Asianet News Hindi

महंगा हुआ ATM से पैसा निकालना, RBI ने बढ़ाई फीस, यहां देखें कितना बढ़ा चार्ज

First Published Jun 11, 2021, 11:44 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एटीएम ट्रांजेक्शन (ATM transactions) से जुड़े चार्ज को लेकर बदलाव किया है। इसके साथ ही इंटरचेंज और अन्य चार्ज भी संशोधित किए गए हैं। बदलाव 1 जनवरी 2022 और इस साल 1 अगस्त से लागू होंगे। पिछली बार एटीएम ट्रांजेक्शन पर चार्ज  2012 में संशोधित किए गए थे। आरबीआई ने अब नौ साल बाद यह फैसला किया है। जानिए अब लिमिट के बाद एटीएम ट्रांजेक्शन पर कितना चार्ज लगेगा। 

 अब देना पड़ेगा 21 रुपए
RBI ने बैंकों को अनुमति दी है कि वे एक जनवरी 2022 से एटीएम से मुफ्त ट्रांजेक्शन की सीमा (Free Transaction Limit) से अधिक बार पैसे निकालने पर 20 रुपये से बढ़ाकर 21 रुपये प्रति लेन-देन कर सकते हैं। 

 अब देना पड़ेगा 21 रुपए
RBI ने बैंकों को अनुमति दी है कि वे एक जनवरी 2022 से एटीएम से मुफ्त ट्रांजेक्शन की सीमा (Free Transaction Limit) से अधिक बार पैसे निकालने पर 20 रुपये से बढ़ाकर 21 रुपये प्रति लेन-देन कर सकते हैं। 

क्या कहा आरबीआई ने
आरबीआई ने बताया कि समिति द्वारा दी गई सिफारिशों की जांच की गई। जिसके बाद एटीएम ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज चार्ज  में अगस्त 2021 में चेंच किया गया था। जबकि कस्टमरों द्वारा  दिए जाने वाले चार्ज में अगस्त 2014 में संशोधन किया गया था। बढ़ती लागत और बैंकों/व्हाइट लेबल एटीएम ऑपरेटरों द्वारा किए गए एटीएम रखरखाव के खर्च को देखते हुए, साथ ही होल्डर संस्थाओं और कस्टमर की सुविधा  को देखते हुए इन चार्ज को संशोधित किया गया है। 

क्या कहा आरबीआई ने
आरबीआई ने बताया कि समिति द्वारा दी गई सिफारिशों की जांच की गई। जिसके बाद एटीएम ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज चार्ज  में अगस्त 2021 में चेंच किया गया था। जबकि कस्टमरों द्वारा  दिए जाने वाले चार्ज में अगस्त 2014 में संशोधन किया गया था। बढ़ती लागत और बैंकों/व्हाइट लेबल एटीएम ऑपरेटरों द्वारा किए गए एटीएम रखरखाव के खर्च को देखते हुए, साथ ही होल्डर संस्थाओं और कस्टमर की सुविधा  को देखते हुए इन चार्ज को संशोधित किया गया है। 

आरबीआई ने इन चार्ज को बढ़ाया
1- फ्री ट्रांजेक्शन की सीमा समाप्त होने के बाद 1 जनवरी, 2022 से ग्राहकों से प्रति एटीएम लेनदेन पर 21 रुपये लिया जाएगा।
2- इंटरचेंज शुल्क 1 अगस्त से लागू होगा।
3- वित्तीय लेनदेन (Financial transactions) पर प्रति लेनदेन 17 रुपये मूल्य का इंटरचेंज शुल्क लगेगा, जो पहले 15 रुपये था।
4- गैर-वित्तीय लेन-देन (Non-financial transactions) पर 6 रुपये का इंटरचेंज शुल्क लगेगा, जो पहले 5 रुपये था। 
 

आरबीआई ने इन चार्ज को बढ़ाया
1- फ्री ट्रांजेक्शन की सीमा समाप्त होने के बाद 1 जनवरी, 2022 से ग्राहकों से प्रति एटीएम लेनदेन पर 21 रुपये लिया जाएगा।
2- इंटरचेंज शुल्क 1 अगस्त से लागू होगा।
3- वित्तीय लेनदेन (Financial transactions) पर प्रति लेनदेन 17 रुपये मूल्य का इंटरचेंज शुल्क लगेगा, जो पहले 15 रुपये था।
4- गैर-वित्तीय लेन-देन (Non-financial transactions) पर 6 रुपये का इंटरचेंज शुल्क लगेगा, जो पहले 5 रुपये था। 
 

कमेटी का किया गया था गठन
आरबीआई ने जून 2019 में मुख्य कार्यकारी, भारतीय बैंक संघ की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया था। जिसके पास एटीएम लेन-देन के लिए इंटरचेंज पर विशेष ध्यान देने के साथ  एटीएम शुल्क का रिव्यू करने की जिम्मेदारी है।

कमेटी का किया गया था गठन
आरबीआई ने जून 2019 में मुख्य कार्यकारी, भारतीय बैंक संघ की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया था। जिसके पास एटीएम लेन-देन के लिए इंटरचेंज पर विशेष ध्यान देने के साथ  एटीएम शुल्क का रिव्यू करने की जिम्मेदारी है।

हर महीने कितने ट्रांजेक्शन
कस्टमर को हर महीने एक निश्चित सीमा तक ट्रांजेक्शन की फ्री सुविधा दी जाती है, उसके बाद उस पर भी चार्ज लगाते हैं। रिजर्व बैंक के अनुसार, कस्टमर बैंक एटीएम से हर महीने में पांच ट्रांजेक्शन फ्री में कर सकते हैं। जिस बैंक में आपका अकाउंट है अगर उसी बैंक का आप एटीएम यूज कर रहे हैं आपको इसके लिए कोई भी चार्ज नहीं देना पडे़गा। 

हर महीने कितने ट्रांजेक्शन
कस्टमर को हर महीने एक निश्चित सीमा तक ट्रांजेक्शन की फ्री सुविधा दी जाती है, उसके बाद उस पर भी चार्ज लगाते हैं। रिजर्व बैंक के अनुसार, कस्टमर बैंक एटीएम से हर महीने में पांच ट्रांजेक्शन फ्री में कर सकते हैं। जिस बैंक में आपका अकाउंट है अगर उसी बैंक का आप एटीएम यूज कर रहे हैं आपको इसके लिए कोई भी चार्ज नहीं देना पडे़गा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios