Asianet News Hindi

दिमाग का खेल होते हैं IAS इंटरव्यू के ऐसे खतरनाक सवाल, बताइए क्या हवाई जहाज में भी हॉर्न होता है?

First Published Oct 3, 2020, 1:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. IAS Interview Questions In Hindi/UPSC interview question: दोस्तों, अगर आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं तो आपको पढ़ाई करने के साथ सवालों की प्रेक्टिस करने की भी खास जरूरत है। खासतौर से यूपीएससी कैंडिडेट्स (UPSC Candidates)  को परीक्षा के साथ इंटरव्यू की तैयारी करना भी बेहद जरूरी होता है। इस एग्जाम में इंटरव्यू भी काफी जरूरी होता है। आईएएस इंटरव्यू (UPSC Interview) में पूछे गए सवाल काफी टफ और ट्रिकी होते हैं। इस बार यूपीएससी के एग्जाम (UPSC Civil Service Exam 2020) अक्टूबर में है। आज हम आपके लिए ऐसे सवाल लेकर आए हैं, जो अक्सर पूछे जाते हैं। आप इन सवालों के जवाब देकर अच्छे से परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।   

जवाब:  पृथ्वी अगर उलटी घूमती तो हवाएं भी अपना रुख बदल देंगीं। धरती का पश्चिमी भाग ठंढा और पूर्वी भाग गर्म हो जाता। सबसे बड़ा बदलाव जलवायु का होगा। आज दुनिया में कुल मिलाकर ४२० लाख किमी^ 2 वाला भाग रेगिस्तान है। अगर पृथ्वी उलटी घूमने लगे तो यह घट कर ३१० लाख किमी^ 2 हो जायेगा। हर जगह हरियाली ही दिखाई देगी।

 

सहारा रेगिस्तान पूरा खत्म हो जाएगा। ब्राज़ील और अर्जेंटीना यह दोनों दुनिया के सबसे बड़े रेगिस्तान बन जायेंगे। बदलते हुए जलवायु की वजह से अलग अलग के जीव जंतु समुद्र में अलग जगह पाए जाते। पृथ्वी उल्टा घूमना शुरू कर दे तो वैसा कुछ नहीं रहता जैसा की आज है। शायद जीवन का विकास एक और रूप लेता। हो सकता है की मनुष्य नहीं आते।

जवाब:  पृथ्वी अगर उलटी घूमती तो हवाएं भी अपना रुख बदल देंगीं। धरती का पश्चिमी भाग ठंढा और पूर्वी भाग गर्म हो जाता। सबसे बड़ा बदलाव जलवायु का होगा। आज दुनिया में कुल मिलाकर ४२० लाख किमी^ 2 वाला भाग रेगिस्तान है। अगर पृथ्वी उलटी घूमने लगे तो यह घट कर ३१० लाख किमी^ 2 हो जायेगा। हर जगह हरियाली ही दिखाई देगी।

 

सहारा रेगिस्तान पूरा खत्म हो जाएगा। ब्राज़ील और अर्जेंटीना यह दोनों दुनिया के सबसे बड़े रेगिस्तान बन जायेंगे। बदलते हुए जलवायु की वजह से अलग अलग के जीव जंतु समुद्र में अलग जगह पाए जाते। पृथ्वी उल्टा घूमना शुरू कर दे तो वैसा कुछ नहीं रहता जैसा की आज है। शायद जीवन का विकास एक और रूप लेता। हो सकता है की मनुष्य नहीं आते।

जवाब:  असल में 1843 में अंग्रेजों के गवर्नर जनरल ने सबसे पहले इस आदेश को पारित किया था। ब्रिटेन में सबसे पहले स्कूल बच्चों को रविवार की छुट्टी देने का प्रस्ताव दिया गया था। इसके पीछे कारण दिया गया था कि बच्चे घर पर रहकर कुछ क्रिएटिव काम करें। अंग्रेजों के शासनकाल में भारत में बड़ा मजदूर वर्ग सातों दिन काम करते थे। इसलिए रविवार को छुट्टी होती है।

जवाब:  असल में 1843 में अंग्रेजों के गवर्नर जनरल ने सबसे पहले इस आदेश को पारित किया था। ब्रिटेन में सबसे पहले स्कूल बच्चों को रविवार की छुट्टी देने का प्रस्ताव दिया गया था। इसके पीछे कारण दिया गया था कि बच्चे घर पर रहकर कुछ क्रिएटिव काम करें। अंग्रेजों के शासनकाल में भारत में बड़ा मजदूर वर्ग सातों दिन काम करते थे। इसलिए रविवार को छुट्टी होती है।

जवाब: यह चिन्ह इसलिए बनाया जाता है ताकि रेलगाड़ी पर नजर रखने वाले को पता चल जाए कि रेलगाड़ी पूरी छूट चुकी है यह आखिरी डिब्बा था। 

जवाब: यह चिन्ह इसलिए बनाया जाता है ताकि रेलगाड़ी पर नजर रखने वाले को पता चल जाए कि रेलगाड़ी पूरी छूट चुकी है यह आखिरी डिब्बा था। 

जवाब.. पांच

जवाब.. पांच

जवाब: पटरी को अपने स्थान पर स्थिर रहने के लिए ट्रेन का सारा वजन इन पत्थरों पर चला जाता है। गर्मी, सर्दी बारिश में पटरी को सिकुड़ने और फैलने से रोकने के लिए भी पत्थर काम करते हैं। 

जवाब: पटरी को अपने स्थान पर स्थिर रहने के लिए ट्रेन का सारा वजन इन पत्थरों पर चला जाता है। गर्मी, सर्दी बारिश में पटरी को सिकुड़ने और फैलने से रोकने के लिए भी पत्थर काम करते हैं। 

जवाब:  4 जुलाई 

जवाब:  4 जुलाई 

जवाब:  खाट, चारपाई।

 

 

जवाब:  खाट, चारपाई।

 

 

जवाब:  इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के अनुसार- मोनो देश के लोग कुत्ते का दूध पीते हैं। मोनो देश मूल अमेरिका के लोग हैं। हालांकि, कुत्ते का दूध पीना गलत माना जाता है। 

जवाब:  इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के अनुसार- मोनो देश के लोग कुत्ते का दूध पीते हैं। मोनो देश मूल अमेरिका के लोग हैं। हालांकि, कुत्ते का दूध पीना गलत माना जाता है। 

उत्तर: क्या ही मां का नाम है।

उत्तर: क्या ही मां का नाम है।

जवाब: बनाना शेक बनाकर

 

ये एक ट्रिकी सवाल है जिसका जवाब कैंडिडेट ने ऐसा दिया कि लोग हंस पड़े उसने दिमाग लगाकर बोला कि बनाना शेक बनाकर एक केला तीन लोगों में बराबर बंट जाएगा। 

जवाब: बनाना शेक बनाकर

 

ये एक ट्रिकी सवाल है जिसका जवाब कैंडिडेट ने ऐसा दिया कि लोग हंस पड़े उसने दिमाग लगाकर बोला कि बनाना शेक बनाकर एक केला तीन लोगों में बराबर बंट जाएगा। 

जवाब: इंसानों में गुदगुदी हार्मोंस और नर्व सिस्टम के कारण होती हैं। अमरीका की मेरीलैंड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर रॉबर्ट प्रोविन का कहना है कि गुदगुदी होने पर हंसी का आना विज्ञान में रिसर्च का एक बड़ा विषय रहा है। दो तरह की गुदगुदी होती है। 

 

गुदगुदी का एक प्रकार है नाइस्मेसिस- इसमें बदन के कुछ ख़ास हिस्सों को धीरे-धीरे सहलाने पर आपको गुदगुदी होती है। जैसे पैर के निचले हिस्से को सहलाने पर या गर्दन पर उंगलियां फेरने से गुदगुदी महसूस होती है।

 

दूसरे प्रकार का नाम है गार्गालिसिस- इस गुदगुदी का एहसास स्तनधारी जीवों को ही होता है। इसमें खुलकर हंसी आती है, गुदगुदी का एहसास त्वचा में छुपी उन नसों को छूने से होता है जिन पर हम किसी भी चीज़ के लगने को महसूस करते हैं जबकि खिलखिलाकर हंसना एक सामाजिक बर्ताव है। 2009 में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक़ इंसान के हंसने की सलाहियत के तार हमारे दूसरे रिश्तेदारों यानी प्राइमेट्स के हंसने से जुड़े हैं।

 

जानवरों को भी होती है गुदगुदी?

इस रिसर्च में बंदरों के कुनबे के बहुत से सदस्यों की अलग-अलग आवाज़ों को रिकॉर्ड किया गया। कुछ आवाज़ें सिर्फ़ एक शोर की तरह सुनाई दीं जबकि कुछ आवाज़ें इंसान के हंसने की आवाज़ से मेल खाती थीं। इनमें गोरिल्ला और बोनोबो बंदरों की आवाज़ें इंसानों के सबसे क़रीब पाई गईं। लेकिन इससे सिर्फ़ एक अच्छा-सा एहसास होता है। खुलकर हंसी नहीं आती, इस गुदगुदी का एहसास छिपकली जैसे रेंगने वाले जीवों को भी होता है।

जवाब: इंसानों में गुदगुदी हार्मोंस और नर्व सिस्टम के कारण होती हैं। अमरीका की मेरीलैंड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर रॉबर्ट प्रोविन का कहना है कि गुदगुदी होने पर हंसी का आना विज्ञान में रिसर्च का एक बड़ा विषय रहा है। दो तरह की गुदगुदी होती है।

 

गुदगुदी का एक प्रकार है नाइस्मेसिस- इसमें बदन के कुछ ख़ास हिस्सों को धीरे-धीरे सहलाने पर आपको गुदगुदी होती है। जैसे पैर के निचले हिस्से को सहलाने पर या गर्दन पर उंगलियां फेरने से गुदगुदी महसूस होती है।

 

दूसरे प्रकार का नाम है गार्गालिसिस- इस गुदगुदी का एहसास स्तनधारी जीवों को ही होता है। इसमें खुलकर हंसी आती है, गुदगुदी का एहसास त्वचा में छुपी उन नसों को छूने से होता है जिन पर हम किसी भी चीज़ के लगने को महसूस करते हैं जबकि खिलखिलाकर हंसना एक सामाजिक बर्ताव है। 2009 में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक़ इंसान के हंसने की सलाहियत के तार हमारे दूसरे रिश्तेदारों यानी प्राइमेट्स के हंसने से जुड़े हैं।

 

जानवरों को भी होती है गुदगुदी?

इस रिसर्च में बंदरों के कुनबे के बहुत से सदस्यों की अलग-अलग आवाज़ों को रिकॉर्ड किया गया। कुछ आवाज़ें सिर्फ़ एक शोर की तरह सुनाई दीं जबकि कुछ आवाज़ें इंसान के हंसने की आवाज़ से मेल खाती थीं। इनमें गोरिल्ला और बोनोबो बंदरों की आवाज़ें इंसानों के सबसे क़रीब पाई गईं। लेकिन इससे सिर्फ़ एक अच्छा-सा एहसास होता है। खुलकर हंसी नहीं आती, इस गुदगुदी का एहसास छिपकली जैसे रेंगने वाले जीवों को भी होता है।

जवाब. बारिश, तूफान या हिमपात होने के लिए हमें पानी और किसी प्रकार का वातावरण चाहिए होता है। लेकिन चंद्रमा का कोई वायुमंडल नहीं है यहां का कोई मौसम ही नहीं है। यहां कोई तूफान नहीं आता है। 

जवाब. बारिश, तूफान या हिमपात होने के लिए हमें पानी और किसी प्रकार का वातावरण चाहिए होता है। लेकिन चंद्रमा का कोई वायुमंडल नहीं है यहां का कोई मौसम ही नहीं है। यहां कोई तूफान नहीं आता है। 

जवाब. दोनों का वजन बराबर ही होगा क्योंकि दोनों की क्वांटिटी एक ही है।  

 

जवाब. दोनों का वजन बराबर ही होगा क्योंकि दोनों की क्वांटिटी एक ही है।  

 

जवाब. जहाज में हॉर्न होता है इसका इस्तेमाल पक्षियों को डराने या दूसरे जहाज को रास्ता देने के लिए नहीं किया जाता है। हवाई हजाज के हॉर्न का इस्तेमाल ग्राउंड इंजीनियर और स्टॉफ से संपर्क साधने और उन्हें किसी खतरे से सावधान करने के लिए किया जाता है। 

जवाब. जहाज में हॉर्न होता है इसका इस्तेमाल पक्षियों को डराने या दूसरे जहाज को रास्ता देने के लिए नहीं किया जाता है। हवाई हजाज के हॉर्न का इस्तेमाल ग्राउंड इंजीनियर और स्टॉफ से संपर्क साधने और उन्हें किसी खतरे से सावधान करने के लिए किया जाता है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios