Uttar Pradesh  

(Search results - 1243)
  • National8, Jul 2020, 8:00 AM

    हरियाणा के इस शहर में दिखा गैंगस्टर विकास दुबे!, यूपी STF ने हमीरपुर में करीबी अमर दुबे को किया ढेर

    गैंगस्टर विकास दुबे के मामले में उत्तर प्रदेश एसटीएफ को बुधवार को बड़ी कामयाबी मिली। एसटीएफ ने विकास दुबे के करीबी अमर दुबे को मुठभेड़ में मार गिराया। बताया जा रहा है कि मुठभेड़ उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में हुई।

  • Video Icon

    National7, Jul 2020, 6:35 PM

    गांव वालों के सिर पर पिस्टल तान अमिताभ की इस फिल्म का डायलॉग मारता था विकास दुबे

    कानपुर के चौबेपुर का डॉन विकास दुबे खुद को सबसे ज्यादा खूंखार और निर्दयी मानता था. यह कहना है गांव के एक बुजुर्ग का. बुजुर्ग बताते हैं कि 19 साल की उम्र में विकास दुबे आंखों में काला चश्मा लगाकर गांव से निकलता था और गांव वालों के सामने कहता था डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है. हालांकि,  यह डायलॉग लोकप्रिय हिंदी पिक्चर डॉन का है, जिसमें अभिनेता डॉन का किरदार निभाते हुए अमिताभ बच्चन पूरी फिल्म में कई बार इसे दोहराते हैं.

  • Video Icon

    Video7, Jul 2020, 6:25 PM

    दोस्त की बहन से इश्क कर बैठा था विकास दुबे, 8 जवानों के हत्यारे की लव स्टोरी भी है खतरनाक

    यूपी पुलिस के लिए इस समय मोस्ट वांटेड विकास दुबे ने भी कभी प्यार किया था। विकास दुबे को एक शातिर बदमाश राजू की बेहेन सोनू से प्यार होगया। विकास की मुलाकात राजू की बहन सोनू से उसके घर पर ही हुई। विकास और सोनू दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और दोनों के बीच रिश्ते बन गए। कुछ दिनों बाद विकास ने राजू खुल्लर की बहन सोनू से शादी कर ली। सोनू से शादी के बाद राजू विकास का साला हो गया, जिसके बाद वह विकास के सारे गैरकानूनी धंधे संभालने लगा। इन वर्षों में विकास में बेशुमार दौलत कमाई और वहा सारी संपत्ति पत्नी सोनू के नाम करता गया। जानिए क्या हुआ फिर आगे 

  • <p>घात लगाकर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के कारनामे से उसका पूरा परिवार व रिश्तेदार संकट में आ गए हैं। पुलिस विकास के बहनोई को थाने लाकर उससे पूछ्ताछ कर रही है। वहीं दूसरी ओर गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश जारी है। कानपुर देहात का रहने वाला विकास दुबे का भांजा ध्रुव त्रिपाठी पिता को तीन दिन से थाने में रखने के कारण काफी परेशान है। उसका कहना है कि अब वक्त आ गया है, मैं करूंगा अपने कंस मामा का वध। ध्रुव ने बताया कि सालों से मामा ने कोई संपर्क नहीं किया है। यह वह रिश्ता है जिसकी वजह से ध्रुव और उसके पूरे परिवार को सबसे ज्यादा दर्द और तकलीफ झेलनी पड़ी है।</p>

    Uttar Pradesh6, Jul 2020, 6:36 PM

    कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे के कारनामे से परेशान है उसका भांजा, बोला- मैं करूंगा कंस मामा का वध

    घात लगाकर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के कारनामे से उसका पूरा परिवार व रिश्तेदार संकट में आ गए हैं। पुलिस विकास के बहनोई को थाने लाकर उससे पूछ्ताछ कर रही है। वहीं दूसरी ओर गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश जारी है। कानपुर देहात का रहने वाला विकास दुबे का भांजा ध्रुव त्रिपाठी पिता को तीन दिन से थाने में रखने के कारण काफी परेशान है। उसका कहना है कि अब वक्त आ गया है, मैं करूंगा अपने कंस मामा का वध। ध्रुव ने बताया कि सालों से मामा ने कोई संपर्क नहीं किया है। यह वह रिश्ता है जिसकी वजह से ध्रुव और उसके पूरे परिवार को सबसे ज्यादा दर्द और तकलीफ झेलनी पड़ी है।

  • <p>उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे की कुंडली खंगाल रही पुलिस टीम के सामने चौंकाने वाले मामले सामने आ रहे हैं। मामले में विकास को पुलिस मूवमेंट की सूचना देने के मामले में अब तक SSP कानपुर दिनेश कुमार पी ने एसओ चौबेपुर समेत कुल चार लोगों को सस्पेंड कर दिया है। इस मामले में यह पता चला कि चौबेपुर थाने के ही कुछ लोगों ने विकास से मुखबिरी की थी, जिसके बाद गैंगस्टर ने अपने असलहाधारी गुर्गों के साथ घात लगाकर पुलिस टीम पर हमला किया था।</p>

    Uttar Pradesh6, Jul 2020, 4:58 PM

    लंबी होती जा रही विकास दुबे के मित्र पुलिसवालों की लिस्ट, अब तक एसओ समेत चार सस्पेंड; हो रही पूछताछ

    उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे की कुंडली खंगाल रही पुलिस टीम के सामने चौंकाने वाले मामले सामने आ रहे हैं। मामले में विकास को पुलिस मूवमेंट की सूचना देने के मामले में अब तक SSP कानपुर दिनेश कुमार पी ने एसओ चौबेपुर समेत कुल चार लोगों को सस्पेंड कर दिया है। इस मामले में यह पता चला कि चौबेपुर थाने के ही कुछ लोगों ने विकास से मुखबिरी की थी, जिसके बाद गैंगस्टर ने अपने असलहाधारी गुर्गों के साथ घात लगाकर पुलिस टीम पर हमला किया था।

  • Bihar6, Jul 2020, 3:09 PM

    गलवन घाटी में खूनखराबे पर रो रही ये चीनी महिला, बिहार की बनी है बहू, बोली-चीन-भारत से लड़ाई मायके-ससुराल जैसी

    यीन ह ने कहा कि वो भारतीय बहू बनकर खुश हैं। वो तीन साल के बेटे की मां हैं। भारत-चीन मित्रता की हिमायती हैं, इसीलिए बेटे का नाम मैत्रेय रखा है। यीन ह ने कहा कि चीन में पैदा हुई और शादी भारतीय से हुई। इंसानियत व शांति दोनों देशों का मूलमंत्र है। राजनीतिक व सामरिक कारणों से भले ही विवाद है। मुझे यहां खूब सम्मान मिल रहा है, चीन के लोग भी भारतीयों की इज्जत करते हैं। 

  • <p>बीते 3 जुलाई को कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। सीओ बिल्हौर देवेन्द्र मिश्रा की अगुवाई में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर अंधेरे में तीन ओर से अंधाधुंध गोलियां बरसाई गई थी। इसमें सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे घटना के बाद से फरार चल रहा है। उस पर अब प्रदेश सरकार ने ईनाम की राशि बढ़ाकर ढाई लाख रुपये कर दिया है। कानपुर के आईजी रेंज के अनुरोध के बाद सूबे के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने ये निर्णय लिया है। </p>

    Uttar Pradesh6, Jul 2020, 2:23 PM

    8 पुलिसकर्मियों के हत्यारोपी विकास दुबे पर अब ढाई लाख का ईनाम, लखनऊ में भी दर्ज हुआ रंगदारी का केस

    बीते 3 जुलाई को कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। सीओ बिल्हौर देवेन्द्र मिश्रा की अगुवाई में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर अंधेरे में तीन ओर से अंधाधुंध गोलियां बरसाई गई थी। इसमें सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे घटना के बाद से फरार चल रहा है। उस पर अब प्रदेश सरकार ने ईनाम की राशि बढ़ाकर ढाई लाख रुपये कर दिया है। कानपुर के आईजी रेंज के अनुरोध के बाद सूबे के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने ये निर्णय लिया है। 

  • <p>विकास की पत्नी ऋचा ही पति की जिंदगी बचाने के लिए पूरा चक्रव्यूह बनाती थी। उसका मोबाइल उनके गांव के घर में लगे सीसीटीवी कैमरों से कनेक्ट रहता था। जब भी पुलिस विकास को पकड़ती थी, वह इसकी क्लिप वायरल कर देती थी, ताकि पुलिस उसका एनकाउंटर न कर सके</p>

    Uttar Pradesh6, Jul 2020, 1:45 PM

    8 पुलिसवालों की मौत के गुनहगार गैंगेस्टर पति की जिंदगी बचाने पत्नी ने बनाया था चक्रव्यूह

    पुलिस जांच में पता चला है कि विकास की पत्नी ऋचा ही पति की जिंदगी बचाने के लिए पूरा चक्रव्यूह बनाती थी। उसका मोबाइल उनके गांव के घर में लगे सीसीटीवी कैमरों से कनेक्ट रहता था। जब भी पुलिस विकास को पकड़ती थी, वह इसकी क्लिप वायरल कर देती थी

  • <p>कानपुर के चौबेपुर थानाक्षेत्र के बिकरू गांव में 3 जुलाई की रात पुलिस टीम पर हुए हमले में बदमाशों ने सेमी ऑटोमेटिक हथियारों से पुलिस टीम पर गोलियां बरसाईं थीं। इस हमले में सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इस हमले में बिठूर एसओ कौशलेन्द्र प्रताप सिंह जख्मी हो गए थे। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत खतरे से बाहर है। बिठूर एसओ ने एनकाउंटर वाली रात की पूरी कहानी मीडिया से शेयर किया। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम केवल अपराधी विकास दुबे को गिरफ्तार करने के इरादे से गई थी, पुलिस उसका एनकाउंटर करने नहीं गई थी। इसलिए पुलिस के पास पर्याप्त असलहे भी नहीं थे।<br />
 </p>

    Uttar Pradesh6, Jul 2020, 12:41 PM

    घायल इंस्पेक्टर ने बताया एनकाउंटर वाली रात की हॉरर कहानी, कहा- अंधेरे में बरस रहीं थीं गोलियां

    कानपुर के चौबेपुर थानाक्षेत्र के बिकरू गांव में 3 जुलाई की रात पुलिस टीम पर हुए हमले में बदमाशों ने सेमी ऑटोमेटिक हथियारों से पुलिस टीम पर गोलियां बरसाईं थीं। इस हमले में सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इस हमले में बिठूर एसओ कौशलेन्द्र प्रताप सिंह जख्मी हो गए थे। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत खतरे से बाहर है। बिठूर एसओ ने एनकाउंटर वाली रात की पूरी कहानी मीडिया से शेयर किया। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम केवल अपराधी विकास दुबे को गिरफ्तार करने के इरादे से गई थी, पुलिस उसका एनकाउंटर करने नहीं गई थी। इसलिए पुलिस के पास पर्याप्त असलहे भी नहीं थे।
     

  • <p>कानपुर के चौबेपु​र थाना क्षेत्र में बीती 3 जुलाई की देर रात बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे के साथ हुई मुठभेड़ में डीएसपी देवेन्द्र मिश्रा समेत 8 पुलिस वाले मौके पर ही शहीद हो गए थे। पुलिस टीम का नेतृत्व देवेन्द्र मिश्रा ही कर रहे थे। बीते शनिवार को देवेन्द्र मिश्रा के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि देने के बाद रविवार को बेटियों ने उनकी अस्थियों को गंगा मे विसर्जित किया। शहीद DSP की बड़ी बेटी वैष्णवी ने शुरू से ही डॉक्टर बनने का सपना देखा था, लेकिन पिता की मौत के बाद उसने अब पुलिस अफसर बनकर अपराधियों को ठिकाने लगाने का संकल्प किया है।</p>

    Uttar Pradesh6, Jul 2020, 10:54 AM

    पुलिस अफसर बन अपराधियों को सबक सिखाना चाहती है शहीद DSP की बेटी, छोड़ा डॉक्टर बनने का सपना

    कानपुर के चौबेपु​र थाना क्षेत्र में बीती 3 जुलाई की देर रात बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे के साथ हुई मुठभेड़ में डीएसपी देवेन्द्र मिश्रा समेत 8 पुलिस वाले मौके पर ही शहीद हो गए थे। पुलिस टीम का नेतृत्व देवेन्द्र मिश्रा ही कर रहे थे। बीते शनिवार को देवेन्द्र मिश्रा के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि देने के बाद रविवार को बेटियों ने उनकी अस्थियों को गंगा मे विसर्जित किया। शहीद DSP की बड़ी बेटी वैष्णवी ने शुरू से ही डॉक्टर बनने का सपना देखा था, लेकिन पिता की मौत के बाद उसने अब पुलिस अफसर बनकर अपराधियों को ठिकाने लगाने का संकल्प किया है।

  • <p>Students</p>

    Careers6, Jul 2020, 10:15 AM

    बड़ी खबर : आज से यूपी में खुल जाएंगे सभी स्कूल, पैरेंट्स को फीस जमा करने का भी फरमान

    देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में आज यानी 6 जुलाई से स्कूल खोल दिए गए हैं।

  • <p><strong>कानपुर (Uttar Pradesh) । </strong>आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे पर एक लाख इनाम घोषित कर दिया गया है। इतना ही नहीं उसके 18 गुर्गों पर भी 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है, जबकि 500 लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। आज आईजी रेंज मोहित अग्रवाल तीसरी बार आज फिर कानपुर के बिकरू गांव पहुंचे। उन्होंने गैंगेस्टर विकास दुबे के जमींदोज किलानुमा मकान का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने खुलासा किया कि विकास दुबे के घर में बंकर था, जिसमें वह हथियार छुपाकर रखता था। आईजी ने कहा कि जिस तरह कहा जाता है कि लोग सामान दीवारों में चुनवा कर रखते हैं, कुछ उसी प्रकार विकास दुबे ने दीवारों में असलहा-बारूद दबाकर रखा था।<br />
 </p>

    Uttar Pradesh5, Jul 2020, 7:57 PM

    कानपुर एनकाउंटरः विकास दुबे ने अपने घर की दीवार में चुनवाकर रखा था असलहा और बारूद

    कानपुर (Uttar Pradesh) । आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे पर एक लाख इनाम घोषित कर दिया गया है। इतना ही नहीं उसके 18 गुर्गों पर भी 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है, जबकि 500 लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। आज आईजी रेंज मोहित अग्रवाल तीसरी बार आज फिर कानपुर के बिकरू गांव पहुंचे। उन्होंने गैंगेस्टर विकास दुबे के जमींदोज किलानुमा मकान का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने खुलासा किया कि विकास दुबे के घर में बंकर था, जिसमें वह हथियार छुपाकर रखता था। आईजी ने कहा कि जिस तरह कहा जाता है कि लोग सामान दीवारों में चुनवा कर रखते हैं, कुछ उसी प्रकार विकास दुबे ने दीवारों में असलहा-बारूद दबाकर रखा था।
     

  • Careers5, Jul 2020, 7:15 PM

    UPPSC कैंडिटेट्स के लिए खुशखबरी: 2018 PCS मेंस में सफल कैंडिडेट्स के इंटरव्यू की तारीख जारी

    पीसीएस मेंस परीक्षा का रिजल्ट 23 जून को घोषित हुआ था। 984 पदों के सापेक्ष इंटरव्यू के लिए 2670 अभ्यर्थी चुने गए हैं। ये एग्जाम 18 से 22 अक्टूबर 2019 तक प्रयागराज और लखनऊ के परीक्षा केंद्रों पर कराए गए थे।

  • <p><strong>कानपुर (Uttar Pradesh) ।  </strong>आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे पर इनाम 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया है। इतना ही नहीं उसके 18 गुर्गों पर भी 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है, जबकि 500 लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। पुलिस के आलाधिकारी तक कैंप कर रहे हैं। आज आईजी रेंज मोहित अग्रवाल तीसरी बार आज फिर कानपुर के बिकरू गांव पहुंचे। उन्होंने गैंगेस्टर विकास दुबे के जमींदोज किलानुमा मकान का निरीक्षण किया। आपरेशन विकास की गतिविधियों के बारें में उन्होंने बताया कि राजस्थान, हरियाणा और बिहार में भी पुलिस टीमें बनाकर कांबिंग शुरू हो गई है। इन सभी प्रदेशों के आईजी और डीआईजी सीधे संपर्क में हैं। जल्द ही विकास पुलिस के शिकंजे में होगा। यह किसी आतंकी घटना से कम नहीं है। विकास के साथ वही सुलूक होगा जो एक आतंकवादी के साथ होता है।</p>

    Uttar Pradesh5, Jul 2020, 5:05 PM

    विकास दुबे के साथ होगा आतंकियों जैसा सलूक, आईजी ने कहा- कानपुर में जो हुआ वो आतंकी घटना से कम नहीं

    कानपुर (Uttar Pradesh) ।  आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे पर इनाम 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया है। इतना ही नहीं उसके 18 गुर्गों पर भी 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है, जबकि 500 लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। पुलिस के आलाधिकारी तक कैंप कर रहे हैं। आज आईजी रेंज मोहित अग्रवाल तीसरी बार आज फिर कानपुर के बिकरू गांव पहुंचे। उन्होंने गैंगेस्टर विकास दुबे के जमींदोज किलानुमा मकान का निरीक्षण किया। आपरेशन विकास की गतिविधियों के बारें में उन्होंने बताया कि राजस्थान, हरियाणा और बिहार में भी पुलिस टीमें बनाकर कांबिंग शुरू हो गई है। इन सभी प्रदेशों के आईजी और डीआईजी सीधे संपर्क में हैं। जल्द ही विकास पुलिस के शिकंजे में होगा। यह किसी आतंकी घटना से कम नहीं है। विकास के साथ वही सुलूक होगा जो एक आतंकवादी के साथ होता है।

  • <p><strong>कानपुर ( Uttar Pradesh) । </strong> आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे पर इनाम 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया है। इतना ही नहीं उसके 18 गुर्गों पर भी 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है, जबकि 500 लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। पुलिस के आलाधिकारी तक कैंप कर रहे हैं। विकास को संभावित छह राज्यों में पुलिस खोज रही है। वही, पुलिस के कार्रवाई को देखते हुए डरे सहमे गांव के लोग अपने घरों में ताला लगाकर चुपचाप निकल जा रहे हैं। दहशत का आलम यह है कि एक भी युवा गांव में नहीं है। ज्यादातर युवा सीधे विकास दुबे के घर से किसी न किसी माध्यम से जुड़े ही थे। बिकरू कांड के बाद परिजनों ने उन्हें रिश्तेदार या फिर किसी नजदीकी के यहां भेज दिया है। दो दिन से गांव में एक भी युवा नहीं दिखे।</p>

    Uttar Pradesh5, Jul 2020, 4:43 PM

    8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद खौफ के साए में विकास दुबे का गांव, घर छोड़कर भागे युवा; घरों पर लगे ताले

    कानपुर ( Uttar Pradesh) ।  आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाले विकास दुबे पर इनाम 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया है। इतना ही नहीं उसके 18 गुर्गों पर भी 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है, जबकि 500 लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए गए हैं। पुलिस के आलाधिकारी तक कैंप कर रहे हैं। विकास को संभावित छह राज्यों में पुलिस खोज रही है। वही, पुलिस के कार्रवाई को देखते हुए डरे सहमे गांव के लोग अपने घरों में ताला लगाकर चुपचाप निकल जा रहे हैं। दहशत का आलम यह है कि एक भी युवा गांव में नहीं है। ज्यादातर युवा सीधे विकास दुबे के घर से किसी न किसी माध्यम से जुड़े ही थे। बिकरू कांड के बाद परिजनों ने उन्हें रिश्तेदार या फिर किसी नजदीकी के यहां भेज दिया है। दो दिन से गांव में एक भी युवा नहीं दिखे।