Asianet News HindiAsianet News Hindi

कहां से चला फर्जी मैसेज, एक्सपर्ट बोले- फेसबुक से पता लगाना आसान, वाट्सऐप से मुश्किल

वीडियो डेस्क।  भारत अब सोशल मीडिया कंपनियों को नियंत्रण में रखने के लिए नए नियम लाने की तैयारी कर रहा है। सोशल मीडिया के किसी प्लेटफॉर्म पर कोई फर्जी संदेश किसने और कब चलाया, सरकार यह जान सकेगी। इन प्लेटफॉर्म पर और इंटरनेट के जरिए वीडियो सामग्री का प्रचार कर रहे ओटीटी प्लेटफॉर्म की सामग्री पर तीन स्तर पर निगरानी रखी जाएगी।  नए नियमों के तहत आदेश देने पर 36 घंटे के अंदर विवादित कंटेंट को हटाना होगा। जांच या साइबर सिक्योरिटी घटना में आग्रह के 72 घंटे के अंदर जानकारी देनी होगी। अश्लील कंटेंट से जुड़ी पोस्ट को शिकायत के एक दिन के अंदर हटाना होगा। सरकार ने फेसबुक और वॉट्सअप से ऐसे मैसेज को शेयर करने वालों की जानकारी मांगी है। ऐसा करने से कितना फायदा होगा और साइबर क्राइम करने से कितनी सजा हो सकती है। हमारे एक्सपर्ट ने इस सभी सवालों के जवाब दिए। देखिए वीडियो
 

Feb 26, 2021, 6:54 PM IST

वीडियो डेस्क।  भारत अब सोशल मीडिया कंपनियों को नियंत्रण में रखने के लिए नए नियम लाने की तैयारी कर रहा है। सोशल मीडिया के किसी प्लेटफॉर्म पर कोई फर्जी संदेश किसने और कब चलाया, सरकार यह जान सकेगी। इन प्लेटफॉर्म पर और इंटरनेट के जरिए वीडियो सामग्री का प्रचार कर रहे ओटीटी प्लेटफॉर्म की सामग्री पर तीन स्तर पर निगरानी रखी जाएगी।  नए नियमों के तहत आदेश देने पर 36 घंटे के अंदर विवादित कंटेंट को हटाना होगा। जांच या साइबर सिक्योरिटी घटना में आग्रह के 72 घंटे के अंदर जानकारी देनी होगी। अश्लील कंटेंट से जुड़ी पोस्ट को शिकायत के एक दिन के अंदर हटाना होगा। सरकार ने फेसबुक और वॉट्सअप से ऐसे मैसेज को शेयर करने वालों की जानकारी मांगी है। ऐसा करने से कितना फायदा होगा और साइबर क्राइम करने से कितनी सजा हो सकती है। हमारे एक्सपर्ट ने इस सभी सवालों के जवाब दिए। देखिए वीडियो
 

Video Top Stories