Mother's Funeral  

(Search results - 3)
  • Balaghat News, Daughters cremate mother funeral kpaBalaghat News, Daughters cremate mother funeral kpa

    Madhya PradeshAug 20, 2020, 9:53 AM IST

    पंचायत के खिलाफ जाकर 4 बेटियों ने दिया अपनी मां को कंधा, यह देखकर झुक गए गांववाले

    बालाघाट में पंचायत के रोकने के बावजूद बेटियों ने अपनी मां का अंतिम संस्कार किया। पंचायत चाहती थी कि अंतिम संस्कार किसी रिश्तेदार को बुलाकर कराया गया। महिला के 4 बेटियां हैं। उसके कोई बेटा नहीं था। बेटियों ने तर्क दिया कि उनके होते मां को मुखाग्नि दूसरा कोई क्यों देगा? आखिरकार पंचायत को झुकना पड़ा और बाद में पूरा गांव अंतिम यात्रा में शामिल हुआ।

  • ashes of actor Sushant were immersed at the same ghat where mother's funeral was performed ASAashes of actor Sushant were immersed at the same ghat where mother's funeral was performed ASA

    BiharJun 18, 2020, 2:35 PM IST

    जहां हुआ था मां का अंतिम संस्कार, उसी घाट पर विसर्जित की गई सुशांत की अस्थियां

    पटना (Bihar) ।  बॉलीवुड के दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की अंत्येष्टि के बाद आज दोपहर पटना के दीघा गंगा घाट पर उनकी अस्थियां विसर्जित की गईं। यह वही घाट हैं, जहां पर एक्टर सुशांत की मां का अंतिम संस्कार किया गया था और उनकी अस्थियां विसर्जित की गईं थीं। कहा जा रहा है कि एक्टर सुशांत के पूर्णिया स्थित पैतृक गांव के लोगों व नाते-रिश्‍तेदारों के आने के बाद श्राद्धकर्म संपन्‍न होगा। बता दें कि रविवार को एक्टर सुशांत ने मुंबई स्थित अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

  • Lockdown: Son could not come even on mother's death, daughter-in-law gives shoulder to mother-in-law and confession to Chita asaLockdown: Son could not come even on mother's death, daughter-in-law gives shoulder to mother-in-law and confession to Chita asa

    Uttar PradeshApr 4, 2020, 3:23 PM IST

    लॉकडाउनः मां की मौत पर भी नहीं आ सके बेटे, बहू ने दिया सास की अर्थी को कंधा और चिता को दी मुखाग्नि


    बहू ने खुद अन्य लोगों के साथ सास की शव को कंधा दिया और साथ में श्मशान घाट भी गई। मौके पर कोई पुरुष मौजूद ना होने के चलते चिता को मुखाग्नि देने की बात आई तो वहां मौजूद सभी लोग एक दूसरे का मुंह देखने लगे। ऐसे में बहू ने आगे आकर खुद ही अपने सास की चिता को मुखाग्नि दिया और अंतिम संस्कार के सभी रस्मों को निभाया।