Asianet News Hindi

सरकार की इस स्कीम में पैसा पाना हो तो जल्दी कर लें रिकॉर्ड दुरुस्त, 30 लाख लोगों को मिल चुका है लाभ

First Published Sep 1, 2020, 10:48 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। केंद्र सरकार किसानों को मदद देने के लिए कई योजनाएं चला रही है। इनमें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम बहुत ही अच्छी योजना है। इसमें लाभार्थी किसानों के खाते में सरकार सीधे रकम जमा करवाती है। साल भर में हर तीसरे महीने किसानों के अकाउंट में 2000-2000 रुपए भेजे जाते हैं। इस स्कीम के तहत पिछले 20 दिनों में 30 लाख किसानों के खाते में 2000 रुपए की राशि भेज दी गई है। 
(फाइल फोटो)
 

करीब 9 करोड़ हैं लाभार्थी
सरकार की इस योजना के लाभार्थी किसानों की संख्या इस महीने में 8 करोड़, 81 लाख हो गई है। योजना में रजिस्ट्रेशन जारी है।  
(फाइल फोटो)

करीब 9 करोड़ हैं लाभार्थी
सरकार की इस योजना के लाभार्थी किसानों की संख्या इस महीने में 8 करोड़, 81 लाख हो गई है। योजना में रजिस्ट्रेशन जारी है।  
(फाइल फोटो)

रिकॉर्ड कर लें चेक
अगर आपने इस स्कीम में रजिस्ट्रेशन करवाया है और आपके खाते में पैसे नहीं आए हैं, तो अपना रिकॉर्ड चेक कर लें और उसमें कहीं गलती हो तो उसे ठीक करवा लें। ऐसा होने पर स्कीम के तहत आगे अकाउंट में पैसे आ जाएंगे।
(फाइल फोटो)

रिकॉर्ड कर लें चेक
अगर आपने इस स्कीम में रजिस्ट्रेशन करवाया है और आपके खाते में पैसे नहीं आए हैं, तो अपना रिकॉर्ड चेक कर लें और उसमें कहीं गलती हो तो उसे ठीक करवा लें। ऐसा होने पर स्कीम के तहत आगे अकाउंट में पैसे आ जाएंगे।
(फाइल फोटो)

नवंबर तक पौने दो करोड़ किसानों को मिलेंगे पैसे
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के मुतबिक, इस स्कीम के तहत करीब 10 करोड़, 50 लाख किसानों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके। इस साल नवंबर तक करीब पौने दो करोड़ किसानों के खाते में पैसे भेजे जाएंगे।
(फाइल फोटो)

नवंबर तक पौने दो करोड़ किसानों को मिलेंगे पैसे
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के मुतबिक, इस स्कीम के तहत करीब 10 करोड़, 50 लाख किसानों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके। इस साल नवंबर तक करीब पौने दो करोड़ किसानों के खाते में पैसे भेजे जाएंगे।
(फाइल फोटो)

2022 तक आय दोगुनी करने का लक्ष्य
मोदी सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। सरकार चाहती है कि इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा किसानों को उनके अकाउंट में डायरेक्ट पैसे ट्रांसफर कर उनकी आय बढ़ाई जाए। 
(फाइल फोटो)

2022 तक आय दोगुनी करने का लक्ष्य
मोदी सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। सरकार चाहती है कि इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा किसानों को उनके अकाउंट में डायरेक्ट पैसे ट्रांसफर कर उनकी आय बढ़ाई जाए। 
(फाइल फोटो)

क्या मिल रहे हैं सुझाव
कई कृषि विशेषज्ञ इस योजना के तहत किसानों को दी जाने वाली मदद की रकम बढ़ावे का सुझाव दे रहे हैं। स्वामीनाथन फाउंडेशन का कहना है कि पीएम किसान स्कीम के तहत दी जाने वाली रकम सालाना 6 हजार रुपए से बढ़ा कर 15 हजार रुपए की जानी चाहिए। वहीं, राष्ट्रीय किसान महासंघ और किसान शक्ति संघ ने इसे 24 हजार रुपए किए जाने की मांग की है। 
(फाइल फोटो)

क्या मिल रहे हैं सुझाव
कई कृषि विशेषज्ञ इस योजना के तहत किसानों को दी जाने वाली मदद की रकम बढ़ावे का सुझाव दे रहे हैं। स्वामीनाथन फाउंडेशन का कहना है कि पीएम किसान स्कीम के तहत दी जाने वाली रकम सालाना 6 हजार रुपए से बढ़ा कर 15 हजार रुपए की जानी चाहिए। वहीं, राष्ट्रीय किसान महासंघ और किसान शक्ति संघ ने इसे 24 हजार रुपए किए जाने की मांग की है। 
(फाइल फोटो)

किसे नहीं मिल सकता है योजना का लाभ
यह योजना गरीब किसानों की मदद के लिए शुरू की गई है। इस योजना का लाभ वे किसान नहीं उठा सकते हैं, जो केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी या कर्मचारी रहे हों और 10 हजार रुपए से ज्यादा की पेंशन पाते हों। पिछले वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले किसान भी इस योजना से नहीं जुड़ सकते। वहीं, केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ, चतुर्थ श्रेणी व ग्रुप डी के कर्मचारी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। 
(फाइल फोटो)
 

किसे नहीं मिल सकता है योजना का लाभ
यह योजना गरीब किसानों की मदद के लिए शुरू की गई है। इस योजना का लाभ वे किसान नहीं उठा सकते हैं, जो केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी या कर्मचारी रहे हों और 10 हजार रुपए से ज्यादा की पेंशन पाते हों। पिछले वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले किसान भी इस योजना से नहीं जुड़ सकते। वहीं, केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ, चतुर्थ श्रेणी व ग्रुप डी के कर्मचारी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। 
(फाइल फोटो)
 

रिकॉर्ड दुरुस्त करना क्यों जरूरी
जिन लोगों ने इस योजना में रजिस्ट्रेशन कराया है और उनके अकाउंट में पैसा नहीं आया है, उन्हें अपना रिकॉर्ड जांच कर ठीक करवाना इसलिए जरूरी है, ताकि आगे से उन्हें पैसा मिल सके। आधार कार्ड और बैंक अकाउंट नंबर में गड़बड़ी होने पर स्कीम का लाभ नहीं मिल पाता है। इसके पहले भी करीब 1.3 करोड़ किसानों को आवेदन करने के बावजूद सिर्फ इसलिए पैसा नहीं मिल सका, क्योंकि उनके रिकॉर्ड में गड़बड़ी थी या आधार कार्ड नहीं था। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड का होना सबसे जरूरी है।
(फाइल फोटो) 
 

रिकॉर्ड दुरुस्त करना क्यों जरूरी
जिन लोगों ने इस योजना में रजिस्ट्रेशन कराया है और उनके अकाउंट में पैसा नहीं आया है, उन्हें अपना रिकॉर्ड जांच कर ठीक करवाना इसलिए जरूरी है, ताकि आगे से उन्हें पैसा मिल सके। आधार कार्ड और बैंक अकाउंट नंबर में गड़बड़ी होने पर स्कीम का लाभ नहीं मिल पाता है। इसके पहले भी करीब 1.3 करोड़ किसानों को आवेदन करने के बावजूद सिर्फ इसलिए पैसा नहीं मिल सका, क्योंकि उनके रिकॉर्ड में गड़बड़ी थी या आधार कार्ड नहीं था। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड का होना सबसे जरूरी है।
(फाइल फोटो) 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios