India China Conflict  

(Search results - 22)
  • undefined

    NationalOct 17, 2020, 12:53 PM IST

    सीमा पर जारी विवाद को खत्म करने के लिए चीन ने रखी ये नई शर्त, भारत ने दिया दो टूक जवाब

    पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर जारी विवाद को निपटाने के लिए भारत और चीन के बीच कई स्तर की बातचीत हो चुकी है। हालांकि, चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है, वह हर बार कोई ना कोई अडंगेबाजी लगा ही देता है। अब चीन ने शर्त रखी है कि भारतीय सेना पहले पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर कब्जे वाली चोटियों को खाली करे। इसे लेकर भारत ने साफ कर दिया है कि दोनों देशों की सेनाएं एक साथ ही हटेंगी। एकतरफा कार्रवाई नहीं होगी।

  • undefined
    Video Icon

    VideoJul 3, 2020, 12:08 PM IST

    गलवान झड़प के 18 दिन बाद पीएम मोदी ने जवानों को दिया सरप्राइज, 11 हजार फीट की ऊंचाई पर बढ़ाया हौंसला

    लद्दाख में सीमा पर चीन से तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह-लद्दाख पहुंचे। पीएम नरेंद्र मोदी के साथ लद्दाख यात्रा में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ एमएम नरवाना भी हैं। पीएम नरेंद्र मोदी लद्दाख में जवानों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया। साथ ही पीएम मोदी ने सुरक्षाबलों, वायुसेना के अफसरों से भी बातचीत की।

  • undefined
    Video Icon

    Uttar PradeshJun 21, 2020, 9:52 AM IST

    चीन की हरकत देख खौला मासूम बच्चों का खून, निकल पड़े दुश्मन मुल्क से बदला लेने

    लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिकों द्वारा धोखे से शहीद किए गए 20 भारतीय जवानों  के लिए देश भर में जबरदस्त गुस्सा है। 

  • <p>india and china dispute, indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal pradesh,india china arunachal dispute,india china border dispute arunachal issue,india china border dispute area,india china dispute over arunachal pradesh,india china border dispute arunachal pradesh,india china dispute border,india china dispute bbc,india-china border dispute map,india china border dispute upsc,india china border dispute pdf,india china border dispute latest news,india china border dispute in ladakh,india china border dispute explained,border dispute between china and india,border dispute between india and china,india china dispute cnn,india china current dispute<br />
&nbsp;</p>

    NationalJun 19, 2020, 4:47 PM IST

    चेहरे पर तेज जख्मों के निशान, पहचानना मुश्किल...शहीद जवानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट देखकर आ जाएगा गुस्सा

    नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प के बाद पूरे देश में गुस्सा है। इस बीच शहीद भारतीय जवानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट चौंकाने वाली है। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि जवानों के शरीर पर गहरे जख्मों के निशान थे। हाइपोथर्मिया और एफइक्सीएशन भी कुछ जवानों की मौत का कारण बताया गया है। हमारे शरीर का सामान्य तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है। जब ठंड के कारण शरीर अपनी गर्मी ज्यादा तेजी से खोने लगता है तो शरीर का तापमान नीचे गिरने लगता है। यदि यह 35 डिग्री या इससे कम हो जाता है तो इस स्थिति को हाइपोथर्मिया कहते हैं।
     

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 19, 2020, 4:09 PM IST

    अब जल्द ही अपने घुटने पर होगा चीन, मोदी सरकार ने कर ली है तैयारी

    चीन सुधरने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसे में भारत ने हर तरफ से चीन को घेरने की तैयारी कर ली है. सरकार चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर तनाव के बीच कई उत्पादों पर सीमा शुल्क बढ़ाने पर विचार कर रही है. इसमें मुख्य रूप से वे उत्पाद हैं, जो पड़ोसी देश चीन से आयात होते हैं. एक सूत्र ने कहा कि हालांकि अब तक इस बारे में कोई अंतिम निर्णय नहीं किया गया है. मुख्य रूप से जोर गैर-जरूरी जिंसों के आयात में कमी लाने पर है. उसने कहा कि मुख्य रूप से चीन से आयातित वस्तुओं पर शुल्क बढ़ाने को लेकर चर्चा जारी है.

