Modi Self Reliant  

(Search results - 3)
  • undefined

    JharkhandOct 2, 2020, 1:59 PM IST

    मोदी के 'मन की बात' कल्लू मिस्त्री के दिल को छू गई और बेटे के लिए बना दिया गजब खिलौना

    हजारीबाग, झारखंड. दुनियाभर में कोरोना फैलाने का दोषी माना जा रहा चीन बॉर्डर पर हेकड़ी दिखाता रहता है। उसे अच्छे से सबक सिखाने प्रधानमंत्री ने चीनी वस्तुओं के इस्तेमाल के खिलाफ अघोषित रूप से एक मुहिम छेड़ दी है। 'आत्मनिर्भर भारत' ( atmnirbhar Bharat) का आह्वान इसी दिशा में एक सकारात्मक कदम है। भारत में चीनी खिलौनों (Chinese toys) का बड़ा मार्केट रहा है। इसे देखते हुए मोदी ने खिलौनों में भी आत्मनिर्भर होने की बात कही थी। हजारीबाग के रहने वाले अलाउद्दीन उर्फ कल्लू मिस्त्री ने इसे दिल से लिया और अपने बच्चे के लिए खुद बैटरी चलित कार ( battery powered car) बना दी। कल्लू बताते हैं कि लॉकडाउन में बच्चे की जिद ने उन्हें यह कार बनाने को प्रेरित किया। देसी जुगाड़ से बनी यह कार आधुनिक तकनीक से निर्मित खिलौना कार से कम नहीं है। इसमें कल्लू ने बैक गीयर भी लगाया है। यह कार बड़ों का भी वजन ढो सकती है। आगे पढ़िए कल्लू का कारनामा...

  • undefined

    HaryanaJun 1, 2020, 6:09 PM IST

    लोग लॉकडाउन में काम-धंधा बंद होने से परेशान हैं और यहां एक किसान ने आत्मनिर्भर होकर कमा लिए लाखों रुपए

    कहते हैं कि जहां चाह-वहां राह। काम कोई भी हो, अगर हम उसे पूरी ईमानदारी और जोश-जुनून के साथ करें, तो सफलता मिलना तय है। खेती-किसानी को लेकर लोग मानते हैं कि इसमें नफा कम है, लेकिन ऐसा नहीं है। ऐसे हजारों किसान है, जो तरीके से खेती-किसानी करके लाखों रुपए कमा रहे हैं। यह किसान भी उनमें एक है। पिछले दिनों मोदी ने 'आत्मनिर्भर भारत' पर जोर दिया है। यह किसान उसका एक सशक्त उदाहरण है। यह किसान अपने 4 एकड़ के खेत में परंपरागत तरीके से किस्म-किस्म की सब्जियां, फल-फूल और अन्य चीजें उगाता है। इस किसान को किसी की नौकरी करने की जरूरत नहीं है। यह आत्मनिर्भर होकर अच्छा-खासा कमा रहा है।

  • <p>vaishali farmer rohit singh</p>

    BiharMay 14, 2020, 5:14 PM IST

    आत्मनिर्भर भारत की मिसाल, सैनिक स्कूल से पढ़ाई के बाद नौकरी की जगह चुनी खेती, लाखों रुपये का टर्नओवर

    प्रधानमंत्री की अपील के बाद रोहित अब अपने राज्य को प्राथमिकता देंगे और वैसे लोगों को अपने साथ रोजगार से जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं जो लोग लॉकडाउन की वजह वापस बिहार आ गए हैं।