Asianet News Hindi

2 जून को भगवान विष्णु को चढ़ाएं ये 5 चीजें, सोया भाग्य जगा सकते हैं ये उपाय

First Published Jun 1, 2020, 1:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. 2 जून, मंगलवार को ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी है। इसे निर्जला एकादशी कहते हैं। साल भर में आने वाली सभी एकादशियों में इसका महत्व सबसे अधिक माना जाता है। महाभारत के अनुसार, भीम सिर्फ इसी एक एकादशी पर व्रत करते थे, जिससे उन्हें पूरे साल की एकादशियों पर व्रत रखने का फल मिल जाता था। इसलिए इसे भीमसेनी एकादशी भी कहते हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, इस दिन भगवान विष्णु को कुछ खास चीजें चढ़ानी चाहिए। इससे शुभ फल मिल सकते हैं और सोया भाग्य भी जाग सकता है। ये 5 चीजें इस प्रकार हैं…

1. पीतांबर यानी पीले वस्त्र
ग्रंथों में भगवान विष्णु को पीतांबरधारी भी कहते हैं यानी पीले वस्त्र पहनने वाले। इसलिए निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के किसी मंदिर में पीले वस्त्र (धोती) अर्पित करें। इससे भगवान प्रसन्न होते हैं।
 

1. पीतांबर यानी पीले वस्त्र
ग्रंथों में भगवान विष्णु को पीतांबरधारी भी कहते हैं यानी पीले वस्त्र पहनने वाले। इसलिए निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के किसी मंदिर में पीले वस्त्र (धोती) अर्पित करें। इससे भगवान प्रसन्न होते हैं।
 

2. मोर पंख
मोर पंख भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण के स्वरूप से जुड़ा हुआ है। इसलिए निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में मोर पंख या मोर मुकुट चढ़ाना चाहिए। इससे आपकी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।
 

2. मोर पंख
मोर पंख भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण के स्वरूप से जुड़ा हुआ है। इसलिए निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में मोर पंख या मोर मुकुट चढ़ाना चाहिए। इससे आपकी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।
 

3. बांसुरी
निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में बांसुरी चढ़ानी चाहिए। ये भी उनके श्रीकृष्ण अवतार के स्वरूप से जुड़ी हुई है। इससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
 

3. बांसुरी
निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में बांसुरी चढ़ानी चाहिए। ये भी उनके श्रीकृष्ण अवतार के स्वरूप से जुड़ी हुई है। इससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
 

4. शंख
शंख के भी कई प्रकार हैं, उन्हीं में से एक है दक्षिणावर्ती शंख। शंख को देवी लक्ष्मी का भाई भी कहा जाता है। निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में ये शंख चढ़ाना चाहिए। इससे धन लाभ के योग बन सकते हैं।
 

4. शंख
शंख के भी कई प्रकार हैं, उन्हीं में से एक है दक्षिणावर्ती शंख। शंख को देवी लक्ष्मी का भाई भी कहा जाता है। निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में ये शंख चढ़ाना चाहिए। इससे धन लाभ के योग बन सकते हैं।
 

5. तुलसी की माला
भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण के मंत्रों का जाप तुलसी की माला से किया जाए तो शुभ फलों की प्राप्ति हो सकती है। निर्जला एकादशी पर विष्णुजी के मंदिर में तुलसी की माला भी चढ़ानी चाहिए।
 

5. तुलसी की माला
भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण के मंत्रों का जाप तुलसी की माला से किया जाए तो शुभ फलों की प्राप्ति हो सकती है। निर्जला एकादशी पर विष्णुजी के मंदिर में तुलसी की माला भी चढ़ानी चाहिए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios