Policemen Injured  

(Search results - 27)
  • Even after seeing the blood, the farmers did not stop raining sticks, listen to the policemen injured in the Red Fort KPZEven after seeing the blood, the farmers did not stop raining sticks, listen to the policemen injured in the Red Fort KPZ
    Video Icon

    NationalJan 27, 2021, 3:47 PM IST

    खून देखकर भी नहीं रुके किसान बरसाते रहे लाठियां, सुनिए लाल किले में घायल हुए पुलिसकर्मी की आपबीती

    वीडियो डेस्क। दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के नाम पर मचे तांडव के बाद राजधानी दिल्ली की सूरत बदल गई है। किसानों के भेष में छिपे उपद्रवियों ने जो कोहराम मचाया वो बेहद शॉकिंग और वीभत्स था। दिल्ली के लाल किले पर ना सिर्फ झंडा फहराया बल्कि पुलिस के जवानों पर खूब लाठियां भांजी। 300 पुलिसकर्मी इस किसान आंदोलन के तांडव में घायल हो गए हैं। एसएचओ पीसी यादव ने बताया कि किसानों ने लाल किले के अंदर क्या किया। किसानों के हमले में पीसी यादव बुरी तरह घायल हो गए। सुनिए उनकी जुबानी। 
     

  • Bihar election: One day before voting in Bihar, one shot during idol immersion, one killed, 20 policemen injured asaBihar election: One day before voting in Bihar, one shot during idol immersion, one killed, 20 policemen injured asa

    Bihar ElectionOct 27, 2020, 9:28 AM IST

    बिहार में वोटिंग से एक दिन पहले बवाल, मूर्ति विसर्जन के दौरान चली गोली, एक की मौत, 20 पुलिस कर्मी घायल

    डीएम ने कहा है कि स्थिति फिलहाल शांतिपूर्ण है। दोषियों की पहचान की जा रही है। प्रथम दृष्टया यह बात सामने आई है कि जानबूझकर कुछ लोगों द्वारा पुलिस पर मारपीट करने का झूठा आरोप लगाते हुए माहौल को खराब किया गया और भीड़ को पुलिस के खिलाफ उकसाया गया। फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है. कुछ उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है।

  • Here monkey created such a blow, including 5 policemen injured kpvHere monkey created such a blow, including 5 policemen injured kpv
    Video Icon

    Madhya PradeshSep 20, 2020, 12:29 PM IST

    यहां बंदर ने मचाया ऐसा उत्पात 5 पुलिसकर्मियों सहित कई घायल

     मध्य प्रदेश (MadhyaPradesh) के  बैतूल (Betul) जिले की आमला तहसील में इन दिनों एक बंदर ने आतंक मचा रखा है। जहां पिछले 15 दिनों से आमला जनपद चौराहे और पुलिस थाना परिसर में आए बंदर के कारण थाना के कर्मचारी-अधिकारी सहित रहवासी परेशान हैं। रहवासियों ने बताया कि ये बंदर राह चलते किसी भी शख्स को पीछे से मार देता था। हद तो तब हो जाती थी जब किसी व्यक्ति की बाइक खड़ी रहती थी और बंदर उसपर उछलकर गाड़ी को गिरा देता था। इसके अलावा उसने कई लोगों को नोचा और काटा भी है। साथ ही दुकान में रखी खाद्य सामग्री लेकर भाग जाता था।जानकारी के मुताबिक बंदर के आतंक के कारण कई लोग घायल हुए हैं, जिनमें पांच पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। आमला पुलिस विभाग की सूचना पर जब मौके पर वन विभाग का अमला पहुंचा तो अमले को भी बंदर को पकड़ने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी।वन परिक्षेत्र अधिकारी के नेतृत्व में मैदानी अमले के साथ बंदर को पकड़ने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन किया गया और करीब दो दिनों तक कड़ी मेहनत करने के बाद वन विभाग का अमला बंदर को पकड़ने में कामयाब रहा।
     

  • kanpur encounter gangster Vikas Dubey fired a pistol, 5 policemen injured kpvkanpur encounter gangster Vikas Dubey fired a pistol, 5 policemen injured kpv
    Video Icon

    Uttar PradeshJul 10, 2020, 11:33 AM IST

    विकास दुबे ने दरोगा से छीनी पिस्टल और पुलिसकर्मियों पर कर दी फायरिंग

    उज्जैन के महाकाल मंदिर में सरेंडर करने के बाद विकास खुद को सुरक्षित समझ रहा था लेकिन कानपुर में घुसते ही उसकी गाड़ी पलट गई और विकास से दरोगा की पिस्टल लेकर भागने का प्रयास किया। उसने पुलिसकर्मियों पर फायरिंग भी की जिसमें 5 पुलिस जवान घायल हुए है। 

  • martyr constable wife wants to see Vikas Dubey encounter in front of eyes kplmartyr constable wife wants to see Vikas Dubey encounter in front of eyes kpl

    Uttar PradeshJul 7, 2020, 4:06 PM IST

    आंखों के सामने विकास दुबे का एनकाउंटर देखना चाहती है शहीद सिपाही की पत्नी, कहा- अपने हाथ से देना चाहती हूं मौत

    2 जुलाई की रात कानपुर के विकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार चल रहे ढाई लाख का इनामी बदमाश विकास दुबे की तलाश जारी है। पुलिस की तकरीबन 100 टीमें उसे तलाशने में लगी हुई हैं। लेकिन अभी तक ये हत्यारा पुलिस के हत्थे नही चढ़ सका है। इस मुठभेड़ में झांसी के भोजला गांव के रहने वाले सिपाही सुल्तान सिंह वर्मा भी शहीद हुए थे। सुल्तान की शहादत पर एक ओर जहां उनके परिवार में गमों का पहाड़ सा टूट गया है वहीं दूसरी ओर उनमें भारी गुस्सा भी है। शहीद सिपाही सुल्तान सिंह की पत्नी ने कहा है कि वह अपने हाथों से हत्यारे विकास का एनकाउंटर करना चाहती हूं।

  • Gangster Vikas Dubey Love Story Loved by friend sister and marriage him kplGangster Vikas Dubey Love Story Loved by friend sister and marriage him kpl

    Uttar PradeshJul 7, 2020, 12:59 PM IST

    गैंगेस्टर विकास दुबे की लव स्टोरीः दोस्त की बहन को ही दिल दे बैठा था, फिर प्यार में आया खौफनाक मोड़

    कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में हुई 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में रोज नए- नए खुलासे हो रहे हैं। मुख्य आरोपी विकास दुबे फरार है। पुलिस की तकरीबन 100 टीमें उसे तलाशने में लगी हुई हैं। विकास कितना खूंखार है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुश्मनी निभाने में उसने अपने प्यार तक को नहीं छोड़ा। दिन रात उसका मर्डर करने के लिए ढूंढता रहा। केवल इतना ही नहीं अपने साले के लिए उसने इतनी दहशत पैदा कर दी की वह आज तक यूपी लौट कर ही नहीं आया। आइए जानते हैं यूपी पुलिस के लिए इस समय मोस्ट वांटेड बने विकास दुबे की लव स्टोरी...

  • 40 minutes before of Raid talk of vikas dubey with the constable of Chaubepur police station kpl40 minutes before of Raid talk of vikas dubey with the constable of Chaubepur police station kpl

    Uttar PradeshJul 7, 2020, 11:37 AM IST

    कानपुर में 8 पुलिसवालों की शहादत के बाद...अब हत्यारे विकास दुबे को लेकर STF जांच में आया एक चौंकाने वाला सच

    कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में हुई 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में रोज नए- नए खुलासे हो रहे हैं। मुख्य आरोपी विकास दुबे फरार है। पुलिस की तकरीबन 100 टीमें उसे तलाशने में लगी हुई हैं। इस पूरे मामले में चौबेपुर थाने के एसओ व अन्य कई पुलिसकर्मियों पर विकास दुबे को पुलिस मूवमेंट की खबर देने का भी आरोप है। इस मामले में अब तक 4 पुलिसकर्मी निलंबित हुए हैं जिसमें एसओ चौबेपुर विनय तिवारी भी शामिल हैं। लेकिन इस मामले में एसटीएफ की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। दबिश से करीब साढ़े सात घंटे पहले एक दरोगा की और करीब 40 मिनट पहले एक सिपाही से दहशतगर्द विकास दुबे की बातचीत फोन पर हुई थी। जिन पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है, उसमें ये दरोगा-सिपाही भी शामिल हैं। 
     

  • Chaubepur SO Vinay Tiwari suspended suspected to be informant kplChaubepur SO Vinay Tiwari suspended suspected to be informant kpl

    Uttar PradeshJul 4, 2020, 3:56 PM IST

    कानपुर एनकाउंटर: 8 पुलिसवालों की मौत के जिम्मेदार चौबेपुर एसओ विनय तिवारी तो नहीं, जानें क्यों हो रहा शक!

    उत्तर प्रदेश के कानपुर में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में चौबेपुर थानाध्यक्ष विनय तिवारी की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही थी। इसी के चलते प्रारम्भिक जांच के बाद विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया। उनके स्थान पर कृष्ण मोहन राय को चौबेपुर थाने का नया एसओ बनाया गया है

  • Vikas Dubey was contact with many policemen till the night of shoot out important evidence found in mobile kplVikas Dubey was contact with many policemen till the night of shoot out important evidence found in mobile kpl

    Uttar PradeshJul 4, 2020, 1:43 PM IST

    शूट आउट की रात तक कई पुलिसवालों के सम्पर्क में था विकास दुबे, मोबाइल में मिले अहम सबूत

    विकास दुबे के घर में मिली मोबाईल में कई पुलिस वालों के नंबर मिले हैं। पता चला है कि मुठभेड़ की रात तक 24 घंटे में इन लोगों से विकास दुबे की कई बार बातचीत हुई। इस संबंध में पुलिस पूछताछ कर रही है। आशंका जताई जा रही है इस मामले में कुछ चौंकाने वाली गिरफ्तारियां हो सकती हैं।

  • SO Chaubepur came under suspicion ran away as soon as the firing kplSO Chaubepur came under suspicion ran away as soon as the firing kpl

    Uttar PradeshJul 4, 2020, 12:28 PM IST

    कानपुर एनकाउंटर: फायरिंग शुरू होते ही गायब हो गए थे एसओ चौबेपुर, इन्ही को थी पूरे इलाके की जानकारी

    कानपुर में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में चौबेपुर थानाध्यक्ष विनय तिवारी की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है। 8 पुलिसवालों की हत्या का आरोपी विकास दुबे का गांव बिकरू इसी थाना क्षेत्र में आता है। बताया जा रहा है कि एसओ चौबेपुर को ही इस पूरे इलाके की भौगोलिक जानकारी थी। गुरुवार देर रात बिल्हौर सीओ देवेन्द्र मिश्रा के नेतृत्व में शिवराजपुर, चौबेपुर और बिठूर थाने की पुलिस हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर पर दबिश देने गई थी

  • sub inspector Mahesh Yadav martyred after a dozen bullets of miscreants Many policemen saved their lives from brilliant thinking kplsub inspector Mahesh Yadav martyred after a dozen bullets of miscreants Many policemen saved their lives from brilliant thinking kpl

    Uttar PradeshJul 4, 2020, 10:41 AM IST

    कानपुर एनकाउंटरः बदमाशों की दर्जन भर गोलियां लगने से हुए शहीद, लेकिन सूझ-बूझ से बचाई कई पुलिसवालों की जान

    उत्तर प्रदेश के कानपुर में अपराधियों से एनकाउंटर में कई जवान शहीद हो गए। इन्हीं में से एक शिवराजपुर थाने के एसओ महेश यादव भी थे। बताया जा रहा है कि गोली लगने से एसओ महेश यादव नीचे गिर गए उसके बाद बदमाशों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दिया। बताया जा रहा है कि उन्हें कई गोलियां लगीं थीं। लेकिन इन सब के बीच एसओ महेश यादव की शानदार सूझ-बूझ से दर्जनों पुलिस वालों की जानें बच गई। महेश यादव ने बदमाशों से घिरने के तुरंत बाद ही स्थिति को भांप लिया था और तुरंत अपने थाने के ASI को फोन कर तुरंत फ़ोर्स भेजने को कहा था। जिसके बाद SSI ने वायरलेस पर इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दे दी तब भारी मात्रा में फोर्स घटना स्थल के रवाना हो गई। जिससे वहां फंसे और पुलिसकर्मियों की जान बच गई।
     

  • Killer Vikas Dubey mother said police should kill him if caught kplKiller Vikas Dubey mother said police should kill him if caught kpl

    Uttar PradeshJul 4, 2020, 10:00 AM IST

    8 पुलिसकर्मियो के हत्यारे विकास दुबे की मां बोली- उसे मार देना चाहिए; उसकी शक्ल भी नहीं देखना चाहती

    कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने के आरोपी विकास दुबे की मां ने चौंकाने वाला बयान दिया है। दुबे की मां ने कहा कि उसे पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर देना चाहिए। यदि वो ऐसे ही भागता रहा तो एक दिन पुलिस उसका एनकाउंटर कर देगी। साथ ही विकास दुबे की मां सरला देवी ने कहा कि "यदि पुलिस उसे पकड़ने में कामयाब रहती है तो उसे मार देना चाहिए, क्योंकि जो उसने किया है वो बहुत गलत है। मै उसकी शक्ल भी नहीं देखना चाहती हूं "।
     

  • CM Yogi announced to gave 1 crore to families of martyred policemen kplCM Yogi announced to gave 1 crore to families of martyred policemen kpl

    Uttar PradeshJul 3, 2020, 5:34 PM IST

    कानपुर एनकाउंटर: शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों को दी जाएगी 1 करोड़ की आर्थिक मदद, सीएम योगी ने किया ऐलान

    हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के गांव दबिश देने के दौरान शहीद आठ पुलिसकर्मियों के पार्थिव शरीर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुष्पचक्र अर्पित करके श्रद्धांजलि दी और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के प्राइवेट हॉस्पिटल में इलाज करा रहे घायल पुलिसकर्मियों से भेंट की

  • miscreants attacked the police team from three sides in kanpur encounter kplmiscreants attacked the police team from three sides in kanpur encounter kpl

    Uttar PradeshJul 3, 2020, 4:11 PM IST

    कानपुर एनकाउंटर: हर मूवमेंट की जानकारी लेकर पुलिस पर 3 ओर से किया हमला, 4 थानों की फोर्स कुछ समझ ना सकी...!

    उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक हिस्ट्रीशीटर अपराधी विकास दुबे  को पकड़ने गए 8 पुलिस कर्मी बदमाशों की गोलीबारी में शहीद हो गए हैं, वहीं 7 घायल हुए हैं। शहीद हुए पुलिस कर्मियों में एक CO भी हैं। इस घटना ने प्रदेश को हिलाकर रख दिया है। हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ जान से मारने की कोशिश की एक एफआईआर के बाद उसे पकड़ने के लिए चलाया गया ऑपरेशन प्लान पूरी तरह से फेल रहा। दुखद ये रहा कि इस ऑपरेशन में यूपी पुलिस के 8 जांबाज शहीद हो गए। हांलाकि कुछ देर बाद पुलिस ने भी दबिश देकर विकास गैंग में शामिल उसके दो बदमाशों को मार गिराया। दोनों ही उसके रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। इनके पास से पुलिस की लूटी हुई पिस्टल भी बरामद हुई है। आइए जानते हैं कि इस घटना की शुरुआत कैसे हुई।

  • BJP minister were hidden in the police lockup to save their life Vikas Dubey pulled out and shot kplBJP minister were hidden in the police lockup to save their life Vikas Dubey pulled out and shot kpl

    Uttar PradeshJul 3, 2020, 2:30 PM IST

    कानपुर एनकाउंटरः जान बचाने थाने के लॉकअप में छिपे थे बीजेपी के मंत्री, विकास दुबे ने बाहर खींचकर मारी थी गोली

    यूपी के कानपुर में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला कर 8 पुलिसकर्मियों को शहीद करने वाले हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है। बचपन से ही वह जरायम की दुनिया में अपना नाम बनाना चाहता था। पहले उसने गैंग बनाया और लूट, डकैती, हत्याएं करने लगा। विकास दुबे तब पूरे प्रदेश में चर्चा में आया था जब उसने 19 साल पहले थाने में घुसकर बीजेपी के दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की हत्या की थी। संतोष शुक्ला की हत्या ने विकास को जरायम की दुनिया में बड़ी पहचान दिलाई। हांलाकि वह इस हत्या से इसलिए बरी हो गया क्योंकि उसके खिलाफ किसी ने गवाही ही नहीं दी। हत्या के ही एक अन्य मामले में उसे उम्रकैद भी हुई थी लेकिन वह जमानत पर बाहर आ गया था ।