हेल्थ डेस्क। आजकल वजन का बढ़ना सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या है। ज्यादातर लोग बढ़ते वजन से परेशान हैं। इसके लिए लोग डाइटिंग से लेकर योग और तरह-तरह के एक्सरसाइज करते हैं, जिम ज्वाइन करते हैं, लेकिन इस समस्या से निजात नहीं मिलती है। दरअसल, वजन का बढ़ना लाइफस्टाइल से जुड़ी हुई समस्या है। आजकल ज्यादातर लोग लंबे समय तक बैठ कर काम करते हैं। कहीं भी आने-जाने के लिए बाइक या कार का इस्तेमाल करते हैं। शारीरिक मेहनत नहीं करने की वजह से डाइटिंग करने पर भी वजन कम नहीं होता, क्योंकि उनका मेटाबॉलिज्म सही तरीके से काम नहीं करता। फिर भी कुछ ऐसी चीजें हैं, जिनके नियमित इस्तेमाल से बढ़ते वजन को कंट्रोल में रखा जा सकता है। ऐसी चीजों में करेला सबसे फायदेमंद माना गया है। 

1. कैसे करें इस्तेमाल
करेला स्वाद में कड़वा होता है और सब्जी के रूप में लोग कभी-कभी ही इसका इस्तेमाल करते हैं। इसलिए डाइटीशियन्स और स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि इसका जूस पीना चाहिए। करेले को मिक्सी में डाल कर जूस निकाल लेना चाहिए और इसकी कड़वाहट को कम करने के लिए शहद और नमक मिला कर पीना चाहिए। अगर करेले के जूस में नींबू का रस निचोड़ दें तो यह और भी फायदा पहुंचाता है। 

2. कैलोरी को करता है कम
करेले में आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन सी और फाइबर की अच्छी-खासी मात्रा होती है। इससे यह ब्लड में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखता है और कैलोरी को कम करता है। यह इंसुलिन के स्राव को बढ़ाता है, जिससे शुगर फैट के रूप में जमा नहीं हो पाता। इसलिए जब आप करेले का जूस रोज पिएंगे तो वजन कम होगा।

3. डाइजेशन को रखता है ठीक
करेले में फाइबर काफी होता है। इसलिए इसका जूस पीने पर जल्दी भूख नहीं लगती और यह डाइजेशन को भी ठीक रखता है। फाइबर भी वजन कम करने में मददगार होता है। 

4. कब पिएं करेले का जूस
वैसे तो कभी भी करेले का जूस पीने से लाभ ही होता है, लेकिन सुबह खाली पेट इसे पीने से ज्यादा फायदा होता है। करेले का जूस अधिक मात्रा में नहीं पीना चाहिए। रोज सुबह एक कप करेले का जूस पिएं। इसके बाद एक घंटे तक कुछ भी नहीं खाएं। जूस की कड़वाहट को कम करने के लिए उसमें पानी मिला सकते हैं। पर धीरे-धीरे इसकी आदत हो जाती है।