Prevention  

(Search results - 63)
  • Anorexia girl so weak that her heart beat only 32 times in a minuteAnorexia girl so weak that her heart beat only 32 times in a minute

    Health CapsuleOct 6, 2021, 10:37 AM IST

    आपको तो नहीं पतला दिखने का पागलपन, क्योंकि ये एक बीमारी है, इसकी वजह से 21 साल की लड़की मरना चाहती है

    नई दिल्ली. एक 21 साल की लड़की सुसाइड करना चाहती थी। खुद की जान देना चाहती थी। जिंदगी से प्यार ही नहीं रह गया था। दरअसल, उस लड़की (Anorexia girl) को ऐसी बीमारी हो गई, जिससे उसे हमेशा डर लगा रहता था कि कहीं वह मोटी न हो जाए। मोटी होने से अच्छा है कि मर जाए। हालांकि इस चक्कर में वह इतनी पतली (eating disorder) हो गई थी कि वह हार्ट एक मिनट में सिर्फ 32 बार ही धड़कता था, जबकि एक सामान्य व्यक्ति का हार्ट एक मिनट में 72 बार धड़कता है। इससे लड़की बहुत परेशान थी। लेकिन वह अपने दिमाग को समझा नहीं पा रही थी। लड़की का नाम शार्लोट फोस्टर है। जानें 21 साल की शार्लोट क्यों सुसाइड करना चाहती थी...?
     

  • parentst treating a 5 week-old baby as cold but later found that he had sepsisparentst treating a 5 week-old baby as cold but later found that he had sepsis

    Health CapsuleSep 13, 2021, 2:55 PM IST

    सर्दी-खांसी समझ कर रहे थे इलाज, अचानक कांपने लगा बच्चा, तब डॉक्टर ने बताया उसे 'साइलेंट किलर' बीमारी है

    इंग्लैंड. सर्दी, खांसी और बुखार...ये किसी भी बच्चे के लिए बहुत ही सामान्य बीमारी हैं। लेकिन 5 हफ्ते के बच्चे ओलिवर के लिए ये बीमारियां खतरा साबित हो गईं। ओलिवर के माता-पिता को लगा कि बच्चे को साधारण सर्दी खांसी है। लेकिन जब डॉक्टर ने ओलिवर की बीमारी की खुलासा किया तो उनके पैर के नीचे से जमीन खिसक गई। बच्चे को एक ऐसी बीमारी थी, जिसे साइलेंट किलर तक कहा जाता है। ओलिवर के माता-पिता ने कभी नहीं सोचा था कि वो जिसे सर्दी मान रहे थे, उसकी वजह से कुछ देर में मासूम को हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ेगा। वह साइलेंट किलर बीमारी, जिसके बारे में जानना है जरूरी...?

  • Know the symptoms and prevention of dengueKnow the symptoms and prevention of dengue
    Video Icon

    Health CapsuleSep 7, 2021, 3:11 PM IST

    सैकड़ों मौत और अस्पताल में खून के लिए जूझते लोग... जानें आखिर क्या हैं डेंगू के लक्षण?

    वीडियो डेस्क। बारिश के मौसम में अब सबसे ज्यादा डेंगू बुखार कहर बरपा रहा है। पानी में मच्छरों के पनपने के वजह से कई मौसमी बीमारियां फैल रहीं हैं। इन सब में सबसे ज्यादा खतरनाक है डेंगू। ऐसे में जरूरी है कि खुद की देखभाल करें। जैसे ही डेंगू जैसे लक्षण दिखाई दें तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर बेहतर इलाज लें। 

  • 300 stray dogs killing with poisoning the drug in Andhra Pradesh kpa300 stray dogs killing with poisoning the drug in Andhra Pradesh kpa

    NationalJul 31, 2021, 9:36 AM IST

    आंध्र प्रदेश में 300 आवारा कुत्तों को जहर देकर मारा, दफनाते वक्त हुआ खुलासा; कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश

    आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावारी जिले में 300 से अधिक आवारा कुत्तों को पकड़कर जहर देकर मारने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। इन कुत्तों को पंचायत के निर्देश पर पकड़ा गया था। कर्नाटक में भी ऐसा ही मामला सामने आ चुका है, जिसमें 46 बंदरों को जहर देकर मौत के घाट उतारा गया था।

  • Know from doctor demerits of daily consumed food items and how they weaken our immunity KPVKnow from doctor demerits of daily consumed food items and how they weaken our immunity KPV
    Video Icon

    Health CapsuleJun 12, 2021, 5:25 PM IST

    Immunity कमजोर करती है रोजाना खाई जाने वाली 5 चीजें, डॉक्टर से जानें शरीर को कैसे होता है नुकसान

    वीडियो डेस्क। कोरोना काल में  इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए लोग तरह-तरह की खाने की चीजों का सेवन कर रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाकर कोरोना वायरस जैसे संक्रमण से बचने में मदद मिल सकती है।आपको कुछ चीजों के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि कुछ चीजें इम्यून सिस्टम को कमजोर बना सकती हैं। हम आपको रोजाना खाई जाने वाली कुछ चीजों के बारे में बता रहे हैं जिनको आपको अधिक खाने से बचना चाहिए। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की डॉक्टर अंजु गुप्ता ने बताया कि   रोजाना खाई जाने वाली कुछ ऐसी चीजें हैं जिनसे हमारे शरीर को फायद तो नहीं नुकसान ज्यादा हो रहा है। जैसे चीनी की अधिक इस्तेमाल आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। अतिरिक्त चीनी वाले खाद्य पदार्थ आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकते हैं और ट्यूमर नेक्रोसिस अल्फा, सी-रिएक्टिव प्रोटीन और इंटरल्यूकिन-6 जैसे भड़काऊ प्रोटीन के उत्पादन को बढ़ा सकते हैं, ये सभी प्रतिरक्षा प्रणाली को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। जानिए ऐसी वो 4 और चीजें को बारे में। 

  • Action Against corona, update of action plans of various states for prevention of corona infection kpaAction Against corona, update of action plans of various states for prevention of corona infection kpa

    NationalMay 31, 2021, 9:00 AM IST

    छग में कोरोना में जाने गंवाने वाले पत्रकारों के परिजनों को मिलेगी 5 लाख की मदद,उत्तराखंड में 9 जून तक कर्फ्यू

    कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी लड़ाई के बीच 1 जून से कई राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो रही है। हालांकि इसमें अभी कुछ शर्तें लागू रहेंगी, ताकि संक्रमण फिर से लोगों की जिंदगियां संकट में नहीं डाल सके। देश का पूरा मई लॉकडाउन में बीता। चूंकि अब संक्रमण की रफ्तार कम हो चुकी है, इसलिए आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाने अनलॉक आवश्यक हो जाता है। इस बीच स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी लगातार फोकस बना हुआ है। ऑक्सीजन सप्लाई से लेकर दवाइयों और अन्य मेडिकल सुविधाओं में सुधार की कोशिशें लगातार जारी हैं। आइए जानते हैं संक्रमण को रोकने और गाइड लाइन का पालन कराने विभिन्न राज्य क्या कोशिशें कर रहे हैं, स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए क्या प्रयास हो रहे हैं...

  • Know the symptoms and prevention of Yellow Fungus KPVKnow the symptoms and prevention of Yellow Fungus KPV
    Video Icon

    Health CapsuleMay 26, 2021, 12:38 PM IST

    ब्लैक और व्हाइट से ज्यादा घातक 'येलो फंगस', जानें इसके लक्षण और बचने के उपाय


    वीडियो डेस्क। भारत में कोरोना वायरस के मामलों में बेशक कमी आने लगी है लेकिन लेकिन इस बीच नए फंगल संक्रमण पैदा हो गए हैं। फंगस के मामले बहुत घातक साबित हो रहे हैं। ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस के बाद येलो फंगस सामने आया है जो इन दोनों से ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है। येलो फंगस और भी खतरनाक है क्योंकि यह शरीर के भीतर उत्पन्न होता है, इसलिए इसका पता लगाने और उपचार में अक्सर देरी होती है। यह कई लोगों में अंग विफलता का कारण भी बन सकता है। हालांकि मृत्यु दर पर सटीक आंकड़ा देने के लिए विशेषज्ञों द्वारा अभी तक कोई स्पष्ट अध्ययन या डेटा नहीं है। वीडियो में जानिए इसके लक्षण और बचने के उपाय 


    ब्लैक फंगस क्या है
    अब तक ब्लैक फंगस के 10,000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। फंगस कुछ गंभीर मामलों में आंखों, नाक, चेहरे, फेफड़ों और यहां तक कि मस्तिष्क को भी प्रभावित करता है। विशेषज्ञों के अनुसार, ब्लैक फंगस के मामलों में वृद्धि के पीछे स्टेरॉयड का दुरुपयोग एक कारण हो सकता है। अगर समय पर इसका इलाज नहीं किया गया तो यह जानलेवा भी हो सकता है।

  • Action Against Corona, Corona infection prevention action plan update information of various states kpaAction Against Corona, Corona infection prevention action plan update information of various states kpa

    Coronavirus IndiaMay 24, 2021, 12:00 PM IST

    Action Against Corona: जम्मू-कश्मीर ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया, बिहार में 1 जून तक लॉकडाउन बढ़ा

    केंद्र और विभिन्न राज्यों के कड़ी पाबंदियों और लॉकडाउन के चलते कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर नियंत्रण में आने लगी है। हालांकि मौतें अभी भी 4000 के करीब हो रही हैं। इसे देखते हुए नई योजनाओं पर काम हो रहा है। इस बीच 1 जून से कई राज्यों में लॉकडाउन में ढील देने की शुरुआत हो सकती है, लेकिन इसमें भी कुछ पाबंदियां रहेंगी। कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन करने और दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई कर रही है। आइए जानते हैं संक्रमण को रोकने और गाइड लाइन का पालन कराने विभिन्न राज्य क्या कोशिशें कर रहे हैं...

  • Learn The Difference between  White Fungus and Black Fungus, Symptoms And Prevention KPZLearn The Difference between  White Fungus and Black Fungus, Symptoms And Prevention KPZ
    Video Icon

    Health CapsuleMay 22, 2021, 9:18 AM IST

    10 THINGS: ब्लैक फंगस के बाद आया व्हाइट फंगस, जानें दोनों में अंतर, लक्षण और बचाव

    कोरोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस ने लोगों की चिंता बड़ा दी है। लेकिन ये चिंता कम होती उससे पहले ही व्हाइट फंगस भी अपने पैर फैलाने लगा है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि व्हाइट फंगस ब्लैक फंगस से भी ज्यादा खतरनाक है। आइये 10 पॉइंट में समझते क्या है ब्लैक और व्हाइट फंगस साथ ही इसके लक्षण और बचाव।
     

  • Action Against Corona, Corona infection prevention action plan updates of various states kpaAction Against Corona, Corona infection prevention action plan updates of various states kpa

    NationalMay 20, 2021, 12:04 PM IST

    Action Against Corona: दिल्ली के LNJP, GTB और राजीव गांधी अस्पताल में बनेंगे ब्लैक फंगस के ट्रीटमेंट सेंटर

    कोरोना संक्रमण को रोकने विभिन्न राज्य अपने-अपने स्तर पर लॉकडाउन और अन्य सख्तियां बरत रहे हैं। इसके अलावा कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ FIR दर्ज की जा रही है, दुकानों को सील किया जा रहा है। दवाओं की कालाबाजारी करने वालों को जेल भेजा जा रहा है। आइए जानते हैं संक्रमण को रोकने और गाइड लाइन का पालन कराने विभिन्न राज्य क्या प्रयास कर रहे हैं। 

  • Symptoms and prevention of corona in children from newborn to 2 years Interview of Doctor Deepak Pandey kpnSymptoms and prevention of corona in children from newborn to 2 years Interview of Doctor Deepak Pandey kpn

    TrendingMay 19, 2021, 2:43 PM IST

    2 साल तक के बच्चों में कोरोना और साधारण सर्दी-खांसी में कैसे फर्क करें? जानें संक्रमण से जुड़े सवालों के जवाब

    देश में कोरोना की दूसरी लहर ने बच्चों को बहुत ज्यादा प्रभावित किया है। पहली लहर में बच्चों के संक्रमण की संख्या कम थी। नवजात से लेकर 2 साल तक बच्चों के माता-पिता बहुत ज्यादा डरे हुए हैं। उनके मन में कई सवाल भी हैं, जैसे- कोरोना और साधारण सर्दी-खांसी में कैसे फर्क करें? बच्चों में कोरोना के क्या लक्षण हैं? संक्रमण से बचाने के लिए उन्हें क्या करना चाहिए?

  • Action Against Corona, Update story of action plan and lockdown of various states to prevent corona infection kpaAction Against Corona, Update story of action plan and lockdown of various states to prevent corona infection kpa

    NationalMay 15, 2021, 9:08 AM IST

    Action Against Corona: यूपी में 24 मई तक बढ़ सकता है लॉकडाउन, बंगाल में 30 मई तक कड़ी पाबंदियां

    कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने केंद्र और राज्य सरकारों की कोशिशें असर दिखा रही हैं। संक्रमण की रफ्तार को जहां ब्रेक लगा है, वहीं रिकवरी भी बढ़ रही है। संक्रमण को पूरी तरह से काबू में करने कई राज्यों मे लॉकडाउन लगाया गया है। कई राज्यों में 17 मई को यह खत्म हो रहा है, लेकिन इसे बढ़ाया जाना तय है। आइए जानते हैं संक्रमण को रोकने और व्यवस्थाएं बनाए रखने कहां, क्या प्रयास किए जा रहे हैं...

  • Latest information on action plan of various states to prevent corona infection kpaLatest information on action plan of various states to prevent corona infection kpa

    NationalMay 11, 2021, 9:02 AM IST

    Action Against Corona: बिहार में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 'जाप' नेता पप्पू यादव गिरफ्तार

    कोरोना संक्रमण को रोकने केंद्र और विभिन्न राज्यों की कोशिशों का अच्छा परिणाम सामने आया है। देश के 28 राज्यों में लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू या अन्य तहर की पाबंदियां लगाकर संक्रमण की रफ्तार को रोकने की कोशिशें जारी हैं। इस कोशिश का नतीजा है कि देश में पहली बार संक्रमितों की संख्या से कहीं अधिक लोग ठीक हुए। पिछले 24 घंटे में 3.29 लाख लोग संक्रमित मिले, लेकिन इसी दौरान 3.55 लाख लोग ठीक हुए। आइए जानते हैं संक्रमण को रोकने कहां, क्या प्रयास किए जा रहे हैं

  • Black fungus corona black fungus corona epidemic corona symptoms corona kpnBlack fungus corona black fungus corona epidemic corona symptoms corona kpn

    TrendingMay 10, 2021, 1:19 PM IST

    कोरोना मरीजों के लिए ब्लैक फंगस हो सकता है घातक, लक्षण से लेकर बचाव तक जानें सबकुछ

    कोरोना महामारी की दूसरी लहर में ब्लैग फंगस इन्फेक्शन को लेकर लोगों के मन में कई सवाल हैं। जानकारी के अभाव में लोग डर भी रहे हैं कि ठीक होने के बाद ब्लैक फंगस के शिकार हो जाएंगे। आंखों की रोशनी चली जाएगी ? ऐसे में केंद्र ने इस बीमारी को लेकर एक गाइडलाइन जारी की है। ब्लैग फंगस के सबसे ज्यादा वे लोग शिकार बनते हैं जिनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। अगर सही तरीके से देखभाल नहीं की गई तो ये घातक साबित हो सकता है। ये आमतौर पर  साइनस या फेफड़ों को संक्रमित करता है।

  • Action Against corona, latest data on action plans and lockdowns of the Central and State Governments to prevent infection kpaAction Against corona, latest data on action plans and lockdowns of the Central and State Governments to prevent infection kpa

    NationalMay 7, 2021, 8:13 AM IST

    केरल में कल से तो कर्नाटक में 10 मई से लाॅकडाउन, गरीबों को फ्री राशन देगी विजयन सरकार

    देश में कोरोना का संकट अभी बना हुआ है। संक्रमण को ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचने से रोकने के लिए विभिन्न राज्य अब नई रणनीति बना रहे हैं। छोटे-छोटे कस्बों में लॉकडाउन लगा रहे हैं। वहीं, ग्रामीण अंचल में भी सख्ती बरत रहे हैं। यह एक हफ्ते के अंदर तीसरा दिन है, जब 4 लाख से ऊपर केस मिले हैं। वैज्ञानिकों ने कोरोना की तीसरी लहर के खतरे का अंदेशा जताया है, ऐसे में सरकारें कड़े कदम उठा रही हैं। आइए जानते हैं कि कोरोना को हराने केंद्र सरकार और विभिन्न राज्य क्या एक्शन ले रहे हैं।