Asianet News Hindi

Post Office की इस स्कीम मिलता है जोरदार फायदा, 5 साल में पा सकते हैं 14 लाख रुपए

First Published Oct 19, 2020, 2:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। आज के समय में बैंकों से ज्यादा पोस्ट ऑफिस की सेविंग्स स्कीम में ज्यादा फायदा मिल रहा है। पोस्ट ऑफिस में हर उम्र के लोगों के लिए सेविंग्स की स्कीम है, जिस पर अच्छा-खासा मुनाफा मिल रहा है। अभी कोरोना महामारी की वजह से आर्थिक मंदी का दौर चल रहा है। फिर भी पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम (SSSS) में पैसा लगा कर कुछ ही वर्षों में लाखों रुपए का मुनाफा हासिल किया जा सकता है। जानें इस स्कीम के बारे में।
(फाइल फोटो)
 

कितना मिलता है ब्याज
पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटिजन्स सेविंग्स स्कीम में निवेश करने पर 7.4 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलता है। ऐसी सेविंग्स स्कीम्स काफी कम हैं, जिन पर इतना ज्यादा ब्याज मिलता हो। सबसे खास बात यह है कि पोस्ट ऑफिस की स्कीम्स में जमा पैसे की सुरक्षा की गारंटी रहती है।
(फाइल फोटो)

कितना मिलता है ब्याज
पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटिजन्स सेविंग्स स्कीम में निवेश करने पर 7.4 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलता है। ऐसी सेविंग्स स्कीम्स काफी कम हैं, जिन पर इतना ज्यादा ब्याज मिलता हो। सबसे खास बात यह है कि पोस्ट ऑफिस की स्कीम्स में जमा पैसे की सुरक्षा की गारंटी रहती है।
(फाइल फोटो)

कौन खुलवा सकता है खाता
सीनियर सिटीजन्स सेविंग्स स्कीम (SCSS) में खाता खुलवाने के लिए आयु सीमा 60 साल है। 60 साल या उससे ज्यादा उम्र के लोग ही इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं। इसके अलावा जिन लोगों ने स्वैच्छिक सेवा निवृति (VRS) ले ली है, वे भी इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं।
(फाइल फोटो)

कौन खुलवा सकता है खाता
सीनियर सिटीजन्स सेविंग्स स्कीम (SCSS) में खाता खुलवाने के लिए आयु सीमा 60 साल है। 60 साल या उससे ज्यादा उम्र के लोग ही इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं। इसके अलावा जिन लोगों ने स्वैच्छिक सेवा निवृति (VRS) ले ली है, वे भी इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं।
(फाइल फोटो)

10 लाख के निवेश पर मिलेगा 14 लाख
सीनियर सिटिजन्स स्कीम में अगर कोई एकमुश्त 10 लाख रुपए का निवेश करता है, तो सालाना 7.4 फीसदी (कम्पाउंडिंग)  ब्याज दर के हिसाब से 5 साल बाद यानी मेच्योरिटी पर कुल रकम 14,28,964 रुपए होगी। यानी 14 लाख रुपए से ज्यादा का फंड तैयार होगा। यहां ब्याज के रूप में निवेशकर्ता को 4,28,964 रुपए का फायदा होगा।
(फाइल फोटो)

10 लाख के निवेश पर मिलेगा 14 लाख
सीनियर सिटिजन्स स्कीम में अगर कोई एकमुश्त 10 लाख रुपए का निवेश करता है, तो सालाना 7.4 फीसदी (कम्पाउंडिंग)  ब्याज दर के हिसाब से 5 साल बाद यानी मेच्योरिटी पर कुल रकम 14,28,964 रुपए होगी। यानी 14 लाख रुपए से ज्यादा का फंड तैयार होगा। यहां ब्याज के रूप में निवेशकर्ता को 4,28,964 रुपए का फायदा होगा।
(फाइल फोटो)

कितने से खुलवा सकते हैं खाता
सीनियर सिटिजन्स स्कीम में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम 1000 रुपए का निवेश करना होता है। इसके अलावा इस खाते में अधिकतम 15 लाख रुपए से ज्यादा नहीं रखा जा सकता।  अगर खाता खुलवाने की रकम एक लाख रुपए से कम है तो नकद राशि देकर भी खाता खुलवाया जा सकता है। वहीं, एक लाख रुपए से ज्यादा राशि होने पर खाता खुलवाने के लिए चेक देना होगा।
(फाइल फोटो)
 

कितने से खुलवा सकते हैं खाता
सीनियर सिटिजन्स स्कीम में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम 1000 रुपए का निवेश करना होता है। इसके अलावा इस खाते में अधिकतम 15 लाख रुपए से ज्यादा नहीं रखा जा सकता।  अगर खाता खुलवाने की रकम एक लाख रुपए से कम है तो नकद राशि देकर भी खाता खुलवाया जा सकता है। वहीं, एक लाख रुपए से ज्यादा राशि होने पर खाता खुलवाने के लिए चेक देना होगा।
(फाइल फोटो)
 

मेच्योरिटी पीरियड
इस स्कीम की मेच्योरिटी पीरियड 5 साल की है। इस समय सीमा को बढ़ाया भी जा सकता है। इंडिया पोस्ट वेबसाइट के मुताबिक, मेच्योरिटी के बाद इस स्कीम को 3 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए पोस्ट ऑफिस में आवेदन देना होगा।
(फाइल फोटो)

मेच्योरिटी पीरियड
इस स्कीम की मेच्योरिटी पीरियड 5 साल की है। इस समय सीमा को बढ़ाया भी जा सकता है। इंडिया पोस्ट वेबसाइट के मुताबिक, मेच्योरिटी के बाद इस स्कीम को 3 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए पोस्ट ऑफिस में आवेदन देना होगा।
(फाइल फोटो)

जॉइंट अकाउंट की सुविधा
इस स्कीम के तहत पति और पत्नी  जॉइंट अकाउंट खोल कर डबल फायदा ले सकते हैं।  लेकिन उनका अधिकतम निवेश 15 लाख से ज्यादा नहीं हो सकता। खाता खोलने और बंद करवाने के समय नॉमिनेशन की सुविधा मिलती है।
(फाइल फोटो)

जॉइंट अकाउंट की सुविधा
इस स्कीम के तहत पति और पत्नी  जॉइंट अकाउंट खोल कर डबल फायदा ले सकते हैं।  लेकिन उनका अधिकतम निवेश 15 लाख से ज्यादा नहीं हो सकता। खाता खोलने और बंद करवाने के समय नॉमिनेशन की सुविधा मिलती है।
(फाइल फोटो)

टैक्स में छूट
इस स्कीम में इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन न 80C के तहत टैक्स से छुट मिलती है। लेकिन ब्याज राशि 10,000 रुपए सालाना से ज्‍यादा हो जाने पर TDS कटने लगता है।
(फाइल फोटो)
 

टैक्स में छूट
इस स्कीम में इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन न 80C के तहत टैक्स से छुट मिलती है। लेकिन ब्याज राशि 10,000 रुपए सालाना से ज्‍यादा हो जाने पर TDS कटने लगता है।
(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios