ढाई किलोमीटर लंबी सुरंग में ढूढी जा रहीं जिदंगी, कैसे देवदूत बने हैं सेना के जवान, देखें वीडियो

वीडियो डेस्क। उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही हुई है। अब तक इस आपदा में 202 लोग लापता हैं। जबकि अब तक 19 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। प्रशासन राहत-बचाव कार्यों में जुटा है। इसमें आईटीबीपी, एनडीआरएफ, सेना और कई केंद्र-राज्य की एजेंसियां रेस्क्यू अभियान चला रही हैं। 

| Feb 08 2021, 06:35 PM IST

Share this Video
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

वीडियो डेस्क। उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही हुई है। अब तक इस आपदा में 202 लोग लापता हैं। जबकि अब तक 19 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। प्रशासन राहत-बचाव कार्यों में जुटा है। इसमें आईटीबीपी, एनडीआरएफ, सेना और कई केंद्र-राज्य की एजेंसियां रेस्क्यू अभियान चला रही हैं। आईटीबीपी अफसरों के मुताबिक, टनलों को साफ करने में कई दिक्कतें आ रही हैं। मलबे में पानी है, इसलिए ऐसी परेशानी आ रही है। इतना ही नहीं, टनल में एक बार में एक ही मशीन अंदर जा पा रही है।  टनल को साफ कर रेस्क्यू अभियान में आईटीबीपी, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और आर्मी इस रेस्क्यू अभियान में जुटी हैं। वहीं, आर्मी अब इसे मॉनिटर कर रही है। अफसरों के मुताबिक, इस टनल में कई गाड़ियां हैं। अधिकारियों को उम्मीद है कि इस टनल में लोग सुरक्षित होंगे। उधर, तपोवन की टनल में 37 लोगों के फंसे होने की जानकारी मिली है। अब तक टनल में करीब सौ मीटर तक सफाई हो चुकी है। यह सुरंग 2.5 किमी लंबी है। 20 घंटे में सिर्फ टीमें 100 मीटर हिस्सा साफ हो पाया है।