Asianet News HindiAsianet News Hindi

शशिधर जगदीशन होंगे HDFC बैंक के अगले सीईओ, RBI ने दी मंजूरी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने  HDFC बैंक के अगले मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) और मैनेजिंग डायरेक्टर के तौर पर शशिधर जगदीशन के नाम को मंजूरी दे दी है। 

HDFC Bank appoints Sashidhar Jagdishan new ceo, approved by RBI to replace Adity Puri MJA
Author
New Delhi, First Published Aug 4, 2020, 2:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने  HDFC बैंक के अगले मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) और मैनेजिंग डायरेक्टर के तौर पर शशिधर जगदीशन के नाम को मंजूरी दे दी है। जानकारी के मुताबिक, प्राइवेट सेक्टर के इस सबसे बड़े बैंक को सोमवार रात को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का मंजूरी पत्र मिला है। शशिधर जगदीशन आदित्य पुरी की जगह लेंगे। फिलहाल, शशिधर जगदीशन एचडीएफसी बैंक में अतिरिक्त निदेशक की जिम्मेदारी निभाने के साथ वित्त और मानव संसाधन के प्रमुख हैं। वे एचडीएफसी बैंक के साथ साल 1996 से ही जुड़े हैं।

अक्टूबर में आदित्य पुरी होंगे रिटायर
HDFC बैंक के वर्तमान सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर 20 अक्टूबर को रिटायर हो जाएंगे। इसके बारे में पहले ही जानकारी दे दी गई थी कि अक्टूबर में पुरी 70 साल के हो जाएंगे और इसके बाद रिटायरमेंट ले लेंगे। HDFC को प्राइवेट सेक्टर का सबसे बड़ा बैंक बनाने का श्रेय आदित्य पुरी को ही जाता है। उन्होंने 25 वर्षों तक बैंक की अगुआई की है। पिछले वित्त वर्ष में आदित्य पुरी सबसे ज्यादा सैलरी और भत्ते पने वाले बैंकर रहे हैं। 

कैंडिडेट के नाम प्राथमिकता क्रम में दिए गए
बता दें कि निजी बैंक में भी नए सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर की नियुक्ति के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से मंजूरी लेनी पड़ती है और इसके लिए कैंडिडेट के नाम भेजने पड़ते हैं। जानकारी के मुताबिक, बैंक ने आंतरिक कैंडिडेट के रूप में शशिधर जगदीशन और कैजाद भरूचा और सिटी कमर्शियल बैंक के सीईओ सुनील गर्ग का नाम भेजा था। ये नाम प्राथमिकता क्रम से दिए गए थे। इसके बाद रिजर्व बैंक ने जगदीशन के नाम पर मुहर लगाई। अब बैंक इसके बारे शेयर बाजार को सूचना देगा।

पुरी ने शेयरहोल्डर्स को दिया भरोसा
आदित्य पुरी ने हाल ही में सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर के तौर पर अपनी आंतिम सालाना बैठक (एजीएम) में शेयरहोल्डर्स को भरोसा दिया था। इस वर्चुअल एजीएम में आदित्य पुरी ने कहा था कि वे बैंक से पिछले 25 वर्षों से जुड़े रहे हैं और हमेशा शेयरहोल्डर्स के हितों का ख्याल रखते रहे हैं। पुरी ने कहा कि बैंक का कारोबार बेहतर तरीके से जारी रहेगा। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios