Asianet News HindiAsianet News Hindi

National Statistics Day 2022: आंकड़ों की रखते हैं समझ तो स्टेटिस्टिक्स में बना सकते हैं करियर

स्टेटिस्टिक्स गणित का ही पार्ट है। स्टेटिस्टिक्स आर्थिक योजनाओं और नीतियों को बनाने में मदद करती है। राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस पर जानिए देश में सांख्यिकी के कौन-कौन से कोर्स उपलब्ध हैं और कहां से पढ़ाई कर सकते हैं।

National Statistics Day 2022 career in Statistics know about courses stb
Author
New Delhi, First Published Jun 29, 2022, 2:43 PM IST

करियर डेस्क : आज यानी 29 जून को देश राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस (National Statistics Day 2022) मना रहा है। महान वैज्ञानिक और सांख्यिकीविद प्रशांत चंद्र महालनोबिस (PC Mahalanobis) की जयंती पर हर साल यह दिवस मनाया जाता  है। महालनोबिस ने ही 17 दिसंबर, 1931 को देश के पहले भारतीय सांख्यिकी संस्थान की स्थापना की थी। यह देश में स्टैटिक्स यानी सांख्यिकी की पढ़ाई के लिए सर्वश्रेष्ठ संस्थान है। अगर आप को भी आंकड़ों की समझ है और स्टैटिक्स में करियर की तलाश कर रहे हैं तो आपके लिए यहां अवसर ही अवसर हैं। कई ऐसे कोर्स हैं जिन्हें कर आप शानदार सैलरी पैकेज पा सकते हैं।  

कहां हैं अवसर
गणितीय तरीके से डेटा प्रेजेंटेशन, एनालिसिस, इंटरप्रेटेशन को स्टेटिस्टिक्स कहा जाता है। आज के समय में हर दिन हम आंकड़ों से जुड़े काम करते रहते हैं। इसका इस्तेमाल काफी बढ़ गया है। मार्केटिंग हो या फिर एग्रीकल्चर, फार्मा या मीडिया हर क्षेत्र में इसकी डिमांड और उपयोगिता है। ऐसे में आज हर फील्ड में डेटा एनालिस्ट के पदों पर सांख्यिकी यानी स्टेटिस्टिक्स की समझ रखने वालों की जरुरत हैं। उन्हें शानदार सैलरी तो मिलती है साथ ही सम्मान भी मिलता है।

स्टेटिस्टिक्स में कोर्स और योग्यता 
बीए सांख्यिकी (BA in Statistics)- यह तीन साल का ग्रेजुएशन कोर्स होता है। इसमें एडमिशन के लिए 12वीं पास होना जरूरी है। 
बीएससी सांख्यिकी (BSc in Statistics)-    यह कोर्स भी तीन साल का होता है। यह ग्रेजुएशन लेवल का पाठ्यक्रम होता है। 12वीं मैथ्य-साइंस के स्टूडेंट्स ये कोर्स कर सकते हैं।
एमए सांख्यिकी (MA in Statistics)- यह पीजी (पोस्ट ग्रेजुएशन) लेवल का कोर्स होता है। ग्रेजुएशन के बाद इसमें एडमिशन लिया जा सकता है।
एमएससी सांख्यिकी (MSc in Statistics)- यह भी दो साल का पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल का कोर्स होता है। बीएससी के बाद छात्र एडमिशन ले सकते हैं।
सांख्यिकी में मास्टर ऑफ फिलॉसफी (M.Phil in Statistics)- एमए या एमएससी सांख्यिकी के इस कोर्स में एडमिशन लिया जा सकता है। यह दो साल का होता है।
सांख्यिकी में पीएचडी (PhD in Statistics)- एमए या एमएससी या एमफिल सांख्यिकी के बाद सांख्यिकी में पीएचडी की जा सकती है। 

यहां से करें स्टेटिस्टिक्स की पढ़ाई

  • इंडियन स्टेटिस्टिक्ल इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली
  • इंडियन स्टेटिस्टिक्ल इंस्टीट्यूट, बेंगलुरु
  • इंडियन स्टेटिस्टिक्ल इंस्टीट्यूट, कोलकाता
  • इंडियन स्टेटिस्टिक्ल इंस्टीट्यूट, वडोदरा
  • सीआर राव उन्नत सांख्यिकी संस्थान, हैदराबाद

यहां मिलेगी अपॉर्च्युनिटी
इन कोर्स के बाद आपके लिए हर फिल्ड में ढेरों करियर ऑप्शन रहेंगे। इंस्टीट्यूट ऑफ एप्लाइड मेनपावर रिसर्च, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, सामाजिक-आर्थिक गणना से जुडे़  क्षेत्र में जॉब पा सकते हैं। भारत सरकार की सरकारी सांख्यिकी प्रणाली भारतीय सांख्यिकीय संस्थान के साथ मिलकर योजना से संबंधित आंकड़ों का संकलन करता है। यहां भी जॉब के ढेरों मौके मिलते हैं। आप संघ लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित होने वाली परीक्षा में शामिल होकर भारत सरकार की सांख्यिकी सेवा में करियर बना सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें
Career Guidance : हर महीने चाहते हैं लाखों की कमाई तो 12वीं बाद करें इन प्रोफेशनल कोर्स की पढ़ाई

हिंदी भाषा जानने वालों के लिए 10 बेहतरीन करियर ऑप्शन, अच्छी सैलरी के साथ मिलेंगे दमदार अवसर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios