Asianet News Hindi

Post Office की इस स्कीम में रोज 1 रुपए बचा कर बना सकते हैं अपनी बेटी का भविष्य. जानें इसके और फायदे

First Published Feb 6, 2021, 1:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। पोस्ट ऑफिस (Post Office) की कई ऐसी छोटी बचत योजनाएं हैं, जिनमें पैसा लगा कर कुछ समय में अच्छा-खासा फंड तैयार किया जा सकता है। आज जब बैंकों की फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम्स में बहुत कम ब्याज मिल रहा है, पोस्ट ऑफिस की स्कीम्स में पैसा लगाना समझदारी की बात है। पोस्ट ऑफिस में कई तरह की स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स हैं। इनमें निवेश करने पर इनकम टैक्स में भी बचत की जा सकती है। इसके अलावा, निवेश पर बेहतर रिटर्न मिलने के साथ ही पूंजी भी सुरक्षित रहती है। पोस्ट ऑफिस की स्कीम में लगाया गया पैसा कभी डूब नहीं सकता, क्योंकि सरकार इस पर सॉवरेन गारंटी (Sovereign Guarantee) देती है। आज हम आपको पोस्ट ऑफिस की एक ऐसी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें बहुत कम निवेश से शुरुआत कर आप अपनी बेटियों का भविष्य सुरक्षित बना सकते हैं। जानें इसके बारे में। (फाइल फोटो)
 

यह योजना केंद्र सरकार चला रही है। इसका नाम सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) है। रोजाना सिर्फ 1 रुपया बचा कर भी इस योजना में निवेश किया जा सकता है। बेटियों की उच्च शिक्षा और उनकी शादी के लिहाज से यह सबसे अच्छी योजना मानी जा रही है। (फाइल फोटो)

यह योजना केंद्र सरकार चला रही है। इसका नाम सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) है। रोजाना सिर्फ 1 रुपया बचा कर भी इस योजना में निवेश किया जा सकता है। बेटियों की उच्च शिक्षा और उनकी शादी के लिहाज से यह सबसे अच्छी योजना मानी जा रही है। (फाइल फोटो)

इस योजना को केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने  'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' स्कीम ते तहत लॉन्च किया है। छोटी बचत वाली जितनी स्कीम्स हैं, उनमें इसमें सबसे ज्यादा ब्याज दर मिलती है। (फाइल फोटो)

इस योजना को केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' स्कीम ते तहत लॉन्च किया है। छोटी बचत वाली जितनी स्कीम्स हैं, उनमें इसमें सबसे ज्यादा ब्याज दर मिलती है। (फाइल फोटो)

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में सिर्फ 250 रुपए जमा कर के अकाउंट खुलवाया जा सकता है। इसका मतलब है कि कोई अगर रोज 1 रुपए की भी बचत करता है, तो इस योजना का लाभ ले सकता है। इस योजना के तहत एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपए जमा कराना होता है। किसी एक वित्त वर्ष में सुकन्या समृद्धि अकाउंट में 1.5 लाख रुपए से ज्यादा नहीं जमा कराया जा सकता है। (फाइल फोटो)

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में सिर्फ 250 रुपए जमा कर के अकाउंट खुलवाया जा सकता है। इसका मतलब है कि कोई अगर रोज 1 रुपए की भी बचत करता है, तो इस योजना का लाभ ले सकता है। इस योजना के तहत एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपए जमा कराना होता है। किसी एक वित्त वर्ष में सुकन्या समृद्धि अकाउंट में 1.5 लाख रुपए से ज्यादा नहीं जमा कराया जा सकता है। (फाइल फोटो)

पहले सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश पर 9.2 फीसदी तक ब्याज मिलता था। अब इस स्कीम में 7.6 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है। इस योजना में खाता खोलने के 8 साल के बाद बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 50 फीसदी तक रकम अकाउंट से निकलवाई जा सकती है। (फाइल फोटो)

पहले सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश पर 9.2 फीसदी तक ब्याज मिलता था। अब इस स्कीम में 7.6 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है। इस योजना में खाता खोलने के 8 साल के बाद बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 50 फीसदी तक रकम अकाउंट से निकलवाई जा सकती है। (फाइल फोटो)

यह अकाउंट बच्ची की उम्र 10 साल होने पर या उससे पहले खुलवाया जा सकता है। खाता खोलने के बाद इसे बच्ची की उम्र 21 साल होने या 18 साल की उम्र के बाद उसकी शादी होने के पहले तक चलाया जा सकता है। (फाइल फोटो)

यह अकाउंट बच्ची की उम्र 10 साल होने पर या उससे पहले खुलवाया जा सकता है। खाता खोलने के बाद इसे बच्ची की उम्र 21 साल होने या 18 साल की उम्र के बाद उसकी शादी होने के पहले तक चलाया जा सकता है। (फाइल फोटो)

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 2 बेटियों के नाम पर अकाउंट खुलवाया जा सकता है। तीसरी बच्ची अगर जुड़वां हो, तो उसका मेडिकल सर्टिफिकेट जमा करने पर खाता खोला जा सकता है। किसी भी हाल में एक खाते में एक वित्त वर्ष में 1.5 लाख रुपए से ज्यादा अमाउंट जमा नहीं किया जा सकता। (फाइल फोटो)

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 2 बेटियों के नाम पर अकाउंट खुलवाया जा सकता है। तीसरी बच्ची अगर जुड़वां हो, तो उसका मेडिकल सर्टिफिकेट जमा करने पर खाता खोला जा सकता है। किसी भी हाल में एक खाते में एक वित्त वर्ष में 1.5 लाख रुपए से ज्यादा अमाउंट जमा नहीं किया जा सकता। (फाइल फोटो)

इस स्कीम में हर साल अगर न्यूनतम 250 रुपए नहीं जमा किए जाते हैं, तो खाता बंद हो जाता है। इसके बाद 50 रुपए सालाना पेनल्टी के साथ यह खाता फिर से रिवाइज कराया जा सकता है। अकाउंट खोलने के 15 साल बाद तक इसे रिएक्टिवेट कराए जाने की सुविधा मिलती है। (फाइल फोटो)

इस स्कीम में हर साल अगर न्यूनतम 250 रुपए नहीं जमा किए जाते हैं, तो खाता बंद हो जाता है। इसके बाद 50 रुपए सालाना पेनल्टी के साथ यह खाता फिर से रिवाइज कराया जा सकता है। अकाउंट खोलने के 15 साल बाद तक इसे रिएक्टिवेट कराए जाने की सुविधा मिलती है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios