Organ Donation  

(Search results - 14)
  • Gujarat 2 childhood friends saved 12 lives by donating their organsGujarat 2 childhood friends saved 12 lives by donating their organs

    Other StatesSep 1, 2021, 2:30 PM IST

    ऐसे थे बचपन के 2 जिगरी दोस्त: साथ जिए..साथ मरे, मौत के बाद भी 12 लोगों की जिंदगी बचा गए...

    सूरत (गुजरात). मौत के बाद इंसान का शरीर कोई भी काम का नहीं होता है। वह आग में जलकर राख में तब्दील हो जाता है। लेकिन मरने के बाद अगर किसी को आंग दान किए जांए तो कई लोगों को जीवनदान मिल सकता है। ऐसी ही एक जिंदादिल कहानी गुजरात के सूरत से सामने आई है। जहां दो जिगरी दोस्तों ने मौत के बाद भी 12 लोगों को जिंदगी दी। जिनको को पूरा शहर सलाम कर रहा है। आइए जानते हैं इन दो जिगरी दोस्तों के बारे में...

  • 17 year old boy sevaram organ donation after road accident declared brain dead parents fulfilled daughters kpr17 year old boy sevaram organ donation after road accident declared brain dead parents fulfilled daughters kpr

    RajasthanMar 1, 2021, 5:59 PM IST

    मरने के बाद भी 5 लोगों की जिंदगी बचा गया ये बच्चा, मुख्यमंत्री ने माता-पिता की जिंदादिली को किया सलाम

    दरअसल, धौलपुर का रहने वाला 17 साल का सेवाराम को डॉक्टरों ने ब्रेनडेड घोषित कर दिया। इसके बाद उसके माता-पिता ने बेटे की दोनों किडनियां, हार्ट, लिवर और लंग्स डोनेट कर दिए। इस तरह वह अपनी जग तो हार गया, लेकिन  5 लोगों की जिदंगी सवारते हुए उनको जीवनदान दे गया।

  • 14 year old oy organ donation after declared brain dead parents fulfilled son kpr14 year old oy organ donation after declared brain dead parents fulfilled son kpr

    RajasthanFeb 2, 2021, 9:00 PM IST

    14 साल का बेटा मरकर भी बचा गया 4 लोगों की जिंदगी, माता-पिता ने भी दिल पर पत्थर रख दिखाई दरियादिली

    कई लोगों के चेहरों पर मुस्कान बिखेरने वाले इस लड़के का नाम विशाल है। जिसका कुछ दिन पहले सड़क हादसा हो गया था। डॉक्टरों ने उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन कोई प्रयास सफल नहीं हुआ। जिसके बाद विशाल को डॉक्टरों ने ब्रेनडेड घोषित किया।

  • 20 month old baby girl organ donation after declared brain dead parents fulfilled daughters kpr20 month old baby girl organ donation after declared brain dead parents fulfilled daughters kpr

    Other StatesJan 14, 2021, 5:48 PM IST

    प्यारी सी बच्ची अपनी मुस्कान कई चेहरों पर बिखेर गई, मरने के बाद भी बचा गई 5 लोगों की जिंदगी

    नई दिल्ली. किसी ने सही कहा है कि बच्चे भगवान के रुप होते हैं। क्योंकि उनके आते ही खुशियां आ जाती हैं। ऐसी ही एक दिल को छू देने वाली कहानी देश की राजधानी दिल्ली से सामने आई है, जहां एक 20 महीने की प्यारी सी बच्ची कई चेहरों पर मुस्कान बिखेर गई। वह मरकर भी अपने शरीर के अंगों को डोनेट करके 5 लोगों की जिदंगी सवारते हुए उनको जीवनदान दे गई। इस तरह इतनी कम उम्र में अंग दान कर यह बच्ची देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे छोटी ऑर्गन डोनर बन गई है। 

  • uttar pradesh 41 year old woman gives life to four people by organ donation after declared brain dead kpruttar pradesh 41 year old woman gives life to four people by organ donation after declared brain dead kpr

    Uttar PradeshDec 26, 2020, 7:46 PM IST

    मौत के बाद भी 4 लोगों को जिंदगी बचा गई 41 साल की रफत, जाते-जाते कई चेहरों पर दे गई मुस्कान

    गाजियाबाद इंदिरापुरम की रहने वाली सैयद रफत परवीन (41) गुरुवार को जिंदगी की जंग हार गई। 19 दिसंबर को तेज सिर दर्द की शिकायत के बाद परिवार ने विशाली के  मैक्स अस्पताल में भर्ती करवाया था।

  • 17 year old girl organ donation after declared brain dead parents fulfilled daughters kpr17 year old girl organ donation after declared brain dead parents fulfilled daughters kpr

    Other StatesDec 24, 2020, 8:03 PM IST

    17 साल की लड़की मरकर भी बचा गई कई जिंदगी, मौत के बाद लोग बोले-अमर हो गई..हर मां-बाप को मिले ऐसी बेटी

    वडोदरा (गुजरात). मरने के बाद इंसान का ये हाड़-मांस का शरीर जलकर खाक हो जाता है। सिर्फ राख रह जाती है। लेकिन जाते-जाते हम अगर किसी को जिंदगी दे जाएं तो इससे बड़ा और कोई पुण्य नहीं। गुजरात के वडोदरा से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां एक 17 साल लड़की अपने शरीर के अंगों को डोनेट करके कई लोगों को जीवनदान दिया है। पढ़िए दिल को छू जाने वाली ये कहानी...

  • jash ojha s family from gujarat surat donates his organs to two kids ahajash ojha s family from gujarat surat donates his organs to two kids aha
    Video Icon

    NationalDec 19, 2020, 6:53 PM IST

    जश ओझा के परिवार ने पेश की हिम्मत की नई मिसाल

    नमस्कार मेरा नाम है इंटरनेशनल खबरी और आज हम बात करेंगे बहादुरी और हिम्मत की मिसाल के बारे में। कहानी है ढाई साल के जश ओझा के परिवार के बारे में जिन्होंने ये दिखाया कि आखिर दुनिया में अच्छाई आज भी जिंदा है। मामला कुछ यूं है कि गुजरात के सूरत शहर में महज ढाई साल के बच्चे के शरीर के अंगदान किए गए। जश ओझा के ब्रेन डेड होने के बादए उसके परिवार ने अंगदान का फैसला किया और उसके फेफड़ेए किडनीए लीवर और आंखें दान दीं। ब्रेन डेड जश के अंगदान से सात लोगों को नया जीवन मिला है। उसके हार्ट को रशिया के बच्चे में और फेफड़े को यूक्रेन के बच्चे में में दान किया गया है।

  • rajasthan news jaipur news heart transplant done in sms hospital kprrajasthan news jaipur news heart transplant done in sms hospital kpr

    RajasthanFeb 12, 2020, 6:51 PM IST

    18 साल लड़के ने मरने के बाद बचाईं 3 लोगों की जिंदगी, लोग उसके शव को प्रणाम कर बोले- वो हमारा भगवान

    राजस्थान में एक 18 साल के लड़के ने मरने के बाद भी तीन लोगों को नई जिंदगी दी है। लोग उसके शव को प्रणाम करके उसके घरवालों को इसके लिए धन्यवाद दे रहे हैं।

  • Emotional story related to mother and her late daughter, organ donation case kpaEmotional story related to mother and her late daughter, organ donation case kpa

    Other StatesFeb 10, 2020, 4:53 PM IST

    मां अकसर अपनी बेटी के किस्से सुनाती है, वो नहीं तो क्या... किसी और के सीने में धड़कता है उसका दिल

    भावुक करने वाली इस कहानी की शुरुआत 2016 से होती है, जब भावना बेन की बेटी राधिका इस दुनिया से रुखसत हो गई थी। इसके बाद भावना बेन की दुनिया ही बदल गई। अब वे कई लोगों की जिंदगी बनकर सामने आ रही हैं।

  • Father donates organ of newborn baby after losing wife kphFather donates organ of newborn baby after losing wife kph

