Asianet News Hindi

इस घर के बेसमेंट में बनाई गई बच्चों की इतनी पोर्न फिल्में, देखने में लग जाएंगे 30 साल

First Published Jun 13, 2020, 2:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क। जर्मन पुलिस ने हाल ही में बच्चों का यौन शोषण करने और उनकी अश्लील फिल्म बनाने वाले एक गैंग का भंडाफोड़ किया है। जर्मनी के मुंस्टर शहर में पुलिस ने एक घर से चाइल्ड एब्यूज की इतनी फिल्में और फोटोज बरामद की हैं, जिनके बारे में कहा जा रहा है कि उन्हें देख पाने में 30 साल का समय लग जाएगा। इस भयानक घटना को एक घर में अंजाम दिया जा रहा था और वहां चाइल्ड एब्यूज की फिल्में बनाने के लिए एक एयरकंडीशन्ड रूम में कम्प्यूटर इक्विपमेंट लगाए गए थे। करीब 600 टेराबाइट का वीडियो बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि इस चाइल्ड सेक्स एब्यूज रैकेट में 11 लोग शामिल थे, जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। घर में एक एयरकंडीशन्ड सर्वर रूम बनाया गया था। चाइल्ड पोर्न के सारे वीडियो कम्प्यूटर में स्टोर कर के रखे जाते थे। यह घर इस गिरोह के संचालक एड्रियन वीज का बताया जा रहा है। जर्मन पुलिस का कहना है कि कम्प्यूटर में मौजूद चाइल्ड पोर्न फिल्में इतनी ज्यादा हैं कि सबों को देख पाना संभव नहीं है। इसमें 30 साल लग जाएंगे। जर्मन पुलिस अब इस डाटा को एनालाइज करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद लेने के बारे में सोच रही है। वहीं, प्रोफेसर क्रिश्चियन मैटडॉर्फ का कहना है कि इतना ज्यादा डाटा को एनालाइज कर पाना फोरेंसिक टेक्वनीशियन के लिए एक बड़ी चुनौती होगी। इसलिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद लेना जरूरी होगा। इससे जांच का काम तेजी से हो सकेगा। डिटेक्टिव्स को शक है कि बच्चों के यौन उत्पीड़न का काम इसी घर में हुआ है। इस घर में हर जगह सिक्युरिटी कैमरे लगे हुए पाए गए, जिनका इस्तेमाल चाइल्ड एब्यूज को रिकॉर्ड करने में किया जाता होगा। देखें इस खौफनाक वारदात से संबंधित तस्वीरें और जानें दूसरी डिटेल्स। 

इस चाइल्ड सेक्स एब्यूज रैकेट का सरगना एड्रियन वी 27 साल का एक आईटी स्पेशलिस्ट है। चाइल्ड एब्यूज की ज्यादातर फिल्में उसके घर में बनाई गईं, वहीं कुछ फिल्में उसकी मां के घर में भी बनाई गई हैं। कैरिना वी एक 45 साल की किंडरगार्टन टीचर हैं। इस महिला को भी चाइल्ड एब्यूज के मामले में अरेस्ट किया गया है, वैसे अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि क्या वह अपने स्कूल के बच्चों को भी चाइल्ड एब्यूज का शिकार बनाती थी। चाइल्ड एब्यूज की फिल्में बनाने के लिए इस कमरें में तकनीकी इंतजाम किए गए थे।

इस चाइल्ड सेक्स एब्यूज रैकेट का सरगना एड्रियन वी 27 साल का एक आईटी स्पेशलिस्ट है। चाइल्ड एब्यूज की ज्यादातर फिल्में उसके घर में बनाई गईं, वहीं कुछ फिल्में उसकी मां के घर में भी बनाई गई हैं। कैरिना वी एक 45 साल की किंडरगार्टन टीचर हैं। इस महिला को भी चाइल्ड एब्यूज के मामले में अरेस्ट किया गया है, वैसे अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि क्या वह अपने स्कूल के बच्चों को भी चाइल्ड एब्यूज का शिकार बनाती थी। चाइल्ड एब्यूज की फिल्में बनाने के लिए इस कमरें में तकनीकी इंतजाम किए गए थे।

चाइल्ड सेक्स एब्यूज रैकेट का सरगना एड्रियन वी। चाइल्ड एब्यूज की ज्यादातर वारदात इसके और इसकी मां के घर पर हुए। चाइल्ड एब्यूज की रिकॉर्डिंग करने का इंतजाम भी इसी ने किया था। अब यह शख्स पुलिस की गिरफ्त में है।  

चाइल्ड सेक्स एब्यूज रैकेट का सरगना एड्रियन वी। चाइल्ड एब्यूज की ज्यादातर वारदात इसके और इसकी मां के घर पर हुए। चाइल्ड एब्यूज की रिकॉर्डिंग करने का इंतजाम भी इसी ने किया था। अब यह शख्स पुलिस की गिरफ्त में है।  

पुलिस ने अब तक 3 विक्टिम्स का पता लगाया है। इनमें एक 5 साल, एक 10 साल और एक 12 साल का बच्चा है। पुलिस ने नवंबर 2018 से मई 2020 तक इस घर में चाइल्ड एब्यूज की 15 घटनाओं का पता लगा लिया है। घर में रिकॉर्डिंग करने के लिए किया गया तकनीकी इंतजाम। 

 

पुलिस ने अब तक 3 विक्टिम्स का पता लगाया है। इनमें एक 5 साल, एक 10 साल और एक 12 साल का बच्चा है। पुलिस ने नवंबर 2018 से मई 2020 तक इस घर में चाइल्ड एब्यूज की 15 घटनाओं का पता लगा लिया है। घर में रिकॉर्डिंग करने के लिए किया गया तकनीकी इंतजाम। 

 

पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि वे एड्रियन वी की गतिविधियों की मॉनिटरिंग 2018 से ही कर रहे थे। इस शख्स को 2016 और 2017 में भी चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में पकड़ा गया था। यह घर एड्रियन का है। यहीं बच्चों  के यौन उत्पीड़न की ज्यादातर गतिविधियों को अंजाम दिया गया। 

 

 

पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि वे एड्रियन वी की गतिविधियों की मॉनिटरिंग 2018 से ही कर रहे थे। इस शख्स को 2016 और 2017 में भी चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में पकड़ा गया था। यह घर एड्रियन का है। यहीं बच्चों  के यौन उत्पीड़न की ज्यादातर गतिविधियों को अंजाम दिया गया। 

 

 

पुलिस अधिकारियों ने घर की तलाशी लेने के दौरान वहां एक सर्वर रूम भी पाया। चाइल्ड पोर्नोग्राफी तैयार करने की सारी तकनीकी सुविधा वहां मौजूद थी। 

 

 

पुलिस अधिकारियों ने घर की तलाशी लेने के दौरान वहां एक सर्वर रूम भी पाया। चाइल्ड पोर्नोग्राफी तैयार करने की सारी तकनीकी सुविधा वहां मौजूद थी। 

 

 

मुंस्टर के पुलिस चीफ ने कहा कि वे हैवानियत की इस हद को देख कर हैरान हैं। उन्होंने कहा कि इसकी पूरी जांच की जाएगी और इस अपराध में शामिल किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा। 

 

 

मुंस्टर के पुलिस चीफ ने कहा कि वे हैवानियत की इस हद को देख कर हैरान हैं। उन्होंने कहा कि इसकी पूरी जांच की जाएगी और इस अपराध में शामिल किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा। 

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios