Asianet News HindiAsianet News Hindi

VIDEO: कोरोना पर PM MODI का संबोधन, बोले चुनौती बड़ी लेकिन हिम्मत से जीतेंग, लॉकडाउन पर कही ये बात

वीडियो डेस्क। देश में कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, कोरोना के खिलाफ देश आज फिर एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। कुछ हफ्ते पहले तक स्थिति संभली हुई थी। अब यह दूसरी लहर तूफान बनकर आ गई। जो पीड़ा आप लोगों ने सही है, जो पीड़ा सह रहे हैं, उसका मुझे पूरा एहसास है। जिन लोगों ने बीते दिनों में अपनों को खोया है, मैं सभी देशवासियोंकी तरफ से उनके प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। परिवार के एक सदस्य के रूप में मैं आपके दुख में शामिल हूं। चुनौती बड़ी है, लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प, हौसले और तैयारी के साथ इसे पार करना है। देश के सभी डॉक्टरों, मेडिकल-पैरा मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मी, एंबुलेंस के ड्राइवर, सुरक्षाबल, पुलिसकर्मी सभी की सराहना करूंगा। आपने कोरोना की पहली लहर में भी अपना जीवन दांव पर लगाया था। आज आप फिर इस संकट में अपने परिवार, सुख और चिंताएं छोड़कर दूसरों का जीवन बचाने में दिन-रात जुटे हुए हैं। हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम सही निर्णय लें, तभी हम विजय हासिल कर सकते हैं। इसी मंत्र को सामने रखकर आज देश दिन-रात काम कर रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि बिना काम के घर से बाहर नहीं निकलें। देश में डर का माहौल कम करें। लोग भ्रम का माहौल पैदा नहीं करें। अफवाह और भ्रम में ना आएं। लॉकडाउन से बचने के लिए हर राज्य काम करें। माइक्रों मैनेजमेंट पर फोकस करें। राज्य लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में लें। दवाई भी कड़ाई भी इस मंत्र का पालन करें।

वीडियो डेस्क। देश में कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, कोरोना के खिलाफ देश आज फिर एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। कुछ हफ्ते पहले तक स्थिति संभली हुई थी। अब यह दूसरी लहर तूफान बनकर आ गई। जो पीड़ा आप लोगों ने सही है, जो पीड़ा सह रहे हैं, उसका मुझे पूरा एहसास है। जिन लोगों ने बीते दिनों में अपनों को खोया है, मैं सभी देशवासियोंकी तरफ से उनके प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। परिवार के एक सदस्य के रूप में मैं आपके दुख में शामिल हूं। चुनौती बड़ी है, लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प, हौसले और तैयारी के साथ इसे पार करना है। देश के सभी डॉक्टरों, मेडिकल-पैरा मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मी, एंबुलेंस के ड्राइवर, सुरक्षाबल, पुलिसकर्मी सभी की सराहना करूंगा। आपने कोरोना की पहली लहर में भी अपना जीवन दांव पर लगाया था। आज आप फिर इस संकट में अपने परिवार, सुख और चिंताएं छोड़कर दूसरों का जीवन बचाने में दिन-रात जुटे हुए हैं। हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम सही निर्णय लें, तभी हम विजय हासिल कर सकते हैं। इसी मंत्र को सामने रखकर आज देश दिन-रात काम कर रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि बिना काम के घर से बाहर नहीं निकलें। देश में डर का माहौल कम करें। लोग भ्रम का माहौल पैदा नहीं करें। अफवाह और भ्रम में ना आएं। लॉकडाउन से बचने के लिए हर राज्य काम करें। माइक्रों मैनेजमेंट पर फोकस करें। राज्य लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में लें। दवाई भी कड़ाई भी इस मंत्र का पालन करें।

Video Top Stories