    HatkeJan 9, 2020, 12:06 PM IST

    मौत के बाद 2 जिंदगियां रोशन कर गई 6 दिन की बच्ची, जन्म देते ही चल बसी थी मां

    चीन में रहने वाले एक शख्स ने अपनी 6 दिन की नवजात बच्ची की मौत के बाद उसके ऑर्गन्स डोनेट करने का फैसला किया। आज उस बच्ची के कारण दो लोगों की आंखों की रोशनी लौट आई है। 

  • Duke doctors bring dead heart alive shocks peopleDuke doctors bring dead heart alive shocks people
    Video Icon

    HatkeDec 3, 2019, 12:18 PM IST

    मर चुके दिल के साथ डॉक्टरों ने किया चमत्कार, दुबारा कटोरी में धड़कने लगा

    ड्यूक यूनिवर्सिटी में डॉक्टरों ने मर चुके दिल को दुबारा से जिन्दा कर चमत्कार कर दिया है। दरअसल, ज्यादातर ब्रेन-डेड लोगों की बॉडी से दिल निकालकर उन्हें ट्रांस्पलांट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन अब ड्यूक यूनिवर्सिटी के डॉक्टर्स ने मर चुकी बॉडी से दिल निकालकर उसे दुबारा जिंदा कर दिखाया।

  • graph of organ donation increases in the country in three years/bptgraph of organ donation increases in the country in three years/bpt

    Health CapsuleNov 24, 2019, 4:02 PM IST

    देश में अंग दान का तीन साल में बढ़ा ग्राफ, दिल्ली सबसे आगे, उप्र और बिहार सबसे पीछे

    स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में अंग दान के मामले 2016 में 9046 से बढ़कर 2018 में 10,387 हो गए हैं। दिल्ली, इस मामले में अन्य सभी राज्यों से आगे है।
     

  • After the death of the son, the parents donated 6 organs, the Chief Minister gave this rewardAfter the death of the son, the parents donated 6 organs, the Chief Minister gave this reward

    Other StatesNov 12, 2019, 7:38 PM IST

    मरने के बाद भी 6 लोगों को जिंदगी दे गया यह लड़का, माता-पिता को मिला यह इनाम

    ओडिशा सरकार ने गंजाम जिले के एक व्यक्ति के नाम पर एक वार्षिक पुरस्कार देने की घोषणा की है। गौरतलब है कि ओडिशा के  गंजाम जिले के सूरज सेठी नामक व्यक्ति की मृत्यु  के बाद उसके अंग छह व्यक्तियों को दान कर दिए गए थे।
     

  • family of woman donates her oragans after her deathfamily of woman donates her oragans after her death

    Madhya PradeshJul 25, 2019, 12:53 PM IST

    मरने के बाद भी जिंदा रहेंगी 62 साल की विमला

    दूसरों को नई जिंदगी देने से बड़ा इस दुनिया में और कोई दूसरा परोपकार नहीं है। परोपकार भी ऐसा कि दुनिया से जाते-जाते सह्याद्रि परिसर निवासी 62 वर्षीय विमला अजमेरा 1 या 2 लोगों को नही, बल्कि 6 लोगों को नई जिंदगी दे गई। विमला 22 मई से एक हादसे की वजह से अस्पताल में भर्ती थीं। 24 जुलाई, बुधवार सुबह डाक्टरों ने उन्हें ब्रेनडेड घोषित कर दिया। इसके बाद परिजनों ने उनका हार्ट, लिवर, दोनों किडनी और कॉर्निया डोनेट कर दिए हैं। गुरुवार सुबह सर्जरी के बाद विमला का हार्ट फ्लाइट से मुंबई भेजा दिया गया। फोर्टिस अस्पताल में हार्ट डिसीज से जूझ रहे 12 साल के मासूम को उनका हार्ट लगाया जाएगा। विमला का लिवर, किडनी और कॉर्निया भोपाल के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती, कुल पांच मरीजों को लगाए जाएंगे। ऑर्गन डोनेशन समिति के अनुसार, विमला के परिजनों ने खुद ही डोनेशन की इच्छा जताते हुए पूरी प्रक्रिया की जानकारी ली थी।