Lakhpati Farmer  

(Search results - 3)
  • undefined

    PunjabNov 3, 2020, 2:23 PM IST

    लखपति कैसे बन सकते हैं, इस किसान से सीखिए...हर 6 महीने में कमाता है 14 लाख

    पैसा कमाना सरल नहीं, लेकिन उतना भी मुश्किल नहीं। अगर सूझबूझ और सही तरीके से अपने काम को अंजाम दिया जाए, तो पैसा आप पर बरसेगा। पंजाब के तरनतारन का यह किसान यही उदाहरण पेश करता है। एक समय था, जब उसे आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता था। लेकिन आज ये लखपति है। इसे लखपति बनाया है मशरूम की खेती ने।

  • undefined

    JharkhandSep 18, 2020, 12:17 PM IST

    दो वक्त की रोटी को तरसता था यह किसान, फिर दिमाग में आया एक आइडिया और अब कमा रहा लाखों

    चाईबासा, झारखंड. सफलता का सिर्फ एक ही मूल मंत्र है, सही दिशा में मेहनत (Hard work)। भारत कृषि प्रधान देश है। एक बड़ी आबादी गांवों में रहती है। लेकिन युवा खेती-किसानी छोड़कर कुछ हजार रुपए की नौकरी-चाकरी या मजदूरी करने शहरों को भागते हैं। जबकि अगर वे खेती-किसानी में ही प्रयोग करें, तो अच्छा-खासा पैसा कमा सकते हैं। चाईबासा के खूंटपानी ब्लॉक के रांगामाटी गांव के किसान राम जोंको ने यही उदाहरण पेश किया है। वे पहले दो वक्त की रोटी को लेकर परेशान रहते थे। लेकिन आज उनके खेत में लाखों रुपए के पपीते उगे हुए हैं। राम जोंको ने अपने खेत में 800 पपीते के पेड़ लगाए हुए हैं। इन पर 8-10 लाख रुपए के फल लगे हुए हैं। बता दें कि लॉकडाउन (Lockdown) में बेरोजगारी (Unemployment) एक बड़ी समस्या बनकर सामने आई है। राम जोंको भी पहले अपने काम-धंधे को लेकर चिंतित थे। फिर उन्होंने आत्मनिर्भर होने की ठानी। 4 महीने पहले उन्होंने खेत में पपीते के पेड़ लगाए और आज 50 टन पपीते की उपज तैयार कर ली।

  • undefined

    HaryanaJun 1, 2020, 6:09 PM IST

    लोग लॉकडाउन में काम-धंधा बंद होने से परेशान हैं और यहां एक किसान ने आत्मनिर्भर होकर कमा लिए लाखों रुपए

    कहते हैं कि जहां चाह-वहां राह। काम कोई भी हो, अगर हम उसे पूरी ईमानदारी और जोश-जुनून के साथ करें, तो सफलता मिलना तय है। खेती-किसानी को लेकर लोग मानते हैं कि इसमें नफा कम है, लेकिन ऐसा नहीं है। ऐसे हजारों किसान है, जो तरीके से खेती-किसानी करके लाखों रुपए कमा रहे हैं। यह किसान भी उनमें एक है। पिछले दिनों मोदी ने 'आत्मनिर्भर भारत' पर जोर दिया है। यह किसान उसका एक सशक्त उदाहरण है। यह किसान अपने 4 एकड़ के खेत में परंपरागत तरीके से किस्म-किस्म की सब्जियां, फल-फूल और अन्य चीजें उगाता है। इस किसान को किसी की नौकरी करने की जरूरत नहीं है। यह आत्मनिर्भर होकर अच्छा-खासा कमा रहा है।