Asianet News Hindi

भारत में बने हैं दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट मैदान, जानें कौन से हैं 14 सबसे बड़े स्टेडियम

First Published Feb 22, 2021, 4:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत और इंग्लैड के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मैच (IND vs ENG, 3rd Test) अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम (motera stadium) में खेला जाएगा। ये दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम है। 24 फरवरी से यहां पर होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच के लिए खास तरह की तैयारियां भी की जा रही हैं। इससे पहले मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम था। ऐसे कई सारे मैदान है, जो बहुत बड़े और पुराने हैं, इसमें से ज्यादातर स्टेडियम भारत में ही बना हैं। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम और उनकी खासियत के बारे में..

सरदार पटेल स्टेडियम (अहमदाबाद)
सरदार पटेल स्टेडियम, जिसे मोटेरा स्टेडियम के रूप में जाना जाता है, ये दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम हैं। इसमें एक साथ 1 लाख 10 हजार दर्शक बैठकर मैच देख सकते हैं। इस स्टेडियम का निर्माण 1983 में किया गया था, लेकिन हाल ही में इसका रिनोवेशन किया गया है और इसके बाद सबसे पहले यहां इंडिया और इंग्लैंड के बीच डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा। इस स्टेडियम में अलग-अलग प्रकार की 11 पिचें हैं, जिसमें से 5 में लाल मिट्टी और 6 में काली मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। सबसे खास बात की कितनी भी बारिश क्यों न हो मैदान सिर्फ आधे घंटे में सूख जाएगा। स्टेडियम में फ्लड लाइट की जगह एलईडी लाइट्स लगाई गई है। इसके अलावा इसमें 50 डीलक्स रूम और 5 सूट रूम, इनडोर और आउटडोर गेम्स के लिए जगह, रेस्तरां, ओलिंपिक साइज का स्वीमिंग पूल, जिम्नेशियम, पार्टी एरिया, 3डी प्रोजेक्टर थियेटर/टीवी रूम भी हैं। इस स्टेडियम को दोबारा बनाने में 700 करोड़ से ज्यादा खर्च आया है। 

सरदार पटेल स्टेडियम (अहमदाबाद)
सरदार पटेल स्टेडियम, जिसे मोटेरा स्टेडियम के रूप में जाना जाता है, ये दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम हैं। इसमें एक साथ 1 लाख 10 हजार दर्शक बैठकर मैच देख सकते हैं। इस स्टेडियम का निर्माण 1983 में किया गया था, लेकिन हाल ही में इसका रिनोवेशन किया गया है और इसके बाद सबसे पहले यहां इंडिया और इंग्लैंड के बीच डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा। इस स्टेडियम में अलग-अलग प्रकार की 11 पिचें हैं, जिसमें से 5 में लाल मिट्टी और 6 में काली मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। सबसे खास बात की कितनी भी बारिश क्यों न हो मैदान सिर्फ आधे घंटे में सूख जाएगा। स्टेडियम में फ्लड लाइट की जगह एलईडी लाइट्स लगाई गई है। इसके अलावा इसमें 50 डीलक्स रूम और 5 सूट रूम, इनडोर और आउटडोर गेम्स के लिए जगह, रेस्तरां, ओलिंपिक साइज का स्वीमिंग पूल, जिम्नेशियम, पार्टी एरिया, 3डी प्रोजेक्टर थियेटर/टीवी रूम भी हैं। इस स्टेडियम को दोबारा बनाने में 700 करोड़ से ज्यादा खर्च आया है। 

मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड  (मेलबर्न)
यह स्टेडियम ऑस्ट्रेलिया के मेलबोर्न शहर में बना है। यह दुनिया के सबसे पुराने स्टेडियमों में से एक है। 1853 में बने इस स्टेडियम में पहला टेस्ट मैच 15-19 मार्च 1877 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। क्रिकेट के अलावा, इसका इस्तेमाल फुटबॉल, रग्बी, टेनिस, साइकलिंग के लिए किया जाता है। इसकी दर्शक क्षमता 1 लाख 24 हैं।

मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड  (मेलबर्न)
यह स्टेडियम ऑस्ट्रेलिया के मेलबोर्न शहर में बना है। यह दुनिया के सबसे पुराने स्टेडियमों में से एक है। 1853 में बने इस स्टेडियम में पहला टेस्ट मैच 15-19 मार्च 1877 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। क्रिकेट के अलावा, इसका इस्तेमाल फुटबॉल, रग्बी, टेनिस, साइकलिंग के लिए किया जाता है। इसकी दर्शक क्षमता 1 लाख 24 हैं।

ईडन गार्डन (कोलकाता)
कोलकाता में बने ईडन गॉर्डन स्टेडियम को भारतीय क्रिकेट का घर माना जाता है। ये एक ऐसा मैदान है जहां हर खिलाड़ी मैच खेलने का सपना देखता है। 1864 में बने इस मैदान पर पहला मैच 1934 में इंग्लैंड और भारत के बीच खेला गया था। इसकी दर्शक क्षमता तो 66 हजार है, लेकिन यहां खेले गए कुछ मैचों में दर्शकों की उपस्थिति 1 लाख से ज्यादा दर्ज की गई है।

ईडन गार्डन (कोलकाता)
कोलकाता में बने ईडन गॉर्डन स्टेडियम को भारतीय क्रिकेट का घर माना जाता है। ये एक ऐसा मैदान है जहां हर खिलाड़ी मैच खेलने का सपना देखता है। 1864 में बने इस मैदान पर पहला मैच 1934 में इंग्लैंड और भारत के बीच खेला गया था। इसकी दर्शक क्षमता तो 66 हजार है, लेकिन यहां खेले गए कुछ मैचों में दर्शकों की उपस्थिति 1 लाख से ज्यादा दर्ज की गई है।

शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (रायपुर)
साल 2008 में नया रायपुर में बने इस स्टेडियम की गिनती दुनिया के टॉप 10 स्टेडियम में की जाती है। इस मैदान में एक साथ 65 हजार दर्शक बैठकर मैच का लुत्फ उठा सकते हैं। ज्यादातर आईपीएल मैच इस स्टेडियम में होते हैं। इस मैदान पर पहला मैच 2010 में खेला गया था। 

शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (रायपुर)
साल 2008 में नया रायपुर में बने इस स्टेडियम की गिनती दुनिया के टॉप 10 स्टेडियम में की जाती है। इस मैदान में एक साथ 65 हजार दर्शक बैठकर मैच का लुत्फ उठा सकते हैं। ज्यादातर आईपीएल मैच इस स्टेडियम में होते हैं। इस मैदान पर पहला मैच 2010 में खेला गया था। 

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (ग्वालियर ) 
मध्यप्रदेश के ग्वालियर में बन रहा ये स्टेडियम अभी पूरा नहीं हुआ है, लेकिन मिली जानकारी के अनुसार ये स्टेडियम 30 एकड़ की जमीन पर बनाया जा रहा है, जिसे ग्वालियर डिवीजन क्रिकेट एसोसिएशन ने लिया है। ये मैदान 2023 मार्च तक पूरा होने की उम्मीद है। इसमें लगभग 60 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता होगी। इसमें फ्लड लाइट, एक स्विमिंग पूल, सौना बाथ, आधुनिक जिम, ड्रेसिंग रूम और 30 कॉर्पोरेट बॉक्स से भी होंगे।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (ग्वालियर ) 
मध्यप्रदेश के ग्वालियर में बन रहा ये स्टेडियम अभी पूरा नहीं हुआ है, लेकिन मिली जानकारी के अनुसार ये स्टेडियम 30 एकड़ की जमीन पर बनाया जा रहा है, जिसे ग्वालियर डिवीजन क्रिकेट एसोसिएशन ने लिया है। ये मैदान 2023 मार्च तक पूरा होने की उम्मीद है। इसमें लगभग 60 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता होगी। इसमें फ्लड लाइट, एक स्विमिंग पूल, सौना बाथ, आधुनिक जिम, ड्रेसिंग रूम और 30 कॉर्पोरेट बॉक्स से भी होंगे।

पर्थ स्टेडियम (ऑस्ट्रेलिया) 
ऑप्टस स्टेडियम या पर्थ स्टेडियम वेस्ट ऑस्ट्रेलिया में बर्सवुड में बनाया गया है। 2017 में बनाए गए इस स्टेडियम में 60 हजार लोग मैच देख सकते हैं। इस मैदान पर पहला मैच ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। क्रिकेट के अलावा यहां फुटबॉल मैच भी खेले जाते हैं।  

पर्थ स्टेडियम (ऑस्ट्रेलिया) 
ऑप्टस स्टेडियम या पर्थ स्टेडियम वेस्ट ऑस्ट्रेलिया में बर्सवुड में बनाया गया है। 2017 में बनाए गए इस स्टेडियम में 60 हजार लोग मैच देख सकते हैं। इस मैदान पर पहला मैच ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। क्रिकेट के अलावा यहां फुटबॉल मैच भी खेले जाते हैं।  

राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (हैदराबाद)
55 हजार दर्शक क्षमता वाले स्टेडियम में भारत के 2 बड़े मैदान शामिल हैं। पहला राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम हैदराबाद और दूसरा ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम तिरुवनंतपुरम। राजीव गांधी स्टेडियम का निर्माण 2003 में हुआ था, यहां पहला मैच 2010 में भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। 

राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम (हैदराबाद)
55 हजार दर्शक क्षमता वाले स्टेडियम में भारत के 2 बड़े मैदान शामिल हैं। पहला राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम हैदराबाद और दूसरा ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम तिरुवनंतपुरम। राजीव गांधी स्टेडियम का निर्माण 2003 में हुआ था, यहां पहला मैच 2010 में भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। 

ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम (तिरुवनंतपुरम)
वहीं, ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम का निर्माण 2015 में हुआ था और पहला यहां इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच 2018 में खेला गया था।

ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम (तिरुवनंतपुरम)
वहीं, ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल स्टेडियम का निर्माण 2015 में हुआ था और पहला यहां इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच 2018 में खेला गया था।

एडिलेड ओवल (ऑस्ट्रेलिया)
1871 में बना एडीलेड ओवल स्टेडियम दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में से एक है। यहां न केवल क्रिकेट मैच होते हैं, बल्कि फुटबॉल, रग्बी, टेनिस और कभी-कभी म्युजिकल शोज भी आयोजित किए जाते हैं। इस स्टेडियम में 2 दिसंबर 2017 को एशेज क्रिकेट मैच में 55317 दर्शकों की सबसे ज्यादा उपस्थिति दर्ज की गई थी। यहां पहला मैच 12 दिसंबर 1884 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था।

एडिलेड ओवल (ऑस्ट्रेलिया)
1871 में बना एडीलेड ओवल स्टेडियम दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में से एक है। यहां न केवल क्रिकेट मैच होते हैं, बल्कि फुटबॉल, रग्बी, टेनिस और कभी-कभी म्युजिकल शोज भी आयोजित किए जाते हैं। इस स्टेडियम में 2 दिसंबर 2017 को एशेज क्रिकेट मैच में 55317 दर्शकों की सबसे ज्यादा उपस्थिति दर्ज की गई थी। यहां पहला मैच 12 दिसंबर 1884 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था।

MA चिदंबरम स्टेडियम (चेन्नई)
50 हजार दर्शक क्षमता वाले भारत में 3 स्टेडियम हैं। जिसमें से चैन्नई के MA चिदंबरम स्टेडियम का निर्माण 1916 में हुआ था, यहां पहला मैच भारत और इंग्लैंड के बीच 10 फरवरी 1934 में खेला गया था। 

MA चिदंबरम स्टेडियम (चेन्नई)
50 हजार दर्शक क्षमता वाले भारत में 3 स्टेडियम हैं। जिसमें से चैन्नई के MA चिदंबरम स्टेडियम का निर्माण 1916 में हुआ था, यहां पहला मैच भारत और इंग्लैंड के बीच 10 फरवरी 1934 में खेला गया था। 

JSCA इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम (रांची) 
JSCA इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण 10 साल पहले 2011 में हुआ था। 2017 में यहां भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट मैच खेला गया था। 

JSCA इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम (रांची) 
JSCA इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण 10 साल पहले 2011 में हुआ था। 2017 में यहां भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट मैच खेला गया था। 

भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी एकाना क्रिकेट स्टेडियम (लखनऊ)
वहीं, लखनऊ के भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी एकाना क्रिकेट स्टेडियम की शुरुआत 2016 में हुई थी। अभी तक यहां कोई भी इंटरनेशल मैच नहीं खेला गया है, लेकिन यहां 50 हजार दर्शक एक साथ बैठकर मैच देख सकते हैं।

भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी एकाना क्रिकेट स्टेडियम (लखनऊ)
वहीं, लखनऊ के भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी एकाना क्रिकेट स्टेडियम की शुरुआत 2016 में हुई थी। अभी तक यहां कोई भी इंटरनेशल मैच नहीं खेला गया है, लेकिन यहां 50 हजार दर्शक एक साथ बैठकर मैच देख सकते हैं।

डॉकलैंड स्टेडियम (ऑस्ट्रेलिया)
डॉकलैंड्स स्टेडियम, मार्वल स्टेडियम के रूप में भी जाना जाता है। इसका निर्माण अक्टूबर 1997 में "विक्टोरिया स्टेडियम" के नाम से हुआ था। 2000 में ये मैदान पूरी तरह से बनकर तैयार था और इसी साल यहां ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के बीच पहले मैच हुआ था। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 48 हजार हैं।

डॉकलैंड स्टेडियम (ऑस्ट्रेलिया)
डॉकलैंड्स स्टेडियम, मार्वल स्टेडियम के रूप में भी जाना जाता है। इसका निर्माण अक्टूबर 1997 में "विक्टोरिया स्टेडियम" के नाम से हुआ था। 2000 में ये मैदान पूरी तरह से बनकर तैयार था और इसी साल यहां ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के बीच पहले मैच हुआ था। इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 48 हजार हैं।

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (ऑस्ट्रेलिया)
सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG), ऑस्ट्रेलिया का एक बहुत बड़ा स्पोर्ट्स स्टेडियम है। जहां क्रिकेट के अलावा ऑस्ट्रेलियाई रुलेस फुटबॉल, रग्बी लीग फुटबॉल, रग्बी यूनियन और एसोसिएशन फुटबॉल के मैच होते हैं। इसका निर्माण 1848 में किया गया था। और 1882 में पहला मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था।

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (ऑस्ट्रेलिया)
सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG), ऑस्ट्रेलिया का एक बहुत बड़ा स्पोर्ट्स स्टेडियम है। जहां क्रिकेट के अलावा ऑस्ट्रेलियाई रुलेस फुटबॉल, रग्बी लीग फुटबॉल, रग्बी यूनियन और एसोसिएशन फुटबॉल के मैच होते हैं। इसका निर्माण 1848 में किया गया था। और 1882 में पहला मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios