हेल्थ डेस्क। काली मिर्च एक ऐसा मसाला है जिसका इस्तेमाल पूरे देश में होता है। जानकारी के लिए बता दें कि जब पुर्तगाली और दूसरे यूरोपीय देश के लोग यहां आए तो उन्होंने काली मिर्च के व्यापार से बहुत मुनाफा कमाया। पूरे यूरोप में इस मसाले की बहुत मांग थी। काली मिर्च बहुत ही गुणकारी मसाला है। यह भोजन के स्वाद को तो बेहतर तो बनाता ही है, साथ ही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाकर तरह-तरह की बीमारियों से बचाव करता है। इसलिए किसी न किसी रूप में रोज हमें अपने भोजन में काली मिर्च को शामिल करना चाहिए। जानें काली मिर्च  के 5 खास फायदे।

1. डाइजेशन को करता है ठीक
काली मिर्च के सेवन से हमारा डाइजेशन ठीक रहता है। यह पेनक्रिएटिक एंजाइम को बढ़ाता है। इससे खाना जल्दी और ठीक से पचता है। डाइजेशन ठीक रहने से पेट संबंधी रोगों से बचाव होता है और गैस एवं कब्ज जैसी समस्या नहीं होती है।

2. सर्दी-जुकाम
सर्दी-जुकाम आम समस्या है। लेकिन इसमें तकलीफ बहुत होती है। काली मिर्च खाने से सर्दी-खांसी में बहुत राहत मिलती है। इसमें एंटी-बैक्ट्रीयल गुण पाए जाते हैं। अगर सर्दी-खांसी की समस्या हो तो काली मिर्च को पीस कर शहद में मिला कर खाना चाहिए। इससे तुरंत आराम मिलता है।

3. वजन कम करने में सहायक
आजकल ज्यादातर लोग बढ़ते वजन की समस्या से परेशान हैं। अगर काली मिर्च का नियमित सेवन किया जाए तो इससे वजन कम होता है। काली मिर्च में फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं, जो शरीर में जमे फैट को कम करते हैं। यह मेटाबॉलिज्म को भी ठीक रखता है। इससे भी वजन संतुलित रहता है। 

4. तनाव और डिप्रेशन करता है कम
काली मिर्च तनाव और डिप्रेशन को कम करने में भी मददगार होता है। इसमें पिपेरिन नाम का तत्व होता है जो दिमाग में सेरोटेनिन के स्राव को बढ़ाता है। सेरोटोनिन के बढ़ने से तनाव और डिप्रेशन कम होता है। ऐसा शोध से साबित हुआ है कि काली मिर्च के सेवन के बाद मस्तिष्क में बीटा-एंडोर्फिन रसायन में वृद्धि होती है, जो चिंता को कम करता है।

5. डायबिटीज को करता है दूर
काली मिर्च के लगातार सेवन से डायबिटीज जैसी बीमारी पर नियंत्रण पाने में भी मदद मिलती है। यह ब्लड में शुगर और हाइपरग्लेसिमिया की मात्रा को संतुलित रखता है, जिससे डायबिटीज की समस्या में राहत मिलती है।