Janmashtami 2020  

(Search results - 43)
  • undefined

    Aisa Kyun25, Aug 2020, 11:36 AM

    राधा जन्माष्टमी 26 अगस्त को, इस विधि से करें देवी राधा की पूजा, जानिए रोचक बातें

    धर्म ग्रंथों के अनुसार भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि (इस बार 26 अगस्त, बुधवार) को राधा जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इसी दिन व्रज में श्रीकृष्ण के प्रेयसी राधा का जन्म हुआ था।

  • undefined

    National13, Aug 2020, 8:41 AM

    मथुरा से द्वारका तक, कोरोना काल में ऐसे मनी जनमाष्टमी, देखें सेलिब्रेशन की खास तस्वीरें

    नई दिल्ली. देशभर में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बड़ी ही धूम-धाम से मनाया गया। लोगों ने इसके लिए महीनों पहले से ही तैयारियां कर रखी थी। इस खास मौके पर भक्तों ने मंदिरों में जाकर श्रीकृष्ण की पूजा अर्चना की। कोरोना काल के बीच लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। बल्कि हर साल की तरह ही लोगों ने जन्माष्टमी को एन्जॉय किया। कोरोना के चलते लोगों ने इस त्योहार का रंग फीका नहीं पड़ने दिया। ऐसे में मथुरा से द्वारका तक की सेलिब्रेशन की फोटोज दिखा रहे हैं।

  • undefined

    Bhojpuri12, Aug 2020, 3:49 PM

    माथे पर बिंदी, बालों में गजरा, साड़ी में मोनालिसा का दिखा बंगाली स्टाइल, ऐसे मनाई जन्माष्टमी

    मुंबई. हर साल की तरह इस साल भी जन्माष्टमी के तैयार की जबरदस्त धूम लोगों के बीच देखने के लिए मिली। इस बार जन्माष्टमी को दो दिन मनाया गया है। 11 और 12 अगस्त को लोगों ने अपने-अपने तरीके से जन्माष्टमी मनाई। ऐसे में इस त्योहार की जबरदस्त धूम सेलेब्स के बीच भी देखने के लिए मिली। ऐसे में मोनालिसा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपनी कुछ फोटो शेयर की है। 
     

  • undefined
    Video Icon

    Religion12, Aug 2020, 1:46 PM

    कोरोना काल में इस जन्माष्टमी पीपीई किट में नजर आए नन्हे बाल गोपाल

    कोरोना काल में इस जन्माष्टमी भगवान कृष्ण को पहनाई गई नई ड्रेस। इस बार कृष्णा नजर आए एक नए अंदाज में। लोगो ने नन्हे बाल गोपाल इस साल कोरोना से बचाव के लिए छोटे-छोटे मास्क, पीपीई किट और साथ ही मुकुट भी पहनाई। दुकानदारों का कहना है की कोरोना से बचाव भगवान के जरिए दर्शाया जा रहा है। लोगों को लड्डू गोपाल का नया लुक बहुत पसंद आ रहा है। 

  • undefined

    Jharkhand12, Aug 2020, 12:33 PM

    यहां विराजमान है श्रीकृष्ण की दुनिया की सबसे महंगी मूर्ति, कीमत 716 करोड़..लगा है 1280 किलो सोना


    रांची. आज पूरे देश में जन्माष्टमी उत्सव यानी भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। हालांकि, कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए मंदिरों में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर प्रतिबंध है। ऐसा पहली बार हो रहा जहां मथुरा में भक्त जन्माष्टमी के मौके पर श्रीकृष्ण के दर्शन नहीं कर पा रहे हैं। इसी मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं झारखंड के गढ़वा जिले बंशीधर मंदिर के बारे में। जहां देश ही नहीं दुनिया की सबसे कीमती श्रीकृष्ण की मूर्ति विराजमान है। जिसे देखने के लिए देश-विदेश से लोग आते हैं, लेकिन इस बार यहां का माहौल भी शांत है।
     

  • undefined

    Aisa Kyun12, Aug 2020, 12:14 PM

    जन्माष्टमी: भगवान श्रीकृष्ण से जुड़ी इन 5 घटनाओं से सीखिए लाइफ मैनेजमेंट के खास सूत्र

    उज्जैन. इस बार 12 अगस्त, बुधवार को जन्माष्टमी है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, द्वापर युग में इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था। भगवान श्रीकृष्ण के जीवन से हमें जीवन प्रबंधन के अनेक सूत्र सीखने को मिलते हैं। जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर हम आपको कुछ ऐसे ही लाइफ मैनेजमेंट के सूत्रों के बारे में बता रहे हैं-
     

  • undefined

    Jyotish12, Aug 2020, 12:08 PM

    जन्माष्टमी की रात 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण को लगाएं राशि अनुसार भोग, चमक सकती है आपकी किस्मत

    उज्जैन. भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 12 अगस्त, बुधवार को है। ज्योतिष के अनुसार, अगर इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को राशि अनुसार भोग लगाया जाए भक्त की हर मनोकामना पूरी हो सकती है व आपकी किस्मत भी चमक सकती है।

  • undefined

    Other States12, Aug 2020, 12:02 PM

    समुद्र में 8 0 फीट नीचे डूबी है श्रीकृष्ण की द्वारकापुरी, यहीं छुपा है मीरा का रहस्य

    काठियावाड़, गुजरात. भगवान श्रीकृष्ण से जुड़ीं तमाम कहानियां आज भी काफी प्रचलित हैं। आपको पता है कि श्रीकृष्ण की नगरी द्वारकापुरी कहां हैं? यह गुजरात के काठियावाड़ क्षेत्र में अरब सागर के द्वीप पर स्थित है। हालांकि इसका ज्यादातर हिस्सा समुद्र में करीब 80 फीट नीचे डूबा हुआ है। द्वारकापुरी का अपना एक धार्मिक, पौराणिक और ऐतहासिक महत्व है। द्वारकापुरी की खोज के बाद ऐसा पहली बार हुआ है, जब आप समुद्र के नीचे जाकर श्रीकृष्ण की नगरी देख सकते हैं। हालांकि इसके लिए पहले ट्रेनिंग लेनी होगी। क्योंकि समुद्र में इतनी गहराई तक जाना कोई सरल काम नहीं। यह बेहद जोखिमपूर्ण मामला है। आइए कृष्ण जन्माष्टमी(12 अगस्त) पर दिखाते हैं समंदर में डूबी द्वारकापुरी की कुछ तस्वीरें...

  • <p>ब्रज में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम है। नंदगांव में आधी रात को बाल कृष्ण ने जन्म लिया। राधा के गांव बरसाना में बधाइयां गूंजीं। परंपरा के अनुसार आज मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर जन्मोत्सव मनाया जाएगा। यह पहला मौका है, जब भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बिना भक्तों के मनाया जा रहा है। ब्रज के मंदिरों में सिर्फ संतों और सेवायतों की मौजूदगी में सभी परंपराएं पूरी की जाएंगी। मंदिरों में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध है। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर यह फैसला लिया गया है।</p>

    Uttar Pradesh12, Aug 2020, 11:40 AM

    कृष्ण जन्मस्थान में आज धूमधाम से मनेगा जन्मोत्सव, विदेशी फूलों से महकेंगे द्वारिकाधीश; ऐसी हैं तैयारियां

    ब्रज में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम है। नंदगांव में आधी रात को बाल कृष्ण ने जन्म लिया। राधा के गांव बरसाना में बधाइयां गूंजीं। परंपरा के अनुसार आज मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर जन्मोत्सव मनाया जाएगा। यह पहला मौका है, जब भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बिना भक्तों के मनाया जा रहा है। ब्रज के मंदिरों में सिर्फ संतों और सेवायतों की मौजूदगी में सभी परंपराएं पूरी की जाएंगी। मंदिरों में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध है। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर यह फैसला लिया गया है।

  • undefined

    Aisa Kyun12, Aug 2020, 11:05 AM

    जन्माष्टमी: 64 दिन में ही 64 कलाएं सीख गए थे श्रीकृष्ण, जानिए कौन-सी हैं वो कलाएं

    भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव प्रतिवर्ष भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि का मनाया जाता है। इस बार ये तिथि 12 अगस्त, बुधवार को है।

  • undefined

    Upay12, Aug 2020, 10:59 AM

    12 अगस्त को जन्माष्टमी पर बोलें भगवान श्रीकृष्ण के ये 51 नाम, घर में बनी रहेगी सुख-समृद्धि

    इस बार 12 अगस्त, बुधवार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करने से हर मनोकामना पूरी हो सकती है।

  • undefined

    National12, Aug 2020, 9:34 AM

    Krishna Janmashtami: पूरे देश में कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति ने दीं शुभकामनाएं; देखें Photos

    पूरे देश में आज श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की धूम है। हालांकि, कोरोना वायरस को देखते हुए मंदिरों में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर भी प्रतिबंध है। मथुरा में संभवता पहली बार भक्त जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण के दर्शन नहीं कर सके। वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जन्माष्टमी पर शुभकामनाएं दीं।

  • <p>नंदगांव में बालकृष्ण के आगमन के इंतजार में उस शुभ घड़ी का लोग पलक पावड़े बिछाए इंतजार कर रहे हैं। मंदिर सेवायत हरिमोहन गोस्वामी ने बताया कि आनंदकंद भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां पूर्ण कर ली गयी हैं। समूचे मंदिर परिसर को रंग-बिरंगी रोशनी की लाइटों से सजाया गया है। शाम होते ही मंदिर सतरंगी रोशनी से जगमगा उठेगा। परिसर को बंदनवार, फूल-मालाओं से सजाया गया है। नंदपरिवार को छप्पन भोग भेजा गया है। मंगलवार को दोपहर में कोरोना संक्रमण के कारण मंदिर परिसर में महज एक दर्जन गोस्वामियों ने अष्टछाप कवियों की वाणी में गाये हुए कवित्तों का बधाई गायन किया। वहीं कृष्णजन्मोत्सव के लिए अयोध्या से महंत नृत्यगोपाल दास सरयू का जल लेकर मथुरा पहुंचे हैं। वह तीन नदियों के जल से भगवाना कृष्ण की जन्मलीला संपन्न कराएंगे।</p>

    Uttar Pradesh11, Aug 2020, 10:10 PM

    मथुरा में कृष्ण जन्मोत्सव की धूम, अयोध्या से सरयू का जल लेकर कान्हा की नगरी पहुंचे महंत नृत्यगोपाल दास

    नंदगांव में बालकृष्ण के आगमन के इंतजार में उस शुभ घड़ी का लोग पलक पावड़े बिछाए इंतजार कर रहे हैं। मंदिर सेवायत हरिमोहन गोस्वामी ने बताया कि आनंदकंद भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां पूर्ण कर ली गयी हैं। समूचे मंदिर परिसर को रंग-बिरंगी रोशनी की लाइटों से सजाया गया है। शाम होते ही मंदिर सतरंगी रोशनी से जगमगा उठेगा। परिसर को बंदनवार, फूल-मालाओं से सजाया गया है। नंदपरिवार को छप्पन भोग भेजा गया है। मंगलवार को दोपहर में कोरोना संक्रमण के कारण मंदिर परिसर में महज एक दर्जन गोस्वामियों ने अष्टछाप कवियों की वाणी में गाये हुए कवित्तों का बधाई गायन किया। वहीं कृष्णजन्मोत्सव के लिए अयोध्या से महंत नृत्यगोपाल दास सरयू का जल लेकर मथुरा पहुंचे हैं। वह तीन नदियों के जल से भगवाना कृष्ण की जन्मलीला संपन्न कराएंगे।

  • undefined
    Video Icon

    Religion11, Aug 2020, 4:56 PM

    हर साल श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर क्यों बनती है भ्रम की स्थिति, ज्योतिषाचार्य ने बताई वजह

     जन्माष्टमी का पर्व हर सल भाद्रपद मास में कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इस बार यह अष्टमी तिथ 11 अगस्त को सुबह 09:06 बजे शुरू हो रही है और 12 अगस्त को सुबह 11:16 बजे समाप्त हो रही है। इस दिन श्रीकृष्ण को बाल-गोपाल रूप में पूजा जाता है।

  • undefined

    Jyotish11, Aug 2020, 4:13 PM

    जन्माष्टमी पर 60 साल बाद बन रहा है तिथि, नक्षत्र और गुरु ग्रह का अद्भुत योग

    पंचांग भेद के कारण इस बार 11 और 12 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा। इस बार 60 वर्षों के बाद भरणी नक्षत्र, कृत्तिका नक्षत्र और अष्टमी तिथि के साथ धनु राशि के गुरु ग्रह का योग बन रहा है।