Road Accidents  

(Search results - 19)
  • undefined

    NationalMar 18, 2021, 6:45 PM IST

    पिछले साल सड़क दुर्घटनाओं में कोरोना महामारी से ज्यादा लोगों की मौत हुई : नितिन गडकरी

    सड़क परिवहन मंत्री (Road Transport Minsister) नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने गुरुवार 18 मार्च को लोकसभा में बताया कि साल 2020 में जितने लोग कोरोना महामारी से नहीं मरे, उससे ज्यादा लोगों की मौत सड़क दुर्घटनाओं में हो गई।

  • undefined

    NationalJan 13, 2021, 10:12 AM IST

    कोहरे में कोहराम: पिछली ठंड में 33000 दुर्घटनाओं में 13000 लोगों ने गंवाई थी जान

    सामान्य मौसम की तुलना में सर्दियों में सड़क हादसों की संख्या बढ़ जाती है। इसके बाद नंबर आता है बारिश का। सर्दियों में उत्तर भारत से लेकर मध्य भारत तक कोहरे के कारण विजिबिलिट कम हो जाती है। ऐसे में स्पीड हादसों की वजह बन जाती है। वहीं, बारिश में फिसलनभर सड़कें भी दुर्घटनाओं का कारण बनती हैं। इस समय उत्तरभारत में कोहरा छाया हुआ है। आमतौर पर ठंड में चंद दूरी पर भी साफ दिख पाना मुश्किल होता है। सड़क परिवहन मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि 2019 में कम विजिबिलिटी के कारण 33 हजार 602 सड़क हादसे हुए थे। इनमें 13 हजार 405 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। 2018 में 28 हजार 26 हादसों में 11 हजार 841 जानें गई थीं। आगे देखिए आम दिनों में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं की तस्वीरें...

  • undefined

    HaryanaNov 20, 2020, 10:37 AM IST

    ALERT रहें: ठंड के मौसम में बढ़ जाते हैं सड़क हादसे, धुंध और झपकी बनती है वजह

    हिसार/प्रतापगढ़. सर्दियों में सड़क हादसों की संख्या बढ़ जाती है। इसकी वजह धुंध में सामने की गाड़ी नहीं दिखना और पर्याप्त नींद नहीं होने पर ड्राइवर को झपकी आना। वैसे भी सर्दियों के मौसम में झपकी आना आम बात है। पहली तस्वीर यूपी के प्रतापगढ़ की है। यहां शुक्रवार सुबह कुंडा कोतवाली क्षेत्र के चौंसा जिरगापुर में सड़क किनारे खड़े ट्रक से एक बोलेरो टकराने से 14 बरातियों की मौत हो गई। दूसरी तस्वीर हिसार के टोहना कस्बे के गांव समैण-कन्हड़ी में हुए हादसे की है। गुरुवार को यहां ट्रक की टक्कर से ऑटो पलटने से हिसार के गांव रावलवास कलां के एक परिवार के तीन लोगों सहित चार की मौत हो गई। ऑटो में 14 लोग सवार थे। ये लोग गांव रावलवास कलां से जिला जींद के गांव ढाबी टेक सिंह जा रहे थे। आगे पढ़ें इन्हीं दो हादसों के बारे में...

  • undefined

    PunjabNov 19, 2020, 11:08 AM IST

    ठंड के मौसम में रहें ALERT...नजर हटी कि दुर्घटना घटी, देखें कुछ हादसों की शॉकिंग तस्वीरें

    नवांशहर, पंजाब. अन्य मौसम की तुलना में आमतौर पर ठंड में सड़क हादसों की संख्या अधिक बढ़ जाती है। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम रह जाती है। वहीं, ड्राइविंग के दौरान एकाग्रचित्तता(Concentration) पर भी असर पड़ता है। इसलिए आवश्यक है कि इस सीजन में खासकर रात के समय गाड़ी की स्पीड कम रखें। यह एक्सीडेंट नवांशहर के गढ़शंकर रोड के निर्माणाधीन क्रॉसिंग पुल पर हुआ। ठंड की पहली धुंध में विजिबिलिटी महज 50 मीटर रह जाने से गाड़ियों को बैरिकेट्स नहीं दिखे। नतीजा, एक-एक करके 6 गाड़ियां टकरा गईं। हादसा बुधवार का है। इसमें 5 लोग घायल हो गए। आगे पढ़ें पिछले कुछ दिनों में देशभर में हुए अलग-अलग कारणों से विभिन्न हादसों के बारे में..

  • undefined

    MaharashtraNov 15, 2020, 10:04 AM IST

    दीपावली पर कुछ परिवारों में खुशियों के बजाय मौत ने दी दस्तक, हर तरफ उल्लास था, इनके घर में मातम

    सतारा, महाराष्ट्र. त्यौहार बेशुमार खुशियां लेकर आता है। दीपावली पर हर घर में उत्साह-खुशी के दीये जलाए जाते हैं, लेकिन इन सड़क हादसों ने इन घरों में दीये जलाए, लेकिन गम के। जरा-सी लापरवाही जिंदगी को कैसे मौत के मुंह में ले जाती है, ये सड़क हादसे इसी का उदाहरण है। पहली तस्वीर पुणे-बैंगलोर हाईवे पर शनिवार सुबह हुए भीषण सड़क  हादसे की है। दीपावली के ठीक दिन हुए इस हादसे में 5 लोगों की मौत हो गई थी। हादसा यहां उंब्रज के पास तारली पुल से एक मिनी बस के 50 फीट नीचे गिर जाने से हुआ था। हादसे में 7 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। मरने वालों में तीन पुरुष, एक महिला और एक तीन साल का बच्चा शामिल हैं। आगे पढ़ें इसी हादसे के अलावा कुछ अन्य हादसों के बारे में, जिन्होंने कुछ परिवारों में त्यौहार के पहले मातम पसार दिया...
     

  • undefined

    JharkhandOct 28, 2020, 5:43 PM IST

    खून से लथपथ सुनसान रोड पर पड़ा रहा, तड़पता रहा..जब तक मदद मिलती, नहीं बच पाई जान

    लापरवाही छोटी हो बड़ी, हादसे जिंदगी पर रहम नहीं खाते। ये दो अलग-अलग हादसे यह सबक देते हैं। झारखंड में हुए इन दो हादसों में 2 युवकों की जान चली गई। एक हादसे में युवक ने हेलमेट नहीं पहना था। दूसरे में बाइक की रफ्तार तेज होने से वो गड्ढे में जा गिरा।
     

  • undefined

    Madhya PradeshOct 1, 2020, 10:59 AM IST

    हॉर्न सुनकर जब हड़बड़ा उठी यह पटवारी...किसी ने सोचा भी नहीं होगा इतना भयानक मंजर दिखेगा

    शिवपुरी, मध्य प्रदेश. कहते हैं मौत का कोई भरोसा नहीं। वो कब और किस रास्ते से आ जाए, कोई नहीं जानता। फिर भी हमें सतर्क रहने की जरूरत है। यह हादसा यही बताता है। कहने को तो टैंकर के ड्राइवर ने इस महिला पटवारी को सतर्क करने हॉर्न बजाया था, लेकिन उसकी आवाज सुनकर वो हड़बड़ा गई और टैंकर के नीचे आ गई। गलती टैंकर के ड्राइवर की भी रही, जो स्टीयरिंग पर काबू नहीं रख सका। दिल दहलाने वाला यह एक्सीडेंट (shocking road accident) पोहरी-मोहना रोड पर अमरौदी गांव के पास पचीपुर में हुआ। 27 साल की ऋतु गुप्ता पुत्री मदनलाल गुप्ता बुधवार सुबह करीब 10 बजे अपनी स्कूटी से हल्का खरई डाबर के लिए निकली थीं। पोहरी से 20 किमी दूर उनकी स्कूटी सामने से आ रही बाइक से टकरा गई। इससे वे संतुलन खो बैठीं। इसी बीच पीछे से आ रहे टैंकर ने हॉर्न बजा दिया। इससे ऋतु ने घबराकर अपनी स्कूटी लेफ्ट के बजाय राइट साइड में मोड़ दी। इसके बाद टैंकर उनके ऊपर से निकल गया। आगे पढ़ें इसी घटना के बारे में...

  • undefined

    JharkhandAug 28, 2020, 3:33 PM IST

    दिल दहलाने वाले 2 एक्सीडेंट, 800 फीट गहरी खाई में गिरा ट्रक, ट्रैक्टर ने साइकिल सवार छात्रों को उड़ाया

    गुमला/देवघर. झारखंड में शुक्रवार को हुए दो अलग-अलग सड़क हादसों में 7 लोगों की मौत हो गई। पहला हादसा गुमला में बिशुनपुर स्थित गुरदरी थाना क्षेत्र में हुआ। यहां बॉक्साइट से लदा ट्रक बेकाबू होकर 800 फीट गहरी खाई में जा गिरा। हादसे में 5 लोगों की मौत हो गई। हालांकि मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने 2 युवतियों को बचा लिया। दूसरा हादसा देवघर में देवघर-सारठ पर कुंडा थाना क्षेत्र में हुआ। यहां शुक्रवार सुबह साइकिल से ट्यूशन पढ़ने निकले दो छात्रों को ट्रैक्टर ने कुचल दिया। जानिए दोनों हादसों के बारे में...
     

  • <p>उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में अमेरिका के बॉब्‍सन कॉलेज की स्टूडेंट सुदीक्षा भाटी की मौत के मामले में जिला प्रशासन का बड़ा बयान सामने आया है। बुलंदशहर के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने कहा है कि सुदीक्षा भाटी की मौत के संबंध में कुछ लोगों के द्वारा अफवाह फैलाई जा रही है कि उनकी मौत छेड़खानी से हुई है। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि वह अपने चाचा के साथ बाइक पर नहीं जा रही थीं, बल्कि सुदीक्षा अपने छोटे नाबालिग भाई के साथ बाइक पर बैठकर अपने मामा के घर जा रही थी।<br />
&nbsp;</p>

    Uttar PradeshAug 11, 2020, 2:04 PM IST

    सुदीक्षा भाटी एक्सीडेंट मामला: डीएम ने कहा छेड़खानी की फैलाई जा रही अफवाह, ASP बोले- ये एक्सीडेंट है

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में अमेरिका के बॉब्‍सन कॉलेज की स्टूडेंट सुदीक्षा भाटी की मौत के मामले में जिला प्रशासन का बड़ा बयान सामने आया है। बुलंदशहर के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने कहा है कि सुदीक्षा भाटी की मौत के संबंध में कुछ लोगों के द्वारा अफवाह फैलाई जा रही है कि उनकी मौत छेड़खानी से हुई है। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि वह अपने चाचा के साथ बाइक पर नहीं जा रही थीं, बल्कि सुदीक्षा अपने छोटे नाबालिग भाई के साथ बाइक पर बैठकर अपने मामा के घर जा रही थी।
     

  • undefined

    HaryanaAug 3, 2020, 8:22 PM IST

    रक्षाबंधन के दिन राखी बांधने से पहले भाई-बहन की मौत, सड़क पर खून से लथपथ पड़ी थीं दोनों की लाशें

    हरियाणा में रक्षाबंदन के दिन दो दिल दहला देने वाले हादसे की खबर सामने आई है। जहां एक में भाई-बहन और 10 माह के भांजे की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं दूसरे हादसे में पति-पत्नी और उनकी बेटी की मौत हो गई। 

  • undefined

    RajasthanJul 18, 2020, 9:40 AM IST

    मौत बनकर जब ऑटो के आगे कूद पड़ा बंदर..दुर्घटनाएं कैसे-कैसे हो जाती हैं, देखिए खतरनाक तस्वीरें

    सिरोही, राजस्थान.  नजर हटी-दुर्घटना घटी.. दुर्घटना से देर भली..ऐसे कई स्लोगन हैं, जो आपको गाड़ी चलाते वक्त सचेत करते हैं..फिर भी हादसे हो जाते हैं..ये तस्वीरें दिखाने का मकसद यही है कि आप ड्राइविंग के वक्त सजग रहें। कई हादसे जानवरों के कारण होते हैं। सड़क पर अचानक गाड़ी के सामने कोई जानवर आ जाता है और ड्राइवर स्टीयरिंग से कंट्रोल खो देता है। कई बार ड्राइवर की कोई गलती भी नहीं होती। हां, ऐसे हादसे रफ्तार को कंट्रोल करके रोके जा सकते हैं। यह तस्वीर शुक्रवार को सिरोही से 5 किमी दूर हुए हादसे की है। ऑटो और कैंपर के बीच हुई भीषण टक्कर में 6 लोगों की जान चली गई। हादसा एक बंदर के कारण हुआ था। ऑटो के सामने अचानक एक बंदर कूद पड़ा। उसे बचाने ऑटोवाले ने उसे साइड में रोकना चाहा, तभी तेज रफ्तार कैंपर उस पर आकर चढ़ गया। ऑटो में सवार सभी मृतक सिरोही से पाड़ीव जा रहे थे। वे सभी रिश्तेदार थे। कैंपर गोयली गांव से जावाल जा रही थी। सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि देश में हर साल 4.5 लाख सड़क हादसो में करीब 1.5 लाख लोग जान गंवाते हैं। आइए देखते हैं हादसों की कुछ तस्वीरें..ताकि गाड़ी चलाते समय आप सचेत रहें...

  • undefined

    JharkhandJul 4, 2020, 10:52 AM IST

    दुबई से भारत तक तो पहुंच गया युवक, लेकिन उसे लेने मानों दोस्त नहीं, मौत आई थी, ALERT करतीं तस्वीरें

    सिमडेगा, झारखंड. सड़क हादसों की ये तस्वीरें आपको अलर्ट करती हैं। ज्यादातर हादसे जाने-अनजाने होने वालीं मामूली गलतियों से होते हैं। ड्राइवर की नींद पूरी न होना, ड्राइविंग के समय हंसी-मजाक या स्पीड। पहली तस्वीर झारखंड के सिमडेगा की है। शुक्रवार देर रात यहां तेज स्पीड बलेनो कार पेड़ से जा टकराई। इस हादसे में दो युवकों की मौत हो गई। इनमें से एक युवक दुबई से लौटा था। दूसरा युवक उसे लेने रांची गया था। ये अघरमा पंचायत के पहार टोली गांव के रहने वाले थे। रास्ते में हंसी-मजाक करते हुए आ रहे थे कि कार बेकाबू होकर पेड़ में धंस गई।  'सेव लाइफ फाउंडेशन' के आंकड़े बताते हैं कि भारत में पिछले 10 सालों में हुए सड़क हादसों में 13 लाख 81 हजार 314 लोगों की मौत हुई। वहीं, 50 लाख 30 हजार 707 लोग गंभीर रूप से घायल हुए। भारत में हर 3.5 मिनट में एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मौत होती है। इसके अलावा परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि भारत में हर साल 4.5 लाख से अधिक सड़क हादसे होते हैं। इनमें करीब 1.5 लाख लोगों की मौत होती है। देखिए देश में हुए सड़क हादसों की कुछ तस्वीरें.. 

  • undefined

    Other StatesJun 29, 2020, 2:28 PM IST

    इतनी जोर से नाले से टकराया ट्रक कि सरिये केबिन तोड़कर ड्राइवर-क्लीनर को अपने साथ उड़ा ले गए

    रामगढ़, झारखंड. गाड़ी चलाते वक्त जाने-अनजाने होने वालीं गलतियां जिंदगी पर भारी पड़ती हैं। यह हादसा भी यही दिखाता है। यह ट्रक सरायकेला से आ रहा था। ट्रक में सरिये लदे हुए थे। सोमवार को चुटूपालू घाटी पर ड्राइवर स्टीयरिंग से संतुलन खो बैठा। ट्रक वहां एक पुलिया से टकरा गया। इस टक्कर में ट्रक को इतना जोरदार झटका लगा कि उसमें लदे सरिये केबिन को तोड़कर आर-पार हो गए। वे अपने साथ ड्राइवर और क्लीनर को भी धकेलते हुए बाहर ले गए। इस हादसे में एक व्यक्ति की सरियों के नीचे दबने से मौत हो गई। वहीं, दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। बताया जा रहा है कि ट्रक की रफ्तार तेज थी। 'सेव लाइफ फाउंडेशन' के आंकड़े बताते हैं कि भारत में पिछले 10 सालों में 13 लाख 81 हजार 314 लोगों की मौत हुई। वहीं, 50 लाख 30 हजार 707 लोग गंभीर रूप से घायल हुए। भारत में हर 3.5 मिनट में एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मौत होती है। इसके अलावा परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि भारत में हर साल 4.5 लाख से अधिक सड़क हादसे होते हैं। इनमें करीब 1.5 लाख लोगों की मौत होती है। देखिए देश में हुए सड़क हादसों की कुछ तस्वीरें..

  • undefined

    Other StatesJun 10, 2020, 2:22 PM IST

    ये भारत में हुईं सड़क दुर्घटनाओं की 16 तस्वीरें हैं, जिनसे भी यदि सबक नहीं लिया..तो फिर आपका भगवान ही मालिक!

    नई दिल्ली. भारत में अन्य देशों के मुकाबले सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। इसकी कई वजहें हैं, जैसे वाहनों की संख्या अधिक होना..नियमों-कायदों का पालन नहीं करना आदि। हादसों पर कंट्रोल करने केंद्र सरकार ने मोटन वाहन संशोधन विधेयक-2019 को मंजूरी दी थी। इसमें ट्रैफिक नियम तोड़ने पर कड़े जुर्माने का प्रावधान किया गया है। आपको बता दें कि सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं ड्राइवरों की लापरवाही या चूक से होती हैं। कुछ नियम-कायदों की अनदेखी के कारण। निर्धारित रफ्तार से ज्यादा तेज ड्राइविंग, शराब पीकर गाड़ी चलाना और अब ड्राइविंग के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल हादसों की वजह बनते हैं। एक बड़ी वजह गाड़ियों का समय पर मेंटेनेंस न कराना भी है। आइए देखते हैं देश में हुए कुछ भयंकर हादसों की तस्वीरें, ताकि हम सबक ले सकें..

  • undefined

    NationalMar 16, 2020, 8:28 PM IST

    6 महीने पहले सरकार ने लागू किया था ये नियम, हुआ था विरोध; लेकिन अब बच गई 10 हजार लोगों की जान

    भारत में पिछले 6 महीने में सड़क हादसों में मरने वाले लोगों की संख्या में कमी आई है। परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को राज्यसभा में बताया, सितंबर में संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद सड़क हादसों में मरने वालों की संख्या में 10% कमी आई है।