Son's Murder  

(Search results - 2)
  • undefined

    RajasthanJun 18, 2020, 9:27 AM IST

    कई महीनों से बेटे के कंकाल को संभालकर रखे हुए है पिता, थोड़ी देर के लिए हवा खिलाने टोकरी में निकालता है

    इसे कुछ लोग पागलपन कहेंगे, तो कुछ एक पिता की तकलीफ। बेटे के हत्यारे को पकड़वाने की उम्मीद में पिता उसके कंकाल को 21 महीने से संभालकर रखे हुए है। मामला सिरोही जिले के आबू रोड का है। युवक 27 अगस्त 2018 को घर से निकला था। लेकिन फिर वापस नहीं लौटा। 5 सितंबर 2018 को उसकी सड़ी-गली लाश मिली थी। पुलिस ने जांच-पड़ताल के बाद केस बंद कर दिया। माना गया कि युवक की मौत सामान्य घटना थी।

  • undefined

    Other StatesApr 7, 2020, 10:44 AM IST

    तीन साल से बीमार था 17 साल का बेटा..मां ने 'एकादशी' को चुना बेटे को 'मुक्ति' देने का दिन

    राजकोट, गुजरात. बीमार बेटे को दर्द से छुटकारा देने एक मां ने उसे जिंदगी से ही मुक्त कर दिया। यह चौंकाने वाला हत्याकांड शहर के कुवाड़वा रोड स्थित रणछोड़वाड़ी में हुआ। यहां रहने वाली एक महिला का 17 साल का बेटा पिछले 3 साल से गंभीर बीमार था। महिला ने उसका हर जगह इलाज कराया। जब कहीं से कुछ आस नजर नहीं आई, तो उसने बेटे को जिंदगी से ही मुक्ति देने का षड्यंत्र रच डाला। महिला ने बेटे का दुपट्टे से गला घोंट दिया। यही नहीं, महिला ने इसके लिए बकायदा शुभ मुहुर्त निकाला। इसके लिए एकादशी का दिन चुना। उसने बताया था कि बेटा पलंग से गिरकर मर गया है। हालांकि जब पुलिस ने पड़ताल की, तो महिला का झूठ पकड़ में आ गया। महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी दक्षा बेन रणछोड़वाड़ी की गली नम्बर 7 में रहती है। महिला ने सबको गुमराह करने बताया था कि उसका बेटा प्रिंस किशोर भाई डागरिया पलंग से गिर गया है। वो उसे हॉस्पिटल लेकर आई थी। लेकिन जब युवक का पोस्टमार्टम किया गया, तो सामने आया कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई है। पुलिस ने जब महिला पर सख्ती दिखाई, तो उसने सच उगल दिया।