Indo China Dispute  

(Search results - 10)
  • undefined

    NationalMay 31, 2021, 8:11 PM IST

    भारत से लगे तिब्बत सीमा पर चीन ने बढ़ाई गतिविधियां, यहां इंफ्रास्ट्रक्चर भी मजबूत कर रहा

    राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि यह सच है कि चीन तिब्बत से सटे हमारे सीमा क्षेत्र में अपने बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की कोशिश कर रहा है। 

  • <p><strong>&nbsp;সীমান্ত উত্তাপ ক্রমশই বাড়ছে। সামরিক বৈঠেকের পাশাপাশি কূটনৈতিক বৈঠকও হয়েছে। গত সপ্তাহেই দুই দেশের বিদেশ মন্ত্রী বৈঠক করেছেন। তাই এই পরিস্থিতিতে সরকারের পক্ষে সীমান্ত সমস্যা এড়িয়ে যাওয়া সম্ভব নয়ে বলে মনে করছেন রাজনৈতি বিশেষজ্ঞরা।&nbsp;</strong></p>

    Fake CheckerOct 30, 2020, 2:17 PM IST

    Govt Fact Check: 'द हिंदू' की रिपोर्ट का दावा चीनी सैनिकों ने किया पांगोंग झील पर कब्जा, सरकार ने किया खंडन

    29 अक्टूबर को प्रकाशित 'द हिंदू' के आर्टिकल में दावा किया गया है कि चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में पांगोंग झील के इलाके में घुसपैठ कर ली है। 

  • <p>Army Chief General Manoj Mukund Narwane, Chief of Army Staff, India Border Dispute, China Border Dispute, Indo-China Border Dispute, Indo-China Dispute, Galvan Valley Dispute<br />
&nbsp;</p>

    NationalSep 3, 2020, 11:24 AM IST

    सीमा विवाद : बॉर्डर का जायजा लेने लद्दाख पहुंचे सेना प्रमुख, सैनिकों की ऑपरेशनल तैयारियों का भी मुआयना

    सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे स्थिति का जायजा लेने के लिए लद्दाख पहुंचे हैं। वरिष्ठ फील्ड कमांडर उन्हें वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के जमीनी हालात की जानकारी देंगे। अपने इस दो दिवसीय दौरे के दौरान सेना प्रमुख सैनिकों की ऑपरेशनल तैयारियों का भी मुआयना करेंगे।

  • undefined

    Fake CheckerJul 6, 2020, 4:34 PM IST

    अक्सर वायरल होती हैं महिलाओं के साथ जवाहरलाल नेहरू की ये तस्वीरें, दावों से अलग है इनकी सच्चाई

    फैक्ट चेक डेस्क.  Pandit Nehru Fake News: सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा चर्चा में रहती हैं देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की तस्वीरें। किसी भी फेसबुक ग्रुप, व्हाट्सएप फॉरवर्ड और ट्विटर पर नेहरू से जुड़ी फोटोज वायरल मिल ही जाएंगी। बीते कुछ सालों में पूर्व प्रधानमंत्री के नाम सैकड़ों तस्वीरें शेयर की गई। पंडित नेहरू की अलग-अलग महिलाओं के साथ कई तस्वीरें वायरल हुई हैं। ये तस्वीरें चौंकाने वाली थी साथ ही इनके साथ किए दावे और भी हैरतअंगेज थे। सोशल मीडिया यूजर्स नेहरू की इन तस्वीरों के साथ गांधी परिवार को ट्रोल करने से नहीं चूकते।

    फैक्ट चेकिंग में आज हम आपको पंडित नेहरू की कुछ वायरल तस्वीरों से जुड़े फर्जी दावे और उनकी सच्चाई बता रहे हैं- 

  • undefined

    Fake CheckerJul 5, 2020, 11:42 AM IST

    क्या आनन-फानन में कांफ्रेंस हॉल को बना दिया गया आर्मी अस्पताल? वायरल हुई PM के दौरे की तस्वीरें, जानें सच

    फैक्ट चेक डेस्क. PM Modi leh Army hospital Visit Fact Check: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM narendra Modi) 3 जुलाई को केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख की राजधानी लेह पहुंचे थे। पीएम ने वहां आर्मी, एयर फ़ोर्स और इंडो-तिब्बतन बॉर्डर पुलिस से बातचीत की। निमू बेस में सैनिकों को संबोधित करने के बाद मोदी मिलिट्री हॉस्पिटल पहुंचे जहां गलवान घाटी में चीनी सेना से हुई झड़प के दौरान घायल हुए सैनिकों का इलाज चल रहा था। प्रधानमंत्री मोदी की हॉस्पिटल की विज़िट की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब शेयर हुईं इन तस्वीरों की वजह से एक नयी बहस भी शुरू हुई। सोशल मीडिया पर कांग्रेस के कई मेम्बर्स ने ये आरोप लगाया कि महज़ फ़ोटो खिंचवाने के लिए एक कांफ्रेंस हॉल को हॉस्पिटल वॉर्ड बना दिया गया था। इसके अलावा ट्विटर, फेसबुक सभी जगह पीएम के इस दौरे की तस्वीरें पब्लिसिटी स्टंट और फर्जी अस्पताल पर सवाल उठाने के साथ शेयर की जाने लगीं। 

    फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि क्या वाकई लेह में आर्मी कांफ्रेंस हॉल को आनन-फानन में पीएम के दौरे के लिए तुरंत अस्पताल बना दिया गया था। 

  • undefined

    Fake CheckerJun 24, 2020, 2:58 PM IST

    Fact Check: भारत में भारी डिमांड देख चीन ने बेचे अपने ही बहिष्कार के टीशर्ट और कैप्स? जानें सच

    नई दिल्ली: Boycott China Tshirts And Caps Fact Check: लद्दाख की गैलवान घाटी में चीन और भारत के बीच हालिया हिंसक झड़प के बाद, चीनी सामानों सहित "बॉयकॉट चीन" की बात हो रही है। सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया गया है कि चीन में 'बॉयकॉट चाइना' के नारे के साथ टी-शर्ट और कैप का उत्पादन किया जा रहा है। चीन के बहिष्कार के प्रॉडक्ट चीन में ही बनाए जा रहे हैं।  

    फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि आखिर सच क्या है? 

  • undefined

    Fake CheckerJun 21, 2020, 8:23 PM IST

    Fact Check: राहुल, सोनिया गांधी की चीन से मिलीभगत के दावे से वायरल हुई तस्वीर, जानें पूरा मामला

    नई दिल्ली.  भारत और चीन के बीच बॉर्डर विवाद के बाद से पूरे देश में गुस्सा है। राजनीतिक गहमागहमी के बीच सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट रहा है। बायकाट चाइनीज के हैशटैग ट्रेंड में हैं। 15 जून की रात लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए।  बॉर्डर पर मई से ही तनाव बढ़ रहा था। इस संकट को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर सवाल खड़े किए। इस आलोचना के बाद सोशल मीडिया पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी की चीनी नेताओं के साथ एक तस्वीर वायरल हो रही है। बीजेपी आईटी सेल चीफ अमित मालवीय ने चीन और कांग्रेस की मिलीभगत बताते हुए गांधी परिवार की चाइनीज़ नेताओं के साथ 2008 की तस्वीर शेयर की।

     

    फैक्ट चेक में आइए जानते हैं कि इसमें सच क्या है? 

  • undefined

    CelebsJun 20, 2020, 2:58 PM IST

    चाइनीज सामान का बायकॉट करने के लिए पायल रोहतगी ने की गुजारिश, कहा- चीनी सामान को ठोकर मारो

    लद्दाख स्थित गलवान घाटी में LAC पर हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। इसके बाद से ही देशवासियों में चीन को लेकर बहुत गुस्सा है। देशभर में लोग खुलकर चीन के विरोध में आ गए हैं। सोशल मीडिया पर भी बायकॉट मेड इन चाइना कैंपेन चलाया जा रहा है।

  • undefined

    Fake CheckerJun 20, 2020, 2:36 PM IST

    Fact Check: क्या भारत-चीन विवाद में शहीद हुए सैनिकों को है ये तस्वीर? शेयर करने से पहले जानें असली कहानी

    नई दिल्ली.  पूरी दुनिया में भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद की चर्चा है। चीन ने गलवान घाटी में हमला बोला था जिसमें हमारे 20 सैनिक शहीद हो गए। इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी दुख जता चुके हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर चीन के खिलाफ भारतवासियों का गुस्सा फूट रहा है। ज़मीन पर एक कतार में रखे हुए कई सारे जवानों के शव की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है। तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि ये लद्दाख में हुए भारत-चीन सीमा विवाद से जुड़ी हुई है और तस्वीर में दिख रहे शव भारतीय सैनिकों के हैं। फोटो में सैनिकों के चेहरे छिपाए गए हैं वहीं लोग इसे धड़ाधड़ फॉरवर्ड कर रहे हैं। 

     

    फैक्ट चेकिंग में हमने तस्वीर की सच्चाई जानने की कोशिश की- 

  • <p>India China conflict 2020,LAC,India China,India China war,India China news,India China border,India China clash,India China LAC,India China current situation,India China conflict at Ladakh,india and china dispute,<br />
indo china border dispute,india and china border dispute,india china conflict history,india china dispute 2020,india china disputed area,india china dispute latest,india china dispute news,india china disputed border,india china dispute map,india china dispute today,india china dispute in hindi,india china dispute latest news,india china dispute upsc,india china dispute area,india china dispute at ladakh,india china dispute arunachal</p>

    NationalJun 17, 2020, 7:59 PM IST

    बॉर्डर पर बढ़ी हलचल, तीनों सेनाओं को अलर्ट पर रखने का फैसला, सीमा से सटे गांव खाली करवाने की तैयारी शुरू

    पूर्वी लद्दाख में 15 जून को भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में बड़ा खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय सैनिक चीनी सैनिकों के पास वापस जाने के लिए कहने आए थे। लेकिन चीनी सैनिक पहले से ही पत्थल इकट्ठा हुए तैयार थे। उन्होंने भारतीय सैनिकों पर ऊंचाई से पत्थर बरसाए। फिर कील लगे डंडे और लोहे की रॉड से हमला किया।