Education

मदर्स डे मई के दूसरे सप्ताह में क्यों मनाते हैं, जानिए इतिहास, महत्व

Image credits: social media

मदर्स डे 2024 डेट (Mothers Day 2024 date)

भारत सहित कई देशों में, मदर्स डे हर साल मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है और इस साल मदर्स डे 12 मई, 2024 को मनाया जा रहा है।

Image credits: social media

मदर्स डे का इतिहास (Mothers Day history)

मदर्स डे की शुरुआत अमेरिकी सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना जार्विस ने किया था। 1905 में अपनी मां की मृत्यु के बाद, जार्विस ने माताओं के सम्मान में एक दिन तय करने के लिए अभियान चलाया।

Image credits: social media

मदर्स डे मनाने का उद्देश्य (Why celebrate Mother's Day, purpose)

जार्विस लोगों के लिए अपनी माताओं के प्रति अपना प्यार और आभार व्यक्त करने के लिए एक दिन बनाना चाहती थी जो मदर्स डे के रूप में सेलिब्रेट किया जाने लगा।

Image credits: social media

मई के दूसरे सप्ताह में क्यों मनाते हैं मदर्स डे

1914 में राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने अमेरिका में मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे के रूप में मनाने पर मुहर लगाई। तब से मदर्स डे दुनिया भर में मई के दूसरे रविवार को मनाते हैं।

Image credits: social media

मदर्स डे सेलिब्रेशन (Mother's Day Celebration 2024)

मदर्स डे मां द्वारा अपने बच्चे को हर दिन दिए जाने वाले निस्वार्थ प्यार, देखभाल के लिए आभार, सम्मान व्यक्त करने का दिन है। इस दिन बच्चे अपनी मां स्पेशल फील कराते हैं।

Image credits: social media

मदर्स डे गिफ्ट (Mother's Day Gift)

अपनी मां को खास महसूस कराने के लिए बच्चे अपनी मां को गिफ्ट में फूल, कार्ड, चॉकलेट, ज्वेलरी या अन्य पर्सनल चीजें देते हैं। उनके लिए सरप्राइज प्लान करते हैं, साथ समय बिताते हैं।

Image credits: social media

मदर्स डे का महत्व (Importance of Mother's Day)

मदर्स डे अपने बच्चों के मूल्यों, चरित्र और समग्र विकास को आकार देने में मां की भूमिका को महत्व देता है। मदर्स डे एक मां और उसके बच्चों के बीच के गहरे बंधन को दिखाता है।

Image credits: social media