  • <p>india and china dispute, indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal pradesh,india china arunachal dispute,india china border dispute arunachal issue,india china border dispute area,india china dispute over arunachal pradesh,india china border dispute arunachal pradesh,india china dispute border,india china dispute bbc,india-china border dispute map,india china border dispute upsc,india china border dispute pdf,india china border dispute latest news,india china border dispute in ladakh,india china border dispute explained,border dispute between china and india,border dispute between india and china,india china dispute cnn,india china current dispute</p>

    NationalJun 18, 2020, 7:06 PM IST

    हाड़ मांस गला देने वाली ठंड थी, उसी बीच 1000 चीनी सैनिकों ने धोखे से किया हमला...उस रात की पूरी कहानी

    नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख में चीन ने कैसे धोखा देकर भारतीय सैनिकों पर हमला किया और किन परिस्थितियों में भारतीय सैनिकों ने चीन को धूल चटा दी, इसकी पूरी कहानी हिंसक झड़प में घायल सुरेंद्र सिंह ने बताई। सुरेंद्र का इलाज लद्दाख के सैनिक हॉस्पिटल में चल रहा है। 12 घंटे बाद जब उन्हें होश आया तो घरवालों को फोन कर पूरी बात बताई। 15 जून की रात को दोनों देशों की सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प में दोनों ओर नुकसान पहुंचा गया है। बताया जा रहा है कि इस झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए, जबकि चीन के 40 सैनिकों को नुकसान पहुंचा है। इनमें से कुछ मारे गए हैं, कुछ गंभीर रूप से घायल हुए हैं। भारतीय अफसरों ने अमेरिकी इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के हवाले से यह जानकारी दी।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 18, 2020, 6:10 PM IST

    गलवान ही नहीं, इतिहास में पहले भी ये 10 शर्मनाक हरकतें कर चुका है चीन

    भारत और चीन के बीच तनाव हर गुजरते दिन के साथ बढ़ता जा रहा है. गलवान घाटी में दोनों देशों की सेनाओं की बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए. हालांकि इसमें चीन के भी 43 सैनिकों के मारे जाने की खबर है लेकिन आधिकारिक तौर पर चीन ने इसे अभी तक माना नहीं है. लेकिन, ये पहली बार नहीं है जब चीन ने इस तरह की हरकत की हो। आईए नजर डालते हैं चीन की ऐसी ही 10 हरकतों पर

  • <p>India China conflict 2020,LAC,India China,India China war,India China news,India China border,India China clash,India China LAC,India China current situation,India China conflict at Ladakh,india and china dispute,&nbsp;indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal &nbsp;</p>

    NationalJun 18, 2020, 6:01 PM IST

    राहुल ने पूछा, जवानों को निहत्थे क्यों भेजा, विदेश मंत्री ने कहा, हथियार थे, लेकिन इस्तेमाल नहीं कर सकते थे

    चीन की धोखेबाजी पर राहुल गांधी ने पूछा, सरकार ने बिना हथियार के जवानों को शहीद होने के लिए क्यों भेज दिया। चीन की इतनी हिम्मत कैसे हो गई कि वह हमारे जवानों की हत्या कर सके। इस पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जवाब दिया। उन्होंने कहा, गलवान में जो जवान शहीद हुए वे निहत्थे नहीं थे। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalJun 18, 2020, 4:13 PM IST

    अब चीन की बारी, पीएम मोदी ने की आर्थिक चोट पहुंचाने की तैयारी

    सीमा विवाद को लेकर भारत के साथ खूनी संघर्ष का बदला मैदान-ए-जंग में भारत किस तरह लेगा यह भविष्य की बात है लेकिन तत्काल प्रभाव से चीन को आर्थिक रूप से घायल करने की तैयारी हो गई है। बुधवार को सरकारी स्तर पर फैसला हो गया है कि टेलीकॉम मंत्रालय के अधीन काम करने वाली कंपनी बीएसएनएल की 4जी टेक्नोलॉजी की स्थापना में चीन की कंपनियों को दूर रखा जाएगा। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार संचार मंत्रालय ने बीएसएनएल को इसका निर्देश दे दिया है। इस दिशा में जारी टेंडर को रिवर्स करने का भी फैसला किया गया है। साफ है कि चीनी कंपनियां अब इससे बाहर की जाएंगी।

  • <p>India China conflict 2020,LAC,India China,India China war,India China news,India China border,India China clash,India China LAC,India China current situation,India China conflict at Ladakh,india and china dispute, indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal &nbsp;<br />
&nbsp;</p>

    NationalJun 18, 2020, 4:04 PM IST

    भारत ने 20 जवानों की शहादत का बदला लेना शुरू कर दिया, 24 घंटे के अंदर ही चीन के खिलाफ उठाए 4 बड़े कदम

    नई दिल्ली. चीन को धोखे का भारत ने जवाब देना शुरू कर दिया है। 24 घंटे के अंदर भारत ने सबसे पहले दूरसंचार विभाग ने राज्य के स्वामित्व वाली भारत संचार निगम लिमिटेड को इसके अपग्रेडेशन में चीन निर्मित उपकरणों का उपयोग नहीं करने के लिए कहा। अब दूसरा बदला चीन को भारत ने रेलवे सेक्टर के जरिए लिया है। एक प्रमुख चीनी इंजीनियरिंग कंपनी से भारतीय रेलवे ने कॉन्ट्रैक्ट खत्म करने का फैसला किया है। तीसरा बदला कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने 500 चीनी सामानों की लिस्ट जारी कर बहिष्कार का आह्वान कर लिया है। चौथा बदला है कि मोबाइल ऑपरेटर भी चीनी उपकरण का इस्तेमाल न करें, इसके लिए सरकार उन्हें समझाएगी। 
     

  • <p><strong>टेक डेस्क। </strong>लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के हमले में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने से पूरे देश में चीन के खिलाफ गुस्सा भड़कता जा रहा है। लोग चीनी प्रोडक्ट्स को देश में बैन किए जाने की मांग कर रहे हैं। भारत सरकार के संचार मंत्रालय ने भी BSNL और MTNL में 4 G टेक्नोलॉजी में चीनी उपकरणों के इस्तेमाल पर रोक लगाने का निर्देश दिया है। वहीं, कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने की बात कही है। उसने सरकार से चीनी कंपनियों को दिए गए ठेकों को रद्द करने की भी मांग की है। कैट के जनरल सेक्रेटरी ने सरकार से दिल्ली-मेरठ आरआरटीएस प्रोजेक्ट भी चीनी कंपनी से वापस लेने की मांग की है। लेकिन सवाल है कि चीनी टेक कंपनियों की भारतीय बाजार और उपभोक्ताओं में &nbsp;जिस हद तक पैठ हो चुकी है, उसे देखते हुए क्या चीन को भारतीय बाजार से बाहर कर पाना क्या संभव होगा।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

    TechJun 18, 2020, 3:03 PM IST

    हाथ में फोन, फोन में चीन; टेक-मोबाइल एंटरटेनमेंट में इन चार दिग्गज चीनी कंपनियों का भारत में 'कब्जा'

    टेक डेस्क। लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के हमले में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने से पूरे देश में चीन के खिलाफ गुस्सा भड़कता जा रहा है। लोग चीनी प्रोडक्ट्स को देश में बैन किए जाने की मांग कर रहे हैं। भारत सरकार के संचार मंत्रालय ने भी BSNL और MTNL में 4 G टेक्नोलॉजी में चीनी उपकरणों के इस्तेमाल पर रोक लगाने का निर्देश दिया है। वहीं, कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने की बात कही है। उसने सरकार से चीनी कंपनियों को दिए गए ठेकों को रद्द करने की भी मांग की है। कैट के जनरल सेक्रेटरी ने सरकार से दिल्ली-मेरठ आरआरटीएस प्रोजेक्ट भी चीनी कंपनी से वापस लेने की मांग की है। लेकिन सवाल है कि चीनी टेक कंपनियों की भारतीय बाजार और उपभोक्ताओं में  जिस हद तक पैठ हो चुकी है, उसे देखते हुए क्या चीन को भारतीय बाजार से बाहर कर पाना क्या संभव होगा। 

  • <p>India China conflict 2020,LAC,India China,India China war,India China news,India China border,India China clash,India China LAC,India China current situation,India China conflict at Ladakh,india and china dispute,indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal&nbsp;</p>

    NationalJun 18, 2020, 11:30 AM IST

    अब आगे क्या : धोखेबाज चीन को सबक सिखाने के लिए ये 8 बड़े कदम उठा सकता है भारत

    भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प पर डॉक्टर वेदप्रताप वैदिक ने टिप्पणी की है। उन्होंने लिखा, मैंने कल ही लिखा था कि गलवान घाटी में हुए हमारे सैनिकों के हत्याकांड पर हमारी सरकार चुप क्यों है? वह अभी तक चुप है। देर रात सिर्फ यह बताया गया कि हमारे 20 फौजी मारे गए और कुछ घायल भी हुए।  

  • undefined

    TechJun 18, 2020, 11:12 AM IST

    अब BSNL में चीनी उपकरणों का इस्तेमाल नहीं, ओप्पो को रद्द करना पड़ा फोन लॉन्च इवेंट

    लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी और भारतीय सैनिकों की मुठभेड़ के बाद पूरे देश में चीन के खिलाफ काफी गुस्सा है। चीनी प्रोडक्ट्स के बहिष्कार की मांग की जा रही है। इस बीच, चीनी स्मार्टफोन कंपनी ओप्पो को अपने भारत में अपने फोन की लॉन्चिंग कैंसल करनी पड़ी।

  • <p>India China conflict 2020,LAC,India China,India China war,India China news,India China border,India China clash,India China LAC,India China current situation,India China conflict at Ladakh,india and china dispute,<br />
indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal&nbsp;</p>

    NationalJun 18, 2020, 9:38 AM IST

    घरों के अंदर से लोगों ने किया सैल्यूट, ऐसे दी गई देश के लिए शहीद होने वाले संतोष बाबू को अंतिम सलामी

    नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख में भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प में शहीद हुए 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू को अंतिम विदाई दी जा रही है। संतोष बाबू ने 2 दिसंबर 2019 को ही कमान संभाली थी। यह तेलंगाना के सूर्यापेट जिले के रहने वाले थे। पूर्वी लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच झपड़ में भारत के कर्नल रैंक के अधिकारी सहित 20 जवान शहीद हो गए। इस घटना पर विदेश मंत्रालय ने स्पष्ट कर दिया है कि चीन ने ऐसा क्यों किया? मंत्रालय ने साफ-साफ शब्दों में कह दिया कि 15 जून को देर शाम और रात को चीन की सेना ने वहां यथास्थिति बदलने की कोशिश की। यथास्थिति से मतलब है कि चीन ने एलएसी बदलने की कोशिश की। भारतीय सैनिकों ने रोका और इसी बीच झड़प हुई।

  • <p>India China conflict 2020,LAC,India China,India China war,India China news,India China border,India China clash,India China LAC,India China current situation,India China conflict at Ladakh,india and china dispute,<br />
indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal</p>

    NationalJun 17, 2020, 7:59 PM IST

    बॉर्डर पर बढ़ी हलचल, तीनों सेनाओं को अलर्ट पर रखने का फैसला, सीमा से सटे गांव खाली करवाने की तैयारी शुरू

    पूर्वी लद्दाख में 15 जून को भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में बड़ा खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय सैनिक चीनी सैनिकों के पास वापस जाने के लिए कहने आए थे। लेकिन चीनी सैनिक पहले से ही पत्थल इकट्ठा हुए तैयार थे। उन्होंने भारतीय सैनिकों पर ऊंचाई से पत्थर बरसाए। फिर कील लगे डंडे और लोहे की रॉड से हमला किया।