दिल्ली में आतंकियों की कमर तोड़ने CRPF की QAT तैयार, किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम हैं ये कमांडो

| Jan 19 2022, 06:53 PM IST

दिल्ली में आतंकियों की कमर तोड़ने CRPF की QAT तैयार,  किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम हैं ये कमांडो

सार

क्यूएटी को विशेष रूप से आतंकवादी स्थितियों या वीआईपी और प्रतिष्ठानों पर हमलों का जवाब देने के लिए तैयार किया गया है। यह केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CPF) के अधीन है, जो गृह मंत्रालय (MHA) के निर्देश पर कार्य करता है।

नई दिल्ली। आतंकवाद प्रभावित जम्मू-कश्मीर (Jammu kashmir) और नक्सल प्रभावित राज्यों में अपने सफल अभियानों के बाद सीआरपीएफ (CRPF)ने अब राष्ट्रीय राजधानी अपनी फोर्स मजबूत की है। उसने यहां किसी भी आतंकी घटना से निपअने के लिए 50 कमांडो के साथ क्विक एक्शन टीम (QAT) बनाई है। देश के इस सबसे बड़े अर्धसैनिक बल से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक नई क्यूएटी को विशेष रूप से आतंकवादी स्थितियों या वीआईपी और प्रतिष्ठानों पर हमलों का जवाब देने के लिए तैयार किया गया है। यह केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CPF) के अधीन है, जो गृह मंत्रालय (MHA) के निर्देश पर कार्य करता है।

कश्मीर, नक्सल इलाकों में काम किया, अब शहरों के लिए दी गई ट्रेनिंग 
ये 50 सदस्यीय कमांडो उच्च प्रशिक्षित हैं और कश्मीर घाटी और वामपंथी उग्रवाद (LWE) दोनों क्षेत्रों में आतंकवाद विरोधी अभियानों का अनुभव रखते हैं। अधिकारी ने बताया कि दिल्ली क्यूएटी टीम के इन सदस्यों को आतंकवाद विरोधी अभियानों के दौरान अनुकरणीय बहादुरी प्रदर्शित करने के लिए वीरता के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक (PPMG) से सम्मानित किए जा चुके हैं। दिल्ली यूनिट के लिए चुने गए क्यूएटी कमांडो ने उन सभी जगहों पर काम किया है जहां सीआरपीएफ तैनात है। इन कमांडो को पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठनों जैसे लश्कर-ए- तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, अल-कायदा आदि से जुड़े कट्टर आतंकवादियों से निपटने का अनुभव है। इसके अलावा इन कामंडो को नक्सली ऑपरेशंस में गुरिल्ला युद्ध का भी अनुभव है। अधिकारी ने बताया कि क्यूएटी टीम को शहरी क्षेत्रों में काम करने के लिए भी ट्रेनिंग दी जाती है। इसके साथ ही उन्हें भीड़-भाड़ वाली जगहों और ऊंची इमारतों में आपातकालीन स्थितियों में काम करने में महारथ हासिल है। 

Subscribe to get breaking news alerts

इन हथियारों से लैस है QAT
QAT टीम  MP-5 सबमशीन गन, स्नाइपर राइफल, लाइट मशीन गन, AK-47, कॉर्नर शॉट, अंडर बैरल ग्रेनेड लॉन्चर, नाइट विजन गॉगल्स, रडार, इन-वॉल स्कैनर से लैस है। इसके पास रोबोटिक हथियार भी हैं। 

फिदायीन या आतंकी हमले पर मदद करेगी 
अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली क्यूएटी को या तो आतंकी या फिदायीन हमले की स्थिति में स्थानीय पुलिस की सहायता के लिए मांगा जा सकता है। इसके अलावा किसी व्यक्ति पर हमले या फिर ऐसे संस्थान जिन्हें सीआरपीएफ सुरक्षा मुहैया कराती है, उनमें जरूरत पड़ने पर क्यूएटी काम करेगी। इन कमांडो को बंधक बनाए जाने की स्थिति, आईईडी विस्फोट या आतंकवाद से जुड़े मामलों से निपटने के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित किया गया है।  

गणतंत्र दिवस समारोह में होगी तैनाती 
हाल ही में तैयार हुई दिल्ली क्यूएटी टीम पहली बार गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान विभिन्न समूहों में तैनात की जाएगी। इंटेलिजेंस ब्यूरो ने सीआरपीएफ की क्यूएटी टीम की तैनाती करने की मांग पहले ही की थी। अब 26 जनवरी को आयोजित वार्षिक कार्यक्रम में यह टीम भी मोर्चा संभालेगी। सूत्रों ने बताया कि दिल्ली की क्यूएटी को गृह मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार ट्रांसफर किया जाएगा। यह राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG)  जैसे बलों के साथ दिल्ली में आतंकवाद विरोधी अभियानों में भाग लेगी। 

यह भी पढ़ें
जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने सीआरपीएफ के बंकर पर की फायरिंग
शौर्य चक्र से सम्मानित ये कमांडर आमरण अनशन पर बैठा, राजस्थान सरकार से है दुखी..नौकरी तक से दे चुका है इस्तीफा