Asianet News Hindi

इस ट्रेन की SPEED सुनेंगे, तो होश उड़ जाएंगे, क्या आपको पता है कि दुनिया में हाईस्पीड ट्रेनें और कौन-सी हैं?

First Published Jan 7, 2021, 5:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करीब तीन साल पहले भारत में अहमदाबाद-मुंबई के बीच प्रस्तावित बुलेट ट्रेन के प्रोजेक्ट की नींव रखी गई थी। करीब 1.20 लाख करोड़ के इस प्रोजेक्ट के 2022-23 में पूरे होने की उम्मीद है। बता दें कि इस ट्रेन की स्पीड 250 किमी/घंटे होगी। यानी यह मुंबई-अहमदाबाद की 500 किमी की दूरी 2 घंटे मे तय करेगी। लेकिन यह जो आप तस्वीर देख रहे हैं, यह सुपरसोनिक ट्रेन दक्षिण कोरिया ने तैयार की है। आपको पता है कि इसकी स्पीड क्या है? यह ट्रेन एक घंटे में 1000 किमी की दूरी तय करेगी। इसे दुनिया की सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेन माना जा रहा है। यानी यह हवाई जहाज की गति से दौड़ेगी। सुपसोनिक स्पीड का मतलब होता है ध्वनि की गति से दौड़ना। इस ट्रेन को 'दि कोरिया रेलरोड रिसर्च इंस्‍टीट्यूट' ने बनाया है। इसका तकनीकी टेस्ट सफल रहा है। आइए पढ़ते हैं इसकी कहानी और जानते हैं, दुनिया की हाईस्पीड ट्रेनों के बारे में...

यह एक हाइपर ट्यूब ट्रेन है, जो हाइपर लूप ट्रेन का अपग्रेड वर्जन है। बता दें कि दक्षिण कोरिया वर्ष 2017 से हाइपर लूप प्रॉजेक्‍ट पर काम कर रही थी। हाइपर लूप ट्रेन की स्पीड 714 किमी प्रतिघंटे थी। इसमें सुधार करके इसकी स्पीड बढ़ा दी गई है। यह ट्रेन देश के किसी भी कोने से सिर्फ 30 मिनट में राजधानी सोल पहुंचा देगी। यह 2024 तक चलने लगेगी। आगे पढ़ते हैं दुनिया की टॉप 10 हाईस्पीड ट्रेनों के बारे में...

यह एक हाइपर ट्यूब ट्रेन है, जो हाइपर लूप ट्रेन का अपग्रेड वर्जन है। बता दें कि दक्षिण कोरिया वर्ष 2017 से हाइपर लूप प्रॉजेक्‍ट पर काम कर रही थी। हाइपर लूप ट्रेन की स्पीड 714 किमी प्रतिघंटे थी। इसमें सुधार करके इसकी स्पीड बढ़ा दी गई है। यह ट्रेन देश के किसी भी कोने से सिर्फ 30 मिनट में राजधानी सोल पहुंचा देगी। यह 2024 तक चलने लगेगी। आगे पढ़ते हैं दुनिया की टॉप 10 हाईस्पीड ट्रेनों के बारे में...

दुनिया की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन चीन की देन है। इसका नाम है शंघाई मैग्लेव। इसकी स्पीड है 430 किमी प्रति घंटे। इस ट्रेन की औसतन स्पीड ही  251 किमी/घंटा है। बता दें कि 2004 में इसे पहली बार चीन में चलाया गया था। इस ट्रेन की लंबाई 153 मीटर, चौड़ाई 3.7 मीटर, ऊंचाई 4.2 मीटर है । ट्रेन में 574 यात्री सफर कर सकते हैं।

दुनिया की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन चीन की देन है। इसका नाम है शंघाई मैग्लेव। इसकी स्पीड है 430 किमी प्रति घंटे। इस ट्रेन की औसतन स्पीड ही  251 किमी/घंटा है। बता दें कि 2004 में इसे पहली बार चीन में चलाया गया था। इस ट्रेन की लंबाई 153 मीटर, चौड़ाई 3.7 मीटर, ऊंचाई 4.2 मीटर है । ट्रेन में 574 यात्री सफर कर सकते हैं।

दुनिया में दूसरे नंबर पर सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन है हारमोनी CRH380A। यह 380 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ती है। इसे भी 2010 में चीन में पहली बार चलाया गया था। यह बीजिंग से शंघाई के बीच चलती है। 

दुनिया में दूसरे नंबर पर सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन है हारमोनी CRH380A। यह 380 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ती है। इसे भी 2010 में चीन में पहली बार चलाया गया था। यह बीजिंग से शंघाई के बीच चलती है। 

तीसरे नंबर पर सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन है इटली में चलने वाली एजीवी इटालो। यह ट्रेन 2012 में ट्रैक पर उतरी थी। इसकी स्पीड है 360 किमी प्रति घंटा। इसे यूरोप की सबसे मार्डन ट्रेन माना गया है। यह नापोली-फीरेंज-बोलोगना से होते हुए मिलानो कॉरिडोर तक चलती है।

तीसरे नंबर पर सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन है इटली में चलने वाली एजीवी इटालो। यह ट्रेन 2012 में ट्रैक पर उतरी थी। इसकी स्पीड है 360 किमी प्रति घंटा। इसे यूरोप की सबसे मार्डन ट्रेन माना गया है। यह नापोली-फीरेंज-बोलोगना से होते हुए मिलानो कॉरिडोर तक चलती है।

चौथे नंबर की सबसे अधिक स्पीड वाली ट्रेन स्पेन में चलती है। इसकी स्पीड है 350 किमी प्रति घंटा। इसे 2007 में ट्रैक पर उतारा गया था। इसका नाम है सीमेंस वेलारो ई/एवीएस 103।

चौथे नंबर की सबसे अधिक स्पीड वाली ट्रेन स्पेन में चलती है। इसकी स्पीड है 350 किमी प्रति घंटा। इसे 2007 में ट्रैक पर उतारा गया था। इसका नाम है सीमेंस वेलारो ई/एवीएस 103।

दुनिया में पांचवें नंबर की हाईस्पीड ट्रेन है टेल्गो 350, जो स्पेन में चलती है। इसकी गति है 350 किमी प्रति घंटा से थोड़ा नीचे। यह मैड्रिड-बार्सिलोना के बीच चलती है।

दुनिया में पांचवें नंबर की हाईस्पीड ट्रेन है टेल्गो 350, जो स्पेन में चलती है। इसकी गति है 350 किमी प्रति घंटा से थोड़ा नीचे। यह मैड्रिड-बार्सिलोना के बीच चलती है।

दुनिया में छठवीं सबसे अधिक स्पीड वाली ट्रेन का नाम है ई-5 सीरिज की शिंकसेन हायाबूसा। यह जापान में चलती है। इसकी स्पीड है 320 किमी प्रति घंटा।

दुनिया में छठवीं सबसे अधिक स्पीड वाली ट्रेन का नाम है ई-5 सीरिज की शिंकसेन हायाबूसा। यह जापान में चलती है। इसकी स्पीड है 320 किमी प्रति घंटा।

दुनिया में स्पीड के मामले में 7वीं पोजिशन पर है एल्सटॉम यूरोडुप्लेक्स। यह ट्रेन फ्रांस, जर्मनी, स्विटज़रलैंड और लग्जमबर्ग रेलवे ट्रैक पर चलती है। इसकी शुरुआत 2011 में हुई थी। इसे एल्सटॉम रेलवे कंपनी ने बनाया था। इसकी स्पीड है 320 किमी प्रति घंटा से थोड़ा कम।

दुनिया में स्पीड के मामले में 7वीं पोजिशन पर है एल्सटॉम यूरोडुप्लेक्स। यह ट्रेन फ्रांस, जर्मनी, स्विटज़रलैंड और लग्जमबर्ग रेलवे ट्रैक पर चलती है। इसकी शुरुआत 2011 में हुई थी। इसे एल्सटॉम रेलवे कंपनी ने बनाया था। इसकी स्पीड है 320 किमी प्रति घंटा से थोड़ा कम।

दुनिया में स्पीड के मामले में 8वीं पोजिशन पर आती है टीजीवी डबल डेकर, जो फ्रांस में चलती है। इसकी स्पीड है 300-320 के अंदर। इस ट्रेन में 508 यात्री सफर कर सकते हैं।

दुनिया में स्पीड के मामले में 8वीं पोजिशन पर आती है टीजीवी डबल डेकर, जो फ्रांस में चलती है। इसकी स्पीड है 300-320 के अंदर। इस ट्रेन में 508 यात्री सफर कर सकते हैं।

दुनिया में स्पीड के मामले में 9वें नंबर पर आती है ईटीआर 500 फ्रेंसिरासो, जो इटली में चलती है। इसकी स्पीड है 300 किमी प्रति घंटा। इस ट्रेन को पहली बार 2008 में रोम से मिलान के बीच चलाया गया था।

दुनिया में स्पीड के मामले में 9वें नंबर पर आती है ईटीआर 500 फ्रेंसिरासो, जो इटली में चलती है। इसकी स्पीड है 300 किमी प्रति घंटा। इस ट्रेन को पहली बार 2008 में रोम से मिलान के बीच चलाया गया था।

स्पीड के मामले में दुनिया में 10वीं पोजिशन पर आती है टीएचएसआर 700 टी, जो ताइवान में चलती है। इसकी स्पीड है 300 किमी प्रति घंटे से थोड़ा कम। यह ताइपे से कौसियुंग के बीच चलती है।
सोर्स-erail.in
 

स्पीड के मामले में दुनिया में 10वीं पोजिशन पर आती है टीएचएसआर 700 टी, जो ताइवान में चलती है। इसकी स्पीड है 300 किमी प्रति घंटे से थोड़ा कम। यह ताइपे से कौसियुंग के बीच चलती है।
सोर्स-erail.in
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios