World news

5000 नेताओं की सूली पर लटका 'तेहरान का कसाई' बन गए थे इब्राहिम रईसी

Image credits: Getty

इब्राहिम रईसी का निधन

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत अररबैजान से लौटते वक्त हेलिकॉप्टर क्रैश में हो गई है। 63 साल के रईसी के साथ विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन समेत 9 लोग थे।

Image credits: Freepik

इब्राहिम रईसी कौन थे

कट्टरपंथी नेता इब्राहिम रईसी 2021 में ईरान के राष्ट्रपति बने थे। राष्ट्रपति बनने से पहले वे काफी चर्चा में रहे हैं। उन्होंने सुप्रीम लीडर अयातुल्ला अली खामनेई का करीबी माना जाता था

Image credits: Getty

यातुल्ला अली खामनेई के उत्तराधिकारी

माना जाता था कि राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ही खामनेई के उत्तराधिकारी बन सकते हैं, जो ईरान का सबसे सर्वोच्च पद होता है।

Image credits: Getty

इब्राहिम रईसी पर अमेरिकी बैन

इब्राहिम रईसी ईरान के पहले ऐसे राष्ट्रपति थे, जिन पर पद संभालने से पहले ही अमेरिका ने प्रतिबंध लगा दिया था। 5 हजार लोगों को फांसी दिलवाकर वह काफी चर्चा में भी रहे थे।

Image credits: pinterest

5 हजार राजनेताओं को फांसी

इब्राहिम रईसी 1988 में सरकारी वकील थे। उन खुफिया ट्रिब्यूनल्स में भी शामिल थे, जिन्हें 'डेथ कमेटी' कहा जाता था। तब उन्होंने 5,000 राजनेताओं को देशद्रोही साबित कर फांसी दिलाई थी।

Image credits: freepik

'बूचर ऑफ तेहरान'

ईरान-इराक युद्ध के बाद इन राजनेताओं को देशद्रोह के आरोप में सूली पर चढ़ा दिया गया था। इसके बाद अमेरिका ने रईसी पर बैन लगाया और उन्हें 'बूचर ऑफ तेहरान' के नाम दिया गया।

Image credits: social media

क्या फांसी चढ़ने वालों की संख्या 30 हजार

एमनेस्टी के अनुसार, ईरानी की कमेटी ने 5 हजार लोगों को फांसी पर चढ़वाया था, जबकि मानवाधिकार संगठन उनकी संख्या करीब 30,000 बताता है।

Image credits: Getty