कौन सा रूम है जिसमें न खिड़की है न दरवाजा? IAS इंटरव्यू के ये 10 मजेदार सवाल बना देंगे आपको उस्ताद

First Published 12, Aug 2020, 8:28 AM

करियर डेस्क. IAS Interview Questions: दोस्तों यूपीएससी ने हाल में UPSC CS Prelims Exam Answer key 2019 जारी की है। जो कैंडिडेट्स यूपीएससी सीएस प्रारंभिक परीक्षा 2019 में शामिल हुए थे। वे ऑफिशियल आंसर की मदद से अपने सही जवाब चेक कर सकते हैं। यूपीएससी (UPSC) की तैयारी करने वाले दोस्तों इस एग्जाम के साथ इसका इंटरव्यू भी काफी मुश्किल होता है।  IAS इंटरव्यू सिविल सेवा परीक्षा (Civil Services Exam) का अंतिम चरण है। IAS की परीक्षा में कैंडीडेट इंटरव्यू में जाता है तो उससे ऐसे ट्रिकी सवाल पूछे जाते हैं कि उसका दिमाग घूम जाता है। दरअसल वो सवाल काफी आसान होते हैं लेकिन तत्काल उसे समझने में कैंडीडेट के पसीने छूट जाते हैं।

 

आज हम कुछ मुश्किल पहेली जैसे सवाल लेकर आए हैं इन्हें सॉल्व कर आप अपना IQ चेक कर सकते हैं- 

<p><strong>जवाब: </strong>मक्खी के मुंह में कोई दांत नहीं होता वो पतली सी तिनके जैसी जीभ से खाने को चूस लेती है।&nbsp;</p>

जवाब: मक्खी के मुंह में कोई दांत नहीं होता वो पतली सी तिनके जैसी जीभ से खाने को चूस लेती है। 

<p><strong>जवाब. </strong>ROYGBIV यानि Red, Orange, Yellow, Green, Blue, Indigo, Violet.</p>

जवाब. ROYGBIV यानि Red, Orange, Yellow, Green, Blue, Indigo, Violet.

<p><strong>जवाब.</strong> - मां।</p>

जवाब. - मां।

<p><strong>जवाब. </strong>इसे साल 1905 में बंगाली में लिखा गया था। &nbsp;27 दिसंबर 1911 को पहली बार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की कोलकाता (तब कलकत्ता) सभा में गाया गया था, उस समय बंगाल के बाहर के लोग इसे नहीं जानते थे। संविधान सभा ने जन गण मन को भारत के राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी 1950 को अपनाया।</p>

जवाब. इसे साल 1905 में बंगाली में लिखा गया था।  27 दिसंबर 1911 को पहली बार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की कोलकाता (तब कलकत्ता) सभा में गाया गया था, उस समय बंगाल के बाहर के लोग इसे नहीं जानते थे। संविधान सभा ने जन गण मन को भारत के राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी 1950 को अपनाया।

<p><strong>जवाब. </strong>लगातार घर्षण होने के कारण रेल की पटरियों पर कभी जंग नहीं लगता, जहां रेल न गुजरती हो वहां पटरियां जंग खा जाती हैं।&nbsp;</p>

जवाब. लगातार घर्षण होने के कारण रेल की पटरियों पर कभी जंग नहीं लगता, जहां रेल न गुजरती हो वहां पटरियां जंग खा जाती हैं। 

<p><strong>जवाब.</strong> वायरलेस बिजली काफी सचमुच तारों के बिना विद्युत ऊर्जा का संचरण है। लोग अक्सर उदाहरण, रेडियो, सेल फोन, या के लिए जानकारी का बेतार संचरण के लिए इसी तरह किया जा रहा है। इसके रूप में विद्युत ऊर्जा के बेतार संचरण की तुलना वाई-फाई इंटरनेट। प्रमुख अंतर यह है कि रेडियो या माइक्रोवेव प्रसारण के साथ, प्रौद्योगिकी सिर्फ जानकारी उबरने पर केंद्रित है, और सभी ऊर्जा है कि आप मूल रूप से प्रेषित किया है।</p>

<p>&nbsp;</p>

<p>किसी भी भौतिक वायर्ड कनेक्शन के बिना लोड करने के लिए स्रोत से विद्युत ऊर्जा का संचरण, अर्थात वायरलेस पावर ट्रांसमिशन भविष्य के इलेक्ट्रॉनिक्स और विद्युत अनुप्रयोगों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।</p>

जवाब. वायरलेस बिजली काफी सचमुच तारों के बिना विद्युत ऊर्जा का संचरण है। लोग अक्सर उदाहरण, रेडियो, सेल फोन, या के लिए जानकारी का बेतार संचरण के लिए इसी तरह किया जा रहा है। इसके रूप में विद्युत ऊर्जा के बेतार संचरण की तुलना वाई-फाई इंटरनेट। प्रमुख अंतर यह है कि रेडियो या माइक्रोवेव प्रसारण के साथ, प्रौद्योगिकी सिर्फ जानकारी उबरने पर केंद्रित है, और सभी ऊर्जा है कि आप मूल रूप से प्रेषित किया है।

 

किसी भी भौतिक वायर्ड कनेक्शन के बिना लोड करने के लिए स्रोत से विद्युत ऊर्जा का संचरण, अर्थात वायरलेस पावर ट्रांसमिशन भविष्य के इलेक्ट्रॉनिक्स और विद्युत अनुप्रयोगों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

<p><strong>जवाब. </strong>सार्स SARS और Covid-2</p>

जवाब. सार्स SARS और Covid-2

<p><strong>जवाब.</strong> मशरूम।&nbsp;</p>

जवाब. मशरूम। 

<p><strong>जवाब.</strong> ग्रैंडमदर (दादी)&nbsp;</p>

जवाब. ग्रैंडमदर (दादी) 

<p><strong>जवाब.</strong> पत्नी</p>

जवाब. पत्नी

loader