Asianet News Hindi

GOOD NEWS: भारत में माडर्ना के इमरजेंसी यूज की अनुमति, DCGI ने दी मंजूरी

भारत को एक और कोरोना वैक्सीन मिलने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक DCGI ने मॉर्डना वैक्सीन को अप्रूवल देने की तैयारी कर ली है। अमेरिका की वैक्सीन निर्माता कंपनी मॉडर्ना का दावा रहा है कि उनका टीका 12-17 साल के बच्चों पर अत्यधिक प्रभावी है।

Moderna vaccine will get soon approval from DCGI  kpa
Author
New Delhi, First Published Jun 29, 2021, 1:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.  ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना की वैक्सीन को मंजूरी देने जा रही है। सूत्रों के अनुसार, इस संबंध में जल्द फैसला आ सकता है। बता दें कि मॉडर्ना का दावा है कि उनका टीका 12-17 साल के बच्चों पर अत्यधिक प्रभावी है। कंपनी ने अमेरिका और अन्य देशों में जून की शुरुआत में वैक्सीन के अप्रूवल के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू की थी। मॉडर्ना फाइजर के बाद बच्चों पर प्रभावी वैक्सीन का दावा करने वाली दूसरी वैक्सीन है।

फाइजर को मिल चुकी अनुमति
इससे पहले वैक्सीन निर्माता फाइजर-बायोएनटेक ने दावा किया था कि उनका टीका 12 से 15 साल के बच्चों पर भी असरदार है। इतना ही नहीं कंपनी ने कहा था कि उनकी वैक्सीन का बच्चों पर कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। कंपनी ने कहा था कि अमेरिका में वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल में 2,250 बच्चों को टीका लगाया गया था। कंपनी का दावा है कि बच्चों को वैक्सीन दिए जाने के बाद यह 100% असरदार रही। वैक्सीन के ट्रायल अक्टूबर 2020 में शुरू किए गए थे।

अमेरिका और कनाडा में मिल चुकी मंजूरी
अमेरिका और कनाडा बच्चों को वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है। दोनों देशों ने फाइजर की वैक्सीन 12 से 15 साल के बच्चों पर इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है। फाइजर 16 साल से अधिक उम्र को पहले ही वैक्सीन लगा रही थी।

भारत में भी मिली क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी
इससे पहले भारत में भी ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 2-18 आयु वर्ग में COVAXIN के दूसरे और तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी दी थी। 

यह भी पढ़ें
वैक्सीनेशन में भारत नंबर-1: PM ने दुहराई प्रतिबद्धता, कोविड वर्किंग ग्रुप ने कहा-अब रोज 1 करोड़ डोज का लक्ष्य
GOOD NEWS:अब गर्भवती भी लगवा सकेंगी कोरोना वैक्सीन, ICMR ने अपनी स्टडी में बताया था इसे जरूरी
ऑक्सफोर्ड की स्टडी: एस्ट्राजेनेका वैक्सीन यानी कोविशील्ड की 2 डोज में 315 दिन का गैप रखें, तो अधिक असरकारक

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios