थी।